Header Ads

ब्रेस्ट का आकर बढ़ाने और उनको सुडौल बनाने के स्वाभाविक सफल उपचार


ब्रेस्ट का आकर बढ़ाने और उनको सुडौल बनाने के स्वाभाविक सफल उपचार

सही आकृति और फिट आकार वाले शरीर को ही आकर्षक और सुंदर काया माना जाता है और आज की हर महिला फेस ब्यूटी के साथ-साथ एक अच्छी फिट बॉडी चाहती है इसीलिए आधुनिक समाज में अच्छे और सुंदर फेस के साथ-साथ सुडौल और बड़े स्तनो को आकर्षक शारीरिक विशेषताओं में से एक माना जाता है।

आज एक औरत को और अधिक आकर्षक लगने के लिए उसके पास शारीरिक ऊंचाई और वजन से मेल खाते स्तनों की आदर्श जोड़ी का होना आवश्यक माना जा रहा है। अगर छोटे और बड़े स्तन वाली महिला में अंतर की बात करें तो छोटे स्तनों की अपेक्षा सुडौल और बड़े स्तन वाली महिला देखने में तो अधिक सुंदर लगती ही है साथ में बड़े स्तन वाली महिलाओं के अंदर आत्मविश्वास भी अधिक होता है इसी कारण आत्मविश्वास से भरी महिला जहाँ जाती है उनका नैतिक सम्मान भी बढ़ जाता है।




आकर्षक शारीरिक विशेषताओं में सुडौल और बड़े स्तनो के महत्व को समझ कर ही आज महिलाएं स्वाभाविक रूप से स्तन के आकार बढ़ाने के उपाय जानने के लिए उत्सुक रहती है पर ज्यादातर महिलायें स्तन का आकार बढ़ाने लिए महंगी प्रक्रिया सर्जरी को ही चुनती है लेकिन स्तन वृद्धि की प्रक्रिया हमेशा परिणाम प्रदान करने वाली सर्जरी कई बार दुष्प्रभाव भी छोड़ जाती है इसलिए ब्रेस्ट का साइज बढाने के लिए हम कुछ सफल और आसान उपाय लेकर आये है जो ब्रेस्ट का साइज बढाने में आपकी मदद जरुर करेंगे।


नियमित रूप से ब्रेस्ट मसाज करें : नियमित रूप से स्तनों की मालिश स्वाभाविक रूप से स्तन का आकार बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार माना जाता है। आप रोजाना ब्रेस्ट बढ़ाने वाले इनलार्जमेंट तेल,हल्के पानी या सूखे हाथो से भी 30 मिनट की मसाज दे कर प्रभावी रूप से सिर्फ एक महीने में स्तन के साइज में वृद्धि कर सकती है। 

हाथ की हथेलियों को 6 से 10 सेकंड तक आपस में रगड़ कर पहले हथेलियों में गर्मी और ऊर्जा पैदा कर ले उसके बाद स्तनों को ऊपर उठाते हुए और फिर स्तन को हर तरफ से अच्छी मसाज दे। बेहतर और जल्दी रिजल्ट प्राप्त करने के लिए सुबह और रात में कम से कम 300 की गिनती करते हुए इस नियम का एक महीने तक पालन करें। 


इस तरह स्तनों की मालिश से रक्त प्रवाह में वृद्धि होगी और प्रोलैक्टिन के उत्पादन में वृद्धि होगी जिस कारण स्तन विस्तार हार्मोन को प्रोत्साहित करने में मदद मिलेगी और स्तन का आकार स्वाभाविक रूप से बढ़ जायेगा और सभी तरह के कपडे आपके ऊपर पहले से अधिक अच्छे लगेंगे।


आहार : स्तन का आकार शरीरक हार्मोन की अनुपस्थिति पर भी निर्भर करता है। आपके शरीर में अगर पुरुष हार्मोन या टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की उपस्थिति होगी तो यह स्तन विकास में बाधा डाल सकता है। इस हार्मोन के अतिरिक्त बात करे तो एस्ट्रोजन की कमी भी छोटे स्तन के पीछे की एक वजह हो सकती है। इन हार्मोनस पर काबू पाने के लिए सबसे अच्छा तरीका नपा तुला खाद्य पदार्थ ही सकता है। आप अपने संतुलित भोजन में चिकन सूप,मछली,सौंफ बीज, सोयाबिन और सोया से बने अन्य खाद्य पदार्थ सब्जियां,फलियां,फल,अंडे,नट्स के साथ-साथ सूरजमुखी के बीज, तिल के बीज और सन बीज भी शामिल कर सकती है।



