Header Ads

जब आपकी और पार्टनर की सेक्शुअल ऊर्जा मैच न कर पा रही हो!


जब आपकी और पार्टनर की सेक्शुअल ऊर्जा मैच न कर पा रही हो!
आपने क्षितिज पर खिला इंद्रधनुष तो ज़रूर देखा होगा. तरह-तरह के रंगों से यह ख़ूबसूरत इंद्रधनुष तैयार होता है. दांपत्य जीवन का इंद्रधनुष भी प्रेम, देखभाल, संवाद और सेक्स जैसे विविध रंगों के तालमेल से खिलता है. सेक्स दांपत्य जीवन की धुरी है. लेकिन ज़रूरी नहीं है कि सभी की सेक्स में रुचि-अरुचि एक जैसी हो. अधिकांश पार्टनर यही भूल करते हैं कि वे अपने पार्टनर को भी अपने जैसा मान बैठते हैं. ख़ुद टॉप गियर में दौड़े चले जा रहे हैं, पर यह परवाह नहीं करते हैं कि उनके पार्टनर के इंजन का तो अभी स्टार्ट बटन भी नहीं दबा है.

अच्छे वैवाहिक जीवन के लिए दोनों पार्टनर्स की सेक्शुअल ऊर्जा का मैच होना बेहद महत्वपूर्ण है. जिन पार्टनर्स में इस ऊर्जा का स्तर एक समान नहीं होता उन्हें सेक्शुअल इन्कॉम्पैटिबल (यौन असंगत) कहा जाता है. हाल के दिनों में सेक्शुअल इन्कॉम्पैटिबिलिटी (यौन असंगति) रिश्तों के टूटने के सबसे सामान्य कारणों में से एक है. अक्सर देखा गया है कि सेक्स-सुख सभी कपल चाहते हैं, लेकिन अधिकांश यह नहीं समझ पाते कि सेक्स और सेक्स की इच्छा रखना दो अलग चीज़ें हैं. सेक्शुअल इन्कॉम्पैटिबिलिटी रिश्तों को तहस-नहस कर सकती है. आपके साथ ऐसा न हो, इसलिए आइए सेक्शुअल इन्कॉम्पैटिबिलिटी के सात संकेतों को समझते हैं.

पहला संकेत: पार्टनर सेक्स को महत्वहीन समझे
जब आपका पार्टनर आपकी सेक्स ज़रूरतों को नज़रअंदाज़ करने लगे, या फिर बेड पर सुस्त-सा लगे तो समझ लीजिए कि किसी तरह की गड़बड़ है. सेक्स ड्राइव में असमानता कई तरह की दुविधाओं के चलते भी पैदा होती है. लेकिन ऐसी स्थिति लंबे समय तक रहे तो यह सेक्शुअल इन्कॉम्पैटिबिलिटी का प्रतीक है.


दूसरा संकेत: पार्टनर की प्राथमिकताओं में अरुचि
यदि आपका पार्टनर आपको आगोश में लपेटे रखना या बांधना पसंद करता है और रास न आने पर भी आप उसका मन रखने के लिए इसे स्वीकार कर लेती हैं, तो रिश्तों को मज़बूती देने के लिए तो यह ठीक है, लेकिन आपके मन में कहीं न कहीं इसे लेकर अरुचि बढ़ती जाएगी. बेहतर होगा कि इस बारे में अपने पार्टनर को प्यार से समझा दें. पार्टनर की जो बातें आपको घृणित लगें, उसके बारे में समय रहते स्पष्ट कर देना ठीक रहता है.
तीसरा संकेत: सेक्स दृश्यों को लेकर असहजता
अक्सर जब कपल को बेड पर अंतरंग होने में किसी तरह की कठिनाई महसूस होती है, तो बाहर भी इसके संकेत नज़र आने लगते हैं. उदाहरण के लिए टीवी पर कोई सेक्स दृश्य दिखाई देने पर पार्टनर अगर एक- दूसरे से नज़रें फेरने लगें, तो यह सेक्शुअल इन्कॉम्पैटिबिलिटी का लक्षण है. बेड पर रास न आनेवाली चीज़ों को नज़रअंदाज़ कर देना पार्टनर को आसान प्रतीत होता है. जबकि इस बारे में बातचीत कर कोई नया रास्ता निकालना चाहिए.
चौथा संकेत: पार्टनर की बॉडी लगे अनाकर्षक
सेक्स में छरहरे जिस्म की अपनी अहमियत होती है. अधिकांश लोगों के मन में धारणा होती है कि उनका पार्टनर स्वस्थ और फ़िट हो. हालांकि धारणा और वास्तविकता में अंतर होता है. पार्टनर के बीच बेहतर तालमेल होने पर ‘जिम बॉडी’ की ख़ास अहमियत नहीं रह जाती है. फिर भी यदि अपने पार्टनर को नग्न देखकर आपको ऐसा महसूस होने लगे कि किसी ने उत्तेजना का स्विच ऑफ़ कर दिया है, तो यह ख़तरे का संकेत है. समय रहते इस बारे में अपने पार्टनर को अवगत कराएं. नहीं तो समस्या गहराती जाएगी.
पांचवां संकेत: बेड टाइमिंग में अंतर आने लगे
कोई ज़रूरी कामकाज न होने पर भी यदि आप अपने पार्टनर के साथ बेड पर जाने से कतराने लगें, या बेवजह मोबाइल-टीवी देखते रहें और बेड पर लेट जाएं, तो यह सेक्शुअल इन्कॉम्पैटिबिलिटी का लक्षण है. यदि आप लगातार एक साथ बेड पर न जाने के बहाने तलाशने लगें हो, तो समझ जाइए कि समस्या गंभीर हो चली है.
छठां संकेत: खुलकर बात करने में हिचकिचाहट
यदि बेडरूम में आपको अपने पार्टनर का कोई व्यवहार पसंद नहीं है, फिर भी आप उससे इस बारे में खुलकर नहीं कह पा रहे हों, तो यह भी सेक्शुअल इन्कॉम्पैटिबिलिटी का कारक है. एक-दूसरे की स्वतंत्रता का सम्मान ज़रूर करना चाहिए, लेकिन रिश्तों में खटास लानेवाली बातों पर चर्चा भी ज़रूरी है.
सातवां संकेत: कोई और याद आने लगे
जब बेडरूम में पार्टनर के साथ अंतरंग होने पर भी आपको अपने किसी पूर्व पार्टनर की याद आने लगे, आपकी कल्पना की कोई छवि लुभाने लगे और ऐसा प्रतीत हो कि मौजूदा पार्टनर तो आपके गले आ पड़ा है, तो यह सेक्शुअल इन्कॉम्पैटिबिलिटी गहराने का संकेत है. कभी-कभार सेक्स के दौरान अपने पार्टनर में किसी पूर्व साथी की छवि महसूस करना सामान्य है. लेकिन बार-बार ऐसा महसूस होने लगे तो यह ख़तरे की घंटी है. यदि ऐसा महसूस हो कि कोई और आपको या आपकी बॉडी को ज़्यादा अच्छी तरह समझ सकता था, तो इसे गंभीरता से लेते हुए रिश्तों के ढीले पड़ते नट-बोल्ट को कसना शुरू कर दें.

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.