Header Ads

सुनो! बार बार मेरी ‪‎प्रोफाइल‬ खोल के ‪#तस्वीर‬ ना देखा करो

सुनो! बार बार मेरी ‪‎प्रोफाइल‬ खोल के ‪#तस्वीर‬ ना देखा करो
नज़र ‪‎मोहब्बत‬ की होगी तो नज़र लग जाऐगी


दोस्त को दोस्त का इशारा याद रहेता हे
हर दोस्त को अपना दोस्ताना याद रहेता हे
कुछ पल सच्चे दोस्त के साथ तो गुजारो
वो अफ़साना मौत तक याद रहेता हे


भीतर भीतर कुछ बिखर गया ऐ यार 
खून ऐ जिगर आँखों में उतर गया ऐ यार 
तो दोस्ती को समझा बस दिल्लगी ऐ यार 
में दोस्ती को समझा मेरी ज़िन्दगी ऐ यार 

आँखें भी मेरी पलकों से सवाल करती है
हर वक़्त आपको ही तो याद करती है
जब तक देख न लें चेहरा आपका
तब तक हर घडी आपका इंतज़ार करती है 

कोई है जिसका इस दिल को इंतज़ार है
ख्यालों में भी बस उसका ही ख्याल है
खुशियां मैं सारी उस पर लुटा दूँ
कब आएगा वो चाहने वाला जिसका इस दिल को इंतज़ार है

हम भी फूलों की तरह अक्सर तनह रहते है 
कभी टूट जाते है तो कभी कोई तोड़ देता है








तुम्हारी अदा का क्या जवाब दूँ
अपने दोस्त को क्या उपहार दूँ,
कोई अच्छा सा फूल होता तो माली से मंगवाता
जो खुद गुलाब है, उसको क्या गुलाब दूँ





किसी ना किसी पे किसी को ऐतबार हो जाता है,
अजनबी कोई सच्चा यार हो जाता है,
खूबियों से नहीं होती मोहब्बत सदा,
कमियों से भी अक्सर प्यार हो जाता है!!

सुकून मिलता है जब उनसे बात होती है,
हज़ार रातों में वो एक रात होती है,
निगाह उठाकर जब देखते हैं वो मेरी तरफ,
मेरे लिए बस वही पल पूरी कायनात होती है!!


दिल के सागर में लहरें उठाया ना करो,
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो,
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को,
तुम ख्वाबों में आ कर यूँ तड़पाया ना करो!!

ढलती रात का खुला एहसास हैं,
मेरे दिल मे तेरी जगह कुछ खास हैं,
ए जानू तुम नहीं हो यहाँ मुझे मालूम हैं,
पर दिल कहता है, की तू दिल के पास हैं!!


जो प्यार हमेशा साथ रहे वो सच्चा है जी,
जो मुसीबतों में काम आए वो अच्छा है जी,
कभी कभी हमसे भी हो जाती है नादानियाँ,
क्योंकि दिल तो बचा है जी!!





कभी तो की होगी सूरज ने चाँद से मोहब्बत,
तभी तो चाँद में दाग है,
और मुमकिन है चाँद ने की होगी बेवफ़ाई,
तभी तो सूरज में इतनी आग है!!

छोड़ तो सकता हूँ, मगर,
छोड़ नहीं पाता उसे,
वो शख्स मेरी बिगड़ी हुई,
आदत की तरह है!!



सिर्फ़ सितारों मे होती मोहब्बत अगर तो,
इन अल्फाजों को खूबसूरती कौन देता,
बस पत्थर बनके रह जाता ताज महल,
अगर इश्क़ इसे अपनी पहचान ना देता!!




हाल अपने दिल का,
मैं तुम्हें सुना नहीं पाता हूँ,
जो सोचता रहता हूँ हरपल,
होंठो तक ला नहीं पाता हूँ,
बेशक बहुत मोहब्बत है,
तुम्हारे लिए मेरे इस दिल में,
पर पता नहीं क्यों तुमको,
फिर भी मैं बता नहीं पाता हूँ!!


कोई यादो से प्यार करता है,
कोई प्यार मे यादे सजाता है,
किसपे करे ऐतबार,
प्यार पे या यादो पे,
अक्सर प्यार करने वाला,
यादे देकर चला जाता है!!















कोई यादो से प्यार करता है,
कोई प्यार मे यादे सजाता है,
किसपे करे ऐतबार,
प्यार पे या यादो पे,
अक्सर प्यार करने वाला,
यादे देकर चला जाता है!!


