Header Ads

चिया सीड्स से मिलने वाले 7 अद्भुत फायदे

चिया सीड्स से मिलने वाले 7 अद्भुत फायदे
https://www.healthsiswealth.com/
विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होने के अलावा, चिया बीज ऊर्जा से भरे होते हैं, वे पेट भराऊ होते हैं, और आपका वजन कम करने में मदद कर सकते हैं। यह इस सुपर फूड को आजमाने का वक्त है!

https://www.healthsiswealth.com/

इस बात को कोई नहीं नकार सकता किइन दिंनों चिया सीड्स बहुत प्रसिद्ध हैं। मशहूर सेलिब्रिटी और लेटेस्ट डाइट ट्रेंड से आप जो कुछ भी सुन पाये होंगे, उसके अलावा आपको पता होना चाहिए कि वास्तव में चिया सीड्स के कई स्वास्थ्य लाभ हैं।

आज के आर्टिकल में हम आपको चिया सीड्स से होने वाले अद्भुत फ़ायदों के बारे में बतायेंगे और साथ ही बतायेंगे कि आपको उन्हें अपनी डाइट में शामिल करने के बारे में क्यों सोचना चाहिए।
चिया सीड्स: अद्भुत और स्वादिष्ट

https://www.healthsiswealth.com/

“चिया” शब्द मूल रूप से माया (Mayan) शब्द है और इसका अर्थ है “ताकत”। हजारों सालों से इस बीज का उपयोग मध्य अमेरिका में मुख्य भोजन के रूप में किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि चिया के बीज विटामिन, ओमेगा-3 फैटी एसिड और मिनरल्स से भरपूर होते हैं।

भले ही शुरुआत में चिया सीड्स मूल रूप से माया और एज़्टेक लोगों के आहार का हिस्सा था लेकिन अब यह दुनियाभर में फैल चुका है। औरों की तुलना में सबसे ज्यादा एथलीटों ने उन्हें अपनी डाइट में शामिल करना शुरू कर दिया है।

पोषण से भरपूर होने के अलावा, अच्छी खबर यह है कि वे आपके खाने के स्वाद में कोई बदलाव नहीं करते हैं – आप उन्हें मीठे या चटपटे, दोनों तरह के खाने में शामिल कर सकते हैं!

नाश्ते, मिठाई या डिनर के लिए बनाई गयी खास रेसिपी में फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट की मात्रा शामिल करने के लिए इन छोटे, ग्लूटेन-फ्री बीजों को मिलाया जा सकता है।

अमेरिकन सोसाइटी ऑफ़ न्यूट्रीशन के अनुसार, चिया सीड्स से मिलने वाले अद्भुत फ़ायदों के बारे में कुछ दिलचस्प तथ्य इस प्रकार हैं:
चिया सीड्स में दूध की तुलना में पांच गुना ज्यादा कैल्शियम होता है (यह उन लोगों के लिए बढ़िया है जो लैक्टोज इन्टालरेन्ट या शुद्ध शाकाहारी हैं)।
इनमें ब्लूबेरी से तीन गुना ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है।
इनमें पालक की तुलना में तीन गुना ज्यादा आयरन होता है (उन लोगों के लिये बहुत फ़ायदेमंद है जो एनीमिया से पीड़ित हैं)।
सब्जियों की तुलना में ज्यादा प्रोटीन होता है।
ओट्स (oats) के मुकाबले दो गुना ज्यादा फाइबर से भरपूर होते हैं (कब्ज से पीड़ित लोगों के लिए इसकी सलाह दी जाती है)।
केले से दोगुना ज्यादा पोटेशियम मुहैया कराते हैं (जो ऐंठन को रोकने में मदद करता है)।


चिया सीड्स के कई फ़ायदे (The many benefits of chia seeds)

https://www.healthsiswealth.com/
हम आपको पहले ही इस चमत्कारी बीज की कई खासियतों के बारे में बता चुके हैं, लेकिन केवल यही वे पौष्टिक गुण नहीं हैं जिनका आप फ़ायदा उठा सकते हैं।

चलिये चिया सीड्स के कुछ और फ़ायदों पर एक नजर डालते हैं:
भूख की लालसा कम करता है (Reduce cravings)

https://www.healthsiswealth.com/

अगर आपको दोपहर में कुछ मीठा या नमकीन खाने की तीव्र इच्छा होती है, तो बजाय उसके, आप एक चम्मच इन बीजों को खाने की कोशिश करें।
चिया के बीज संतुष्टि की एक बढ़िया अहसास देते हैं, और वे पचाने में भी आसान होते हैं।
हम सलाह देते हैं कि आप अपने पेट को कई घंटों तक खुश रखने के लिए नाश्ते के साथ चिया के बीजों का सेवन करें।
आप उन्हें दही, दूध या ऑरेंज जूस के साथ भी मिला सकते हैं।
हाइड्रेशन (Hydration)

क्या आप उन लोगों में से हैं जो आमतौर पर दिन में बहुत सारा पानी नहीं पीते हैं? हो सकता है कि आप भूल जाते हों या फिर आपको ज्यादा पानी पीना अच्छा नहीं लगता हो।

ऐसे में, चिया सीड्स खाने के बारे में विचार करें, क्योंकि वे आपके शरीर को हाइड्रेटेड रहने में मदद करते हैं। वे एक्सरसाइज करने से पहले या ज्यादा दौड़-भाग वाले दिनों में भी बहुत फ़ायदेमंद होते हैं।
जोड़ों का दर्द घटाता है

चिया के बीजों में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड एंटी-इंफ्लेमेटरी होते हैं, जो आपके जोड़ों की चोट के लिये बहुत फ़ायदेमंद होते हैं। एज़्टेक योद्धा इन बीजों का उपयोग घुटने की चोटों को ठीक करने के लिए करते थे, उदाहरण के तौर पर।

अगर आपको आर्थराइटिस या ऑस्टियोआर्थराइटिस है, तो हम आपको अपने नाश्ते में चिया के बीजों को शामिल का सुझाव देते हैं।
जहरीले तत्वों से बचाता है(Protection from toxins)

https://www.healthsiswealth.com/

शहरों में रहने के कारण स्वास्थ्य से जुड़ी कई सारी समस्याएं हो सकती हैं। स्ट्रेस के अलावा, प्रदूषण (pollution) एक ऐसी चीज है जिसे हम भूल नहीं सकते। अगर आप इसमें तंबाकू के धुएं और UVA किरणों को भी शामिल कर दें, तो नतीजे बहुत हानिकारक हो सकते हैं।

चिया के बीज आपको इन जहरीले पदार्थों (toxins) से बचाने में कारगर हैं।

कैसे? वे आपके फेफड़ों को मजबूत बनाने के साथ-साथ आपकी त्वचा के स्वास्थ्य में सुधार करते हैं और सूरज की हानिकारक किरणों से मुकाबला करने के लिये एक प्रोटेक्टिव लेयर बनाते हैं।
चिया सीड्स बहुत बड़ी मात्रा में ऊर्जा से भरपूर होते हैं

क्या आप आजकल बहुत थका हुआ महसूस कर रहे हैं, साथ ही ऊर्जा की कमी या ध्यान केंद्रित करने में दिक्कत हो रही है?

