Header Ads

मतली (जी मिचलाना) के लिए घरेलू उपचार –


मतली (जी मिचलाना) के लिए घरेलू उपचार –
मतली या जी मिचलाना (मचलाना) एक आम समस्‍या है जिसका सामना हर व्‍यक्ति को कभी न कभी करना पड़ता है। मतली की समस्‍या किसी भी समय हो सकती है इसलिए मतली के लिए घरेलू उपचार आपको पता होना चाहिए। मतली या जी मिचलाना किसी के लिए सुखद अनुभव नहीं हो सकता है। इस प्रकार की समस्‍या अक्‍सर यात्रा के दौरान या महिलाओं को गर्भावस्‍था के दौरान होती है। हालांकि मतली का उपचार करने के लिए दवाओं का उपयोग किया जाता है। लेकिन कुछ मामलों में दवाएं लेने के दुष्‍प्रभाव अनिद्रा आदि के रूप में हो सकते हैं। आज इस लेख में आप मतली दूर करने के प्राकृतिक घरेलू उपाय जानेगें। जिनकी मदद से आप घर पर ही बिना दवाओं के जी मिचलाना जैसी समस्‍या का उपचार कर सकते हैं।


मतली रोकने के उपाय अदरक – Ginger Home Remedies for Nausea in Hindi
जी मिचलाना का घरेलू उपाय पुदीना – Nausea home remedy peppermint in Hindi
मतली का घरेलू उपाय एक्‍यूप्रेशर दो – Acupressure Home Remedies for Nausea in Hindi
मतली के लिए घरेलू उपचार नींबू – lemon Home remedy for nausea in Hindi
उल्‍टी जैसा मन होने पर श्वांस नियंत्रित करें – Control breathing when you feel like vomiting in Hindi
जी मचलाना का इलाज करें मसाले – Some Spices Treat nausea in Hindi
जी मिचलाना का घरेलू इलाज सौंफ पाउडर – Home remedies of nausea fennel powder in Hindi
मतली का घरेलू इलाज दालचीनी – Cinnamon home remedy for nausea in Hindi
मतली दूर करने का घरेलू नुस्‍खा जीरा पानी – Cumin water to get relief from nausea in Hindi
मतली रोकने के लिए आराम करें – Rest to stop nausea in Hindi
मतली से बचने का उपाय विटामिन बी6 सप्‍लीमेंट – Vitamin B6 supplements prevent nausea in Hindi
जी मिचलाये तो क्‍या करें में इन टिप्‍स को अपनाएं – Additional Tips to Reduce Nausea in Hindi
मतली रोकने के उपाय अदरक – Ginger Home Remedies for Nausea in Hindi

मतली या उल्‍टी आना जैसी समस्‍या को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय बहुत ही प्रभावी होते हैं। जी घबराने के घरेलू उपचार के लिए आप अदरक का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। यदि आपको उल्‍टी करने का मन हो रहा है तब आप सूखे हुए अदरक की 500 मिली ग्राम मात्रा वाले कैप्‍सूल का सेवन करें। इस उपचार को सामान्‍य व्‍यक्ति 4 बार और गर्भवती महिलाएं दिन में 2 बार दोहराएं। यदि आपके पास अदरक कैप्‍सूल नहीं है तो आप अदरक कैंडी या अदरक के टुकड़े का भी उपयोग कर सकते हैं। अध्‍ययनों से पता चलता है कि अदरक में मौजूद पोषक तत्‍व और सक्रिय घटक उल्‍टी की भावना को कम करने और मस्तिष्‍क में आराम की भावना को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

जी मिचलाना का घरेलू उपाय पुदीना – Nausea home remedy peppermint in Hindi

अरोमाथेरेपी के दौरान मतली की भावना को कम करने के लिए पुदीना प्रभावी औषधी मानी जाती है। एक अध्‍ययन के अनुसार पुदीना की गंध मतली को रोकने वाली दवाओं की तुलना में अधिक प्रभावी होती है। एक और अन्‍य अध्‍ययन के अनुसार पुदीना अरोमाथेरेपी के 57 प्रतिशत मामलों में मतली को कम करने में प्रभावी थी। यदि आप भी जी घबराना जैसी समस्‍याओं से परेशान हैं तो पुदीना और पुदीना के तेल का उपयोग कर सकते हैं।