आंसू बहे तो एहसास होता है
दोस्ती के बिना जीवन कितना उदास होता है,
उम्र हो आपकी चाँद जितनी लंबी,
आप जैसा दोस्त कहाँ हर किसी के पास होता है






जाने क्यों हम तुमसे प्यार है,
जाने क्यों तुम्हे लेकिन इनकार है,
जाने क्यों तड़पते हैं देखने को तुम्हे,
जाने क्यों नहीं होता तेरा दीदार है,
जाने क्यों दिल देते हैं हम तुम्ही को,
जाने क्यों दिल तोड़ते आप बार बार है,
जाने क्यों भटकती हो कश्ती की तरह,
जाने क्यों तुम्हे साहिल का इंतजार है,
जाने क्यों यकीन है मुझे वफ़ा पे तेरी,
जाने क्यों नहीं आपको मुझ पर एतबार है!!




ना दूर हमसे जाया करो, दिल तड़प जाता है,
आपके ख्यालों में ही हमारा दिन गुज़र जाता है,
पूछता है ये दिल एक सवाल आपसे,
कि क्या दूर रहकर भी आपको हमारा ख्याल आता है!!



तेरे सीने का दिल भी धड़कता होगा,
मुझे देखने को तू भी तरसता होगा.
ये मानने में हर्ज़ ही क्या है,
की मुझे याद कर तू भी कभी सिसकता होगा!!



दूर रह कर करीब रहने की आदत है,
याद बनकर आँखों से बहने की आदत है,
करीब ना होते हुए भी करीब पाओगे हमेशा,
मुझे एहसास बनकर रहने की आदत है!!


ना चाहो किसी को इतना की चाहत आपकी मजबूरी बन जाए,
चाहो किसी को इतना आपका प्यार उसके लिए ज़रूरी बन जाए!!
क्या नाम दूँ मैं अपनी मोहब्बत को,
कि ये तेरा सिवा किसी और से होती ही नहीं!!
जरूरी नहीं की हर बात पर तुम मेरा कहा मानों,
दहलीज पर रख दी है चाहत, आगे तुम जानो!!
हम ने लिया सिर्फ़ होठों से जो नाम तुम्हारा,
दिल होठों से उलझ पड़ा के ये सिर्फ़ मेरा है!!


प्यार का बदला कभी चुका न सकेंगे,
चाह कर भी आपको भुला न सकेंगे,
तुम ही हो मेरे लबों की हँसी,
तुमसे बिछड़े तो फिर मुस्कुरा ना सकेंगे!!


काग़ज़ की कश्ती थी और पानी का किनारा था,
खेलने की मस्ती थी और दिल आवारा था,
कहाँ आ गये जवानी के दलदल मैं,
बचपन ही कितना प्यारा था,
उतरा था चाँद मेरे आँगन मैं,
यह सितारों को गवारा ना था,
मैं तो सितारों से बग़ावत कर लेता,
पर चाँद भी कहाँ हमारा था!!




ये आरज़ू थी की ऐसा भी कुछ हुआ होता,
मेरी कमी ने तुझे भी रुला दिया होता,
मैं लौट आता तेरे पास एक पल मैं,
तेरे लबो ने मेरा नाम तो लिया होता!!



चिंगारी का खौफ ना दो हमें,
दिल में हम आग का दरिया बसाये बैठे हैं,
जल जाते कब के इस आग में,
मगर खुद को आंसुओं में भगाये बैठे हैं!!

लम्हे ये सुहाने साथ हो न हो,
कल में आज ऐसी बात हो न हो,
आपका प्यार हमेशा दिल में रहेगा,
चाहे पूरी उमर मुलाकात हो न हो!!



खोया इतना कुछ कि फिर पाना न आया,
प्यार कर तो लिया पर जताना न आया,
भा गए तुम इस दिल को पहली ही नज़र में,
बस हमें आपके दिल में समाना ना आया!!



दिल ही दिल में तुम्हें बहोत प्यार करते है,
चुपचाप मुहब्बत का ये इज़हार करते है,
ये जानते हुए भी आप मेरी किस्मत में नहीं,
पर पाने की कोशिश बार-बार करते है!!

चलो माना कि हमें प्यार का इज़हार करना नहीं आता,
जज़्बात न समझ सको इतने नादान तो तुम भी नहीं!!


