Header Ads

आपका बेडौल शरीर


इन उपायों से वाकई शेप में आ जाएगा आपका बेडौल शरीर
वजन कम करने के लिए हमें बताए जाने वाले ज्यादातर उपाय गलत ही होते हैं. मोटापे का कैलोरी और व्यायाम से कोई लेना-देना नहीं है और मजेदार बात ये है कि वजन कम करना इतना मुश्किल भी नहीं है.
वजन कम करने के उपाय
बढ़ा हुआ वजन आज के समय की सबसे प्रमुख समस्याओं में से एक है. खासतौर पर शहरों में रहने वाले ज्यादातर लोग मोटापे की चपेट में हैं. एक ओर जहां से समस्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है वहीं इस बीमारी को ठीक करने के उपाय भी.
हर दूसरा शख्स आपको मोटापा कम करने के कुछ उपाय बता देगा. डॉक्टर दवा और हकीम कुछ जड़ी-बूटी. पर फायदा? ज्यादातर लोग ऐसे हैं जिन्होंने मोटापा कम करने के लिए हर वो काम करके दख लिया है जो वो कर सकते थे पर आज भी परिणाम के इंतजार में हैं.
आपको जानकर आश्चर्य होगा लेकिन यह सच है कि वजन कम करने के लिए हमें बताए जाने वाले ज्यादातर उपाय गलत ही होते हैं. मोटापे का कैलोरी और व्यायाम से कोई लेना-देना नहीं है और मजेदार बात ये है कि तो नीचे बताए गए इन उपायों को जरूर आजमाइए.
हालांकि इससे पहले कि हम आपको उन उपायों के बारे में बताएं, यह जान लेना बहुत जरूरी है कि आखिर वजन बढ़ता क्यों है? हम सभी का वजन हॉर्मोन्स द्वारा नियंत्रित होता है. ऐसे में सबसे जरूरी ये है कि हम उन हॉर्मोन को नियंत्रित करने की कोशिश करें. अगर आप ऐसा करने में सफल हो जाते हैं तो वजन कम करना आपके लिए चुटकी का खेल हो जाएगा.
वजन कम करने के 18 बेहद आसान टिप्स:
1. अगर आप वाकई वजन कम करने को लेकर गंभीर हैं तो सबसे पहले यह सुनिश्चित कीजिए कि आप जो भी कुछ खाएं उसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम हो. यह बात कई शोध में भी साबित हो चुकी है कि ज्यादा कार्बोहाइड्रेट वजन बढ़ने का कारण होते हैं.