मतली का घरेलू उपाय एक्‍यूप्रेशर दो – Acupressure Home Remedies for Nausea in Hindi

चीनी चिकित्‍सा पद्यति में मतली और उल्‍टी के इलाज के लिए एक्‍यूपंक्‍चर और एक्‍यूप्रेशर दो तकनीकों का उपयोग किया जाता है। एक्‍यूपंक्‍चर के दौरान शरीर पर पतली सुईयों को विशिष्‍ट बिंदुओं में चुभाया जाता है। जबकि एक्‍यूप्रेशर का उद्देश्‍य शरीर के समान बिंदुओं को प्रोत्‍साहित करना है। लेकिन एक्‍यूप्रेशर में सुईयों के स्‍थान पर हाथ से ही दबाव डाला जाता है। ये दोनों ही तकनीकें तंत्रिका तंतुओं को उत्‍तेजित करती हैं जो मस्तिष्‍क और रीढ़ की हड्टी को संकेत प्रेषित करते हैं। इन संकेतों के कारण मतली को कम करने में मदद मिलती है। कुछ अन्‍य अध्‍ययन से पता चलता है कि गर्भावस्‍था के दौरान एक्‍यूपंक्‍चर मतली को प्रभावी रूप से कम कर सकता है।


मतली के लिए घरेलू उपचार नींबू – lemon Home remedy for nausea in Hindi

उल्‍टी करने जैसा मन होना विशेष रूप से यात्रा के दौरान और गर्भवती महिलाओं को ऐसा होता है। जी मिचलाने पर खट्टे फलों का उपयोग कर आप मतली का इलाज घर पर ही कर सकते हैं। एक अध्‍ययन के अनुसार 100 गर्भवती महिलाओं को मतली महसूस होते ही नींबू या बादाम के तेल की खुशबू लेने से उन्‍हें आराम मिला। यदि आपके पास नींबू का तेल उपलब्‍ध नहीं है तो आप नींबू के छिलके का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। जब भी आपको उल्‍टी या मतली का अनुभव हो आप नींबू के ताजे छिलके लें और इन्‍हें अपने हाथों से मसलते हुए इसकी खुशबू लें। यह आपके मन को शांत करने और घबराहट को दूर करने में सहायक होता है।


उल्‍टी जैसा मन होने पर श्वांस नियंत्रित करें – Control breathing when you feel like vomiting in Hindi

घर पर ही मतली का इलाज करने का सबसे अच्‍छा तरीका अपनी सांस में नियंत्रण रखना है। धीमी और गहरी सांस लेना भी मतली को कम करने में मदद करता है। एक अध्‍ययन के अनुसार शोधकर्ताओं ने यह निर्धारित करने का प्रयास किया है कि सर्जरी के बाद मतली को कम करने के लिए नाक के माध्‍यम से धीरे-धीरे सांस लेने का निर्देश दिया गया। यह तरीका प्रतिभागी की घबराहट को कम करने में प्रभावी पाया गया। यदि आपको भी कभी मतली का एहसास हो तो अपनी नाक से गहरी और लंबी सांस लेने का प्रयास करें। ऐसा करने से आपको निश्चित ही आराम मिलेगा।
जी मचलाना का इलाज करें मसाले – Some Spices Treat nausea in Hindi

मतली के लक्षणों को दूर करने के लिए कुछ प्राकृतिक मसालों और जड़ी बूटियों का इस्‍तेमाल भी किया जाता है। ऐसे कई लोकप्रिय मसाले हैं जो मतली का घरेलू उपचार करने में मदद करते हैं। आइए जाने मतली को रोकने में प्रभावी मसाले कौन से हैं।

जी मिचलाना का घरेलू इलाज सौंफ पाउडर – Home remedies of nausea fennel powder in Hindi

महिलाओं में मतली सहित मासिक धर्म के लक्षणों को कम करने के लिए सौंफ के पाउडर का प्रयोग किया जाता है। मासिक धर्म के दौरान सौंफ की खुशबू लेना और सौंफ का सेवन करना मासिक धर्म के दौरान उल्‍टी, मतली, अधिक स्राव और ऐंठन जैसी समस्‍याओं को रोकने में प्रभावी होता है।


