Header Ads

गर्भवती महिलाओं के लिए वरदान है योग,



गर्भवती महिलाओं के लिए वरदान है योग, डिप्रेशन से लड़ने में करता है मदद
गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद
https://www.healthsiswealth.com/
https://www.healthsiswealth.com/

योग जितना एक सेहतमंद इंसान के लिए फायदेमंद साबित होता है, उतना ही गर्भवती महिलाओं के लिए भी अच्छा माना जाता है. योग करने से गर्भवती महिलाओं में अवसाद कम होता है.

अवसाद का स्तर होता है कम
https://www.healthsiswealth.com/
योग पर हुए मिशिगन विश्वविद्यालय के शोध में शोधकर्ताओं का कहना है कि गर्भवती महिलाएं अगर यदि योग करें तो उनमें अवसाद को कम किया जा सकता है और मां बच्चे के बीच जुड़ाव बढ़ता है.
टलता है मनोवैज्ञानिक खतरा
https://www.healthsiswealth.com/
गर्भवती महिलाओं में मनोवैज्ञानिक खतरा ज्यादा होता है और जो महिला 10 सप्ताह तक पूरे मन से योग करती हैं उनमें अवसाद के लक्षणों में महत्वपूर्ण कमी देखने को मिली है. योग करने से मां बनने जा रही महिला गर्भ में पल रहे शिशु के साथ जुड़ाव भी महसूस करती हैं.
हर लहजे से है बेहतर
https://www.healthsiswealth.com/

गर्भवती महिलओं में अवसाद का लक्षण को दवा के माध्यम से उपचार करने के मुकाबले योग से प्रभावी तरीके से कम किया जा सकता है.

नॉर्मल डिलीवरी चाहती हैं तो प्रेग्नेंसी में ये 3 योगासन करना न भूलें
https://www.healthsiswealth.com/
https://www.healthsiswealth.com/

आज के दौर में नॉर्मल डिलीवरी बहुत कम ही सुनने को मिलता है। बदलता लाइफस्टाइल और गलत खानपान की आदतों के कारण महिलाओं में नार्मल डिलीवरी के चांस कम होते जा रहे हैं। ज्यादातर केस में ऑपरेशन कर डिलीवरी की जा रही है। इस वजह से महिलाओं को ज्यादा परेशानी झेलनी पड़ती है व उन्हे रिकवर होने में भी काफी समय लग जाता है।

एक समय था जब महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान कसरत और व्यायाम न करने की हिदायत दी जाती थी, लेकिन आज के समय प्रेगनेंट महिलाएं डॉक्टरों की देखरेख में योगा का सहारा लेकर नार्मल डिलीवरी के चांसेस बढ़ा सकती हैं। साथ ही प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली समस्याओं से काफी हद तक बच सकती हैं। आइए जानते हैं उन योगासन के बारे में...

https://www.healthsiswealth.com/
https://www.healthsiswealth.com/
वक्रासन
इसके लिए आप किसी ओपन जगह में मैट बिछाकर दोनों पैरों को सामने फैलाकर बैठे। सीधे जमीन पर बैठ जाएं और दोनों पैर आगे की तरफ करें। एक बार में एक पैर उठाएं और मोड़े। जिस तरफ का पैर उठाएं उसके दूसरे तरह के हाथ को पीछे की तरफ ले जाएं। इसके बाद दूसरा हाथ ऊपर उठाकर पीछे की तरफ ले जाएं और इस मुद्रा में कम से कम 2 से 3 मिनट बैठें। इसके बाद गहरी सांस लें।
https://www.healthsiswealth.com/

उत्कटासन
इस आसन को करने के लिए ऐसी जगह का चयन करें जो समतल हो, वहां मैट बिछाकर उस पर खड़े हो जाएं। अपने दोनों पैरों के बीच थोड़ा गैप बनाते हुए सीधे खड़े हो जाएं। अब अपने हाथों को सीधा फैलाए। हथेली को जमीन की तरफ और कोहनी को सीधा रखें। इसके बाद घुटनों को मोड़ते हुए कुर्सी के आकार में पोजिशन लें। 1 मिनट तक इस स्थिति में रहें और फिर धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में आ जाएं।


https://www.healthsiswealth.com/

कोणासन
इस आसन को करने के लिए सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं। इसके बाद पैरों में कूल्हे के चौड़ाई जितनी दूरी बना लें। अब गहरी सांस लेते हुए अपने बाएं हाथ को इस तरह ऊपर उठाये की आपकी उंगलियां छत की दिशा में रहें। अब सांस छोड़ते हुए रीढ़ की हड्डी को झुकाते हुए अपनी दाहिनी ओर झुके। अब अपने श्रोणि को बाईं तरफ लेकर जाएं और थोड़ा झुके। इस दौरान अपने बायें हाथ को ऊपर की ओर तना हुआ रखे। इस दौरान कोहनियों को सीधा रखें। अब आप सांस भरते हुए अपने शरीर को सीधा करें और फिर सांस को छोड़ते हुए अपने बायें हाथ को नीचे लाए ।
https://www.healthsiswealth.com/

गर्भावस्था में कसरत करते समय इन बातों का रखें खास ख्याल
-योग करते समय ढीले और आरामदेह कपड़े पहने
-जहां योग करें उस जगह का वातावरण न ज्यदा ठंडा हो न गरम
-जिस योगासन को करने में तकलीफ हो उसे न करें
-योग किसी विशेषज्ञ की देखरेख में ही करें

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.