कसरत और योग : सुडौल और बड़े आकार के स्तन पाने में कसरत और योग हमेशा ही सबसे उपयोगी साबित हुए है। स्तन मांसपेशियों के बढ़ाने के लिए आप पुश-अप,डम्बल से ब्रेस्ट प्रेस,वाल प्रेस,स्विंगिंग आर्म्स के साथ-साथ घर पर गोमुखासन,उष्ट्रासन,वृक्षासन,द्विकोणासन आदि योग का अभ्यास सुडौल और अधिक आकर वाले स्तन प्राप्त करने के लिए कर सकती है। ये सभी कसरत और योग आपको शारीरिक ताजगी देने के साथ-साथ शरीर से तनाव भी दूर कर देंगे। 


कपड़ों का सही चुनाव करें: अपने छोटे स्तनों को उजागर करने के लिए हमेशा छोटे या गलत फिटिंग वाले ब्रा पहनना आपकी ब्रेस्ट स्वाथ्य के लिए हानिकारक हो सकता हैइसलिए स्तनों को बड़े और फुले हुए देखने के लिए आप गद्देदार ब्रा की मदद ले सकती है पर घर पर रहते हुए या अधिक समय तक ऐसी ब्रा को पहनना आपके ब्रेस्ट और स्वास्थ्य दोनों के लिए गलत हो सकता है।


इन सरल और सफल उपचारों को अपनी दिनचर्या में शामिल कर और कुछ सप्ताह की प्रतीक्षा के बाद आप पाएंगी कि आपके स्तन का आकर पहले से सफलतापूर्वक बढ़ गया है। ये ब्रेस्ट इनलार्जमेंट टिप्स आपके आत्मविश्वास को बढ़ावा देने,आपको अधिक लोगों की नजर में लाने,फिट और आकर्षक बॉडी शेप देने में अहम योगदान भी देगा।


स्तन को अधिक समय तक सुंदर,स्वस्थ टाइट रखने के प्राकृतिक रहस्य

हर औरत अपने-अपने सहयोगियों और दोस्तों से अधिक सुंदर लगना चाहती है लेकिन यह सिर्फ अच्छे चेहरे और आकर्षक कमर से हासिल करना संभव नही है। एक स्वस्थ और सुंदर स्तन औरत की एक विशेष संपत्ति होती है इसके अलावा युवा और तना हुआ स्तन शारीरिक और मानसिक रूप से सुंदरता प्रदान करता है।





स्तन (ब्रेस्ट) न तो बहुत ज्यादा लटके हो और न ही बहुत छोटे होने चाहिए क्योकि स्तन का एक कनेक्शन ब्रेस्ट फीडिंग के अतिरिक्त यौन क्षमता को सक्रिय करने की संवेदनशीलता और कामुक से भी होता है। गर्भावस्था से पहले स्तन 'मासूम लड़कियों' की तरह होते है और गर्भावस्था के बाद निपल्स के आसपास के क्षेत्र बड़ा होकर पवित्र सुलझी हुई महिलाओं की तरह लगता है।

स्तनपान की वजह व कई अन्य कारणों की वजह से स्तन के आकार व साइज में कई तरह से परिवर्तन आते है जिसके बाद कई बार स्तन उतने हेल्दी और प्रभावशाली नही रह जाते है। आज हम सुंदर और हेल्दी ब्रेस्ट के लिए कुछ ऐसे सुझाव अपने पाठकों के लिए लेकर आयें है जिनको लाइफस्टाइल में शामिल करके उनकी ख़ूबसूरती को अधिक समय तक कायम रखा जा सकता है।


स्तन मसाज : स्तन मसाज में एक तरह का जादू होता है जो स्तन को स्वस्थ सुंदर और दोबार जीवंत करने में अहम योगदान देता है। छाती में दर्द, सूजन स्तन गांठ, और स्तनपान के साथ उत्पन्न हुई कई समस्याओं को कम व पूर्ण समाप्त करने का काम बड़ी सहजता से करने में सक्षम है।


स्तन मालिश स्तन को पोषण देने का सबसे सस्ता सरल उपाय है यह बात लगभग सभी चिकित्सक भी मानतें है। स्तन मसाज फाइब्रॉएड और अल्सर हार्मोन के प्रभाव में संतुलन बनाने, स्तन आकार में वृद्धि , ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की पूर्ति करने के साथ-साथ स्तन त्वचा को नर्म कोमल व कसा हुआ बनाता है जिसकी वजह से स्तन हेल्दी और सुंदर बनते है।