यदि हां, तो यही वक्त है कि आप अपनी डाइट में चिया के बीजों को शामिल करें। वे आपको सुबह के शुरुआती घंटों से ही एक्टिव रहने में मदद करेंगे।

वे आपको ऊर्जा की वह खुराक भी दे सकते हैं जो आपसे छूट रही है। चिया सीड्स में कई सारे फलों और सब्जियों की तुलना में ज्यादा प्रोटीन और पोटेशियम होता है।


मांसपेशियों में वृद्धि करते हैं (Increase muscle mass)



चिया सीड्स का सेवन करने का एक और फायदा ऊर्जा से संबंधित है। जब आप वर्क आउट करते हैं और अपनी मसल्स बढ़ाना चाहते हैं, तो कभी-कभी आप ऐसे सप्लीमेंट्स का सहारा लेने लगते हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं होते या उनके साइड इफेक्ट्स होते हैं।

इसका एक शानदार विकल्प चिया के बीज हैं, क्योंकि वे टिश्यू को फिर से बनाने और मांसपेशियों को बढ़ाने में मदद करते हैं। आप जिम जाने से पहले या बाद में इन बीजों को अपनी स्मूदी और जूस में जोड़ लें।
आपका वजन घटाने में मदद करते हैं (Help you lose weight)

चिया सीड्स का एक बड़ा फायदा यह है कि वे आपको अपना वजन कम करने में मदद करते हैं। इसकी वजह उनमें मौजूद फाइबर और आपकी भूख को नियंत्रित करने की उनकी क्षमता है।
https://www.healthsiswealth.com/
जब वे पानी के संपर्क में आते हैं, तो ये बीज अपने वास्तविक आकार से 10 गुना तक बढ़ जाते हैं। चिंता मत कीजिए – यह कोई बुरी बात नहीं है। आपको कई घंटों तक भूख नहीं लगेगी!
चिया सीड्स के दूसरे फायदे



जैसे कि यह काफी नहीं है, चिया सीड्स के अभी और भी बहुत सारे फ़ायदे हैं जिन्हें हम शेयर करना चाहते हैं। चिया के बीजों को अपने आहार में शामिल करने से आपको निम्न फायदे हो सकते हैं:
फ्लूइड और टोक्सिन को बाहर निकलता है (कोशिकाओं के ऑक्सीकरण को रोकने में मददगार)।
आपके इन्टेस्टनल फ़्लोरा (intestinal flora) को बनाये रखता है।
एंग्जायटी को कम करता है(आपको रिलेक्स होने में मदद करता है)।
सेल्युलाईट से मुकाबला करता है (Fight cellulite)।
मेटाबोलिज्म को बढ़ता है और फैट बर्न करता है।

चिया सीड्स के सभी फायदे पाने के लिए, हम उन्हें इस्तेमाल करने से पहले पानी में भिगोने की सलाह देते हैं। एक कप पानी में एक बड़े चम्मच बीज काफी हैं।

उसके बाद बस उन्हें किसी भी खाने या ड्रिंक में जोड़िये, और फ़ायदे देखिये



https://www.healthsiswealth.com/
अपनी एंटी-ऑक्सीडेंट और फाइबर के गुणों से भरपूर फ़ायदों के चलते, चिया सीड्स हमारे शरीर से विषैले तत्व निकालने में और एक स्वस्थ्य शरीर प्रदान करने में बेहद मददगार साबित होते हैं।

https://www.healthsiswealth.com/

क्या आपने चिया सीड्स की खूबियों के बारे में सुना है?

मूल रूप से चिया सीड्स का सबसे अधिक सेवन सेंट्रल अमेरिका मे किया जाता था, जहाँ माया और एज़्टेक संस्कृति के लोग इन्हें चिकित्सा और पौष्टिक उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल करते थे।

यूरोपियन सभ्यता के बसने के बाद लोग इन्हें भूल गए और उन्होंने अमरंथ, क़ुइनोअ और जौ जैसे खानों के प्रति रूझान दिखाया।

लेकिन कुछ दशकों पहले, चिया सीड्स ने फिर से वापसी की और अपने गुणों के चलते पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हो गया।

अब इन्हें कई जगह उगाया जाता है और इन्हें “सुपरफ़ूड” का दर्जा दिया जाता है।

इसका कारण है इनके अन्दर पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व, प्रोटीन और फाइबर।

इन गुणों के चलते ये हमारे शरीर की कई क्रियाओं को सुचारू ढंग से पूरा करते हैं और स्वस्थ्य रहने में हमारी मदद करते हैं।

ये ओमेगा 3 फैटी एसिड्स का भी मुख्य स्रोत हैं।

इनके अन्दर ढेरों एंटी-ऑक्सीडेंट और मिनरल्स पाये जाते हैं।

इन बेमिसाल खूबियों के बेजोड़ मेल से ये हमारे शरीर का एनर्जी लेवल बढ़ाते हैं और कई बीमारियों की रोकथाम करते हैं।

इसके अलावा ये खाने में भी स्वादिष्ट होते हैं। इनका मजेदार स्वाद बड़ी ही आसानी से दूसरी खाने की चीज़ों के साथ मिल जाता है, जिसके चलते आप इन्हें अपने नियमित आहार यानी रेगुलर डाइट में भी शामिल कर सकते हैं।

क्योंकि हममें से कई लोग चिया सीड्स की खूबियों को लेकर अनजान हैं, हम आज आपके साथ इनके सेवन से जुड़े 10 अनूठे फ़ायदों के बारे में बात करेंगे।
https://www.healthsiswealth.com/
तो चलिए निकल पड़ते हैं इस स्वास्थ्यवर्धक सफ़र पर!
1. चिया सीड्स आपकी भूख और लालसा पर कंट्रोल करते हैं

https://www.healthsiswealth.com/

क्योंकि चिया सीड्स फाइबर से भरपूर होते हैं, ये बार-बार भूख लगने को नियंत्रित करते हैं।
कई बार हमें बहुत ज़्यादा भूख लगती है और खाने के प्रति हमारी लालसा बढ़ती जाती है।
इनसे हमें पोषण तो मिलता ही है साथ ही में इनके सेवन के बाद हमारा पेट जल्द ही भर जाता है।
ऐसा होने से हम खुद को बार-बार खाने से रोक पाते हैं और ज़्यादा कैलोरी के सेवन से बचते हैं।
2. वजन घटाने में मददगार

