Header Ads

महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले आहार


महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले आहार

यदि आप गर्भवती होने की कोशिश कर रही हैं, तो अच्छी खासी आदतों को अपनाकर स्वस्थ गर्भधारण कर सकती हैं। स्वस्थ गर्भधारण के लिए आहार एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अगर आहार सही हो तो महिलाओं में प्रजनन क्षमता में बढ़ोतरी देखने के मिलती है। यदि आप अपने नियमित भोजन में कुछ प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करेंगे, तो इससे प्रजनन प्रणाली को स्वस्थ रखा जा सकता है।
महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले आहार

प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए खाएं केला
केले विटामिन बी6 में समृद्ध है, जिसे महिलाओं में प्रजनन क्षमता के लिए सबसे महत्वपूर्ण विटामिन माना जाता है। यह विटामिन महिला हार्मोन की क्रियाकलापों और मासिक धर्म चक्र विनियमित कर सकता है तथा अंडे के विकास को प्रोत्साहित कर सकता है, जिससे सामान्य उत्पादकता बढ़ जाती है।
प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए प्रसिद्ध है बादाम


बादाम पुरुष प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए प्रसिद्ध है। लेकिन यह महिलाओं के लिए भी उतना ही प्रभावी हो सकता है। यह विटामिन ई का एक उत्कृष्ट स्रोत है। यह अंडे के डीएनए को फ्री रेडिक्लस से बचा सकता है, जिससे प्रजनन की क्षमता में सुधार हो सकता है।
प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले आहार में शामिल है अंडा

विटामिन डी की कमी महिलाओं में बांझपन के सबसे बड़े कारणों में से एक है और अंडा कुशलतापूर्वक इस समस्या से लड़ने में मदद कर सकता है। अंडे में विटामिन डी का बहुत उच्च स्तर होता है, जिससे यह गर्भधारण करने की कोशिश कर रही महिलाओं के लिए बहुत अच्छा विकल्प बन सकता है।
शतावरी
शतावरी फाइबर, फोलेट, विटामिन ए, सी, ई और के, और साथ ही क्रोमियम का बहुत अच्छा स्रोत है| शतावरी में फोलिक एसिड की एक बड़ी मात्रा होती है, जो कि बांझ महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद है|
खट्टे फल

नारंगी, नींबू, चूने, आदि जैसे खनिज पदार्थ एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन सी से भरपूर है। यह महिला शरीर में हार्मोनल स्राव को नियंत्रित कर सकता है और प्रजनन के लिए जरूरी एक पूर्ण हार्मोनल संतुलन बनाए रखता है।
प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए आवश्यक है मटर

मटर जिंक का एक अच्छा स्रोत है, जो महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए आवश्यक है। यह एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन नामक दो महत्वपूर्ण महिला हार्मोनों के स्राव को नियंत्रित करके शरीर में एक पूर्ण हार्मोनल संतुलन बनाता है, जिससे महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढ़ता है।
आयरन वाले आहार

प्रजनन या गर्भधारण के मामले में आयरन सभी मामलों में सबसे शक्तिशाली खनिज माना जाता है। आयरन की कमी अनियमित मासिक धर्म चक्र, अंडों की खराब या असामान्य स्वास्थ्य और ओवरी में कठिनाइयों का कारण बन सकती है, जो अंततः उर्वरता की प्रक्रिया को रोकती है।

आयरन की कमी के लक्षण और स्रोत
छोटी समुद्री मछली

छोटी समुद्री मछली जिसे हम मैकेरल के नाम से जानते हैं। इसमें आवश्यक फैटी एसिड होता है, जो सीधे अंगों और साथ ही अंडों की झिल्ली पर काम करके महिला प्रजनन प्रणाली को मजबूत करने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं।
प्रजनन को बढ़ावा देता है सैल्मन मछली
कई अध्ययनों से साबित हुआ है कि सैल्मन में सेलेनियम होते हैं, जो कि मूलतः एक सूक्ष्म पोषक तत्व है। यह एक एंटीऑक्सिडेंट खनिज के रूप में कार्य करता है जो हानिकारक फ्री रेडिक्ल्स से महिला के अंडों को संरक्षण प्रदान करता है और प्रजनन को बढ़ावा देता है। यह गर्भपात के साथ-साथ जन्मजात दोष को भी रोकता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.