अगर आप चाहती है अधिक उम्र तक आपके स्तन सुडौल सुंदर व हेल्दी रहे तो स्तन मसाज को अपनी दिनचर्या में नियमित रूप से शामिल अवश्य करें। 


ड्राई ब्रशिंग से स्तन को स्वस्थ बनाएं : स्तन को स्वस्थ रखने का यह सबसे सस्ता और सरल ट्रिक है। स्तन के चारों ओर हल्के हाथों से ड्राई ब्रशिंग करने से स्तन पहले से अधिक हेल्दी होते है क्योकि ड्राई ब्रशिंग करने से स्तन त्वचा के आसपास रक्त संचार क्रिया में सुधार होता है। ड्राई ब्रशिंग टॉक्सिन्स को बॉडी से बाहर करने में अहम योगदान देता है जिसकी वजह से स्तन से संबंधित गंभीर दिक्कतें नही आती है और नियमित रूप से स्तन पर ड्राई ब्रशिंग की जाएँ तो स्तन पहले से आकर्षक बन जाते है।


सूरज की किरणों से स्तन को चमकदार करें : सूर्य विटामिन डी का सबसे अच्छा व किफायती स्त्रोत है और हाल ही में हुए कई शोधों से यह बात भी साबित हो चुकी है कि विटामिन डी से स्तन का आकार तो बड़ा होता ही है साथ में स्तन त्वचा में चमक भी पैदा होती है इसलिए संभव हो तो सप्ताह में एक दिन अपने स्तन और सूर्य किरणों के बीच से कपड़ों के हटा कर सूरज की ताकत को अपने स्तन के अंदर तक महसूस करें।

हॉट कोल्ड शावर : यह तरीका स्तन के हेल्थ और ख़ूबसूरती के काफी असरदार है। इस तरीके का लाभ लेने के लिए सबसे पहले स्तन पर गर्म पानी से 30 सेकंड तक शावर लें। उसके बाद 10 सेकंड तक कोल्ड पानी से शावर लें। इस ट्रिक को प्रयोग में लाते समय इस बात का ध्यान रखें हॉट और कोल्ड शावर के बीच कम से कम 3 सेकंड का अंतर अवश्य हो और समाप्ती हमेशा ठंडे पानी से ही करें।


यह तकनीक स्तन त्वचा में रक्त संचार ठीक करने,टॉक्सिन्स को बाहर निकालने और स्तन को टाइट कर स्तन को पहले से अधिक सुंदर और आकर्षक बनाने का काम करती है इसलिए इसे भी अपनी स्तन केयर लिस्ट में जरुर शामिल कर लें।


नग्न योग : योग हर रूप में न केवल स्तन के लिए अथवा समूचे शरीर के लिए लाभकारी है लेकिन हाल ही कई विदेशी शोध से यह बात निकल कर सामने आई है कि अगर महिलाएं योग और कसरत नग्न अवस्था में करती है तो कामुक हिस्से पर उनका लाभ जल्द और बेहतर मिलता है।


स्तन कैसर के प्रभाव को कम करने, स्तन को टाइट करने और हेल्दी स्तन के लिए रोजाना कम से कम 30 मिनट योग व कसरत जरुर करनी चाहिये। जल्दी और बेहतर परिणाम के लिए 15 दिन में एक बार सूरज की पहली किरण के सामने नग्न योग किया जा सकता है।


मॉइस्चराइजिंग : सुंदर स्तन की चाह रखने वाली महिलाएं त्वचा के अन्य भागों की तरह स्तन पर भी नियमित रूप से मॉइस्चराइजर लागू करना हरगिज ना भूलें। हर दिन स्नान के बाद त्वचा हाइड्रेटेड रखने के लिए पर्याप्त रूप से स्तन त्वचा को मॉइस्चराइजिंग प्रदान करें और इससे झुरियां कम होने की उम्मीद बढ़ जाती है।


स्वस्थ आहार : ख़ूबसूरती और हेल्थी बॉडी पार्ट बिना स्वस्थ आहार के असंभव है। अगर आप उम्र के आखिरी पड़ाव तक स्तन स्वस्थ सुंदर हेल्थी और सुडौल रखने की चाह है तो अपनी डाइट को हमेशा बेहतर रखें। भोजन में दूध अंडे, मूंगफली का मक्खन,मछली, चिकन,जैतून का तेल, नट, पनीर दही,कद्दू, लहसुन, लाल राजमा, लाइमा बीन्स बैंगन, खजूर, चेरी,सेब बेरीज, सन बीज, चिया बीज,सलाद और सोया प्रोडक्ट्स को नियमित रूप से अपनी डाइट में शामिल करें।