मतली का घरेलू इलाज दालचीनी – Cinnamon home remedy for nausea in Hindi

आप मतली की गंभीरता या मतली के लक्षणों को कम करने के लिए दालचीनी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। जो महिलाएं उल्‍टी और मतली से परेशान हैं विशेष रूप से मासिक धर्म के दौरान। वे दालचीनी की चाय का सेवन कर इस प्रकार की समस्या को कम कर सकती हैं।

(और पढ़ें – दालचीनी के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान)
मतली दूर करने का घरेलू नुस्‍खा जीरा पानी – Cumin water to get relief from nausea in Hindi

पाचन संबंधी समस्याएं होने के दौरान भी बहुत से लोगों को उल्‍टी का अनुभव होता है। ऐसी स्थिति में मतली और उल्‍टी का उपचार करने का सबसे अच्‍छा तरीका जीरा के अर्क (Cumin extract) का उपयोग करना है। यदि आप पेट में दर्द, ऐंठन या मरोड़ आदि का अनुभव कर रहे हैं तब जीरा पानी का भी सेवन किया जा सकता है। अध्‍ययनों से स्‍पष्‍ट होता है कि पाचन संबंधी समस्‍याओं के दौरान उल्‍टी या मतली के लक्षणों को कम करने में जीरा पानी प्रभावी होता है।

मतली रोकने के लिए आराम करें – Rest to stop nausea in Hindi

शारीरिक मांसपेशियों को आराम दिलाने से मतली के लक्षणों को कम किया जा सकता है। मतली के प्रभाव को कम करने के लिए एक विशेष तकनीक का उपयोग किया जाता है जिसे प्रगतिशील मांसपेशीय विश्राम या पीएमआर (PMR) के नाम से जाना जाता है। इस तकनीक में लोगों को शारीरिक और मानसिक रूप से आराम करने के विशेष तरीकों से अवगत कराया जाता है। हाल ही में हुए एक अध्‍ययन से पता चलता है कि पीएमआर कीमोथेरेपी के कारण उत्पन्‍न मतली की गंभीरता को कम करने में प्रभावी होता है। मांसपेशियों में तनाव दूर करने का एक और तरीका शरीर की मालिश होती है।

मतली से बचने का उपाय विटामिन बी6 सप्‍लीमेंट – Vitamin B6 supplements prevent nausea in Hindi
जिन महिलाओं को गर्भावस्‍था के दौरान मतली और उल्‍टी की परेशानी होती है उन्‍हें विटामिन बी6 सप्‍लीमेंट लेना चाहिए। कई अध्‍ययनों से पता चलता है कि विटामिन बी6 का सेवन करना जिसे पिरिडॉक्सिन (pyridoxine) भी कहा जाता है। यह गर्भावस्‍था के दौरान मतली को प्रभावी रूप से कम करता है।


जी मिचलाये तो क्‍या करें में इन टिप्‍स को अपनाएं – Additional Tips to Reduce Nausea in Hindi

आप मतली के लक्षणों को दूर करने के लिए ऊपर बताए गए घरेलू उपायों से लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं। लेकिन कुछ अन्‍य टिप्‍स भी हैं जो मतली, उल्‍टी और जी घबराना जैसी समस्‍याओं को रोकने के लिए इस्‍तेमाल किये जा सकते हैं। आइए जाने मतली दूर करने के लिए जरूरी टिप्‍स क्‍या हैं।
उल्टी जैसा मन होने पर मसालेदार भोजन न करें – Do not eat spicy foods during nausea in Hindi
मतली ठीक करने के लिए प्रोटीन खाएं – Eat protein to cure nausea in Hindi
मतली दूर करने का उपाय कम भोजन करें – Remedy for nausea eating less in Hindi
जी मिचलाए तो भोजन के तुरंत बाद न सोएं – Do not sleep immediately after meals if you are feel nausea in Hindi
मतली का उपाय भोजन के साथ पानी न पिएं – Remedy for nausea Do not drink water with food in Hindi
जी मिचलाना का इलाज हाइड्रेट रहें – Stay hydrated when you feel nauseous in Hindi
मतली होने पर आयरन युक्‍त आहार से बचें – Avoid iron-rich diet in case of nausea in Hindi
जी मिचलाना का घरेलू इलाज व्‍यायाम करें – Exercise when you feel nauseous in Hindi
उल्टी जैसा मन होने पर मसालेदार भोजन न करें – Do not eat spicy foods during nausea in Hindi

