Header Ads

इन 8 कारणों से लड़कियों को होती है योनि में सूखेपन की समस्या


इन 8 कारणों से लड़कियों को होती है योनि में सूखेपन की समस्या

इन 8 कारणों से लड़कियों को होती है योनि में सूखेपन की समस्याअधिकतर महिलाओं को गर्भावस्था और मेनोपॉज के दौरान योनि में अधिक सूखापन की समस्या हो जाती है!
1/9

योनि में सूखापन एक आम समस्या है और अधिकतर बुजुर्ग महिलाओं में यह समस्या पायी जाती है। लेकिन आज कल के दौर में कम उम्र की लड़कियां और व्यस्क औरतें भी इसका शिकार होने लगी हैं। मुख्य तौर पर एस्ट्रोजन की कमी के कारण ही यह समस्या होती है और कुछ मामलों में योनि में सूखापन होने के कारण खुजली और तेज जलन भी होने लगती है। गुडगाँव स्थित पारस हॉस्पिटल की कंसलटेंट गायनकोलोजिस्ट डॉ. पूजा खत्री मेहता यहाँ ऐसी ही कुछ और वजहों के बारे में बता रही हैं।


स्तनपान: ब्रेस्टफीडिंग के दौरान प्रोलक्टिन और ऑक्सीटोसिन नामक हार्मोन का स्त्राव बढ़ जाता है, ये दोनों हार्मोन नियमित रूप से मिल्क की सप्लाई को बनाये रखते हैं। प्रोलक्टिन मुख्य तौर पर ओव्यलैशन को रोकते हैं जिस कारण से एस्ट्रोजन का बनना कम हो जाता है, और इसकी कमी के कारण ही फिर ये समस्या होने लगती है।



साफ़ सफाई : बाज़ार में ऐसे कई क्रीम और केमिकल युक्त चीजें मिलती हैं जो आपकी वैजाइना को पूरी तरह साफ़ सुथरा बनाये रखने का दावा करती हैं। इन चीजों का अधिक इस्तेमाल करने के कारण भी ये योनि की चिकनाई को ख़त्म कर देती हैं जिससे सूखापन की समस्या हो जाती है।

मेनोपॉज : मेनोपॉज के दौरान योनि में सूखापन होना एक आम बात है। अगर आपको समय से पहले ही मेनोपॉज आ गया तो है तो इससे स्थिति और बुरी हो जाती है। इन सबके लिए भी एस्ट्रोजन का कम होना ही मुख्य कारण होता है।
5/9


सेक्स की इच्छा में कमी : कई एक्सपर्ट्स का यह भी मानना है कि सेक्स लाइफ अच्छी न होने या सेक्स में कम रूचि होने के कारण भी कई महिलाओं को इस समस्या का सामना करना पड़ता है।

गर्भावस्था : प्रेगनेंसी के दौरान वैजाइना का स्वास्थ्य काफी तक तक शरीर के कुछ हार्मोन पर निर्भर करता है। कुछ हार्मोन के कारण इस दौरान आपको वैजाइनल ड्राइनेस की समस्या हो भी सकती है, वहीँ अधिकतर महिलाओं को इस दौरान ऐसा कुछ भी नहीं होता है।

7/9


दवाइयां : सांस से जुड़ी बीमारियों के इलाज में खायी जाने वाली दवाइयों के कारण भी कई महिलाओं को योनि में सूखापन की समस्या झेलनी पड़ती है। इन दवाइयों के कारण योनि में उपस्थित चिकनाई में कमी आ जाती है। कई बार एंटीबायोटिक दवाइयों के ज्यादा दिन तक सेवन करने के कारण भी यह समस्या होने लगती है।
स्ट्रेस: स्ट्रेस और एंग्जायटी के कारण भी महिलाओं को कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं, योनि में सूखापन भी उन्हीं समस्याओं में से एक है। स्ट्रेस के कारण शरीर के कई हार्मोन प्रभावित होते हैं जिस कारण ब्लड सर्कुलेशन कम हो जाता है और जननांगो में खून की मात्रा कम पहुंचने के कारण उनमें सूखापन बढ़ जाता है।
9/9
सर्जरी : कई महिलाओं को गर्भाशय में हुई किसी समस्या या अंडाशय की सर्जरी होने के कारण भी इस समस्या का सामना करना पड़ता है। हालांकि सामान्य तौर यह यह सर्जरी 50 साल से अधिक उम्र की महिलाओं का ही किया जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.