Header Ads

विश्व स्वास्थ्य दिवस 2020:


विश्व स्वास्थ्य दिवस 2020: स्वस्थ और रोग मुक्त रहने के लिए 5 राज; आज से ही इन्हें अपनाएं
विश्व स्वास्थ्य दिवस 2020
07 Apr 2020
 को आपको कुछ सिंपल चेंजेस करने होंगे जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को बढ़ा सकते हैं। इस वर्ल्ड हेल्थ डे एक स्वस्थ जीवन जीने के लिए अपनी लाइफस्टाइल और डाइट में जो जरुरी आवश्यक बदलाव हैं उन्हें करने का संकल्प करें।

हाइलाइट
बीमारियों को रोकने के लिए स्वस्थ वजन बनाए रखें।
नियमित व्यायाम आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है।
अपने आहार में पर्याप्त पोषक तत्व शामिल करें।
प्रत्येक वर्ष 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। यह दिन दुनिया भर में विभिन्न गतिविधियों का अवलोकन करता है। प्रत्येक वर्ष वर्ल्ड हेल्थ डे के लिए एक विशिष्ट विषय को प्राथमिकता दी जाती है। विश्व स्वास्थ्य दिवस 2020 का विषय (थीम) नर्सों और दाइयों का समर्थन करना (Support nurses and midwives) है। यह विषय (थीम) नर्सों और अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की महत्वपूर्ण भूमिका को पहचानता है। हर साल विश्व स्वास्थ्य दिवस स्वस्थ जीवन शैल को बढ़ावा देता है। एक स्वस्थ जीवन शैली और आहार कई बीमारियों के जोखिम को नियंत्रित करने के दो सबसे प्रभावी तरीके हैं। गंभीर प्रतिबद्धताएँ आपको स्वस्थ जीवन जीने में मदद कर सकती हैं। आपको बस कुछ सिंपल चेंजेस करने की आवश्यकता है जो आपके समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकते हैं। इस विश्व स्वास्थ्य दिवस 2020 (World Health Day 2020 in Hindi) को आपको कुछ सिंपल चेंजेस करने होंगे जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को बढ़ा सकते हैं। इस वर्ल्ड हेल्थ डे एक स्वस्थ जीवन जीने के लिए अपनी लाइफस्टाइल और डाइट में जो जरुरी आवश्यक बदलाव हैं उन्हें करने का संकल्प करें।
विश्व स्वास्थ्य दिवस 2020: आज से ही इन स्वस्थ विकल्प को चुने
संतुलित आहार लें
आपका आहार आपके स्वास्थ्य को विभिन्न तरीकों से प्रभावित कर सकता है। जैसा कि कहा जाता है, आप वही बनतें हैं जो आप खाते हैं। एक स्वस्थ और संतुलित आहार कई बीमारियों को रोक सकता है। आपके दैनिक आहार में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व शामिल होने चाहिए। सुनिश्चित करें कि आप अपने आहार में पर्याप्त प्रोटीन शामिल करें। अपना भोजन बुद्धिमानी से चुनें। आपके द्वारा खरीदे जाने वाले हर खाद्य पदार्थ के इन्ग्रेडिएन्ट्स को चेक करें।
स्वस्थ वजन बनाए रखें

मोटापा कई स्वास्थ्य मुद्दों के साथ जुड़ा हुआ है। एक स्वस्थ वजन आपको कई बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है। नियमित व्यायाम और एक स्वस्थ आहार आपको स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद कर सकता है। व्यायाम आपको कैलोरी बर्न करने और फिट रहने में मदद करेगा।

अपने मानसिक स्वास्थ्य पर बराबर ध्यान दें

कई लोग सिर्फ अपने शारीरिक स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित करते हैं और अपने मानसिक स्वास्थ्य पर आवश्यक ध्यान नहीँ देते हैं। आपका मानसिक स्वास्थ्य आपके दिन-प्रतिदिन के कार्यों को प्रभावित कर सकता है। मैडिटेशन या साँस लेने के व्यायाम जैसी सरल अभ्यास से आप तनाव मुक्त रह सकते हैं और अपने मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकते हैं। यदि आप अपने मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित किसी भी लक्षण का अनुभव करते हैं, तो आपको तुरंत चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए।
याद रखें कि धूम्रपान खतरनाक है