चिया सीड्स हमारी भूख और खाने के प्रति बनी लालसा को तो नियंत्रित करते ही हैं, साथ ही वजन घटाने में भी सहायक हैं।
इनमें अच्छा फैट और एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जिनसे हमारे शरीर में फैट टिश्यू नहीं जमा होते।
अगर इनका सेवन उचित मात्रा में किया जाए तो ये शरीर की मेटाबोलिज्म प्रक्रिया को तेज़ करते हैं।
इससे शारीरक ऊर्जा की खपत तो बढ़ती ही है, साथ-साथ कैलोरी भी कम होती है।



वजन घटाने वाला अदरक का पानी कैसे बनाएं?
3. ये मासपेशियों को मज़बूत कर हमारे शरीर को गठीला आकार देते हैं

https://www.healthsiswealth.com/
चिया सीड्स में पाए जाने वाले मिनरल्स यानी खनिज पदार्थ मांसपेशियों की सेहत के लिए बहुत अच्छे साबित होते हैं। 
जब आप चिया सीड्स का सेवन करने के साथ साथ रेगुलर एक्सर्साइज़ भी करते हैं, तो यह एक उम्दा मेल बन जाता है और आपको फ़ायदा पहुंचाता है।
साथ ही में ये प्रोटीन से भरपूर होते हैं। प्रोटीन हमारी मांसपेशियों को गठीला बनाने के साथ-साथ शरीर में नए टिश्यू बनाने में भी सहायक है।
4. ये जोड़ों के दर्द में कमी लाते हैं
यदि आप चिया सीड्स का रेगुलर सेवन करते हैं, तो ये आर्थराइटिस और आस्टीओआर्थ्राइटिस जैसी पुरानी बीमारियों को ठीक करने में मदद करते हैं।
ये जोड़ों का दर्द कम करने की क्षमता इसलिए रखते हैं क्योंकि इनमें भरपूर मात्रा में ओमेगा -3 एसिड्स और एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं।
इन गुणकारी चीज़ों से लैस होने के कारण ये जोड़ों के दर्द से होने वाली जलन की समस्या को कम करते हैं।
5. चिया सीड्स से हमारी हड्डियाँ मज़बूत होती हैं
चिया सीड्स कई पौष्टिक तत्वों का खज़ाना हैं। इनसे मिलने वाला पोषण हमारी हड्डियों को स्वस्थ एवं मज़बूत रखता है।
इनमें अच्छी मात्रा में कैल्शियम होता है जो बोन डेंसिटी और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारियों से होने वाले नुकसान का खतरा कम करता है।
साथ ही में ओमेगा -3 फैटी एसिड जलन से होने वाले दर्द को रोकता है और फ्री रेडिकल्स के नकारात्मक प्रभाव को कम करता है।
6. ये खाना पचाने में मदद करते हैं
https://www.healthsiswealth.com/
इनका नियमित रूप से सेवन पाचन प्रक्रिया को सुधारता है और आंतों के स्वास्थ्य का ध्यान रखता है।
पाचन प्रक्रिया के दौरान इनमें मौजूद फाइबर पानी के साथ मिलकर शरीर की गंदगी खत्म करता है।
यह प्रोबायोटिक भी होते हैं। अपनी इस खूबी के कारण ये कोलन के बैक्टीरियल फ़्लोरा को विकसित करते हैं और आँतों में होने वाले संक्रमण को भी रोकते हैं।
7. आपके दिल के स्वास्थ्य का भी ख्याल रखते हैं
https://www.healthsiswealth.com/

ओमेगा -3 फैटी एसिड और विटामिन E से भरपूर ये सीड्स कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों को रोकने में मदद करते हैं।
इनमें मौजूद पौषक तत्व जलन की रोकथाम करते हैं।
ये खराब कोलेस्ट्रॉल (LDL) और ट्राइग्लिसराइड्स को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।
कोलेस्ट्रॉल (LDL) और ट्राइग्लिसराइड्स दिल से जुडी बीमारियों के लिए जिम्मेदार होते हैं।
8. खेल-कूद में हमारा प्रदर्शन सुधारते हैं
खेल-कूद में अच्छा प्रदर्शन देने के लिए प्रोटीन और अच्छे फैट का सेवन बहुत ज़रूरी है।
चिया सीड्स प्रोटीन और अच्छे फैट का स्रोत बनकर शरीर में उर्जा पैदा करते हैं और सभी शारीरिक क्रियाओं में तेज़ी लाते हैं।
खेल-कूद और एक्सर्साइज़ से जुड़े लोगों को इनके सेवन से बहुत लाभ होता है।
9. शरीर से विषैले पदार्थ निकालते हैं
https://www.healthsiswealth.com/

इन सीड्स में पाए जाने वाली एंटी-ऑक्सीडेंट खूबियाँ शरीर से विषैले तत्व निकालने में सहायक होती हैं।
ये हमारी सेल्स की रक्षा करते हैं और हमारे शरीर को शुद्ध करने में मदद करते हैं।
10. असमय बूढ़ा होने से बचाते हैं
इनके सेवन से न केवल आप युवा बने रहते हैं, बल्कि ये आपके अंदरूनी शारीरिक अंगों की भी देखभाल करते हैं।
ओमेगा -3, विटामिन E और ज़रूरी् मिनरल्स से भरपूर चिया सीड्स सेल रिजेनरेशन प्रकिया में मदद करते हैं।

क्या अब भी आपको इनका सेवन करने के लिए कोई वजह ढूँढनी पड़ेगी?

आप इन्हें किसी भी हर्बल शॉप या बाज़ार से खरीद सकते हैं।

अब आप खुद ही देख लीजिये कि ये आपकी सेहत के लिए कितने फायदेमंद हैं।



अगले दिन के नाश्ते के लिए चिया सीड्स और ओटमील
https://www.healthsiswealth.com/
चिया सीड्स और ओटमील भूख मिटाने और वजन घटाने में मदद करते हैं। दिन को सबसे अच्छे तरीके से शुरू करने में सहायता के लिए ये आपको बहुत सारी ऊर्जा भी देते हैं।

https://www.healthsiswealth.com/

चिया सीड्स और ओटमील की इस रेसिपी से पहले जरा नाश्ते के फायदे को समझ लेते हैं। कुछ समय से हमें बताया जा रहा है, नाश्ता दिन के सबसे महत्वपूर्ण भोजन में से एक है। एक ऊँची गुणवत्ता वाला नाश्ता यह पक्का करता है कि आपका शरीर दिन के बाकी बचे घंटों में कैसे काम करेगा।

यह रात भर के उपवास को तोड़ता है और दिन के पहले शुरुआती घंटों के दौरान अपने कामों को पूरा करने के लिए शरीर को जरूरी ऊर्जा देता है।