सही ब्रा चुने : ढीले और बेडौल स्तन को टाइट दिखाने के लिए अकसर महिलाएं साइज से छोटी ब्रा पहनती है जो हेल्थी स्तन के लिए बेहद खतरनाक है। हमेशा सही साइज की ब्रा चुने जो आखिरी हुक तक फिट हो। इसके आलावा एक ही ब्रा अधिक ना पहनें। कपड़ों की तरह ही ब्रा की भी कम से कम 5 से 6 सेट आपके पास होने चाहिए। सूती ब्रा का प्रयोग नायलोन और फोम ब्रा के बजाय ज्यादा करना चाहिए और रात को बिना ब्रा के सोना सबसे बेहतर है।


उपर दिए गये सभी उपायों के अतिरिक्त प्रचुर मात्रा में पानी का सेवन और ओरल सेक्स भी सुंदर स्वस्थ स्तन प्रदान करने में महत्वपूर्ण रोल निभाते है। पानी त्वचा को हाइड्रेटेड रखने का काम करता है तो ओरल सेक्स सच्ची ख़ुशी के साथ-साथ ब्रेस्ट साइज बढाने,स्तन कैंसर और मीनोपॉज प्रभाव को कम करता है।

– स्तनों की कसावट के घरेलू उपाय

ढीले स्तन महिलाओं के लिए एक बड़ी समस्या का कारण होते हैं एवं उन्हें ऐसे उत्पाद की हमेशा से आवश्यकता रही है जो उनके स्तनों को सुडौल बनाकर उनमें कसावट भर दें। स्तनों के ढीले होने का कारण हर महिला के क्षेत्र में अलग अलग हो सकता है। आपको हमेशा अपने अपने स्तनों की अच्छे से देखभाल करनी चाहिए क्योंकि ये शरीर एक उन भागों में से एक है जो एक महिला को पुरुषों से अलग करता है। मर्द भी हमेशा अपनी पत्नी या संगिनी के स्तनों के स्वास्थ्य को लेकर चिंता में रहते हैं। जब भी आप सज संवर कर कहीं जाती हैं या अपनी मनपसंद पोशाक पहनती हैं तो आपके स्तन आपकी सुंदरता में चार चाँद लगाते हैं।

शोध के अनुसार ३५ की उम्र पार करने के बाद धीरे धीरे महिलाओं की त्वचा ढीली होनी शुरू हो जाती है। यह महिलाओं के उम्रदराज होने का एक प्रमाण भी है। इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान जब एक बच्चा माँ का दूध पीता है तो स्तनों से दूध निकलने के फलस्वरूप उनके स्तन झुक जाते हैं और ढीले पड़ जाते हैं। स्तनपान के कारण महिलाओं के सीने के तंतु ढीले पड़ जाते हैं। एक माँ लिए अपनी सुंदरता एवं स्वास्थ्य त्याग देती है और उसके स्तन अपना सही आकार खो देते हैं।