2. वजन कम करने के लिए कई लोग खाना-पीना छोड़ देते हैं. लेकिन ऐसा करना नुकसानदायक हो सकता है. अगर आप वाकई मोटापा कम करना चाहते हैं तो भूखा रहने की बजाय जरूरी है कि जब आपको भूख लगे तो आप जरूर खाना खाएं और पेट भरकर खाएं. लेकिन कार्बोहाइड्रेट घटाने के साथ ही फैट न कम करें. आप सीमित मात्रा में मक्खन, घी आदि ले सकते हैं.
3. वजन घटाने के लिए यह बेहद जरूरी है कि आप जो कुछ भी खाएं वो रीयल फूड हो. मार्केट में बिकने वाले प्रोसेस्ड और लो-कार्ब फूड खाने से परहेज करें.
4. अगर आप समय-समय पर कुछ-कुछ खाते रहेंगे तो वजन कम करना मुश्किल हो सकता है. ऐसे में एक बार ही संतुष्ट होकर खा लें. भूख न लगी हो तो स्वाद या फिर किसी और वजह से कुछ भी खाने से परहेज करना ही बेहतर रहेगा.
5. ये बेहद जरूरी है कि आप जो भी प्रयास कर रहे हैं उसे गंभीरता से मॉनिटर भी करें. ताकि आपको पता चलता रहे कि क्या फर्क पड़ रहा है और क्या नहीं. इसके लिए हफ्ते में एक बार कमर को इंचीटेप से नापें और नोट करें कि आप ने कितने इंच घटाए हैं.
6. किसी का भी वजन एक दिन में तो बढ़ नहीं जाता. ऐसे में ये सोचना कि एक दिन में ही वजन कम हो जाए गलत होगा. वजन कम करना एक लंबी प्रक्रिया है जिसके लिए आपको कुछ वक्त तक नियमित रहने की जरूरत होती है. तभी आप बेहतर परिणाम पा सकेंगे.
/7. अगर आप महिला हैं और वजन कम करना चाहती हैं तो फलों के सेवन से परहेज करें. आपको ये बात अजीब लग सकती है लेकिन सच्चाई यह है कि फलों में पर्याप्त मात्रा में शुगर होती है जिससे वजन कम करने में मुश्किल आ सकती है. पुरुषों के लिए भी यह बात लागू होती है लेकिन महिलाओं के लिए फल से मिली शुगर को घटाना थोड़ा मुश्क‍िल रहता है.
8. यह पॉइंट खासतौर पर पुरुषों के लिए है. अगर आप सच में वजन कम करने को लेकर गंभीर हैं तो आज ही से बीयर को अलविदा कह दें. बीयर में ऐसे कार्बोहाइड्रेट्स पाए जाते हैं जो बहुत जल्दी पच जाते हैं और वजन बढ़ाते हैं.
9. कुछ भी ऐसा न खाएं जिसमें आर्टिफिशियल शुगर मौजूद हो. इसके सेवन से एक ओर जहां वजन बढ़ता है वहीं ऐसी चीजें मीठे को लेकर क्रेविंग बढ़ाने का भी काम करती हैं जो खतरनाक हो सकता है.
10. अगर आप कोई दवा ले रहे हैं तो उसमें मौजूद सभी तत्वों की जानकारी ले लें. कई दवाइयां ऐसी होती हैं जिनके इस्तेमाल से भी वजन बढ़ता है. ऐसे में दवाइयों का रिव्यू करना जरूरी है.
11. अगर आपको लगता है कि केवल खाना-पीना ही वजन को प्रभावित करता है तो आपको बता दें कि ऐसा नहीं है. ज्यादा तनाव और कम नींद लेने से भी वजन बढ़ता है.
12. वजन कम करने की इच्छा रखने वालों को डेयरी प्रोडक्ट और नट्स के इस्तेमाल में थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए.
13. हेल्दी डाइट हमारे स्वास्थ्य का आधार है. अगर इसमें पूरे विटामिन और मिनरल्स नहीं होंगे तो बार-बार कुछ खाने की क्रेविंग होगी. और जब आप कंट्रोल नहीं कर पाएंगे तो कुछ भी बेसमय खाने से वजन पड़ेगा. बेहतर होगा कि आप खाने में इनकी कमी न होने दें और डॉक्टर से पूछकर अच्छा मल्टीविटामिन लें. वैसे शोध भी साबित करते हैं कि ऐसे सप्लीमेंट वजन घटाने में मदद करते हैं.
14. खाने पर अगर पूरे दिन में कंट्रोल नहीं कर पाते हैं तो बीच-बीच में फास्ट रखें. अपनी क्षमता के मुताबिक आप चाहें तो दोपहर बाद के खाने से लेकर अगली सुबह के नाश्ते के बीच में कुछ न खाएं. या फिर ब्रेकफास्ट के बाद लंच न करें और जल्दी डिनर कर लें. इस फास्ट को ऐसे भी रख सकते हैं - या तो आज डिनर करके अगले पूरे दिन कुछ न खाएं और सीधा डिनर करें. या फिर हफ्ते में 5 दिन अपनी पसंद से खूब खाएं और दो दिन बिल्कुल छोड़ दें. बीच में आप कम चीनी या बिना चीनी के चाय या काफी ले सकते हैं.
15. वजन कम करना चाह रहे है तो इसके लिए बेहद जरूरी है कि आप स्मार्ट तरीके से व्यायाम करें. ऐसी एक्सरसाइज करें जिससे पूरे शरीर का वर्कआउट हो. चलना, साइकिल चलाना, दौड़ना, योगा करना आदि इसके बेहतरीन तरीके हैं.
16. जिनको डायबिटीज नहीं है, वे ही इस तरीके के बारे में सोचें. इस तरीके में शरीर को उस स्थ‍िति में ले जाया जाता है जहां से यह तेजी से फैट बर्न करें और इसके लिए जरूरी है कि इंसुलिन की मात्रा शरीर में कम हो. लगातार कम कार्बोहाइड्रेट वाली डाइट से इस लेवल को अचीव किया जा सकता है और इस अवस्था को कीटोसिस कहते हैं.
https://www.healthsiswealth.com/17. कई बार ऐसा भी होता है कि किसी हॉर्मोन की अनियमितता के चलते भी वजन बढ़ जाता है. ऐसे में हॉर्मोन चेक करा लें ताकि किसी भी तरह की आंतरिक समस्या हो तो उसका पता चल जाए.
18. अगर आप वजन घटाने को लेकर पूरी तरह डेस्परेट हो चुके हैं तो आप डॉक्टर की सलाह से पिल्स ले सकते हैं. ऐसे डाइट सप्लीमेंट भी आते हैं जो वजन घटाने में कारगर होते हैं.

