Header Ads

होंठो को गुलाबी रखने के घरेलू नुस्खे

https://www.healthsiswealth.com/
होंठो को गुलाबी रखने के घरेलू नुस्खे 
=======================
Image may contain: 1 person, smiling, close-up
कहानियों में चेहरे की सुंदरता बयान करने में होंठो का गुलाबी होना अहम् हिस्सा माना जाता है। होठों की सुंदरता की कसौटी गुलाबी और मुलायम होंठ होते हैं, इसलिए हर कोई चाहता है कि उसके होंठ मुलायम और गुलाबी हो, लेकिन शायद आपको पता नहीं कि होंठो का रंग भी आपके सेहत और बीमारी का संकेत देते हैं। होंठो के रंग का गुलाबी होना ही सेहतमंद का परिचय होने के साथ-साथ चेहरे की सुंदरता की भी पहचान होती है।

होंठो के गुलाबी होना क्या होता है?( What is Pink Lips)
होंठो का गुलाबीपन सुंदरता की पहचान होती है, अगर इससे हटकर सोचा जाये तो होंठ आपकी सेहत के बारे में कई बातें बताते हैं। यदि आप किसी बीमारी से ग्रसित हैं तो आपके होंठ का रंग बदलना शुरु हो जाता है। बदलते होंठ के रंग को अधिकतर लोग नजरअंदाज कर देते हैं और कभी-कभी तो किसी पर उनका ध्यान भी नहीं जाता।

लाल होंठ- अगर आपके होंठ पहले की तुलना में ज्यादा लाल दिखने लगे, तो समझ जाइए कि ये सेहत संबंधित बीमारी की तरफ इशारा है। होंठों के लाल होने का मतलब है, कि आपका लीवर कमजोर है या फिर सही तरीके से काम नहीं कर रहा है।

इसके अलावा होंठ का लाल होना खान-पान की किसी एलर्जी के कारण भी हो सकता है। इससे कई बार होंठों में सूजन भी आ जाती है।

पीले या सफेद होंठे-होंठ के पीले या सफेद होने का मतलब है कि आपको एनीमिया या खून की कमी हो सकती है, क्योंकि कुदरती इस प्रकार के होंठ नहीं होते। बता दें कि खून में लाल हीमोग्लोबिन की कमी के कारण होठ का रंग बदलकर पीला या सफेद हो जाता है।

काले होंठ –यूं तो ज्यादा ब्यूटी प्रोडक्ट्स के उपयोग से होंठ काले पड़ने शुरु हो जाते है। लेकिन इसके अलावा जिन लोगों को सिगरेट पीने की आदत होती है उनके होंठ भी काले पड़ जाते हैं।

जामुनी होंठ –यदि आपके होंठ का रंग नेचुरल रंग से जामुनी हो गया है तो इसका मतलब आपको दिल या फेफड़ों से संबंधित कोई बीमारी परेशान कर रही है। इसके अलावा यह पाचन क्रिया में गड़बड़ी की ओर भी इशारा करता है।

होंठो का गुलाबीपन क्यों खो जाता है? (Causes of Loss of Pink Lips)

गुलाबी और सॉफ्ट होंठ स्वस्थ व्यक्ति की पहचान होती है। कई बार मौसम में बदलाव, तेज धूप, धूल-मिट्टी के कारण होठों का गुलाबी पन गायब हो जाता है।

-पानी की कमी से होंठ ड्राई होना शुरू हो जाते हैं। ड्राई होंठों की केयर करना बहुत जरूरी है।

-होंठों की स्किन में कुछ समय बाद डेड स्किन जमा होने लगती है। जिसे हटाना बहुत जरूरी होता है। होठों पर जमे डेड स्किन को साफ न किया गया तो इससे कालापन बढ़ने लगता है।

-जो लोग स्मोकिंग करते हैं उनके होठों का नेचुरल गुलाबी निखार कालेपन में बदल जाता है। होठों का गुलाबीपन बरकरार रखने के लिए सिगरेट की लत से छुटकारा पाना ज़रूरी होता है।

-होठों पर लगे लिप कलर चेहरे की खूबसूरती को बढ़ा देते हैं।

-ज्यादा देर तक धूप में रहने से भी स्किन का कलर गहरा हो जाता है।
Image may contain: 1 person, smiling, close-up
-जो लोग स्विमिंग करते हैं और ज्यादा देर तक पानी में रहते हैं, उनके होंठ काले पड़ जाते हैं।

-साइड इफेक्ट के कारण-होंठों का गुलाबीपन खो जाना साइड इफेक्ट के कारण भी हो सकता है। लिपस्टिक या लिप ग्लॉस में कुछ किसम के हाई और सुगन्धित तत्व मिले होते हैं जिससे कुछ महिलाओं को एलर्जी पैदा हो जाती है। कोई भी प्रोडक्ट लेने से पहले उसे अपनी त्वचा पर लगाकर जरूर टेस्ट करें।
-जीवनशैली और आहार-जीवनशैली और आहार में असंतुलन भी होंठो के गुलाबीपन कम होने के वजह हैं-

विटामिन सी कमी-विटामिन सी होंठों को गुलाबी के लिये जाना जाता है। यदि आप अपने आहार में विटामिन सी नहीं ले रहे हैं तो आपके होंठ गहरे पड़ जाएंगे। आपको विटामिन सी पाने के लिये ताजे फल और सब्जियां खाने चाहिए।

पानी की कमी-अगर होंठ गुलाबी रखने हैं तो खूब सारा पानी पीजिये। दिन में कम से कम 3 लीटर पानी जरूर पीना चाहिए जिससे होंठों में नमी बनी रहे।