स्तनों की कसावट के कुछ उपाय (Home remedies for tightening and firming breasts)
योग (Yoga for toning breasts)
शोध के अनुसार योग करने से शरीर के विभिन्न मांसपेशियों को नयी ऊर्जा एवं स्फूर्ति प्राप्त होती है। सांस अंदर करने एवं बाहर छोड़ने वाला व्यायाम सेहत के दृष्टिकोण से काफी अच्छा होता है पर अगर आप इस व्यायाम को सही ढंग से करें तो इससे आपके स्तनों में भी कसावट आ सकती है। शरीर के विभिन्न अंगों की परेशानियां दूर करने के लिए योग के कई प्रकार हैं। स्तनों की कसावट के लिए हाथ,कंधे,सीने एवं अन्य अंगों का व्यायाम अनिवार्य है। शीर्षासन,पैरों का व्यायाम तथा पीठ सीधी करने के लिए किये जाने वाले व्यायाम से भी आपको वक्षों में कसावट आती है।
रोज़ाना का शारीरिक परिश्रम (General physical activity)
रोज़ाना किये जाने वाले घर के कार्यों से भी आपके बिना जाने आपके स्तन कसते हैं। कुछ ऐसे काम होते हैं जो कि काफी मेहनत वाले होते हैं एवं उन्हें अनदेखा नहीं किया जा सकता,परन्तु कामों को करने से शरीर भी स्वस्थ रहता है एवं ढीले स्तनों में भी जान आती है। अगर ज़्यादा दौड़भाग,जॉगिंग एवं इस तरह के अन्य व्यायाम आपकी दिनचर्या में शामिल हैं तो इससे कसावट की प्रक्रिया तीव्र होती है। हालांकि ढीले स्तन होने की स्थिति में ज़्यादा दौड़भाग उचित नहीं है क्योंकि इससे स्तनों पर विपरीत प्रभाव पड़ता है परन्तु इसका भी एक उपाय है। आप अपनी नाप की स्पोर्ट्स ब्रा खरीदें जिससे आपके स्तन अत्याधिक हिलने डुलने से बचे रहे।
ख़ास तरह की ब्रा (pushup bras to uplift the breasts)
जिन महिलाओं को स्तन झूलने एवं ढीले होने की शिकायत रहती है वे अपने स्तनों का आकार सही रखने के लिए ख़ास तरह की ब्रा खरीद सकती हैं। पुश अप ब्रा खरीदें जो कि आपके स्तनों को झूलने से रोकता है एवं ढीला होने से बचाता है।अगर आप सही नाप की ब्रा लेने में असफल हो रही हैं तो दूकान के कर्मचारी आपकी सही ब्रा खरीदने में मदद कर सकते हैं।
बर्फ की मसाज(Ice messaging to firming the bust)
यह तरीका ज़्यादातर लोगों को पता नहीं है परन्तु बर्फ की मसाज करके भी आप अपने स्तनों को ढीला होने से रोक सकती हैं। बर्फ आपके स्तनों को उभार देता है और उन्हें ढीला होने से रोकता है। २ बर्फ के टुकड़े लें और उन्हें गोलाकार मुद्रा में अपने स्तनों के आसपास घुमाएं। इसे १ मिनट से ज़्यादा न करें क्योंकि स्तनों के पास की त्वचा काफी संवेदनशील होती है।
मुद्राएं (Olive oil massage for firming)
ढीले स्तनों का एक और कारण खराब मुद्राओं में उठना बैठना भी है। अगर आपो हमेशा कंधे झुकाकर बैठी रहती हैं तो इसका आपके स्तनों पर खराब प्रभाव पडेगा। इस मुद्रा में बैठने वाली ज़्यादातर महिलाओं को ढीले स्तनों की समस्या होती है। हमेशा सीधे होकर बैठने का प्रयास करें।
तेल का प्रयोग
आप अपने स्तनों पर बाज़ार में मिलने वाले कई तरह के तेल जैसे पुदीने का तेल,सौंफ का तेल,गाजर का तेल आदि लगा सकती हैं। तेल लगाकर अपने स्तनों पर गोलाकार मुद्रा में मालिश करें। तेल को ज़्यादा मात्रा में ना लगाएं बल्कि २-३ बूँदें एक स्तन पर लगाएं। ज़्यादा मात्रा में लगाने से यह तेल आपके स्तनों में जलन पैदा कर सकते हैं। अगर आप वनस्पति तेल में मिलाकर इसका प्रयोग करें तो ज़्यादा अच्छे परिणाम सामने आएंगे।

प्राक्रतिक रूप से स्तनों का विकास केसे करे – स्रतन कैसै बड़ा बनाये

स्तन लड़की के सबसे महत्वपूर्ण
https://www.healthsiswealth.com/ शरीर के अंग होते हैं औ
https://www.healthsiswealth.com/र पुरुषों को भी यह बहुत आकर्षक लगते है.आप को जो भी भेट में मिला है उससे खुश रहिये. कुछ महिलाओ के स्तन उनके शरीर का सबसे अच्छा हिस्सा होते है और कुछ महिलाओ के स्तन बिल्कुल अच्छे नहीं होते है.सभी महिलाये बड़े और सही आकार में स्तन चाहती है. हममें से कुछ महिलाओ को यह प्राक्रतिक रूप से भेट में मिले हुए है और वे खुश है. लेकिन, कुछ को नही. आपको कभी भी अपने स्तन के आकर से चिंतित नहीं होना चाहिए। आपके स्तन का कोई भी आकार हो सकता है A या B कोई फर्क नहीं पड़ता. आप जैसी भी है सुन्दर है. अच्छी पोशाक और अच्छी ज्वेल्र्री आपकी सुन्दरता को काफी हद तक बड़ा देती है, आप हमेशा नई पोशाके और हमेशा अच्छे से अपने बालो को बनाये इस तरह आप अपनी सुन्दरता और नैन नख्श दिखा सकती है. और यदि आप वास्तव में अपने छोटे आकार के स्तन से चिंतित है तो आप अपने स्तनों के आकार के विस्तार के लिए कुछ घरेलु उपचार कर सकती है. कई महिला उन्हें बढ़े बनाने के लिए, डबल पैड ब्रा का उपयोग करती है।हाँ यह सच है की यह डबल पैड ब्रा हमेशा आपकी पोशाक को फिट करने में मदद करता है, लेकिन यह वास्तव में आपके स्तनों के आकार में वृद्धि नहीं करता.आप वास्तव में अपने स्तनों के आकार में वृध्दि कर सकते है नीचे कुछ घरेलु उपचारों के बारे में चर्चा कर रहे है.