इन सबके बावजूद कुछ इच्छाएँ और आदतें होती हैं जो नाश्ते की गुणवत्ता को कम कर सकती हैं, या जो नाश्ते के सभी फायदों का मज़ा लेने से रोकती हैं।

कुछ लोग घर से भागकर काम पर जाने के उत्सुक होते हैं। वे मानते हैं, नाश्ता छोड़ देने वजन कम करने में मदद मिल सकती है। कुछ दूसरे लोग मानते हैं, भूख नहीं होना नाश्ता न खाने का अच्छा बहाना है।

सौभाग्य से अब ज्यादा से ज्यादा लोग नाश्ता न छोड़ने के बारे में गंभीरता से सोचने लगे हैं। वे यह सुनिश्चित करने की ख़ास कोशिश करते हैं कि नाश्ता पोषण के लिहाज़ से हेल्दी हो।

इसे ध्यान में रखते हुए, हम आपके साथ चिया सीड्स और ओटमील की एक दिलचस्प रेसिपी शेयर करना चाहते हैं। इसे आप एक दिन पहले बना सकते हैं। अगले दिन नाश्ता न करने का आपके पास कोई बहाना नहीं होगा।

क्या आपको यह दिलचस्प लग रहा है?
चिया सीड्स और ओटमील का एक स्वस्थ नाश्ता

https://www.healthsiswealth.com/
चिया सीड्स और ओटमील का मिश्रण इधर तेजी से लोकप्रिय होने वाली रेसिपी है क्योंकि नाश्ते के लिए यह एक उम्दा विकल्प है।

दोनों चीजों में वे ज़रूरी पोषक तत्व हैं जो दिन की शुरुआत में आपकी ऊर्जा को बढ़ाने और आपके मेटाबोलिज्म में सुधार करने के लिए जरूरी होते हैं।

कुछ लोग वजन घटाने के लिए इसे अच्छा आहार मानते हैं। इससे आपको अधिक संतुष्टि महसूस होती है। इसमें कैलोरी कम है और यह पाचन में सुधार करता है।

अगर आपको इसके इतने फायदों से तसल्ली न हो, तो जान लीजिये कि चिया सीड्स और ओटमील का यह मिश्रण कॉफी और कुकीज का शानदार विकल्प है जो दिन की शुरुआत में भूख को पूरी तरह नहीं मिटा पाते। उसे सिर्फ दबा भर देते हैं।
https://www.healthsiswealth.com/
इसे भी जानें: चिया सीड्स के 10 ज़बरदस्त फ़ायदे
चिया के बीज के फायदे

https://www.healthsiswealth.com/

चिया सीड्स सबसे लोकप्रिय “सुपरफूड” में से एक हैं। ये विटामिन, मिनरल, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं।

उन्हें नियमित रूप से खाने से वजन घटाने में मदद मिलती है, क्योंकि यह खाने की आपकी एंग्जायटी को रोकता है और उन शारीरिक क्रियाओं को तेज करता है जो अतिरिक्त फैट को खत्म करने में मददगार हैं।

वे ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं, और इनमें अन्य बीजों के तुलना में प्रोटीन की मात्रा भी दोगुनी होती है।

इनके पौष्टिक गुण जबरदस्त हैं और ये नीचे दिए गए फायदे देते हैं:


शारीरिक और मानसिक प्रदर्शन में सुधार।


खून के शुगर लेवल में कमी।


कोलेस्ट्रॉल का नियंत्रण।


ये बेवजह खाने की इच्छा को दबाते हैं।


शरीर के डिटॉक्सिफिकेशन को बढ़ावा।

https://www.healthsiswealth.com/
कब्ज का मुकाबला।
ओट्स के लाभ

https://www.healthsiswealth.com/

बहुत से लोग ओटमील यानी जई को एक संपूर्ण अन्न मानते हैं। यह बीटा-ग्लुकानेज, घुलन वाले फाइबर और पॉलीफेनॉल का एक बड़ा स्रोत है।यह शरीर की प्राकृतिक सफाई प्रक्रिया को उकसाता है।

इसमें फाइबर की अच्छी-खासी मात्रा होती है, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर और कोलन में वेस्ट्स के जमाव को नियंत्रित करने में मदद करता है।

आंतों की गतिविधि को सक्रिय करके कब्ज को होने से रोकने में यह बहुत ही शानदार है।

यह प्रकृति द्वारा दी गयी सबसे ज्यादा तृप्त करने वाली और ऊर्जा से भरपूर खाने की चीज़ों में से एक है।

इसे भी पढ़ें: 4 तरीके जई के आटे का इस्तेमाल करके वजन घटाने के
चिया सीड्स और ओटमील की रेसिपी

https://www.healthsiswealth.com/

इस रेसिपी में बहुत ज्यादा पोषक तत्व होते हैं जो आपको सर्वोत्तम ऊर्जा के साथ दिन शुरू करने में मदद करेंगे।

हालांकि, इसका पहला लाभ यह है कि इसे एक रात पहले तैयार किया जा सकता है। इस तरह समय के अभाव की समस्या को हल किया जा सकता है।

सबसे अच्छी बात यह है कि यह रात भर में अपने गुणों को नहीं खोता। साथ ही नाश्ते को उम्दा स्वाद देता है।

सामग्रियाँ 
डेढ़ गिलास दूध (300 मिली )
एक बड़ा चमच्च शहद (25 ग्राम )
4 बड़े चमच्च चिया के बीज (60 ग्राम )
2 भरे हुए बड़े चमच्च ओटमील (20 ग्राम )
आधा केला

दिशानिर्देश 
एक कटोरे में दूध और शहद मिलाएं।
उसमें चिया सीड्स ओटमील डालें।
सभी सामग्रियों को मिलाने के लिए अच्छी तरह से हिलाएँ, इसे फिर ढक दें।
60 मिनट के लिए फ्रिज में स्टोर करें। इसके बाद एक बार फिर चलायें।
आप देखेंगे, यह गाढ़ा हो रहा है, क्योंकि बीज पानी को सोखते हैं, और एक प्रकार का जेल बनाते हैं।
फिर से कवर करें, फ्रिज में स्टोर करें, और अगली सुबह तक प्रतीक्षा करें।

खाने का तरीका 


तैयार की गई रेसिपी 2 ख़ुराक के लिए है।


इसे दो कप में बाँट दें और पके हुए केले के छोटे टुकड़ों के साथ गार्निश करें।


https://www.healthsiswealth.com/
एक विकल्प के रूप में, आप इसे मिठाई या स्नैक्स के रूप में खा सकते हैं।


अगर आपको दूध पसंद नहीं है, तो पौधे से बने ड्रिंक, या केवल संतरे के रस का भी उपयोग कर सकते हैं।


