Header Ads

सुबह-शाम टहलने के स्वास्थ्य लाभ)


सुबह-शाम टहलने के स्वास्थ्य लाभ)

(सुबह शाम टहलना स्वास्थ्य के लिए क्यों आवश्यक है ? जानिए इसके फायदे )


वाकिंग करने से शरीर में जमा एक्स्ट्रा फैट/चर्बी ख़त्म होती है और डायबिटीज कण्ट्रोल होता है।
चूँकि तरह स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मसितष्क का निवास होता है अतः शुभ-शाम दौड़ने या टहलने से स्वस्थ मस्तिष्क की प्राप्ति भी हो जाती है।
शरीर को विटामिन D की प्राप्ति भी होती है जिससे हमारे शरीर मे जमा कैलिश्यम भी अनलॉक हो जाता है।
मेटाबोलिज्म में वृद्धि होती है।
कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में सहायक है जिससे हार्ट बीमारीयों में कमी आती है। 
आपमें से बहुत से लोगो ने सुबह या शाम को बहुत से लोगो को पार्क आदि में दौड़ते या टहलते जरूर देखा होगा, जो लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर जागरूक होते है वो अपने लाइफस्टाइल में व्यायाम को जरूर महत्व देते है और स्वस्थ जीवन यापन करते है।

चलिए बात करते है फैक्ट्स की वॉक करना यानि कि टहलना हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। दरअसल, सुबह घूमने से हमारे शरीर को विटामिन डी मिलता है। विटामिन डी हमारी त्वचा के रास्ते शरीर में जाकर कैल्शियम को अनलॉक करता है। इससे हमारी हड्डियां मजबूत होती है। सिर्फ शरीर ही नहीं बल्कि वॉक करना मानसिक स्वास्थ के लिए भी अच्छा होता है। अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हैं तो सुबह की ताजी हवा और गुनगुनी धूप में टहलना आपके लिए फायदेमंद है। कई रिसर्च में भी यह बात साफ हो चुकी है कि वॉक करने से वजन नियंत्रित होता है, डायबिटीज कंट्रोल होता है और स्‍तन कैंसर जैसे कई भयानक रोगों से भी छुटकारा मिलता है।




शरीर में एनर्जी में की मात्रा बढ़ाएं :-
रोज़ाना काम दूरी के सैर से भी शरीर की मानसिक और शारीरिक उत्‍पादकता बढ़ती है। अगर आपको बहुत जल्‍दी थकान महसूस होती है तो आपको रोज़ सैर करना चाहिए। इससे एनर्जी लेवल बढ़ता है, मूड बेहतर होता है और आप ऊर्जा से भरपूर महसूस करते हैं।


फंगल इंफेक्शन से छुटकारा:-
फंगल इंफेक्शन कोई बड़ी बीमारी तो नहीं है परन्तु सही समय पे इसका उपचार न किया जय तो यह परेशानी का कारण भी बन सकती है। यह किसी भी मौसम में हो सकता है। इसमें जांघ के आसपास या हाथ-पैर में त्वचा रोग हो जाते हैं जिनमें तेज खुजली होती है। कई बार इसकी वजह से स्किन कट जाती है और जख्म भी हो जाता है। ये मायोकेसेस कवक के कारण होता है, जो साफ-सफाई न रखने से या पसीने की वजह से हो जाता है। कई बार गीले कपड़े पहनना भी फंगल इंफेक्शन का कारण हो सकता है। धूप इस तरह के फंगल और बैक्टीरियल इंफेक्शन को खत्म करती है। अगर आप रोजाना धूप में टहलते हैं या धूप सेंकते हैं तो ये इंफेक्शन आपको नहीं होगा। इसके अलावा धूप में टहलने से पीलिया का खतरा कम हो जाता है। शरीर के ऊतकों और खून में बिलीरूबिन का अधिक होना पीलिया का कारण होता है। धूप पीलिया के रोगियों के लिए फायदेमंद है।


वज़न कम करे:-
सैर करने या पैदल चलने से वज़न कम करने में भी मदद मिलती है और ये वज़न कम करने की सबसे बढ़िया एक्‍सरसाइज़ है। रोज़ 30 मिनट की एक्‍सरसाइज़ से वज़न घटाया जा सकता है। अगर आप रोज़ वॉक करते हैं तो इससे कैलोरी और बीएमआई घटने की संभावना बढ़ जाती है।

तनाव को रखे दूर:-
पैदल चलने पर शरीर में सेरो‍टोनिन और एंडोर्फिंस नामक हार्मोन रक्‍तवाहिकाओं में रिलीज़ होते हैं जिससे आप बेहतर महसूस कर पाते हैं। रोज़ाना सैर करने से बेचैनी, तनाव, डिप्रेशन भी दूर होता है।