होंठो को बार-बार चाटना-सूखे होंठों को गीला करने के चक्कर में उन्हें बार-बार चाटना सही नहीं है, इससे वे काले हो जाते हैं।

सूरज का यूवी रे-सूरज मिलेनिन पिगमेंटेशन को बढ़ाता है। ज्यादा देर तक धूप में रहने से होंठ सूरज की गर्मी को झेल नहीं पाते और काले हो जाते हैं। होठों को बचाने के लिये यूवी प्रोटक्शन वाला लिप बाम लगाना चाहिए।

कैफीन का सेवन-ये तो पता है कि कैफीन दांतों को पीला कर देती है लेकिन ये होंठों को भी साथ में काला करती है। आप जितनी ज्यादा कॉफी पियेंगे आपके होंठ उतने ही ज्यादा काले पडेंगे। कॉफी और चाय पीने से भी होंठ काले होते हैं।

ध्रूमपान-सिगरेट में निकोटीन होता है जो होंठों की त्वचा को जला देता है इसलिए होंठ काले पड़ने लगते हैं। लेकिन आप जैसे ही स्मोकिंग करना छोड़ देंगे आपके होंठ अपने आप ही सही हो जाएंगे।

मेकअप प्रोडक्ट्स- होंठों को आकर्षक दिखाने के लिए अगर आप सस्ता और लो बजट की लिपस्टिक या लिप ग्लॉज यूज करती हैं तो ये प्रोडक्ट भी आपके होंठों को काला बना रहे हैं। इन सस्ते प्रोडक्ट्स में लैड, शीशा और सुगन्धित तत्व मिले होते हैं जो महिलाओं में एलर्जी की समस्या पैदा करती है और आपके होंठों को काला बनाती हैं।

एंटीबायोटिक दवाईंयो का ज्यादा सेवन- ज्यादा दवाईयां खाने से भी होंठों पर बुरा असर पड़ता है साथ ही एंटीबायोटिक दवाइयां खाना शरीर पर खराब असर डालती है।

होंठो का गुलाबीपन बचाने के उपाय (How to Prevent Pinkish Lips)

होंठो का गुलाबीपन बचाये रखने के लिए इन बातों पर ध्यान रखना ज़रूरी होता है-

-मलाई में नीम्बू मिलाकर इसमें शक्कर मिलाएं और इसको स्क्रब के तौर पर इस्तेमाल करें। होंठ धीरे-धीरे गुलाबी होने लगेंगे।

-ग्लिसरीन में केसर, गुलाब जल और नींबू मिलाकर लगाने से भी होंठ गुलाबी होते हैं।

-रात में हमेशा मेकअप हटाकर सोंए। होंठों पर लिपस्टिक लगी न छोड़ें। सुबह ब्रश करते वक्त टूथब्रश को होंठों पर रगडे, इससे मृत त्वचा निकल जाएगी।

–गुलाब की पत्तियों को पीसकर इसके इसके रस को शहद में मिलाकर होंठों पर लगाने से होंठ गुलाबी होते हैं।

-गुलाब की पत्तियों को दूध में भिगोकर रखें। एक घण्टे बाद इसका पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को दिन में 2-3 बार होंठों पर लगाएं।
Image may contain: 1 person, smiling, close-up
-चीनी, शहद और नारियल का तेल मिलाकर रात के समय होंठों पर लगाकर सोने से होंठों की रंगत गुलाबी होती है।
-खाने में चुकंदर, टमाटर और तरबूज सहित पोषक तत्वों का इस्तेमाल करें।

-हल्दी में दूध मिलाकर लगाने से होंठों का कालापन दूर होता है।

-होंठों पर शुद्ध देसी घी लगाकर सोने से होंठ नरम और गुलाबी हेते हैं।

-अनार के दोनों को पीस लें। इस पेस्ट में मलाई मिलाकर फ्रिज में रख दें। इसे एक हफ्ते तक होंठों पर कई बार लगाएं।

-होठों के गुलाबीपन को बरकरार रखने के लिए स्मोंकिग न करें।

-सस्ते और घटिया क्वालिटि के प्रोट्क्टस का प्रयोग न करें क्योंकि इसमें केमिकल्स और सुगन्धित द्रव्य होते हैं जो होंठों को काला बना देते हैं।

-ज्यादा देर तक धूप में रहने से बचें क्योंकि सूरज मिलेनिन पिगमेंटेशन को बढ़ाता है। जिससे होंठों का रंग गहरा हो जाता है।

-दिन में 3 से ज्यादा बार कॉफी का सेवन न करें।

-सूखे होंठों को बार-बार जीभ से न चाटें।

-गरम तरल पदार्थ एवं खाद्य पदार्थों से दूर रहें।

होंठो को गुलाबी रखने के घरेलू नुस्ख़े (Home Remedies for Pink Lips)

होंठो को गुलाबी रखने के लिए क्रीम या लिप वाम आदि का इस्तेमाल करने के पहले इन घरेलू उपायों का इस्तेमाल करना बेहतर विकल्प बन सकता है।

चीनी, ऑलिव ऑयल और नींबू का मिश्रण गुलाबी होंठों के लिए फायदेमंद (Sugar, Olive oil and Lemon Mixture Beneficial for Pink Lips)

सबसे पहले आप एक कटोरी चम्मच चीनी लें और उसमें ऑलिव ऑयल और नींबू की कुछ बूंदें डालें। फिर रोजाना अपने होंठों पर मसाज करें। इसके बाद पानी से धो लें।