जी घबराने के घरेलू उपाय अपनाने के दौरान आपको अपने आहार पर विशेष ध्‍यान देना चाहिए। इस दौरान आपको मसालेदार या उच्‍च वसा युक्‍त खाद्य पदार्थों से दूर रहना चाहिए। इसके बजाय आपको केला, चावल, सेब और उबले आलूओं से बने खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। ये खाद्य पदार्थ न केवल मतली के लक्षणों बल्कि पाचन संबंधी समस्‍याओं को भी कम करने में सहायक होते हैं।

(और पढ़ें – मसालेदार खाना खाने के फायदे और नुकसान)
मतली ठीक करने के लिए प्रोटीन खाएं – Eat protein to cure nausea in Hindi

क्‍या आपको बार-बार उल्‍टी करने का मन करता है और जी घबराता है। ऐसी स्थिति में आपको प्रोटीन युक्‍त खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए। इस प्रकार के आहार मतली के लक्षणों को दूर करने में प्रभावी योगदान देते हैं।


मतली दूर करने का उपाय कम भोजन करें – Remedy for nausea eating less in Hindi

जब भी आप मतली का अनुभव करें उस दौरान आपको अधिक मात्रा में भोजन करने से बचना चाहिए। छोटे-छोटे हिस्‍सों में कई बार भोजन करना मतली के लक्षणों को कम कर सकता है।


(और पढ़ें – रात के खाने का सही समय क्‍या है? जानें रात के भोजन में क्‍या खाएं और क्‍या नहीं)
जी मिचलाए तो भोजन के तुरंत बाद न सोएं – Do not sleep immediately after meals if you are feel nausea in Hindi

जब आप जी घबराने या जी मिचलाने की समस्‍या से ग्रसित हों तब आपको आराम की विशेष आवश्‍यकता होती है। लेकिन इस बात का विशेष ध्‍यान रखें कि भोजन करने तुरंत बाद आपको नहीं लेटना चाहिए। बहुत से लोग भोजन करने 30 से 60 मिनिट के बाद लेट जाते हैं। ऐसी स्थिति में वे एसिड रिफ्लेक्‍स (reflux) या मतली का अनुभव कर सकते हैं। इसलिए भोजन करने के कम से कम 1 से 2 घंटे के बाद ही सोना चाहिए।
मतली का उपाय भोजन के साथ पानी न पिएं – Remedy for nausea Do not drink water with food in Hindi

हम में अधिकांश लोगों की आदत होती है कि भोजन के साथ-साथ पानी पीते हैं। लेकिन भोजन के साथ किसी भी तरल पदार्थ का सेवन करने से जल्‍दी ही पेट भर जाता है जिससे कुछ लोगों को मतली संबंधी लक्षणों का अनुभव होता है।


जी मिचलाना का इलाज हाइड्रेट रहें – Stay hydrated when you feel nauseous in Hindi

शरीर में पानी की कमी मतली के प्रभाव को बढ़ा सकता है। यदि मतली के दौरान आपको कुछ उल्टियां हो चुकी हैं। ऐसी स्थिति में खोए हुए तरल पदार्थ की पूर्ति के लिए आप इलेक्‍ट्रोलाइट युक्‍त तरल पदार्थ का सेवन करें। यह शरीर में पानी की कमी को दूर करने के साथ पर्याप्‍त पोषक तत्‍वों को भी उपलब्‍ध कराता है जो आप उल्‍टी के दौरान खो चुके हैं।


मतली होने पर आयरन युक्‍त आहार से बचें – Avoid iron-rich diet in case of nausea in Hindi

गर्भावस्‍था के दौरान सामान्‍य आयरन स्‍तर वाली महिलाओं पहली तिमाही में आयरन युक्‍त खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए। क्‍योंकि इस प्रकार का भोजन गर्भवती महिलाओं में मतली की भावना को बढ़ाता है।
जी मिचलाना का घरेलू इलाज व्‍यायाम करें – Exercise when you feel nauseous in Hindi

अध्‍ययनों से पता चलता है कि मतली होने के दौरान कुछ विशेष प्रकार के व्‍यायाम को करने से राहत मिल सकती है। कुछ व्‍यक्तियों में मतली को कम करने के लिए एरोबिक व्‍यायाम और योग विशेष रूप से सहायक उपाय हो सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.