अन्य लाभ :-
खाने के तुरंत बाद थोड़ी सैर करने से ही ब्‍लड ग्‍लूकोज़ का स्‍तर 12 प्रतिशत तक कम होता है। सबसे ज़्यादा फायदा शाम के खाने के बाद होता है जब कार्बोहाइड्रेट का सेवन सबसे ज्‍यादा किया जाता है और शरीर थोड़ा कम एक्टिव रहता है। खाने के तुरंत बाद सैर करने से रक्‍त में ग्‍लूकोज़ का स्‍तर कम करने में मदद मिलती है। इसकी मदद से लोगों की इंसुलिन इंजेक्‍शन पर निर्भरता कम हो सकती है और ये वज़न को भी कंट्रोल में रख सकता है। अगर आप डायबिटीज़ के मरीज़ हैं तो खाने के बाद कुछ समय की सैर आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। अगर आप खाने में खूब कार्बोहाइड्रेट जैसे कि ब्रेड, चावल, आलू या पास्‍ता का सेवन करते हैं तो आपको खाने के तुरंत बाद 10 मिनट की वॉक जरूर करनी चाहिए।


( वजन घटाने के लिए शुरुआती एक्सरसाइज)
अधिक मोटा शरीर नहीं हो पती एक्सरसाइज, तो इन एक्सरसाइजेज को अपनाकर आप आसानी से कर सकते है वजन कम 



अधिकांश मोठे लोगे को शुरुआत में दौड़ने और एएक्सएरसीसे करने में मुस्किलो का सामना करना पड़ता है 
झुकने, बैठने -उठने में भी परेशानी होती है 
इन आसान टिप्स को अपनाकर आपसी से हफ्ते भर में 3 से 5 किलो वजन में कमी ला सकते है 
जिम और घर कहि भी कभीं भी आप आसानी से अपने शरीर की चर्बी को कम क्र सकते है 

स्वस्थ शरीर ही स्वस्थ जीवनशैली का आधार है पर आज कल लोग अपनी व्यस्त जीवनशैली में इतना व्यस्त हो गए है की अपने स्वास्थ्य की अंंदेखी कर देते है और अपना स्वस्थ को खराब कर लेते है यही से शुरुआत होती ह बीमारियों की और मोटेपन की 
शरीर अधिक मोटा होने पर उसको हिलना डुलाना बहुत मुश्किल हो जाता है और एक्सरसाइज करना तो नामुमकिन सा लगता है ऐसे लोग एक्सरसाइज आसानी से नहीं कर पते और कुछ समय पश्चात उनका साहस टूटने लगता है पर यदि आप सही तरिके से एक्सरसाइज करेंगे तो आप आसानी से अपने वजन में कमी ला सकते है वो भी बहुत कम समय में , चलिए जानते ह कैसे करे मोटापे को कम केने के लिए एक्सरसाइज की शुरुआत,
खुद को मोटीवेट करे 
यह सत्य है कि किसी भी नए कार्य को सफलता पूर्वक करने क लिए मोटिवेशन की आवश्कता होती है, तो अपना मनोबल बढ़ाये क्यों आपको जरूरत है मोटापा बहुत से कारण हो सकते है। यदि आपका मनोबल प्रबल है तो कितनी भी कठियाईयाँ आये आप उनको पर कर ही लेंगे। एकदम से अधिक एक्सरसाइज न करे ,थोड़ा -थोड़ा करके शुरुआत करे और फिर धीरे धीरे समय बढ़ाये तभी आपके वजन में कमी आएगी।

सुबह-शाम वॉक पर जाये 
अधिक मोटापा बढ़ने से एक्सरसाइज नहीं क्र पते ह, तो छोटी मोटी एक्सरसाइज से आरम्भ करे और फिर कठिन की और बढ़े। मॉर्निंग या इवनिंग वॉक यानि की सुबह-सुबह या शाम के समय टहलना सबसे उपयुक्त है। मॉर्निंग वॉक करने से हमारा ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित होता है और वॉक करने से शरीर म आंतरिक घर्षण होता है जिससे शरीर की एक्स्ट्रा चर्बी धीरे धीरे निकलती है। यदि शुरुआती समय में आप ज्यादा चलने में असमर्थ है तो थोड़ा थोड़ा करके शुरुआत करे। पहले 20 से 30 मिनट चले। कुछ समय बाड आपके शरीर म जमा चर्बी कम होने लगेगी।



स्ट्रेचिंग करे 
सुबह शाम टहलते हुए कुछ दिन हो जाये तो अगली सीढ़ी है स्ट्रेचिंग। यदि शुरुआत में परेशानी हो तो किसी सहारा लेके स्ट्रेचिंग करे या हाथ हिलाते हुए तेज गति से टहलना सुरु करे। २ सप्ताह बाद फिर से स्ट्रेचिंग करना सुरु करे। स्ट्रेचिंग के लिए दोनों हाथो को फैला कर अपने पेरो के बल धीरे धीरे उछाले।