नींबू और शहद का पैक गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Lemon and Honey Pack Beneficial for Pink Lips)

नींबू और शहद का पैक बनाइए और फिर अपने होंठों पर बीस से तीस मिनट रखें इसके बाद इसको पानी से धोकर साफ कर दें।

ग्लिसरीन और नींबू का मिश्रण गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Glycerin and Lemon Mixture Beneficial for Pink Lips)

ग्लिसरीन और नींबू को मिलाए और फिर इसको सोने से पहले होंठों पर ट्राई करे, फिर इसको सुबह के समय धो लें। इससे काफी फायदा होगा।

पानी का सेवन गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Water intake Beneficial for Pink Lips)

सबसे पहले तो अपनी दिनचर्या में पर्याप्त मात्रा में पानी शामिल करें, क्योंकि होंठ गुलाबी होने पर अगर फटे हैं तो ये जरा भी आकर्षक नहीं दिखेंगे।

गुलाबजल, नींबू और दही गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद(Gulabjal, Lemon and Curd Mixture Beneficial for Pink Lips)

होंठों का कालापन दूर करने के लिए गुलाब जल, नींबू की बराबर मात्रा दही में मिलाकर लगाने से भी होंठों की रंगत बेहतर होती है।

विटामिन ई कैप्सूल गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Vitamin E Capsule Beneficial for Pink Lips)

विटामिन ई कैप्सूल को होंठों पर आधे घंटे तक लगा रहने दें। इसके बाद टिश्यू पेपर से पोंछकर लिप बाम लगा लें।

मलाई और टमाटर का रस गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Cream and Tomato Juice Beneficial for Pink Lips)

मलाई में टमाटर का रस लगाने से भी होंठ गुलाबी होते हैं।

जैतून तेल और शक्कर गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Olive oil and Sugar Beneficial for Pink Lips)

1 चम्मच जैतून के तैल में, 1 चम्मच शक्कर मिलाकर रख लें और इस मिश्रण को होंठों पर कुछ देर तक मलें। 1 साफ कपड़े से पोंछकर नारियल का तेल या देशी घी होंठों पर लगाएं। ये प्रक्रिया हफ्ते में दो बार करें।

एलोवेरा जेल और चुकंदर का पाउडर गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Aloe Vera Gel and Beetroot Powder Beneficial for Pink Lips)

एलोवेरा जेल और चुकंदर का पाउडर मिलाकर रखें। इसे सोते समय होठों पर लगाएं।

संतरा गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Orange Beneficial for Pink Lips)

संतरा अपने होंठों पर मलें। संतरे के रस से होंठ मुलायम और सुंदर दिखने लगते हैं।

अनार का रस गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Pomegranate Juice Beneficial for Pink Lips)
पिंक लिप्स पाने के लिए अनार का रस भी प्रयोग कर सकते हैं। इसके अलावा काले होंठ सुन्दर बनाने के लिए थोड़ा गाजर का रस अनार के रस में मिलाकर होठों पर लगाएं। इस उपाय से होंठ मुलायम भी होते हैं।

नारियल पानी, खीरे का रस और नींबू का रस गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Coconut water, Cucumber Juice and Lemon Juice Mixture Beneficial for Pink Lips)e
नारियल पानी, खीरे का रस और नींबू का रस मिलाकर इसे होंठों पर लगाने से भी होंठ गुलाबी होने लगते हैं।

नींबू गुलाबी होंठो के लिए फायदेमंद (Lemon Beneficial for Pink Lips)

काले होंठों के इलाज में नींबू फायदेमंद है। नींबू के रस को दो बार अपने होंठों पर लगाएं।

होंठों के कालेपन को दूर करने के कारगर घरेलू उपाय
इस बात में कोई शक नहीं है कि गुलाबी होंठ किसी भी महिला की खूबसूरती में चार चांद लगा देते हैं. कुछ महिलाएं तो लिपस्टिक लगाकर अपने होंठो का कालापन छिप लेती हैं लेकिन उनका क्या जिन्हें लिपस्टि‍क लगाना पसंद न हो?


इस बात में कोई शक नहीं है कि गुलाबी होंठ किसी भी महिला की खूबसूरती में चार चांद लगा देते हैं. कुछ महिलाएं तो लिपस्टिक लगाकर अपने होंठो का कालापन छिप लेती हैं लेकिन उनका क्‍या जिन्हें लिपस्टि‍क लगाना पसंद न हो? या फिर अगर आप बिना लिपिस्‍टक लगाए नैचुरल लुक में रहना चाहें तो यह कैसे मुमकिन हो सकता है.


सबसे पहले आपको ये जानने की जरूरत है कि आखिर होंठ काले कैसे हो जाते हैं. कई बार सूरज की रोशनी के सीधे संपर्क में होने की वजह से, किसी तरह की एलर्जी होने से, सस्ती क्वालिटी के कॉस्मेटिक के इस्तेमाल से, तंबाकू खाने से, बहुत अधिक सिगरेट पीने से या फिर कैफीन की बहुत ज्यादा मात्रा का सेवन करने से होंठ काले हो जाते हैं. कई बार ये हॉर्मोनल इम्बैलेंस की वजह से भी हो सकता है.

वैसे तो बाजार में ऐसे कई उपाय मौजूद हैं जिनसे काले होंठों का रंग ठीक किया जा सकता है लेकिन कुछ घरेलू उपाय भी हैं, जो आपकी मदद कर सकते हैं. अच्छी बात यह है कि इनके इस्तेमाल से किसी प्रकार के साइडइफेक्ट का खतरा भी नहीं रहता है.