हम सलाह देते हैं, चिया सीड्स और ओटमील की इस रेसिपी को ख़ास उन दिनों के लिए रखें जब आपके पास अच्छी तरह खाने के लिए अधिक समय नहीं होता है।
https://www.healthsiswealth.com/
चिया के बीज खाने के कई लाभ हैं। ये हृदय को स्वस्थ रखते हैं और वजन घटाने में सहायक हैं। आप इन्हें बेहिचक अपनी डेली डाइट में शामिल कर सकते हैं।
https://www.healthsiswealth.com/

चिया सीड्स (Chia seeds) के अनेक लाभ हैं। ये फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, कैल्सियम, मैग्नीशियम, ज़िंक और फॉस्फेट के बहुत अच्छे स्रोत होते हैं।

अमेरिकन सोसायटी ऑफ न्यूट्रीशन के अनुसार चिया सीड्स विशेष तौर पर नीचे दिए कारणों से शरीर के लिए फायदेमंद होते हैंः
इनमें केला की तुलना में ज़्यादा कैल्सियम होता है।
चिया के बीजों में सब्जियों से ज़्यादा प्रोटीन होता है।
इन बीजों में जई (ओट्स) से दुगने रेशा होते हैं।
इनमें दालों और पालक से तीन गुना ज़्यादा आयरन होता है।
इनमें क्रेनबेरीज़ से तीन गुना ज़्यादा एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं।
चिया के बीजों से दूध की तुलना में 5 गुना ज़्यादा कैल्सियम प्राप्त होता है।

इस पोस्ट में हम आपको इनसे मिलने वाले फायदों के बारे में अहम जानकारी देंगे। हमें उम्मीद है कि आप इन्हें अपनी डेली डाइट में ज़रूर शामिल करेंगे।
1. वजन घटना (Weight loss)

https://www.healthsiswealth.com/

चिया के बीज मेटाबोलिज्म और फैट बर्निंग की प्रक्रिया में तेज़ी लाते हैं। ताज़गी देने वाला पेय होने के अलावा ये शरीर की सफ़ाई करने और कब्ज़ दूर भगाने में मददगार हैं।
सामग्रीः
1 चम्मच चिया बीज (5 ग्राम)।
1 कप गर्म पानी (200 ग्राम)।
1 नींबू (100 ग्राम)
तैयारी
सबसे पहले पानी को दो कप में बांट लें और एक में चिया के बीजों को भीगने के लिए छोड़ दें।
बीजों को कम से कम 40 मिनट तक भीगने दें। (मिश्रण देखने में गाढ़ा लगना चाहिए)।
40 मिनट बाद नींबू का रस निकाल लें और उसे दूसरे कप के पानी में मिलाएं।
अंत में दोनों कपों का तरल मिला लें और अच्छी तरह मिश्रित होने तक हिलाते रहें।

सबसे अच्छे नतीजे पाने के लिए इस पेय को खाली पेट पियें।


इसे भी पढ़ें:

शॉर्ट टर्म मेमोरी बढ़ाने के कुछ कारगार नुस्ख़े
2. स्वस्थ हृदय (Healthy heart)

ये बीज ओमेगा-3 फैटी एसिड के प्राकृतिक स्रोत होते हैं जो ब्लड सर्कुलेशन को सही रखने के लिए अनिवार्य है। इस कारण हृदय भी स्वस्थ रहता है।
ये बीज कोलेस्ट्रॉल और ट्राईग्लिसराइड स्तर को कम रखने में मददगार हैं।
इसके अलावा ये क्रोनिक इन्फ्लामेटरी डिज़ीज़ होने का ज़ोख़िम कम करते हैं।
चिया के बीज तंत्रिका तंत्र की गड़बड़ियों की भी रोकथाम करते हैं।
3. ऊर्जा के बड़े स्रोत (Energy)


https://www.healthsiswealth.com/
चिया के बीज खाकर आप अपने शरीर को कांप्लेक्स कार्बोहाइड्रेट की अच्छी ख़ुराक़ दे सकते हैं। ये वे पोषक तत्व हैं जो आपके शरीर को लंबी अवधि तक ऊर्जा देते हैं।

इसलिए, अगर आपको कभी कमज़ोरी या थकावट महसूस हो तो चिया के बीजों को डाइट में शामिल करना बहुत अच्छा रहेगा।

इसी तरह, अगर आप खिलाड़ी हैं या दिन भर दौड़-भाग करते हैं तो चिया के बीज आपकी सहनशक्ति बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे।
4. त्वचा पर समय से पहले झुर्रियों की रोकथाम (Stops premature ageing in skin)

चिया के बीजों में एंटीऑक्सीडेंट की अधिक मात्रा के कारण ये न केवल त्वचा की मरम्मत करते हैं बल्कि उसे और क्षति नहीं पहुंचने देते।

चिया के बीज फ्री रेडिकल्स का मुकाबला करते हैं। आपको कोशिकाओं की उम्र बढ़ने की रफ़्तार घटाने और शरीर की सफाई के लिए इन्हें खाना चाहिए।
5. जोड़ों के दर्द में राहत (Joint pain)
https://www.healthsiswealth.com/


जैसा कि हम बता चुके हैं चिया के बीज एंटीऑक्सीडेंट और ओमेगा-3 फैटी एसिड के भी शानदार स्रोत होते हैं। इसीलिए ये जोड़ों की सूजन से होने वाले दर्द में बड़ी राहत पहुंचाते हैं।

साथ ही, इनमें ज़िंक और कॉपर की अधिक मात्रा के कारण ये कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देते हैं। यही कारण है कि चिया के बीज जोड़ों के ठीक से काम करने में सहायक हैं। ये जोड़ों के दर्द (arthrosi) गठिया (आर्थराइटिस) और जोड़ उखड़ने से पैदा होने वाली समस्याओं की रोकथाम करते हैं।


6. मांसपेशियां बढ़ना

https://www.healthsiswealth.com/

मांसपेशिया बढ़ाने के लिए भी चिया के बीजों को खाने की सलाह दी जाती है क्योंकि इनमें रेशा, ओमेगा-3, ओमेगा-6 और ओमेगा-9 की मात्रा अधिक होती है।

साथ ही इनमें पुनरुद्धार और घाव भरने के गुण भी होते हैं जो कि हाई-इंटेसिटी वर्कआउट में सहायक हैं।
7. शरीर में पानी की कमी नहीं होती (Hydration)

चिया के बीज अपने वजन से 10 से 12 गुना पानी सोख लेते हैं। इस कारण ये इलेक्ट्रोलाइट के संतुलन में अहम भूमिका निभाते हैं और आपके शरीर में लंबे समय तक पानी की कमी नहीं होती है।
8. ये मूड अच्छा रखते हैं (Better mood)

ये बीज ट्रिप्टोफेन से भरपूर होते हैं। ट्रिप्टोफेन सेरोटोनिन के उत्पादन के लिए ज़रूरी एमिनो एसिड होता है जिसे आम बोलचाल में हैप्पी हार्मोन भी कहते हैं।

लिहाज़ा, चिया के बीज खाकर आप अपनी नींद पर नियंत्रण पाते हैं, मूड अच्छा रहता है, अवसाद से दूर रहते हैं और चिंता से छुटकारा पाते हैं।
आप इनका सेवन कैसे कर सकते हैं?

