Header Ads

इंसान का आराम कर


जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि इंसान का आराम कर
ना उसकी सेहत के लिए बेहद जरूरी भूमिका निभाता है. क्यूंकि, हर इंसान दिन भर की भाग दौड़ और कामों से थक जाता है. ऐसे में उसकी थकान को दूर करने के लिए आराम काफी जरूरी है. इस दुनिया में कोई भी इंसान बिना आराम किए नहीं जी सकता. क्यूंकि, लगातार दौर भाग से इंसान का एनर्जी लेवल काफी लो हो जाता है. ऐसे में फिर से उठ कर काम करने लायक बनने के लिए उसको कुछ घंटे आराम मिलना आवश्यक है. भगवान भी शायद इस तथ्य से वाकिफ थे. तभी उन्होंने दुनिया में रात और दिन का निर्माण किया. ताकि दिन भर इंसान अपने काम पूरे कर सके और रात भर थकान दूर करने के लिए सो सके. आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि हर इंसान की उम्र के हिसाब से उसको जरूरी नींद लेनी चाहिए. एक एडल्ट व्यक्ति को कम से कम 8 घंटे की नींद पूरी होना आवश्यक है. ऐसे में अगर उसकी ये नींद पूरी ना हो तो उसका अगला दिन भी सुस्ती से भरा बीतता है.
रात को नींद पूरी होने के बाद सुबह की शुरुआत काफी तरोताज़ा होती है. ऐसे में हर इंसान अपने दिन की शुरुआत काफी एनर्जी से करता है. हरकोई व्यक्ति अलग अलग तरीके से लेटना पसंद करता है. ऐसे में बहुत सारे व्यक्ति सीधे लेटते हैं, तो कुछ पेट के बल उलटे. वहीँ कुछ लोग करवट बदल कर सोना अधिक पसंद करते हैं. अक्सर आपने नोटिस किया होगा कि अधिकतर लोग पेट के बल लेटना पसंद करते हैं. उनके अनुसार ऐसे लेटने से उनकी थकान दूर होती है और उन्हें काफी राहत महसूस होती है. लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे की उल्टा होकर सोने से आपको बहुत सारे नुकसान होते है जिनके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे.आज के इस आर्टिकल में हम आपको पेट के बल लेटने से होने वाले 5 ऐसे नुकसानों से रूबरू करवाने a रहे हैं, जिन्हें जानकर आपके होश उड़ जाएंगे…

ये हैं उल्टा लेटने के नुकसान
अगर आप एक औरत है तो उल्टा सोना आपके लिए काफी भारी पड़ सकता है. क्योंकि अक्सर उल्टा सोने से औरतों की छाती के आकार में बदलाव आ जाता है या फिर उनकी छाती में दर्द बना रहता है. एक रिसर्च के अनुसार उल्टा लेटने से औरतों के ब्रेस्ट में गांठ भी पड़ सकती है.
जो लोग पीठ के बल लेटना अधिक पसंद करते हैं उनके लिए ऐसा लेटना काफी अच्छा सिद्ध होता है. क्योंकि पेट के बल सोने से ना केवल आपका चेहरा आकर्षक बनता है बल्कि आपके चेहरे पर झुर्रियां भी नहीं पड़ती. यू मान लीजिए कि पीठ के बल सोने से आपकी सुंदरता बरकरार रहती है.
आपको यह जानकर हैरानी होगी कि पेट के बल सोने से इंसान के सिर , गर्दन, रीड की हड्डी आदि मे भारी नुकसान होने की संभावना बनी रहती है. क्योंकि उल्टा लेटने से हमारी रीड की हड्डी मुड़ी हुई रहती है जिससे हमारा शरीर सुन्न हो सकता है. ऐसे में उल्टा लेटना व्यक्ति की सेहत के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं है. जो लोग पीठ दर्द के शिकार रहते हैं उनके इस दर्द का सबसे पहला कारण उनका उल्टा लेटना ही है.
जो लोग उलटे होकर सोते हैं उनकी रीढ़ की हड्डी पर दबाव पड़ जाता है. ऐसे में उन लोगों की कमर में भयानक दर्द की समस्या बनी रहती है.
जो औरतें प्रेग्नेंट हैं उन्हें कभी भी पेट के बल नहीं सोना चाहिए. क्योंकि गर्भावस्था में उल्टा लेटने से आपके शिशु को भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है.




जीवन में निरंतर समय के साथ-साथ हम कई तरह की समस्याओं का शिकार होने लगते हैं, वहीं कम उम्र में ही हमें कई समस्याओं का सामना पड़ता हैं। इन समस्याओं के अंतर्गत हड्डियों में कैल्शियम की कमी से लेकर, जोड़ों का दर्द भी शामिल है। बता दें कि हमें हड्डियों की समस्या से कई प्रकार की समस्याओं का शिकार होना पड़ता है।





इन सभी समस्याओं का एक मात्र कारण सही भोजन नहीं करना है, इसलिए जरूरी है की हम सही भोजन करें। अपनी रोजाना की डाइट को हमें सही सही ढंग से लेना बहुत जरूरी होता है।






https://www.healthsiswealth.com/

वरना हमें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। आज हम आपको उन भोज्य पदार्थ के बारे में बताने जा रहे हैं, जो अधिकतर लोगों को पसंद होता है लेकिन ये आपकी हड्डियों को धीरे-धीरे कमजोर करता रहता है।







कोल्ड ड्रिंक्स- आपको बता दें कि कोल्ड ड्रिंक्स हड्डियों के लिए काफी नुकसानदे होती है। डॉक्टर्स के मुताबिक, कोल्ड ड्रिंक्स में कार्बनडाईऑक्साइड और फॉस्पोरस अधिक मात्रा में पाया जाता है। यह हमारे शरीर की हड्डियों से कैल्शियम को सोख लेता है, और जो हड्डियों को खोखला बना देता है। इसके अलावा चॉकलेट भी हड्डियों को कमजोर कर देती है।




कॉफी- चाय और कॉफी सेहत के लिए काफी नुकसानदे होती है। कॉफी में मौजूद कैफीन शरीर के लिए नुकसानदे होता है। अगर हमारे शरीर में ज्यादा कैफीन पहुंचता है, तो इससे हड्डियों पर बुरा असर पड़ता है और इससे शरीर में कैल्शियम खत्म हो जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.