Header Ads

त्वचा को जवान बनाए रखने के लिए 10 एंटी एजिंग फूड –


त्वचा को जवान बनाए रखने के लिए 10 एंटी एजिंग फूड –

Anti Aging Food in Hindi सुंदर, जवां और चमकती त्वचा कौन नहीं चाहता। इसके लिए अक्सर लोग एंटी एजिंग क्रीम का इस्तेमाल करते हैं लेकिन आप सालों- साल तक अपनी स्किन को जवान बनाएं रखने के लिए एंटी एजिंग फूड का सेवन कर सकते हैं। शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष निकाला है कि फल और सब्जी खाना बेजान त्वचा और चेहरे की झुर्रियों को कम करने का सबसे सुरक्षित और स्वास्थ्यप्रद तरीका है। (1)

क्या आप भी अपने चेहरे पर चमक लाने के लिए तैयार हैं?

कई रिसर्च से पता चलता है कि आपका आहार आपकी त्वचा को जवान बनाये रखने का सबसे अच्छा तरीका है, इसलिए हमने आपकी त्वचा को अंदर जवा करने में मदद करने के लिए एंटी-एजिंग खाद्य पदार्थों की एक सूची तैयार की। यहाँ 10 सबसे अच्छे एंटी एजिंग फूड्स के बारे में जानकरी दी जा रही है जो आपकी त्वचा को एक अलग ही चमक प्रदान करते हैं जो ऊपर से नहीं बल्कि आपके भीतर से आती है।

जो कुछ भी आप खाते हैं, उनका सीधा असर आपकी त्‍वचा पर पड़ता है। क्‍या आप त्‍वचा की देखभाल के लिए एंटी एजिंग फूड्स का उपयोग करते हैं। इस प्रकार के खाद्य पदार्थों में स्‍वस्‍थ वसा, एंटीऑक्‍सीडेंट, पानी और अन्‍य पोषक तत्‍वों की उच्‍च मात्रा होती है। जो 30 की उम्र के बाद भी त्वचा को स्‍वस्‍थ और जवा बनाये रखने में सहायक होते हैं। हमारी त्‍वचा हमारे शरीर का सबसे बड़ा अंग है। यदि आप इसे हमेशा जवान बनाये रखना चाहते हैं तो आपको उचित आहार की आवश्‍यकता होती है।

हमारे शरीर में किसी भी प्रकार के परिवर्तनों का पहला लक्षण त्‍वचा में ही दिखाई देता है। इसलिए अपने शारीरिक और त्‍वचा स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर बनाए रखने के लिए आपको संतुलित और पौष्टिक आहार की आवश्‍यकता होती है। इस लेख में हम ऐसे ही कुछ सबसे अच्छे एंटी एजिंग फूड्स के बारे में बता रहे हैं जिनका उपयोग कर आप अपनी बढती बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम कर सकते हैं।

एंटी-एजिंग फूड हैं जलीय सब्जियां – Anti-Aging Foods Watercress in Hindi
त्वचा को जवान बनाये रखने के लिए लाल शिमला मिर्च – Capsicum for skin care after the age of 30 in Hindi
30 के बाद स्किन की देखभाल के लिए पपीता – Anti-Aging Food Papaya in Hindi
बढ़ती उम्र को रोकने का उपाय ब्‍लू बैरीज़ – Badhti Umr Ko rokne ka upay Blueberries in Hindi
त्‍वचा को जवां रखे एंटी-एजिंग फूड ब्रोकोली – Broccoli Anti-Aging Foods in Hindi
युवा त्वचा के लिए भोजन पालक – Anti-Aging Foods for Spinach in Hindi
उम्र बढ़ने के संकेत कम करें नट्स – Anti-Aging Foods for nuts in Hindi
बढ़ती उम्र को रोकने के लिए एवोकाडो खाएं – Avocado anti aging food in Hindi
उम्र कम दिखाने का उपाय शकरकंद – Sweet potatoes Anti Aging Food in Hindi
त्‍वचा को जवा बनाए अनार के बीज – Pomegranate seeds Anti Aging Food in Hindi
एंटी-एजिंग फूड हैं जलीय सब्जियां – Anti-Aging Foods Watercress in Hindi
पानी में या पानी के अंदर उगने वाले खाद्य पदार्थ जलीय सब्जियों की श्रेणी में आते हैं। पानी के अंदर होने वाली इन पौष्टिक सब्जियों का नियमित सेवन करना आपके स्‍वास्‍थ्‍य को बनाए रखने का एक बेहतर विकल्‍प हो सकता है। क्‍योंकि इन जलीय सब्जियों में विभिन्‍न प्रकार के एंटीऑक्‍सीडेंट, खनिज पदार्थ और पोषक तत्‍व होते हैं जो उम्र बढ़ने संबंधी लक्षणों को रोकने या एंटी-एजिंग गुण वाले होते हैं। इन जलीय सब्जियों में कैल्शियम, पोटेशियम, मैंगनीज, फास्‍फोरस, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन K, विटामिन बी1 और बी2 की उच्‍च मात्रा होती है।