https://www.healthsiswealth.com/



आप वाटर ब्रा ,प्लुंगे ब्रा और पुश-अप ब्रा का इस्तेमाल कर सकती है इससे आपके स्तन बड़े और गोल आकार के दिखेंगे आप सिलिकॉन पैड का भी इस्तेमाल कर सकती है ये बिलकुल असली लगते है और इन्हें ब्रा के अंदर रखा जा सकता है. यह आपकी ब्रा का आकार बढाने में मदद करता है और स्तनों को बड़ा और सही आकार में दिखाता है.यह बाहरी और अस्थाई उपचार है लेकिन यह आपके स्तन का आकार नहीं बढ़ाते है.
आप कुछ व्ययाम भी कर सकती है इससे आपकी मासपेशियो में खिचाव आएगा और आपके स्तन के आकार को बढ़ाएगा. आप जिम जाइये और प्रशिक्षक की सलाह लेकर व्यायाम को अपनी दैनिक दिनचर्या में शामिल करे.आप घर पर भी कुछ व्ययाम कर सकती है जैसे- पुश-अप ,चेस्ट प्रेसेस, चेस्ट संपीडन आदि.
आप मेकअप के द्वारा भी अपने स्तनों को बड़ा और गोल आकार में दिखा सकती है, प्राकृतिक दिखने के लिए अपनी क्लीवेज पर त्वचा के कलर का मेकअप लगाये.आप इसके लिए किसी मेकअप विशेषज्ञ से जानकारी भी ले सकती है,
एक औरत के स्तन का आकार बढ़ाने के लिए जिम्मेदार क्या है ? एस्ट्रोजन नामक हर्मोन एक औरत के स्तन का आकार बढ़ाने के लिए मूल रूप से जिम्मेदार है। पुरुषो में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन अधिक पाया जाता है एवं एस्ट्रोजन कम जब की महिलाओ में इसका विपरीत होता है. महिलाये एस्ट्रोजन की मात्रा बढाने के लिए चिकित्सक सलाह भी ले सकती है.
स्तनों के आकार को बड़ा दिखने के लिए आप ऐसे ब्लाउज या टॉप पहन सकती है जिनसे आपके स्तन उभरे हुए दिखे.
यह कुछ बाहरी उपाय है जिन्हें आप इस्तेमाल कर सकती है अपने स्तनों को बड़ा और खुबसूरत दिखने में, आप चिकित्सक की सलाह के बाद कृत्रिम स्तन भी लगवा सकती है.लेकिन यह करने के लिए आप अच्छी तरह से सोच विचार कर ले. इसके आलावा आप कुछ घरेलु उपाय भी स्तन बढाने के लिए इस्तेमाल भी कर सकती है जो की बहुत ही अच्छा उपाय है क्यों की इससे आपके स्तन प्राक्रतिक रूप से बड़े और सही आकर में हो सकते है.
स्तन बढाने के प्राक्रतिक घरेलु उपाय / चेस्ट बनाने के तरीके / स्रतन कैसै बड़ा बनाये (Natural Breast Enlarging Remedies)