1. नींबू
नींबू का इस्तेमाल अक्सर काले घेरों को दूर करने के लिए किया जाता है. आप इसका इस्तेमाल होंठों के कालेपन को दूर करने के लिए भी कर सकती हैं. नींबू के ब्लीचिंग गुण होंठों के गहरी हो रही रंगत को कम करने में बहुत कारगर होते हैं. अच्छा रहेगा, अगर आप नींबू की कुछ बूंदों को अपने होंठों पर लगाकर सो जाएं. एक-दो महीने तक यह ऐसा करते रहने से होंठों का कालापन दूर हो जाएगा.


2. गुलाब
गुलाब में तीन खास औषधीय गुण पाए जाते हैं. ये राहत देने, ठंडक देने और मॉइश्चराइज करने का काम करता है. गुलाब की पंखुडि़यां होंठों के कालेपन को दूर करके उन्हें गुलाबी बनाती हैं. गुलाब जल की कुछ बूंदों को शहद में मिलाकर होंठों पर लगाने से फायदा होता है.


3. जैतून का तेल
जैतून का तेल भी आपके गहरे होंठों को हल्का बनाने में कारगर साबित हो सकता है. जैतून के तेल की कुछ बूंदों को उंगलियों पर लगाकर, प्रभावित जगह पर हल्की मसाज करें. ऐसा करने से होंठ मुलायम भी बनते हैं.


4. चीनी
होंठों की डेड स्किन हट जाने से भी कालापन दूर होता है. चीनी को मिक्सर में पीस ले और इसमें कुछ मात्रा में मक्खन मिलाकर होंठों पर लगाएं. हफ्ते में एक बार ऐसा करने से होंठ कोमल मुलायम हो जाएंगे और उनका गहरापन भी कम होगा.


5. अनार
होंठों की देखभाल के लिए अनार से बढ़कर कुछ भी नहीं. ये होंठों को पोषित करने के साथ ही मॉइश्चराइज करने का काम भी करता है. होंठों की नमी लौटाने के साथ ही अनार उन्हें नेचुरली गुलाबी भी करता है. अनार के कुछ दानों को पीस कर उसमें थोड़ा सा दूध और गुलाब जल मिला लें. इस पेस्ट को होंठों पर हल्के हाथ से मलने पर जल्दी फायदा होता है.

6. चुकंदर
चुकंदर में नेचुरल ब्लीचिंग का गुण होता है, जिससे ये होंठों के कालेपन को दूर करने का काम करता है और साथ ही इसका नेचुरल लाल रंग होंठों को गुलाबी भी बनाता है. चुकंदर का रस या पेस्‍ट रात के समय होंठों पर लगाएं. रात भर इसे यूं ही रहने दें और अगली सुबह साफ कर दें.



कैसे आकर्षक मेकअप करें

इस आर्टिकल में:चेहरा को मेकअप के लिए तैयार करनाआँखों का मेकअपअपने होठों को कलर देना

आजकल के समय में मेकअप करना हमारी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी का अहम हिस्सा बन गया है जो हर एक अवसर पर किया जाता है फिर चाहे वह दिन में काम पर किया जाने वाला हो या फिर कहीं औपचारिक पार्टी में जाना हो। और अगर कोई तीज-त्यौहार हो तो पूछना ही क्या ? फिर तो महिलाओं में सबसे सुन्दर दिखने की मानो होड़ ही लड़ जाती है। लेकिन अगर आप कॉस्मेटिक्स (cosmetics) की दुनिया के लिए नयी हैं, तो मेकअप के बेशुमार प्रकार और स्टाइल्स में खो जायेंगी। लेकिन अच्छी बात यह है कि, यह सीखना इतना मुश्किल नहीं है; तो आइये जानते हैं आकर्षक मेकअप करने के आसान से तरीके (makeup kaise kare, sundar dikhne ke tareeke) !





विधि1चेहरा को मेकअप के लिए तैयार करना

1
अगर चेहरे पर पहले से कोई मेकअप हो तो उसे निकाल दें: जब आप मेकअप लगाना शुरू करती हैं, तो एक साफ सुथरे चेहरे से शुरू करना जरूरी है। इसलिए, अगर पिछला कोई मेकअप चेहरे पर हो तो उसे धो लें। अगर आप पुराने ही मेकअप पर और मेकअप करने की कोशिश करेंगे (टच अप्स शामिल नहीं है), तो आपका आखरी लुक एक पपडी चढाए जैसे लगेगा और फ्रेश चेहरे पर किए मेकअप से अधिक आर्टिफिशियल दिखेगा। आप एक अच्छा मेकअप रिमूव्हर या एक सौम्य बेबी ऑइल को मेकअप के सभी अवशेष निकालने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।
इसे याद रखें कि दिन के अंत में हमेशा अपना मेकअप निकाल दें; मेकअप के साथ सो जाने से आपके रोमछिद्र अवरूद्ध हो सकते हैं और दागधब्बे और झुर्रीयों (Jhurriyon या wrinkles) का कारण बन सकते हैं।