जलीय सब्जियों के रूप में आप कमल ककड़ी, सिंघाड़ा, मखाना आदि का सेवन कर सकते हैं।

इन खाद्य पदार्थों में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो त्‍वचा को अन्दर से संक्रमण से बचाने और त्‍वचा की प्रत्येक कोशिका तक पोषक तत्‍वों और रक्‍त के परिसंचरण को बढ़ाने में मदद करते हैं। जिससे स्किन के अन्दर ऑक्सीजन का स्तर बढ़ता है। इन सब्जियों में मौजूद विटामिन ए और सी और एंटीऑक्‍सीडेंट (2) त्‍वचा को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव को कम करने में सहायक होते हैं। जो उम्र बढ़ने के संकेतों जैसे त्‍वचा में झुर्रियां, फाइन लाइन और डार्क सकर्ल्‍स आदि का कारण बनते हैं।

आप भी ग्‍लोइंग स्किन पाने के लिए कुछ मुट्ठी भर जलीय हरी सब्जियों को अपने दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं। जो 30 की उम्र के बाद भी आपकी त्‍वचा को जवां और चमकदार बनाए रखने में सहायक होते हैं।



त्वचा को जवान बनाये रखने के लिए लाल शिमला मिर्च – Capsicum for skin care after the age of 30 in Hindi


यदि आप अपनी बढ़ती उम्र को रोकना चाहते हैं तो लाल शिमला मिर्च आपके लिए एक अच्‍छा विकल्‍प हो सकती है। क्‍योंकि शिमिला मिर्च में कैरोटेनॉइड (carotenoids) की उच्‍च मात्रा के साथ ही विटामिन सी और पावर-फुल एंटीऑक्‍सीडेंट (3) भी होते हैं, जो एंटी एजिंग में मदद करते हैं। ये सभी घटक त्‍वचा स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने और त्‍वचा समस्‍याओं को रोकने में प्रभावी माने जाते हैं। क्‍योंकि ये घटक कोलेजन के उत्‍पादन को बढ़ाने में मदद करते हैं। जिससे स्किन हेल्‍थ को बढ़ावा मिलता है।
कैरोटेनॉइड वह घटक है जिसके कारण फलों को गहरा लाल, पीला या नारंगी रंग प्राप्‍त होता है। शिमला मिर्च में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण भी होते हैं जो त्‍वचा को सूर्य की किरणों से होने वाली क्षति को रोकने में मदद करते हैं।