कुछ आसान घरेलु उपचार महिलाओ के द्वारा किये जाये तो वे अपने स्तन का आकर बड़ा सकती है. स्वस्थ स्तन स्वस्थ शरीर व अच्छी दिनचर्या की पहचान होते है. यहाँ पर दिए गए कुछ घरेलु उपायों के द्वारा आप अपने स्तनों का आकार आसानी से बड़ा सकती है जिससे स्तन सही आकर में व खुबसूरत दिखेंगे.
रोजाना स्तनों की मालिश जैतून के तेल से करने से आपके स्तनों का आकर बढता है. मालिश के द्वारा रक्त परिसंचरण बढ़ जाता है जो की स्तनों के अंदर ऊतकों फैलाने के लिए मदद करता है और उन्हें बड़ा और मजबूत बनाने में मदद करता है.
यह माना जाता है की मैथी के बीज एस्ट्रोजन की मात्रा बढाने में मदद करता है.आप मैथी के बीज का पाउडर बना ले एवं पानी के साथ इसका पेस्ट बना ले अब इस मिश्रण से रोजाना 10 मिनट तक मालिश करे. अच्छे परिणाम के लिए इसे महीने में दो बार अवश्य करे.
सौफ के बीज भी एस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ाने में काफी हद तक कारगर साबित हुआ है. इन बीजो का उपयोग करने के लिए सौफ के बीज को 10 मिनट के लिए तेल डालकर पका ले जब तक की इसका रंग लाल न हो जाये अब इस मिश्रण से रोज़ 10 मिनट तक मालिश करे निश्चित ही आपको अच्छा परिणाम देखेंगे .आप सौफ के बीज की चाय भी पी सकते है.चाय बनाने के लिए 1 कप पानी में सौफ डालकर 10 मिनट तक गर्म करे और रोज़ 1 महीने तक इसका सेवन करे.
Pueraria Mirifica का इस्तेमाल भी स्तनों के आकर को बढाने के लिए किया जा सकता है. यह महिलाओ के हार्मोन को सतुलित करने का काम करता है. बाज़ार में यह क्रीम, तेल,जेल, साबुन,केप्सूल और गोली के रूप में उपलब्ध है.
लेडी’स मेंटल का उपयोग महिलाओ के स्तन को अनुपात में लेन के लिए किया जाता है. इसे जड़ी-बूटी की तरह आहार में शामिल किया जा सकता है.यह आपूर्ति और क्रीम की तरह उपलब्ध है. इस क्रीम में उपलब्ध गुण रक्त संचरण को बढाती है एवं स्तनों में चर्बी जमा करती है.
स्तनों को बढाने के लिए लाल दाल सस्ती व आसानी से उपलब्ध होने वाला घरेलु उपचार है. लाल दाल को रात भर भिगो दे व इसका पेस्ट बना ले अब इस पेस्ट को अपने स्तनों पर फेलाए व ३० मिनट के लिए सूखने तक छोड़ दे.और फिर ठन्डे पानी धो ले.
प्याज के रस के द्वारा भी स्तनों के आकार में वृधि की जा सकती है , यह एक अच्छा घरेलु उपचार है इसे इस्तेमाल करने के लिए प्याज का रस, हल्दी व शहद का मिश्रण तेयार करे और इसे रात भर के लिए स्तनों पर लगा ले सुबह इसे ठन्डे पानी से धो ले. पानी भी स्तनों को बढाने में कारगर है. पानी शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकलवाने में मदद करता है और साथ ही स्तन के ऊतकों को स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है.
केले का सेवन भी आपके स्तनों के आकर को बड़ा करता है व इन्हें खुबसूरत बनाता है. दिन में २ से ३ केले का सेवन करे निश्चित ही आप अच्छा परिणाम पाएंगे.
स्वस्थ भोजन सही अन्तराल में लेने से भी आप स्वस्थ शरीर व सही आकार में बड़े स्तन पाएंगे.प्रोटीन युक्त भोजन का सेवन करे जैसे-दूध, अंडा,चीस, घी, मांस,मछली ये सभी स्वस्थ भोजन आपके उतकों को कसने का कामकरते है जिससे आप बड़े व सही आकार में स्तनों की प्राप्ति कर सकते है.
उतकों को स्वस्थ बनाये रखने के लिए रोजाना बहुत सारी मात्रा में पानी पिए.