मोटापा : कैसे होता है कम



अक्सर महिलाएं भोजन के बाद खूब पानी पिया करती हैं। भोजन के अंत में पानी पीना सही नहीं होता, बल्कि एक-डेढ़ घंटे बाद ही पानी पीना चाहिए। इससे पेट और कमर पर मोटापा नहीं चढ़ता, बल्कि मोटापा भी कम हो जाता है।
आहार भूख से थोड़ा कम ही लेना चाहिए। इससे पाचन भी ठीक होता है और पेट बड़ा नहीं होता। पेट में गैस नहीं बने इसका खयाल रखना चाहिए। गैस के तनाव से तनकर पेट बड़ा होने लगता है। दोनो समय शौच के लिए अवश्य जाना चाहिए।
भोजन में शाक-सब्जी, कच्चा सलाद और कच्ची हरी शाक-सब्जी की मात्रा अधिक और चपाती, चावल व आलू की मात्रा कम रखना चाहिए।
सप्ताह में एक दिन उपवास या एक बार भोजन करने के नियम का पालन करना चाहिए। उपवास के दिन सिर्फ फल और दूध का ही सेवन करना चाहिए।
पेट व कमर का आकार कम करने के लिए सुबह उठने के बाद या रात को सोने से पहले नाभि के ऊपर के उदर भाग को 'बफारे की भाप' से सेंक करना चाहिए।
इस हेतु एक तपेली पानी में एक मुट्ठी अजवायन और एक चम्मच नमक डालकर उबलने रख दें। जब भाप उठने लगे, तब इस पर जाली या आटा छानने की छन्नी रख दें। दो छोटे नैपकिन या कपड़े ठंडे पानी में गीले कर निचोड़ लें और तह करके एक-एक कर जाली पर रख गरम करें और पेट पर रखकर सेंकें। प्रतिदिन 10 मिनट सेंक करना पर्याप्त है। कुछ दिनो में पेट का आकार घटने लगेगा।
सुबह उठकर शौच से निवृत्त होने के बाद निम्नलिखित आसनों का अभ्यास करें या प्रातः 2-3 किलोमीटर तक घूमने के लिए जाया करें। दोनों में से जो उपाय करने की सुविधा हो सो करें।
भुजंगासन, शलभासन, उत्तानपादासन, सर्वागासन, हलासन, सूर्य नमस्कार। इनमें शुरू के पांच आसनों में 2-2 मिनट और सूर्य नमस्कार पांच बार करें तो कुल 15 मिनट लगेंगे। इन आसनों की विधि वेबदुनिया के योग चैनल से प्राप्त की जा सकती है।
भोजन में गेहूं के आटे की चपाती लेना बन्द करके जौ-चने के आटे की चपाती लेना शुरू कर दें। इसका अनुपात है 10 किलो चना व 2 किलो जौ। इन्हें मिलाकर पिसवा लें और इसी आटे की चपाती खाएं। इससे सिर्फ पेट और कमर ही नहीं सारे शरीर का मोटापा कम हो जाएगा।
प्रातः एक गिलास ठंडे पानी में 2 चम्मच शहद घोलकर पीने से भी कुछ दिनों में मोटापा कम होने लगता है। दुबले होने के लिए दूध और शुद्ध घी का सेवन करना बंद न करें। वरना शरीर में कमजोरी, रूखापन, वातविकार, जोड़ों में दर्द, गैस ट्रबल आदि होने की शिकायतें पैदा होने लगेंगी।