जैसा कि पहले बताया गया है खाली पेट चिया के बीज खाने के अलावा आप इन्हें दिन में किसी भी समय खा सकते हैं और इन्हें अपनी पसंदीदा खाने की चीजों में भी मिला सकते हैं।

पोषक तत्वों से भरपूर इन बीजों को आप इनके साथ मिला सकते हैंः
दही
दूध
स्पून डेज़र्ट
सलाद
अनाज
बेक किए गए खाद्य पदार्थ

यहां हम यह स्पष्ट करना चाहेंगे कि आपको चिया के बीज अत्यधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए।

रोज़ाना दो चम्मच पर्याप्त है। इतनी मात्रा ही आपको पेट की गड़बड़ियों, आर्टेरियल समस्याओं के साथ-साथ ब्लड शूगर असंतुलन से बचाने में सहायक सिद्ध होगी।



https://www.healthsiswealth.com/
यदि आप अपने ट्राइग्लिसराइड लेवल को घटाना चाहते हैं, तो नाश्ते के लिए ओटमील (जई का दलिया) लें। जई में मौजूद घुलनशील और अघुलनशील फाइबर कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ के लिए वरदान हैं। आजमाकर देखें!

https://www.healthsiswealth.com/

आपने बहुत सुना होगा, कोलेस्ट्रॉल आपकी सेहत के लिए कितना बुरा है। लेकिन हाई ट्राइग्लिसराइड के बारे में क्या? वास्तव में वे ज्यादा खतरनाक हैं। इसलिए यदि आपके खून में इनकी मात्रा ज्यादा है, तो उच्च ट्राइग्लिसराइड्स लेवल को कम करना आपकी टॉप प्राथमिकता होनी चाहिए।

ट्राइग्लिसराइड्स दरअसल फैट की ही किस्में हैं जो आपके भोजन से जुड़े हैं। यह स्पष्ट रूप से आपमें हार्ट अटैक के खतरे को बढ़ा सकता है। इसलिए उच्च ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने का लक्ष्य हर किसी के रडार पर होना चाहिए।

अपने आहार के बारे में आपको बेहद सावधान रहना चाहिए। लिपिड जैसे अस्वास्थ्यकर पदार्थों की मात्रा की ओर से ख़ास तौर पर सावधानी बरतें।

यह आपके खून में अधिक वसा बनने से रोकेगा। बहुत अधिक फैट से धमनीकाठिन्य (arteriosclerosis) हो सकता है, जो रक्त के प्रवाह को खतरनाक रूप से रोक सकता है।

हम आपको एक बार फिर समय-समय पर मेडिकल चेकअप कराने के महत्व की याद दिलाना चाहेंगे। इस किस्म की ज्यादतियों की पहचान करने में कोई भी डॉक्टर सक्षम होगा और आप हाई ट्राइग्लिसराइड को कम करने की ओर बढ़ सकेंगे।

खून में हाई ट्राइग्लिसराइड होने पर भी शायद आप कोई स्पष्ट लक्षण न महसूस कर पायें। यह एक अदृश्य स्थिति है जिसका कोई निशान नहीं होता है। भले ही आप इसकी उपस्थिति पर ध्यान न दें, लेकिन यह धीरे-धीरे आपकी सेहत को खोखला कर देता है।

आपको शुरू से ही अपनी सेहत की देखभाल करने का हम सुझाव देंगे जिससे हाई ट्राइग्लिसराइड को कम करने की प्रक्रिया से आपको न गुजरना पड़े। आइये दिन के सबसे महत्वपूर्ण भोजन से शुरू करते हैं: वह है आपका ब्रेकफ़ास्ट।
https://www.healthsiswealth.com/
नीचे हम जो सुझाव देने जा रहे हैं, वे सिर्फ उच्च ट्राइग्लिसराइड्स को नियंत्रित करने और कम करने में ही मदद नहीं करेंगे। वे आपके हार्ट को सुरक्षा देंगे, वजन कम रखने में मदद करेंगे और एनर्जी देंगे जिससे आप पूरे दिन दम-ख़म से भरे रह सकें।
1. एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल सहित राई ब्रेड की एक स्लाइस

सभी तरह की वसा खराब नहीं होती। स्वस्थ रहने के लिए आपको स्वस्थ वसा की ज़रूरत होती है। एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल की तरह विशिष्ट खाद्य पदार्थों से निकलने वाला तेल।

ऑलिव ऑयल में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड आपके खून से अतिरिक्त नुकसानदेह फैट को बाहर निकालने में मदद करेंगे। यह नुकसानदेह फैट वास्तव में आपकी आर्टरीज़ में जमा होकर उन्हें को सख्त बनाता है और आपके लीवर पर दबाव डालता है।

इसलिए नाश्ते में ऑलिव ऑयल शामिल करना बहुत ही अच्छा कदम है।

यह भी याद रखें कि होल ग्रेन ब्रेड चम्मच भर ऑलिव ऑयल के साथ बहुत मजा देगी। मैदे की ब्रेड खुद ही कई समस्याएं पैदा करती है।
https://www.healthsiswealth.com/

इसे भी पढ़ें : 4 ब्रोकली रेसिपी : हल्के डिनर के लिए
2. हाई ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में मददगार हैं बेरीज़

https://www.healthsiswealth.com/

कोलेस्ट्रॉल या ट्राइग्लिसराइड को कम करने की कोशिश में लोग अक्सर एक गलती करते हैं। वे कोई भी फल या सब्जियां खाने लगते हैं।

इस धारणा को सही न मानें कि नमक के कुछ दानों सहित सभी फल और सब्जियां आपके लिए समान रूप से अच्छी हैं। फलों में स्वाभाविक रूप से मौजूद फ्रुक्टोज़ वास्तव में ट्राइग्लिसराइड को बढ़ा सकता है।

इसलिए जितना संभव हो उतना फल खा लेने की कोशिश न करें। सही फलों का चुनाव करें, उन्हें अच्छी तरह से दूसरी चीजों के साथ मिलाएं और उन्हें ढेर सारी मात्रा में न खाएं।

विशेषज्ञ आपको किशमिश (raisins) और खजूर (dates) जैसे सूखे फल से बचने की सलाह देते हैं। हालांकि ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी, चेरी और रैस्प्पबेरी (रसभरी) अद्भुत हैं।