जानें स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए स्तनों की मालिश कैसे करें


https://www.healthsiswealth.com/
स्तन का आकार बढ़ाने के लिए स्तन सर्जरी से स्तनों की मालिश बेहतर उपाय है। किशोरियों के स्तन वृद्धि जब रुक जाती है तो स्तन वृद्धि कराने के लिए स्तन सर्जरी की प्रक्रिया के बारे में सोचती है। स्तन सर्जरी कराने के बाद स्तन आकार वृद्धि के साथ-साथ दर्द, सूजन और लाल रंग के निशान कुछ साइड-इफेक्ट के रूप में मिलते है।


स्तन का आकार तेजी से बढ़ाने के लिए आप स्तन मालिश तकनीक को चुनती हैं तो यह उपाय आपके लिए आराम का अहसास दिलाने वाली सस्ती और मालिश पूरी तरह से सुरक्षित होगी। स्तन मसाज प्रभावी प्राकृतिक तरीके के बारें में कई महिलाओं को पता तो होता है पर वह स्तनों का आकार बढ़ाने वाली मालिश के सही तरीके के बारें में नही जानती है जिस कारण नवयुवतियां आदर्श विकल्प के रूप में इस उपचार का लाभ नही ले पाती है। यहाँ आप स्तनों को बड़ा बनाने के लिए कुछ स्तन मालिश तकनीक शेयर कर रहे है जिनका लाभ लेकर घर पर ही स्तन साइज बढाने के लिए सफल प्रयास कर सकती है।




कोमल हाथों का उपयोग: स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए घर पर मालिश सत्र शुरू करने से पहले मार्किट से स्तन मालिश की एक हर्बल क्रीम या तेल उत्पाद खरीद लें और उसके बाद स्तनों से अपने कपड़े को हटा लें। अब स्तन पर कम से कम तीन अंगुलियों से नीचे स्ट्रोक के साथ धीरे-धीरे हल्के कोमल हाथों से मालिश करें, स्तन के बेहद संवेदनशील भाग निपल्स की मालिश ना करें चकत्ते या पिंपल होने पर भी ब्रेस्ट मसाज का रिस्क ना लें।



स्तनों को हल्के-हल्के गूंधे : दोनों स्तनों में से किसी एक को चुनकर अपने दोनों हाथों से स्तन को पकड़ लें और पुरे स्तन पर समान रूप से दबाव डालते हुए हल्के-हल्के गूंधे। आप ऐसा कुछ मिनटों तक करें और उसके बाद यही प्रक्रिया दूसरे स्तन के साथ दोहराएं। स्तनों पर अत्याधिक दबाव डालती है तो यह तकनीक स्तन के ढीलेपन की समस्याओं का कारण बन सकती है।

https://www.healthsiswealth.com/

स्तनों का गोल चक्कर पूरा करें : स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए आप सर्वोत्तम परिणामों की कामना करती है घड़ी को देखते हुए मजबूती से स्तन से पकड़ कर घडी की दिशा में घुमाएं। इसके बाद उसी प्रक्रिया का उपयोग उलटी दिशा में करें, आप इस पूरी मसाज प्रक्रिया को दूसरे स्तन के साथ भी करें। आप गोल चक्कर की इस मालिश को कम से कम दस बार अवश्य करें।


https://www.healthsiswealth.com/


हथेलियों का प्रयोग से स्तन की मालिश : उंगलियों के बाद जब आप हथेलियों से स्तन को मसाज देती है तो स्तन का आकार बढ़ाने की योजना में तेजी आ जाती है। स्तनों की हथेलियों की मालिश करते हुए नीचे की ओर ले जाएँ। अच्छे और जल्दी परिणामों के लिए 10 मिनट तक स्तन की मालिश करते रहे। निपल्स औरे उसके घेरे को बिलकुल ना छुए क्योकि यह मालिश तकनीक भी स्वास्थ्य को नुकसान पहुँचा सकती है।



मालिश के बाद आराम : ऊपर दिए स्तन मालिश के सभी स्टेप करने के बाद आराम बहुत जरूरी है। आप ऑंखें बंद कर आराम कर सकती है या फिर कोई मधुर गीत या किताब पढ़ सकती है। आप मालिश के फौरन बाद ना कुछ खाएं और ना ही किसी कार्य में हिस्सा लें।


एक बार स्तन त्वचा क्रीम या तेल की अच्छी तरह अवशोषित कर लें उसके बाद आप स्नान के लिए जा सकती है। स्नान के बाद पानी सुखाने के लिए आप स्तन पर हल्के हाथों से थपथपा भी सकती है।
https://www.healthsiswealth.com/

स्तन का आकार बढ़ाने और सुडौल बनाने के लिए मालिश की इन तकनीकों में आप अपने पार्टनर की मदद भी ले सकती है। वैसे नवयुवितयों और नव विवाहित औरतों के स्तन पर पुरुष अपने हाथों से मसाज देने के साथ-साथ जीभ से स्तन को सहलाते है तो उसका असर आपको कुछ रातों में दिखने लगता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.