पावर डाइट से कम कीजिये मोटापा




एक बडी ही पुरानी कहावत है कि "हेल्‍थ इज वेल्‍थ", यानी की सेहत ही खजाना है। लेकिन आजकल लोगों को इतना टाइम नहीं मिलता कि वे थोडा ध्‍यान अपनी सेहत को सुधारने में लगा लें। मोटापा, ब्‍लड प्रेशर, मधुमेह, हृदय रोग और ना जाने कौन कौन सी अन्‍य बीमारियां लोगों को घेर रहीं हैं। इनमें से मोटापा ऐसी चीज है जो हर बीमारी का कारण बना हुआ है।


इस तेज रफ्तार भरी जिन्‍दगी में टाइम ना होने की वजह से लोग व्‍यायाम नहीं करते जिस वजह से वे मोटे होते चले जाते हैं। अगर आपके पास भी व्‍यायाम करने का समय नहीं है और अपनी बढी हुई चर्बी को खतम करना चाहते हैं, तो अपनी डाइट में कुछ चेंज लाइये और देखिये कि आपका वजन कैसे कम होता है।



सुबह के समय




अपने दिन की शुरुआत नींबू, शहद और गरम पानी से पी कर कीजिये। इससे शरीर में जितनी भी गंदगी और घातक एसिड होगा वह सब साफ हो जाएगा।




ब्रेकफास्‍ट




अंडे के सफेद भाग का ऑम्‍लेट (2) + 2 स्‍लाइस ब्राउन ब्रेड

दूध (वसा रहित) + कार्नफ्लेक्‍स/ओट

फ्रूट सैलेड/स्‍प्राउट

पोहा/उपमा


लंच के पहले




ब्‍लैक कॉफी पीने से शरीर का मैटाबॉलिज्‍म बढता है और काम करने में मन लगता है। लंच में कोई एक चीज खाएं उबला रोस्‍टेड / चिकन / सोयाबीन (200 ग्राम) + ब्राउन राइस (1/2 प्‍लेट) /चपाती(1)

दाल + सलाद + ब्राउन राइस (1/2प्‍लेट) /रोटी (1-2)

दही (100 ग्राम) यह पाचन में मदद करेगी

दलिया


शाम को




भूख मिटाने के लिये कोई खट्टा फल यानी की सिट्रस फ्रूट खाएं।

ग्रीन टी और दो मारी लाइट बिस्‍कुट

उबला चना


डिनर




उबली सोयाबीन न्‍यूट्रीला / सूप + सलाद

उबला अंडा सफेद भाग (3) + वेजिटेबिल सूप

चिकन या ट्यूना सलाद

उबली दाल

दलिया


सोने से पहले




150-200 ml वसा रहित दूध




डाइट के अलावा भी कुछ बातों का ध्‍यान रखना जरुरी है-




हेवी डिनर करने से बचे, सोने से 3-4 घंटे पहले खाना खा लें।

कोलड्रिंक की जगह पर नारियल पानी, वेजिटेबिल सूप या मठ्ठा पिएं।

रोजाना 2 से 3 लीटर पानी पिएं मोटापा कम करने के लिये फाइबर खाएं, जिसके लिये खूब सारी सब्‍जियां और फल खाएं।