उसे सिर्फ इतना बता देना कि,
जहाँ के गमो मैं खो कर भी,
मैं दिल के दाग धो कर भी,
किसी के पास हो कर भी,
सिर्फ़ और सिर्फ़,
उसी को याद करता हूँ!!



उसे सिर्फ इतना बता देना कि,
जहाँ के गमो मैं खो कर भी,
मैं दिल के दाग धो कर भी,
किसी के पास हो कर भी,
सिर्फ़ और सिर्फ़,
उसी को याद करता हूँ!!

उसे सिर्फ इतना बता देना कि,
मैं उस से दूर हो कर भी,
बहोत मजबूर हो कर भी,
दुखों से चूर हो कर भी,
उसी को याद करता हूँ,

उसे सिर्फ इतना बता देना कि,
मैं दुख अपने छिपा कर भी,
खुशी के गीत गा कर भी,
हँसी होंठों पर सज़ा कर भी,
उसी को याद करता हूँ,
उसे सिर्फ इतना बता देना कि,
जहाँ के गमो मैं खो कर भी,
मैं दिल के दाग धो कर भी,
किसी के पास हो कर भी,
सिर्फ़ और सिर्फ़,
उसी को याद करता हूँ!!



रात आती हैं तेरी याद चली आती है,
न जाने किस शहर से तेरी आवाज़ चली आती है,
चाँद ने खूब सहा है सूरज की अगन को,
तेरी ये आग मुजसे नही सही जाती है,
दिल मे उतरी है तेरी दर्द भारी आँखे,
मेरी आँखो मे वही प्यास जग जाती है,
हमने देखा था खुद को तेरी सूरत मैं,
आईना देख कर अब रात कट जाती है!!



उस जुनून में एक राहत थी,
जो सिर्फ़ तेरी चाहत थी,
उस चाहत में एक अंदाज़ था,
जो मेरी धड़कनो का राज़ था,
उस राज़ में एक खुश्बू थी,
जो मेरी सोच की जुस्तजू थी,
उस जुस्तजू में एक हसरत थी,
जो मेरी खुशियों की शरारत थी,
उस शरारत में एक एहसास था,
जो हमेशा मेरे पास था,
उस पास में जो एक आराम था,
वो बस एक तेरा नाम था!!







तेरी आँखों में नज़र आई है वो जन्नत मुझे,
मेरी जन्नत तेरी आँखों के सिवा कहीं नही,
चाहता हूँ बहना इन आँखों के मैखानो में,
जो नशा है तेरी आँखों में वो शराब में भी नही,


तेरे इन गुलाबी लबों पे दिल मेरा भी आया है,
नज़ाकत और खुशबू ऐसी तो गुलाब में भी नहीं,
भीगी बरसात में यूँ तेरा मुझे देखना,


जो कशिश है इन निगाहों में बादलों में भी नही,
तड़पाने और तरसाने की ये अदा कहाँ से सीखी तुमने,
ये तेरी जो है शोखियां वो तो चाँद में भी नहीं!!



चूम लूँगी तेरी आँखों को चुपके से,
तेरे सारे सपने अपने बना लूँगी!

चूम लूँगी तेरी आँखों को चुपके से,
तेरे सारे सपने अपने बना लूँगी!
तेरे लबों पे है जो न-कही बातें,
उन्हें अपने लबों से आज चुरा लूँगी!




खो जाएगा जब तू मेरी जिलफोन तले,
एक महका सा सावन बरसा दूँगी!
तेरी तेज़ होती इन साँसों में सनम,
मैं अपनी साँसों की सरगम मिला दूँगी!
कर दूँगी तेरे कानो में कुछ ऐसी सरगोशियाँ,
तेरे दिल की धड़कनो को मैं आज बढ़ा दूँगी!
कसम लेगा जब तू अपनी बाहों के घेरे में,
अपने दामन से मैं भी तुझको लिपटा लूँगी!!



कर दूँगी तेरे कानो में कुछ ऐसी सरगोशियाँ,
तेरे दिल की धड़कनो को मैं आज बढ़ा दूँगी!
कसम लेगा जब तू अपनी बाहों के घेरे में,
अपने दामन से मैं भी तुझको लिपटा लूँगी!!


चूम लूँगी तेरी आँखों को चुपके से,
तेरे सारे सपने अपने बना लूँगी!
तेरे लबों पे है जो न-कही बातें,
उन्हें अपने लबों से आज चुरा लूँगी!


कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.