2
अपना चेहरा धो लें: मेकअप निकालने साथ, आपको अपना चेहरा भी धोना जरूरी है; चेहरे पर चिपचिपाहट और पसीना होना कुछ घंटों बाद आपके ताजा किए हुए मेकअप को चमकदार, पपडी जैसे दिखा सकता है। एक सौम्य फेस क्लिन्सर का उपयोग अपने चेहरे को कोमलता से धोने के लिए करें, लगभग 1 मिनट तक स्क्रब करने में बिताएं जिससे आपके त्वचाछिद्रों से सभी बैक्टीरिया और मृत त्वचा कोशिका निकल जाएं। एक फेशियल मॉश्चरायजर लगाते हुए पूरा करें। सूखी त्वचा एक तो परतदार भी दिखेगी और इसकी भरपाई के लिए ऑइल का शोषण करेगी, इसलिए निश्चित करें कि आपने त्वचा पर मॉश्चरायजर लोशन लगाया है।



3
कन्सीलर लगाएं: कन्सीलर का उद्देश्य है त्वचा के दाग धब्बे या आँखों के नीचे काले घेरे के कारण से बनी असमान त्वचा रंगत को एक समान दिखाना। एक कन्सीलर ब्रश का इस्तेमाल करें या अपनी (साफ) उंगलीयों से कन्सीलर अपने नीचे के पलकों के निचले भाग पर मलें, अन्य किसी लाल धब्बे पर, या ऍक्ने या गहरे धब्बों पर भी लगा दें। कन्सीलर लोशऩ के किनारे ठीक से मिला दें ताकि चेहरे पर असमान रंगत के निशान न दिखाई दें।




4
फाउंडेशन लगाएं: फाउंडेशन अनेक प्रकार में आते हैं, लेकिन सामान्यतः लगाने का प्रकार एक ही है। लिक्विड, क्रीम, और पाउडर फाउंडेशन्स सभी एक पूरी तरह समान रंगत निर्माण करने का काम करते हैं, आपकी त्वचा की प्राकृतिक रंगत कन्सीलर के साथ मिलाते हुए जिसे आपने पहले ही लगाया है। अपने संपूर्ण चेहरे पर फाउंडेशन लगाने के लिए एक फाउंडेशन ब्रश इस्तेमाल करें, आपके गर्दन से और कानपालि से मिलाते हुए अगर जरूरत हो। याद रहे कि आपका फाउंडेशन उसी कलर का हो जैसे आपकी त्वचा की प्राकृतिक रंगत, इससे ज्यादा गहरा या फीका (हल्का) नहीं। आपका फाउंडेशन उन भागों के ऊपर भी लगाया जाना चाहिए जहां कन्सीलर लगाया गया है ताकि वह ठीक से मिश्रित हो जाएं।
आप एक कन्सीलर ब्रश का इस्तेमाल थोडा अधिक फाउंडेशन लगाने के लिए कर सकते हैं ताकि गहरे धब्बे ढंक जाएं।
लिक्विड फाउंडेशन उंगलियों से लगाया जा सकता है, लेकिन इससे आपकी त्वचा को बैक्टीरियल इन्फेक्शन होने की संभावना अधिक होती है और भविष्य में मुहांसे भी हो सकते हैं।




5
अपना फाउंडेशन सेट करें: यह स्टेप वैकल्पिक है, लेकिन अगर आप लम्बे-समय तक टिकनेवाला मेकअप चाहते हैं तो आप अपना फाउंडेशन और कन्सीलर अपनी जगह रहने के लिए एक सेटींग पाउडर इस्तेमाल कर सकते हैं। एक बडे आकार का, रोएंदार ब्रश लेकर एक पारदर्शी या मैचिंग सेटींग पाउडर से अपना संपूर्ण चेहरा आच्छादित करें। यह स्टेप विशेष रूप से महत्वपूर्ण या उपयुक्त है अगर आप लिक्विड फाउंडेशन इस्तेमाल कर रहे हैं, क्योंकि यह फाउंडेशन सेट होने में मदद करेगा और कोई आर्टिफिशियल चमक दिखाई दे रही हो तो वह भी कम करेगा।


6
हायलायटर लगाएं: अच्छी तरह से फाउंडेशन लगाने के बाद, यह संभावना है कि एक समान कलर कि वजह से आपका चेहरा अभी एक रूपरेखा (outline) बिना और फ्लैट दिखे। कुछ गहरापन देने के लिए, आपको हायलाइट्स और शैडोज का उपयोग करना होगा। एक क्रीम या पाउडर हायलायटर के इस्तेमाल से अपने चेहरे के सबसे गहरे भागों को उजागर करें: आँखों के अंदर के साइड के कोने, भौंहों के नीचे, उपरी होठों के उपर बीच में, और चीकबोन्स के ऊपर/साइड पर। इससे आपका चेहरा अधिक उज्वल और प्रफुल्लीत दिखेगा।
एक कम्पलीट हायलाइट के लिए अपने चीकबोन्स पर, अपने भौंहों में, और उपर माथे पर एक ‘3’ का आकार निर्माण करें।
हायलायटर लगाने के लिए आप अपनी उंगलीयां या छोटा हायलायटर ब्रश इस्तेमाल कर सकते हैं।


7
कौन्टरिंग (contouring ) से गहराई जोडें: इसे नैन-नक्श उभारना भी कहते हैं। चेहरे पर हायलायटर लगाने के विरूद्ध, कौन्टरिंग में शामिल है आपकी वास्तविक त्वचा के रंगत से थोडी अधिक गहरे शेड की पाउडर (ब्रॉन्ज़र से अलग) उन भागों पर लगाना जो आप चाहते हैं कि कम से कम या थोडे दूर दिखाई दें। सामान्यतः चीकबोन्स के नीचे अपने गालों के गड्ढों में, और अपने नाक के साइड पर। इससे आपका चेहरा दिखने में अधिक पतला और लंबा लगेगा, और वे शैडोज देगा जो फाउंडेशन के बिना प्राकृतिक रूप से आते हैं।