30 के बाद स्किन की देखभाल के लिए पपीता – Anti-Aging Food Papaya in Hindi


पपीता सदियों से उपयोग किया जाने वाला सुपर फूड में से एक है। आहार विशेषज्ञय पपीता को पोषक तत्वों का खजाना मानते हैं। क्‍योंकि पपीता में एंटीऑक्‍सीडेंट, खनिज पदार्थ और अन्‍य पोषक तत्‍वों की भरपूर मात्रा होती है। ये सभी घटक त्‍वचा की लोच को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। आप अपनी बढ़ती उम्र के लक्षणों जैसे झुर्रियां और फाइन लाइन को रोकने के लिए पपीता का उपयोग कर सकते हैं (4)। पपीता में पाए जाने वाले पोषक तत्‍वों में
कैल्शियम (calcium)
पोटेशियम (potassium)
मैग्‍नीशियम (magnesium)
फास्‍फोरस (phosphorus)
विटामिन ए, बी, सी, K और ई (vitamins A, B, C, K, and E)

पपीता में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट त्‍वचा को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्‍स को रोकने और एंटी-एजिंग प्रभाव को बढ़ाने में मदद करते हैं।

इसमें पपैन (papain) नामक एक एंजाइम होता है जो त्‍वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने में मदद करता है। और एंटी एजिंग इफैक्ट प्रदान करता है। 30 की उम्र के बाद भी खुद को जवां बनाए रखने के लिए आप अपने दैनिक आहार या नाश्‍ते में पपीता को शामिल कर सकते हैं। साथ ही आप पपीता से बने फेस पैक (papaya mask) का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

बढ़ती उम्र को रोकने का उपाय ब्‍लू बैरीज़ – Badhti Umr Ko rokne ka upay Blueberries in Hindi


क्‍या आप 30 वर्ष की आयु के बाद अपने चेहरे का निखार खोने लगे हैं या खोने का डर सता रहा है। यदि ऐसा है तो ब्‍लू बैरीज़ का उपयोग करें, क्‍योंकि इसमें विटामिन ए और विटामिन सी के साथ ही एंथोसाइनिन (anthocyanin) नामक एक एंटी-एजिंग एंटीऑक्‍सीडेंट होते हैं। यह वही है जो ब्लूबेरी को सुंदर नीला रंग देता है।

ये पावरफुल एंटीऑक्‍सीडेंट (5) सन डेमेज, स्‍ट्रेस और पॉल्यूशन के कारण स्किन को डेमेज करने वाले फ्री रेडिकल्‍स को रोकने में मदद करते हैं। ब्‍लू बैरीज़ में मौजूद अन्‍य पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ कोलेजन लॉस को रोकने और इसके प्रोडक्‍शन को बढ़ाने में मदद करते हैं। जिससे त्‍वचा उम्र बढ़ने पर भी हेल्‍दी और सुंदर बनी रहती है। इसलिए 30 की उम्र के बाद अपनी त्‍वचा में आने वाले परिवर्तनों को रोकने के लिए ब्‍लू बैरीज़ का सेवन कर सकते हैं।

त्‍वचा को जवां रखे एंटी-एजिंग फूड ब्रोकोली – Broccoli Anti-Aging Foods in Hindi


एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटी-एजिंग गुणों के पावर हाऊस के रूप में ब्रोकोली त्‍वचा समस्‍याओं का सबसे बेहतर उपाय माना जाता है। इसमें पाये जाने वाले अन्‍य पोषक तत्‍वों में शामिल हैं :
विटामिन C और K
फाइबर (fiber)
फोलेट (folate)
ल्‍यूटिन (lutein)
कैल्शियम (calcium)
ये सभी घटक कोलेजन के उत्‍पादन को बढ़ाने और त्‍वचा की लोच को बेहतर बनाने में सहायक होते हैं। अपनी त्‍वचा को हेल्‍दी रखने के लिए संभव हो तो ब्रोकोली को कच्‍चे या स्‍टीम करके सेवन कर सकते हैं। ब्रोकली का सेवन करके आप 30 की उम्र में न केवल अपनी स्किन बल्कि स्‍वास्‍थ्‍य को भी बेहतर बना सकते हैं।

ब्रोकोली में पाया जानें वाला पोषक तत्व ल्यूटिन याददाश्त को कम होने से रोकने में मदद करता है (6)।