उनमें फ्रुक्टोज बहुत कम हैं, और विटामिन C की मात्रा ज्यादा है। ये केले के साथ बहुत अच्छे रहेंगे, जो वास्तव में आपकी मदद करता है।
3. हाई ट्राइग्लिसराइड घटाने के लिए एक शानदार मॉर्निंग स्मूदी

हमारा सुझाव है, नाश्ते के लिए इस सुपर ड्रिंक को हफ़्ते में तीन बार पियें। सप्ताह के अन्य दिनों में एक कप कॉफी का आनंद लेने से न झिझकें।

हालांकि फुल क्रीम दूध या अन्य तरह के फैट से बचें। ये कॉफ़ी के एक हेल्दी कप को आपके कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम के सबसे घातक दुश्मन में बदल देते हैं।

इसे बनाने का तरीका जानने के लिए नीचे पढ़ें।
सामग्री
1 कप ताजी पालक (30 ग्राम)
1 सेब
5 बड़े चम्मच नींबू का रस (50 मिलीलीटर)
1 बड़ा चमचा ओट्स (जई) (10 ग्राम)
1 कप पानी (200 मिलीलीटर)
तैयारी
सबसे पहले, पालक और सेब को अच्छी तरह से धो लें। आप अपनी पसंद के अनुसार सेब को छिलके सहित या उसके बिना ही इस्तेमाल कर सकते हैं।
एक ब्लेंडर में सेब के टुकड़े, पालक, नींबू का रस, जई और पानी डालें।
चिकना होने तक इन्हें ब्लेंड करें।
4. ओटमील खाएं

https://www.healthsiswealth.com/

लगभग हर तरह की डाइट के लिए ओट्स की सिफारिश की जाती है। अनाजों का राजा आपके दिल का सबसे अच्छा दोस्त है और कई कारणों से बहुत शानदार भी है। यह कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड लेवल के नियंत्रण, वजन घटाने और एनर्जी लेवल बढ़ाने में मदद करता है।

इनके भीतर का सबसे बड़ा रहस्य क्या है? उनमें मौजूद घुलनशील और अघुलनशील फाइबर।

जई में मौजूद बीटा-ग्लूकन (beta-glucan) और म्यूसिलेज (mucilage) कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के पाचन में अहम भूमिका निभाते हैं। यह वास्तव में आश्चर्यजनक है।



5. एवोकैडो के साथ तरबूज (watermelon)

https://www.healthsiswealth.com/

तरबूज में फ्रुक्टोज की बहुत थोड़ी मात्रा होती है, लेकिन यह विटामिन, मिनरल और पानी से भरपूर होता है। आधे एवोकैडो के साथ इसे मिला लेने पर आपको इकट्ठे ढेर सारे फायदे मिल जाते हैं।

इसलिए कि एवोकैडो में ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड की प्रचुर मात्रा होती है।

इन तमाम पोषक तत्वों को ग्रहण करने का सबसे अच्छा तरीका तरबूज की सर्विंग्स के साथ आधे से थोड़ी कम मात्रा में एवोकैडो मिला लेना है। आप अपने शरीर को फाइबर, पोटैशियम, मैग्नीशियम, विटामिन C और अन्य बहुत कुछ प्रदान करेंगे!
6. सेब और अखरोट ( Apples and walnuts)

अंत में, एक और जबरदस्त कॉम्बिनेशन कुछ अखरोट के साथ बिना छिलके के हरे सेब के टुकड़े हैं।

यह आसान, स्वादिष्ट, पेट भराऊ और आपके कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ के लिए उम्दा है।

बिना छिला हुआ सेब एंटीऑक्सिडेंट, पेक्टिन और फाइबर से भरपूर होता है। ये सभी बढे हुए ट्राइग्लिसराइड से लड़ने में शानदार हैं।

अखरोट मोनोसैचुरेटेड फैट से समृद्ध हैं, एंटी इन्फ्लेमेटरी हैं, और विटामिन E, फोलिक एसिड, मैग्नीशियम आदि से भरपूर होते हैं।

इसे आजमायें! अपने लिए कटोरा भर अखरोट और एक ऑर्गनिक एप्पल तैयार करें और आज से ही अपना ख्याल रखना शुरू करें।

https://www.healthsiswealth.com/


ओट्स स्वादिष्ट, सेहतमंद, पौष्टिक और बहुमुखी हैं। कोलेस्ट्रॉल घटाने से लेकर पाचन को सुधारने तक 12 कारण जान लीजिये, जिनकी वजह से रोज सुबह नाश्ते में ओट्स खा सकते हैं।

https://www.healthsiswealth.com/

पौष्टिक तत्वों से भरपूर जायकेदार स्वस्थ बहुमुखी ओट्स (जई) आपके नाश्ते में ज़रूर होना चाहिए। ताजे जूस, दही या दूध के अलावा नाश्ते में ओट्स खाना आप कभी नहीं भूलेंगे अगर हम आपको इसके फायदों की पूरी लिस्ट बता दें। क्या जानना चाहेंगे? पढ़ते रहिए, हम आपको रोज सुबह ओट्स खाने के 12 जोरदार कारण बताने जा रहे हैं!
रोज सुबह नाश्ते में ओट्स खाने के कारण

नाश्ते में ओट्स खाना आपके शरीर को कई विटामिन और भागदौड़ भरे दिन का सामना करने की ताकत देता है। साथ ही यह आपकी भूख मिटाता है।

अपनी सेहत के लिए इसके तमाम फायदे जान लेने पर आपको जबरदस्त मोटिवेशन मिलेगा। तो देर किस बात की? आइये देखते हैं!
1. ओट्स कोलेस्ट्रॉल कम करते हैं



यह समझना मुश्किल नहीं है कि इतनी बड़ी आबादी को कोलेस्ट्रॉल की समस्या क्यों है। इस समस्या का कोई स्पष्ट लक्षण नहीं है। इसका कारण अक्सर हम जो रोज फैट खाते हैं उसकी मात्रा होती है।

ओट्स आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल घटाने में मदद कर सकते हैं। क्योंकि उनमें एक प्रकार का चमत्कारी फाइबर होता है। इसे बीटा-ग्लूकन (beta-glucan) कहते हैं।
2. ये अआपके हृदय की सेहत सुधारते हैं

ओट्स में मौजूद घुलनशील फाइबर आपमें हृदय-समस्याओं के खतरे को कम करता है। इस पोषक तत्व की औसत दैनिक मात्रा 6 से 8 ग्राम होनी चाहिए।

आधा कप ओट्स 2 ग्राम ऐसा घुलनशील फाइबर देते हैं। अगर आप सुबह ओट्स की इतनी कम मात्रा भी खायेंगे तो आपको दैनिक खुराक का एक तिहाई या चौथा हिस्सा मिल जायेगा।