8
थोडा ब्लश लगा दें: चेहरा तैयार करने में आखरी स्टेप है अपने गालों पर ब्लश लगाना। हर किसी के गालों पर थोडा कलर होता है, लेकिन यह कलर हर व्यक्ती के साथ भिन्न होता है। एक बडे ब्रश से अपने गालों के ऊपरी भाग पर (वह भाग जो जब आप मुस्कराते हैं तो गोलाकार दिखता है) ब्लश लगा दें। ब्लश लगाने में अधिकता न करें, बस उतना ही लगायें कि जो कलर प्राकृतिक रूप से तैयार होता है वह बना रहे।


9
अपनी भौहों को शेप दें: यह स्टेप वैकल्पिक है जो आपकी भौहों के आकार पर निर्भर करता है, लेकिन यह उनके लिए सामान्यतः ज्यादा उपयोगी है जिनकी भौंहे पतली या विरल होती हैं। ब्रो पेन्सिल या पाउडर का एक कलर चुनें जो आपके प्राकृतिक बाल के कलर से नजदीक हो। अपनी भौंहों के किनारों पर आउटलाइन करते हुए शुरू करें, और बाद में बीच का भाग थोडे कलर के साथ भरें। छोटी छोटी थपकीयों से अपने बालों के कलर जैसा लुक बनाएं, उसी दिशा में जाते हुए जैसे आपके बाल बढते हैं।





विधि2आँखों का मेकअप


1
एक आयशैडो प्राइमर लगाएं: यह और एक वैकल्पिक चरण है, लेकिन आयशैडो प्राइमर आपके आयशैडो को लंबे समय तक टिके रहने में मदद करेगा। अगर आप इसके बिना करते हैं, तो आपने देखा होगा कि आपकी आयशैडो फीकी पड जाती है या ऑइली बन जाती है और कुछ घंटों बाद आपके पलकों के क्रिज में जमा हो जाती है। आयशैडो प्राइमर लगाने के लिए अपनी उंगलियों का इस्तेमाल करें, इसे अपनी पलकों के जडों से लेकर क्रिज के ऊपर तक मिलाते हुए।


2
आयशैडो लगाएं: आयशैडो लगाने के अनेक तरीके है, हालांकि सबसे प्रचलित और क्लासिक लुक है एक सिंगल कलर अपने संपूर्ण पलकों पर लगाएं। पलकों पर आयशैडो लगाने के लिए एक आयशैडो ब्रश का इस्तेमाल करें, पलकों की रेखा से नजदीक बीच से शुरू करते हुए और बाहर की तरफ मिलाते हुए। अपनी क्रिज के पास और आँखों के बाहरी और अंदरूनी कोनों पर आयशैडो त्वचा के प्राकृतिक रंगत की तरह फीकी कर दें, ताकि कोई खुरदरी रेखा तैयार न हो। अगर आप थोडा गहरा लुक चाहती हैं, तो आयशैडो का दूसरा अधिक गहरा कलर ‘C’ के आकार में अपनी पलकों की रेखा के बाहरी कोने से ऊपर तक लगा दें, अपनी पलकों के क्रिज के ⅓ भागपर।
आयशैडो पूरी भौंहों तक नहीं जानी चाहिए, और आपकी पलकों से आगे जहां आपकी भौंहों का छोर है उसके आगे नहीं जानी चाहीए (सिवाय इसके कि आप एक बहुत गहरा लुक चाहती हैं)।
अगर आप आयशैडो के एक से ज्यादा कलर इस्तेमाल कर रही हैं, तो हमेशा निश्चित करें कि उन्हें ठीक से एकसाथ मिला लिया है।


3
अपना आयलाइनर लगा दें: आयलाइनर का उद्देश्य है पलकों की रेखा को एक संपूर्णता का भ्रम देना; इसलिए, वह कलर चुनें जो आपके प्राकृतिक बालों के कलर जैसा हो (या ब्राउन अगर आपके बाल सुनहरे हैं) जो आपके पलकों के साथ मिले। एक स्मजी लुक के लिए, एक आयलाइनर पेन्सिल इस्तेमाल करें, या एक क्रिम या लिक्विड आयलाइनर इस्तेमाल करें और एक चिकना, मुलायम लुक बनाएं। अपनी पलकों के रेखा के एक छोर से दूसरी छोर तक एक डैश या डॉट की लाइन बनाएं, और फिर ये डॉट्स जोडकर एक पूर्ण, लगातार रेखा तैयार करें। आप छोर की तरफ बाहर निकालना या पंख जैसा आकार बना सकते हैं अगर आप चाहते हैं तो, अन्यथा सरलता से अपनी पलकों की रेखा का सीधे अंदरूनी कोने से बाहर के कोने तक अनुसरण कर सकते हैं।
नीचे की पलकों की रेखा पर आयलाइनर लगाना सिर्फ खास अवसरों के लिए किया जाना चाहीए, क्योंकि यह एक बहुत अधिक गहरा/बोल्ड लुक तैयार करता है और थोडा बहुत उससे अधिक अप्राकृतिक दिख सकता है जब आयलाइनर आप सिर्फ उपरी पलकों पर लगाते हैं।