आपके पास धूम्रपान छोड़ने के हजार कारण हो सकते हैं, इसे तुरंत छोड़ दें। धूम्रपान आपके फेफड़ों को अधिक नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। यहां तक कि एक बार भी धूम्रपान करना आपके स्वास्थ्य के लिए बुरा है। आपको धूम्रपान छोड़ने की स्ट्रेटेजीज का पालन करना चाहिए। यदि आपको इसे छोड़ने में मुश्किल हो रही है, तो चिकित्सा की सहायता लें।
पानी को दिन का सबसे महत्वपूर्ण पेय बनाएं

यदि आप दिन भर में बहुत अधिक कोला, कार्बोनेटेड पेय या कैफीन पीते हैं तो आप अपने आहार में कुछ अनावश्यक तत्व शामिल कर रहे हैं। अधिकांश ड्रिंक में चीनी अधिक होती है, जिससे वजन बढ़ सकता है। आपको पूरे दिन में अधिक पानी पीना चाहिए। इसके अलावा शर्करा युक्त पेय को हर्बल चाय, नींबू पानी या डिटॉक्स पानी से बदलने की कोशिश करें।


विश्व स्वास्थ्य दिवस: इन तीन खाद्य पदार्थों का सेवन करो कम, फिट रहो हरदम


प्रतीकात्मक तस्वीर


विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) नमक, चीनी और तेल कम इस्तेमाल के लिए यूं ही लोगों को जागरूक नहीं कर रहा। बीमारियों की बड़ी वजह यही पाई गई है। इनके अधिक उपयोग से मधुमेह, हृदय रोग, लिवर, मोटापा, उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियां बढ़ रही हैं।

डब्ल्यूएचओ दिन में उपयोग करने वाली चीनी, नमक और तेल में एक चम्मच कम इस्तेमाल करने के लिए जागरूक कर रहा है। डॉक्टर मानते हैं कि इनकी अधिकता के चलते लोग अनजाने में बीमार बन रहे हैं। फिट रहने के लिए इनका कम से कम इस्तेमाल जरूरी बताते हैं। 

आगरा के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. जय बाबू बताते हैं कि हृदय, बीपी, मधुमेह रोगियों की पड़ताल में पाया कि 90 फीसदी इनका उपयोग अधिक मात्रा में करते पाए गए। एसएन कॉलेज के मेडिसिन विभाग के डॉ. आशीष गौतम बताते हैं कि इन तीनों का अधिक उपयोग स्ट्रोक, मधुमेह, हार्टअटैक का खतरा अधिक रहता है। मरीजों को दवाओं के साथ नमक, चीनी और तेल की नियंत्रित मात्रा लेने की सीख भी देते हैं।
नमक, चीनी, तेल का औसत उपयोग: 
एसएन मेडिकल कॉलेज के डायटीशियन डॉ. मिनी शर्मा बताती हैं कि दिन में पांच ग्राम नमक, 30 ग्राम तेल और 30 ग्राम चीनी का औसत मानक है। ये किसी भी रूप में कुल मात्रा है। वैसे, लोगों को 2500 से 2800 किलो कैलोरी, 50-60 ग्राम प्रोटीन दिन भर में लेनी चाहिए। खाने में अनाज, दाल, हरी सब्जी, फल, दूध या उससे बनी सामग्री लेनी चाहिए। मांसाहारी हैं तो मांस अंडे और मछली ले सकते हैं।

ये होती है बीमारी
नमक: नमक के अधिक इस्तेमाल से ब्लडप्रेशर हाई और आस्टियोपारोसिस (हड्डियों का कमजोर होना) होने का खतरा अधिक है। डिहाइड्रेशन और गुर्दे में पथरी होने की भी संभावना रहती है। 
चीनी: इंसुलिन बनाने की ग्रंथि प्रभावित होती है। शरीर में इंसुलिन बनाने वाली ग्रंथि नष्ट हो सकती है। वजन बढ़ता है, जो मधुमेह को जन्म दे सकती है। दांत कमजोर होकर झड़ने लगते हैं। 
तेल: खाने में अधिक तेल के उपयोग से मधुमेह, स्ट्रोक, मोटापा, हृदय रोग और कोलेस्ट्रोल की बीमारियां होने का खतरा रहता है। हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.