साथ ही साथ इसमें विटामिन के (vitamin K) और कैल्शियम भी पाया जाता है जो हड्डियों के स्वास्थ्य और ऑस्टियोपोरोसिस की रोकथाम के लिए आवश्यक होता है।


युवा त्वचा के लिए भोजन पालक – Anti-Aging Foods for Spinach in Hindi


30 वर्ष की उम्र के बाद शरीर को अतिरिक्‍त पोषक तत्‍वों की आवश्‍यकता होती है जिसे पूरा करने के लिए पालक का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। पालक एक सुपर हाइड्रेट्रिंग और एंटीऑक्‍सीडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थ है।

पालक में सभी प्रकार के आवश्‍यक विटामिन जैसे A, C, E और K की पर्याप्‍त मात्रा होती है। साथ ही यह पौध आधारित हीम आयरन (plant-based heme iron), ल्‍यूटिन, मैग्नीशियम आद‍ि से भी भरपूर होता है।

इस पत्तेदार हरी सब्जी में मौजूद विटामिन सी कोलेजन के उत्‍पादन को बढ़ाने और त्‍वचा को मुलायम और मजबूत करने में सहायक होता है। विटामिन ए स्किन को चमकदार बनाता है जब‍िकि विटामिन K त्‍वचा कोशिकाओं की सूजन को कम करने में मदद करता है।

अपनी बढ़ती उम्र के लक्षणों को रोकने के लिए आप अपने दैनिक आहार में पालक को सब्‍जी, सलाद या स्मूदी के रूप में शामिल कर सकते हैं।


उम्र बढ़ने के संकेत कम करें नट्स – Anti-Aging Foods for nuts in Hindi


कई प्रकार के सूखे फलों या नट्स (स्‍पेस्‍ली बादाम) में विटामिन ई की अच्‍छी मात्रा होती है। एंटी एजिंग फूड्स में मौजूद विटामिन ई डेमेज स्किन सेल्‍स की मरम्‍मत करने, स्किन को हाइड्रेट बनाए रखने और त्‍वचा को यूवी किरणों से बचाने में मदद करता है।

इसी तरह अखरोट में भी विटामिन ई के साथ ही एंटी-इंफ्लामेटरी गुण और ओमेगा-3 फैटी एसिड (7) की अच्‍छी मात्रा होती है जो एंटी-एजिंग के साथ ही त्‍वचा संक्रमण प्रभाव कम करने में मदद हैं।

इस प्रकार के पोषक तत्‍वों से भरपूर नट्स का सेवन करने से त्‍वचा कोशिकाओं को मजबूत करने, सन डेमेज से बचाने, नेचुरल ऑयल के उत्‍पादन को संतुलित करने और त्‍वचा को सुंदर और चमकदार बनाने में मदद मिल सकती है। जिससे आपकी त्‍वचा को प्राकृतिक निखार मिल सकता है।

आप अपने शरीर में इन पोषक तत्‍वों की कमी को दूर करने के लिए पर्याप्‍त मात्रा में सूखे फलों और नट्स आदि का सेवन कर सकते हैं। लेकिन इन सूखे नट्स का सेवन करते समय यह ध्‍यान रखें कि इनके छिलके अलग न करें क्‍योंकि अधिकांश पोषक तत्‍व इन छिलकों में ही होते हैं (8)।

बढ़ती उम्र को रोकने के लिए एवोकाडो खाएं – Avocado anti-aging food in Hindi


एवोकाडो में सूजन को कम करने वाले फैटी एसिड होते हैं जो चिकनी और मुलायम त्वचा को प्राप्त करने में मदद करते हैं। इनमें विभिन्न प्रकार के एसेंशियल न्यूट्रीएंट्स भी शामिल हैं जो उम्र बढ़ने के नकारात्मक प्रभावों को रोकने में मदद कर सकते हैं (9), जिनमें शामिल हैं:
विटामिन के, सी, ई, और ए
बी विटामिन
पोटैशियम