4
मस्कारा लगाते हुए पूर्ण करें: अपना आँखों का मेकअप पूर्ण करने के लिए, आपको थोडा बहुत मस्कारा आँखों को उपर से लगाने की जरूरत होगी। आपको जैसा लुक चाहिए उसपर निर्भर करते हुए अनेक मस्कारों से चुनाव कर सकते हैं; अगर आपकी पलकें छोटी हैं, तो ऐसा मस्कारा इस्तेमाल करें जो लंबाई जोडेगा, या अगर आपकी पलकें पतली हैं, तो एक गाढापन देने वाला मस्कारा इस्तेमाल करें। मस्कारा का ब्रश उसमें एक बार डुबाएं और जो अतिरिक्त है उसे कंटेनर के किनारे या पेपर तौलीए पर हलके से पोंछ दें। नीचे देखते हुए, ऊपर की पलक पर ऊपर की दिशा में थपकी लगाते हुए लगाएं। अंदर की तरफ से शुरू करें और बाहर की दिशा में जाएं। दोनों आँखों पर दो परत लगाएं, फिर इन्हें सूखने दें।
जैसे आप लगा रहे हैं ब्रश थोडा थोडा हिलाते रहें, क्योंकि इससे पलकों के बीच में परत लगाने में सुविधा होगी इसके बजाय के सिर्फ नीचे की परत पर।
मस्कारा ब्रश पर मस्कारा से बाहर निकालते समय या अंदर डालते समय कभी भी फूंक न मारें, क्योंकि इससे एअर पॉकेट्स तैयार होंगे।
आप मस्कारा की एक परत अपने नीचे की पलकों पर लगा सकते हैं, लेकिन यह सिर्फ आपकी आँखों को अधिक गहरा दिखाएगा जो लुक कुछ लोग टालना पसंद करते हैं।
मस्कारा दो परत से अधिक बार लगाना टालें, क्योंकि इससे प्राकृतिक गहरा लुक नहीं रहेगा और एक परतदार गाढा लुक देगा जो कम प्राकृतिक है।
अपनी पलकें अधिक संपूर्ण दिखाई देने के लिए एक अच्छी युक्ती है कि बेबी पाउडर की एक परत मस्कारा के परतों के बीच लगा दें; यह आपकी पलकों को थोडी और लंबाई और गाढापन देगा।



विधि3अपने होठों को कलर देना





1
अपने होंठ चिकने और मुलायम करें: प्राइमर, या सीलर लगा दें। इससे लगाए गए सभी लिप प्रॉडक्ट्स लंबे समय तक टिकने में मदद होगी और अधिक ज्यादा सुन्दर दिखेंगे। और अतिरिक्त, मुलायम होंठ किसे पसंद नहीं? एक अच्छा लिप बाम या मल्हम पहले अधिक लगानेसे आपके होठों को दिन में कुछ देर बाद पपडी निकलने में विरोध करेगा, जो लिपस्टीक और ग्लॉस दोनों के कारण हो सकता है।


2
लिप लायनर लगाएं: अपने होठों पर लायनर से रेखा बना दें जो आपके लिप कलर से मैच करता हो। अपने लिप लायनर को नोंक करें, और आपके होठों के प्राकृतिक रेखा पर लाइन निकालें। अपने होठों की आउटलाइन निकालने के बाद, पेन्सिल से लाइन के अंदर कलर भरना जारी रखें। यह आपके होठों का कलर और टेक्सचर समतल कर देता है और इससे बाद में ग्लॉस या लिपस्टीक लगाना और आसान हो जाता है।


3
लिपस्टीक या लिप ग्लॉस ब्रश से लगाएं: लिप लायनर के उपर लगाने के लिए अपनी पसंद की लिपस्टीक या ग्लॉस चुनें; एक प्राकृतिक लुक के लिए पारदर्शी शेड, या अधिक बोल्ड लुक के लिए गहरा कलर चुनें। अपने होठों के मध्यभाग से शुरू करें, और बाहर की तरफ कलर मिला दें। निश्चित करें कि कलर जितना हो सके आपके होठों के किनारे तक लगाया जाए। अपने दातों पर लिपस्टीक आने से रोकने के लिए, अपनी तर्जनी सीधे अपने मुंह में डालें और झट से बाहर निकालें; कोई अतिरिक्त कलर होगा तो आपकी उंगली को चिपक जाएगा और बाद में आपके दातों पर फैलने से टल जाएगा।


4
अपना लुक पूरा करें: अपने होठों का मेकअप पूर्ण करने के साथ, आपका लुक पूरा हो गया है! फिर से एक बार अपने आपका निरीक्षण करें यह निश्चित करने के लिए कि कोई धब्बे या उतरा हुआ आयशैडो तो नहीं है जिसे एक रोएंदार ब्रश से निकालना जरूरी है। अगर कुछ गलतीयां हुई हैं, तो मेकअप रिमूव्हर में डुबाया हुआ एक क्यू-टीप उन्हें ठीक करने के लिए इस्तेमाल करें।