चीनी और मिठाई सीमित खाएं।

भोजन खाना कभी ना छोडे।

बेकरी का प्रोडक्‍ट ना खाएं।

खाने के साथ पानी ना पिएं।

मोटापा वैसे तो किसी भी उम्र में हो सकता है, लेकिन महिलाओं में यह ज्‍यादा देखने को मिलता है। जानकारी के अनुसार मोटापा, न केवल गलत खान-पान की आदत से होता है, बल्कि मासिक धर्म की अनियमितता से भी होता है।
किस-किस जगह आता है
मोटापा जांघे- थाई का स्‍थान सबसे पहले बढ़ता है, क्‍योंकि जो मासिक धर्म में अवरोध होता है खुल कर नहीं आ पाता है, तो जांघे मोटी होने लगती हैं और इतनी मोटी हो जाती हैं कि चलने फिरने में भी परेशानी आने लगती है।
पेट- पेट का बढ़ना आमतौर पर शौच और पीरियड पर ही निर्भर करता है और दर्द भी रहने लगता है। इससे भूख कम हो जाती है और गैस बनने लगती है। साथ ही पेट भारी रहने लगता है।
कमर- लंबे समय तक मोटापा कमर पर ही दिखाई देता है। फिर कमरे जैसा शरीर होने लगता है और बढ़े हुए वजन की वजह से घुटनों पर असर पड़ता है और वह दर्द होने लगता है।
छाती और पीठ- छाती और पीठ पर टाइट कपड़े पहनने से यह बढ़ता है। मोटापा मिटाने का मूल मंत्र इनपुट कम आउटपुट ज्‍यादा- इनपुट कम करें, आउटपुट बढ़ाएं यानी खाने में ऐसे पदार्थों का इस्‍मेमाल करें, जो आउटपुट बढ़ाते हैं। फल निष्‍कासन को तेज करते हैं जैसे नींबू पानी, गर्म पानी, छाछ, गुनगुना आंवला रस या कोई फल जैसे पपीता, अंगूर, अनार, संतरा, मौसमी आम या सब्‍जियां लौकी, पत्‍तागोभी, फूलगोभी और बैगन का प्रयोग करें।
योग- मोटापे को कम करने के लिए जितना मददगार योग होता है, उतना मददगार घूमना नहीं होता। योग में चक्‍की संचालन, साइकलिंग, धनुरासन और अश्‍वासन मुख्‍य है।
मासज- मसाज पूरे शरीर के खून को सर्कुलेट करने में मदद करती है। इसके साथ ही मसाज मोटापे को कम करने का भी काम आसान करती है।
सूर्य स्‍नान- इससे जमा हुआ फैट बाहर निकलता है, कैल्शियम डी-1, डी-2, डी-3 की पूर्ती करता है। इसलिए 30 से 50 मिनट सूर्य स्‍नाना करना चाहिये। यह मोटापा कम करता है।







मोटापा बढ़ाने वाला तत्‍व- केला, अरबी, भिंडी, मैदा, मिठाइयां, सॉस, लंबे समय तक बैठना, दिन में सोना और बार बार खाना अधिक मोटापा बढ़ाता है। गरिष्‍ट और भारी भोजन शरीर में लंबे समय तक रुकता है।

क्‍या करें-
1.दिनभर गर्म पानी पीने की उपेक्षा सूर्य की रोशनी में रखा हुआ पानी पीना फायदेमंद है।
2. नीबू को बार-बार गर्म पानी में डाल कर न पिंए, सादे पानी से लें। गर्म पानी से कभी कभी ले सकते हैं पर इससे कमजोरी आने लगती है।
3. चाय के साथ नमकीन, ब्रेड और बिस्‍कुट नहीं लेना चाहिये। सिंपल चाय पिंए और चाय पीने के 10 मिनट बाद पानी पींए, मोटापा कम होगा।
4. पेट में जमने वाली वस्‍तु जैसे चॉक्‍लेट, टॉफी, ब्रेड, बिस्‍कुट आदी से परहेज करें। इन्‍हें बार-बार नहीं खाएं।
x

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.