क्या यह आपके लिए नाश्ते में ओट्स खाने का पर्याप्त कारण नहीं है? तो पढ़ते रहें!

https://www.healthsiswealth.com/
इन्हें ज़रूर आजमायें : अगले दिन के नाश्ते के लिए चिया सीड्स और ओटमील
3. नाश्ते में ओट्स खाने से पेट भरा हुआ महसूस होगा



यदि आप एक पेट भराऊ नाश्ता नहीं करते हैं तो आम तौर पर सुबह चढ़ते ही फिर भूख लगने लगती है।

तो इसका हेल्दी सॉल्यूशन सुन लीजिये। आपको सुबह-सुबह ढेर सारा खाना खाने की ज़रूरत नहीं है। बस कुछ बड़े चम्मच ओट्स खा लीजिये।

इस पौष्टिक अन्न में आपकी भूख को तृप्त करने और एंग्जायटी व बोरियत से अकारण खाते रहने से रोकने की पूरी क्षमता है।
4. एंटीऑक्सिडेंट के स्रोत हैं ओट्स

शरीर में जमा होने वाले मुक्त कणों (free-radicals) के कारण कई बीमारियां होती हैं जिनमें ह्घतक कैंसर भी शामिल है।

ओट्स में पाए जाने वाले कई तत्व इन फ्री रेडिकल्स को बेअसर कर सकते हैं और ऐसी बीमारियों का जोखिम घटा सकते हैं।

ओट्स में मौजूद पोषक तत्व सूजन को कम करने, नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन को बढ़ाने और कोशिका विभाजन (खास तौर से कोलन में) को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं।
5. ओट्स ढेर सारी एनर्जी के स्रोत हैं

यदि आपको सुबह-सुबह काम शुरू करने या दिन भर के सभी काम पूरा करने में मुश्किल होती है, आप थक जाते हैं तो आपको कुछ ओट्स खा लेना चाहिए।

उनमें सरल कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो ग्लूकोज में बदलकर बहुत एनर्जी देते हैं। इसलिए भी ओट्स नाश्ते के लिए एक बढ़िया ऑप्शन हैं।

इन्हें खाने के बाद आप ज्यादा एनर्जेटिक, एक्टिव, चौकस और दिन का सामना करने के लिए ज्यादा तैयार महसूस करेंगे।
https://www.healthsiswealth.com/

इसे भी आजमायें : हाई ट्राइग्लिसराइड पर लगाम लगाने वाले 8 खाद्य पदार्थ
6. ब्लड प्रेशर कम करते हैं ओट्स

ओट्स हृदय और रक्त के लिए फायदेमंद होने के अलावा धमनियों की सेहत के लिए भी गुणकारी हैं।

इस अनाज में मौजूद शानदार किस्म के फाइबर हाई ब्लड प्रेशर वाले लोगों के लिए परफेक्ट हैं, खासकर यदि वे इन्हें सुबह खाते हैं।
7. डायबिटीज पर कंट्रोल

https://www.healthsiswealth.com/

ओट्स ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करते हैं और साथ ही अन्य खाद्य पदार्थों को ज्यादा धीरे पचाने की सहूलियत देते हैं।

वे डायबिटीज के मरीजों के लिए भी अच्छे हैं क्योंकि वे इंसुलिन प्रतिरोध को कम करते हैं।
8. ओट्स से होता है श्वसन प्रणाली में सुधार

यह सर्दियों में गर्मागरम ओट्स खाने का एक अच्छा बहाना है:
यह अनाज ग्रसनीशोथ (pharyngitis), ब्रोंकाइटिस (bronchitis), सर्दी-जुकाम (catarrh) और लैरिंजाइटिस (laryngitis) की शिकायत कम करता है और इनमें सुधार लाता है।
धूम्रपान करने वालों (या जो पहले धूम्रपान करते थे) को भी ओट्स खाने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह अनाज फेफड़ों को साफ करता है।
9. ओट्स इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं

यदि आपके शरीर की प्रतिरक्षा कमजोर है तो कोई भी सूक्ष्मजीव, बैक्टीरिया या वायरस इस पर हमला कर सकता है। आप किसी बीमारी का शिकार बन सकते हैं।

ओट्स में आपकी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को बढ़ावा देने और संक्रमणों के खिलाफ लड़ाई में साथी बनने की क्षमता है।

इसलिए यदि आप बीमार महसूस करते हैं तो इस कमाल के अनाज को कटोरा भर खाने में संकोच न करें। आप ज्यादा जल्दी और कुशलता से स्वस्थ हो जायेंगे।
10. नाश्ते में ओट्स कब्ज का इलाज

यह स्पष्ट है कि इस किस्म के फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ से आँतों की सेहत ठीक रहती है। यदि आपको शौच में परेशानी होती है तो हम आपको रोज सुबह 3 बड़े चम्मच ओट्स और ताज़ा निचोड़ा हुआ ऑरेंज जूस लेने की सलाह देते हैं।

आपका बाउल मूवमेंट ज्यादा आसान हो जाएगा। आप कम भारीपन, फूला हुआ और चिड़चिड़ा महसूस करेंगे।

ओट्स कोलन को साफ करने और उसमें जमा होने वाले तमाम वेस्ट्स को हटाने में भी एक आदर्श भोजन है।
11. ओट्स महिलाओं में कैंसर को रोकते हैं

जब महिलाएं मेनोपाज से गुजरती हैं तो उनका स्वास्थ्य गंभीर रूप से प्रभावित हो सकता है। इस अवस्था में ओट्स जैसे साबुत अनाजों के कई फायदे होते हैं, जैसे कि इनका स्तन कैंसर के विकास को रोकने में सक्षम होना।

ये वजन सही रखने में मदद करते हैं और मेनोपाज के दौरान क्रॉनिक थकान को रोकते हैं।
https://www.healthsiswealth.com/
12. उनमें ग्लूटेन नहीं है

ओट्स की एक सबसे अच्छी खूबी यह है कि वे ग्लूटेन फ्री (gluten free) होते हैं। यदि उन्हें अन्य अनाजों के साथ एक फैक्टरी में पीसा गया है तो वे दूषित हो सकते हैं। लेकिन जिन लोगों को ग्लूटेन इनटॉलेरेंस (gluten intolerance) है, उनके लिए शुद्ध ओट्स बिलकुल ठीक और सुरक्षित हैं।

गेहूं, जौ या राई के बजाय यह विकल्प इस स्थिति वाले लोगों के लिए ज्यादा उपयुक्त है क्योंकि यह छोटी आंत की म्यूकोसा में बदलाव नहीं लाता।

क्या हम आपको पर्याप्त कारण नहीं बता पाये हैं? अगर हाँ, तो किस बात का इंतजार कर रहे हैं? रोज नाश्ते में ओट्स खाएं! आप अपने शरीर को सेहत के ये वरदान देंगे।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.