सलाह

सर्वोत्तम परिणामों के लिए, अपना मेकअप एक अच्छे, प्राकृतिक प्रकाश में करें।
आँखों का निचला भाग खींचना टालें। इससे आँखों के नीचे फूलना और झुर्रीयां आ सकती हैं।
आप मेकअप कितनी मात्रा में और किस प्रकार का करते हैं ये पूरी तरह आप के ऊपर निर्भर करता है। आप अपने चेहरे को किसी और से अधिक अच्छी तरह जानते हैं – प्रयोग करने के लिए समय निकालें। मेकअप, सच कहा जाए तो, चेहरा पेंट करने की कला है। प्रयोग करने से आप आपके लिए क्या सबसे अच्छा काम करता है वह पा सकते हैं।
अपने चेहरे के एक भाग पर ध्यान केंद्रीत करें, या ज्यादा से ज्यादा दो। लिपस्टीक का बोल्ड कलर एक अलग दिखनेवाले आयलाइनर और ब्राइट शेड के ब्लश के साथ इस्तेमाल न करें। इसके बजाय, आँखें और होठों पर ध्यान केंद्रीत करें, या ब्लश /त्वचा पर. इसे सिंपल रखें; मेकअप लगाना अतिअधिक न करें।
हमेशा वह फाउंडेशन लगाएं जिसमें कम से कम 15 एसपीएफ है। अगर आपके फाउंडेशन में सनस्क्रिन नहीं है, तो अपना मेकअप रूटीन शुरू करने से पहले अलग से सनस्क्रिन लगा लें। सनस्क्रिन लगाने से आपकी त्वचा स्वस्थ दिखेगी और झुर्रीयोंकी संभावना कम हो जाएगी। कुछ बिना ऑइल वाला ढुंढें जिससे ऍक्ने की संभावना कम हो। इसमें गंध भी कम तेज होगी। बिना सनस्क्रिन आपका मेकअप भी एक अलग कलर (अधिक गहरा) में बन सकता है जो आपके त्वचा की रंगत से मिलेगा नहीं।
दिन का मेकअप, रात का मेकअप, और खास अवसर का मेकअप इनके बीच फर्क ध्यान में रखें। दिन का मेकअप हलका और पारदर्शी कलर में टिंटेड होता है। रात का मेकअप अधिक तीव्रता के साथ टिंटेड लेकिन ज्यादा भारी या परतदार नहीं होगा – अधिक गहरे कलर इस्तेमाल करें। खास अवसर में खास चीजें इस्तेमाल होती हैं जैसे नकली पलकें, लिक्विड लायनर्स, और आँखों के नीचे हायलाइटींग – जब ऍवॉर्ड सीझन होते हैं तब मैगेझिन्स देखना।
अपना मेकअप प्राकृतिक दिखनेवाला करें ताकि आप अपनेआपको साबित करने निकले हैं ऐसे न दिखें।
रंगत समान करने के लिए, थोडा पाउडर या फाउंडेशन गर्दन और चेहरे के किनारों पर लगाएं। इससे मेकअप की रेखा नहीं दिखेगी। आय मेकअप होने के बाद अपना ब्लश लगा दें। इससे गलती से अधिक ज्यादा ब्लश लगाने में रोक लगेगी।
अपना लुक अधिक ब्राइट दिखने के लिए एक थोडासा पीला या हलका कन्सीलर इस्तेमाल करें।
क्वालीटी हमेशा क्वान्टीटी से बेहतर होती है। अगर आपके पास पूरे चेहरे पर खर्च करने के लिए 1000 ₹ हैं, तो 10 सस्ती चीजें न खरीदें, 4 अच्छी क्वालीटी वाली चीजें खरीदें (500 ₹ फाउंडेशन के लिए, 200 ₹ मस्कारा, 200 ₹ ब्लश के लिए, और फिर 100 ₹ का लिप-ग्लॉस)।
मेकअप लगाने से पहले विजिन का इस्तेमाल करें जिससे आपकी आँखें अधिक धवल, उज्वल, और अधिक जागृत दिखेंगी। इससे आपकी आँखों को दिनभर के लिए चिकनाई भी मिलती रहती है और मेकअप के कारण शुष्कता आनेपर रोक लगती है।
जब आप लिप ग्लॉस या लिपस्टीक लगाते हैं तो अपनी उंगली या पतला ब्रश का उपयोग करना बेहतर है। इससे धब्बे नहीं आयेंगे।
कुछ प्राकृतिक मेकअप ब्रांड्स हैं बॉबी ब्राउन कॉस्मेटिक्स और लौरा मर्सीअर. मेकअप आपके प्राकृतिक अनोखे सौंदर्य को बढावा देता है।
मस्कारा लगाने से पहले आयशैडो लगा दें क्योंकि अगर आप पहले मस्कारा और बाद में आयशैडो लगाते हैं तो, आयशैडो आपके पलकों पर चिपक जाएगा।
निश्चिती करें कि आप घर छोडने से पहले आईने में एक क्विक चेक करें!
अपने ब्रश धोकर रखने की निश्चिती करें।
हमेशा फाउंडेशन या कन्सीलर अपनी त्वचा में ठीक से मिला दें। यह आपको एक बेहतर लुक देगा।

https://www.healthsiswealth.com/
चेतावनी

निश्चित करें कि आपका फाउंडेशन आपकी त्वचा की रंगत से मिलता है। एक खराब, गलत कलर, या सस्ते फाउंडेशन से और खराब कुछ नहीं दिखता।
अपने ब्रश बैक्टीरिया-रोधी साबुन से धोएं, और अपने स्पंज नियमित रूप से बदलें या धोएं (हर हफ्ते या दो हफ्तों में)। इनमें बैक्टेरिया या ऑइल जमा हो जाते हैं और बाद में मुंहासों का कारण बनते हैं। सामान्यतः स्पंज से दूर रहने की कोशिश करें, क्योंकि वे आम तौर पर बैक्टेरिया के साथ ही होते हैं।


चीजें जिनकी आपको आवश्यकता होगी

अच्छा प्रकाश
आईने
मेकअप ब्रश
दस्तेवाला स्पंज
मस्कारा
आयलाइनर
प्राइमर
फाउंडेशन या टिंटेड मॉयश्चरायजर
कन्सीलर
पाउडर (खूली या कॉम्पॅक्ट)
आयशैडो
लिपस्टीक
लिप बाम
लिप ग्लॉस
मॉश्चरायजर



कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.