एवोकाडो में ओमेगा-3 फैटी एसिड की उच्‍च मात्रा होती है जो त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं जैसे त्‍वचा की खुजली, जलन और अन्‍य समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा एवोकाडों में अन्‍य आवश्‍यक पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ भी होते हैं जो उम्र बढ़ने संबंधी लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।


विटामिन ए डेड स्किन सेल्‍स को हटाने और त्‍वचा के स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर बनाने में सहायक होता है। एवोकाडो में कैरोटीनॉयड (carotenoid) भी होते हैं जो टॉक्सिन एलिमेंट को दूर करने और त्‍वचा को यूवी किरणों की क्षति से बचाता है।

आप अपनी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ और सुंदर बनाने के लिए एवोकाडो को सलाद, स्‍मूदी या अन्‍य स्‍वादिष्‍ट व्‍यंजनों के साथ उपयोग कर सकते हैं। यह आपकी त्‍वचा को सूजन और अन्‍य प्रकार की समस्‍याओं से बचाने का सबसे अच्‍छा उपाय हो सकता है।

उम्र कम दिखाने का उपाय शकरकंद – Sweet potatoes Anti Aging Food in Hindi

स्‍वीट पोटेटो या शकरकंद का नारंगी रंग बीटा कैरोटीन की मौजूदगी के कारण होता है। बीटा कैरोटीन एक एंटीऑक्‍सीडेंट है जो विटामिन ए के रूप में परिवर्तित हो सकता है। विटामिन ए की मौजूदगी त्‍वचा की लोच (skin elasticity) को बेहतर बनाने और त्‍वचा कोशिकाओं की कार्यविधि को बढ़ाने में मदद करते हैं। जिससे त्‍वचा को प्राकृतिक रूप से कोमल और चमकदार बनाने में मदद मिलती है।

शकरकंद में विटामिन सी और ई भी होते हैं, जो हमारी त्‍वचा को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाने में सहायक होते हैं। आप अपने दैनिक आहार में शकरकंद को शामिल करके 30 की उम्र में भी जवां और सुंदर त्वचा प्राप्‍त कर सकते हैं।

त्‍वचा को जवा बनाए अनार के बीज – Pomegranate seeds Anti Aging Food in Hindi

सदियों से विभिन्‍न रोगों के उपचार के लिए अनार के बीजों का उपयोग कई प्रकार से किया जा रहा है। आप भी अपनी बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए इनका इस्‍तेमाल कर सकते हैं। अनार के दानों में विटामिन सी और कई तरह के एंटीऑक्‍सीडेंट मौजूद होते है (10)। जिससे न केवल हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है बल्कि यह हमारी त्‍वचा कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से भी बचाता है।

अनार के बीजों में पनिकालाजिंस (Punicalagins) नामक एक यौगिक भी होता है जो त्‍वचा में कोलेजन के संरक्षण को बढ़ाता है जिससे उम्र बढ़ने संबंधी लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है।


स्‍वास्‍थ्‍य के साथ ही स्किन हेल्‍थ संबंधी बेनफिट्स प्राप्‍त करने के लिए आप अनार के दाने या अनार के जूस का नियमित सेवन शुरु कर सकते हैं।

इन इन एंटी एजिंग फूड्स का सेवन करके, आप अपनी स्किन को चमकदार युवा और सुंदर बना सकते हैं। जो किसी एंटी एजिंग क्रीम से भी अच्छा रिजल्ट देते हैं।

यदि आप युवा त्वचा के लिए भोजन की तलाश कर रहे हैं, तो गहरे रंग की फलों और सब्जियों को खाने के लिए चुनें। गहरा रंग आमतौर पर आपकी त्वचा को स्वस्थ और युवा बनाए रखने की क्षमता का प्रतीक हैं। जितने अधिक रंग आप अपनी खाने की प्लेट में रख सकते हैं, यह आपके लिए उतना ही बेहतर है।

उम्र बढ़ने के संकेतों को धीमा करने के लिए इनका सेवन करें जो आपकी स्किन को भीतर से निखारते हैं!

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.