थोड़ी बहुत एक्सरसाइज की शुरुआत 
दौड़ने और स्ट्रेचिंग करने के बाद की सीढ़ी है एक्सरसाइज। लगभग 2 सप्ताह तक ये दोनों स्टेप फॉलो केने के बात आप हल्की फुलकी एक्सरसाइज करनी सुरु करे पर यद् रहे की दौड़ना और स्ट्रेचिंग दोनों आपको चालू रखने । 
अब एक्सरसाइज करने के लिए आप किसी चटाई पर लेट जाये और अपने हाथो को अपने सर से ऊपर ले जाकर सीधा कर ले था पैरो को भी सीधा रखे तथा पेरो को घुटनो से मोड़कर साईकिल की तरह चलाये।
ऐसे ही सीधे लेते हुए अपने पैरो को घुटनेसे मोड़के पेट पे लगाने की कोसिस करे। ये एक्सरसाइज बहुत आसान होने के साथ साथ बहुत कारगर भी है जो जल्दी ही फैट कम करने में मदद करती है।

दिनचर्या में एक्सरसाइज को जोड़े 
जिस प्रकार शरीर के लिए भोजन आवश्य्क ह वैसे हीरोजना एक्सरसाइज भी आवश्य्क है एक स्वस्थ शरीर के लिए । धीरे धीरे अलग अलग एक्सरसाइज करे थोड़ा थोड़ा समय भी बढ़ते रहे। कुछ समय बाद देखेंगे की अब उतनी कठिनाई नहीं आती जितनी आरम्भ में आ रही थी। यदि आप एकसाथ इतनी मेहनत नहीं कर पा रहे है तो थोड़ा -थोड़ा करके दिन में 2 से ३ बार करिये ।
एक्सरसाइज से सिर्फ हमारे शरीर से फैट कम ही नहीं होता अपितु इसके अन्य भी बहुत ले लाभ है जैसे हमारी त्वचा को टोन भी होती है और ब्लड प्रेसरे कि बीमारियो से भी बचाव होता है ।


एक्सरसाइज के है चमत्कारी लाभ 

अधिक पनी पिये 
हमारे शरीर का एक बड़ा हिस्सा लगभग 75 -80 % हिस्सा पानी से बना है तो इसको स्वस्थ रखने हेतु शरीर में पानी की मत्रा संतुलन बनाये रखना महत्वपूर्ण है। इसके लिए आवश्यक है की प्रत्येक दिन कम से कम 1.5-2 लीटर पानी की मात्रा शरीर को मिलनी चाहिए । एक्सरसाइज के समय शरीर से अधिक मात्रा म पसीना निकलता ह जिससे फैट कम होता है। पानी पिने से शरीर में उपस्तिथ हानिकारक तत्व भी मूत्र के रस्ते बाहर आ जाते है और चेहरे पर भी रौनक अति है।






| वजन घटाने के लिए आहार चार्ट
Diet Chart For Weight Loss,Perfect diet plan for weight loss 
| वजन घटाने के लिए आहार चार्ट
आज हम आपके लिए लेकर आये हैं एक ऐसा डाइट प्लान जिसे अपनाकर आपको खाना पीना छोड़ कर भूखे रहने की जरुरत नहीं होगी और आप टेस्टी खाना खाकर भी अपनी डाइट को मेंटेन कर पाएंगे और कम से कम समय में अपना वजन कर लेंगे। यह डाइट प्लान स्त्री और पुरुष दोनों के लिए ही फायदेमंद है तथा यह डाइट प्लान जो कि सिर्फ 1200 कैलोरीज का है, आपके स्वाद, कैलोरी और वेट लॉस सभी के बारे में सोच-समझ कर बनाया गया है। 



सुबह का नाश्ता करना ना भूलें।
अपने खाने में फैट फ्री आहार को ही शामिल करें। 
जंक फ़ूड में बहुत अधिक कैलोरीस होती है इसलिए जंक फूड फूड खाने से बचें। 
शरीर में पानी की मात्रा कम ना होने दें दिन में कम से कम 2 से 3 लीटर पानी का सेवन जरूर करें।
सुबह शाम की मॉर्निंग वॉक भी शरीर से फैट को कम करने में सहायता करती है। 
रात को खाना, सोने से 2 घंटे पहले खा ले। 
Diet Chart For Weight Loss,Perfect diet plan for weight loss| वजन घटाने के लिए आहार चार्ट
चलिए जानते हैं कैसे करे दिन की शुरुआत, एक हेल्दी डाइट प्लान के साथ-

वेट लॉस वाटर बनाने के इसके लिए आप एक गिलास पानी को हल्का गुनगुना कर ले और उसमें आधा नींबू डालकर 1 टेबल स्पून शहद डाले और अच्छे से मिलाएं और सुबह उठकर इसका सेवन करे। ध्यान दें! वेट लॉस वाटर को रोजाना ताजा बनाकर ही इसका सेवन करें, कई दिन के लिए एक बार बनाकर ना रखें। एक बार बनाकर रख देने से इसके पोषक तत्व नष्ट हो जाते है। 
शहद डालने के बाद इसको गर्म नहीं करना है, पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। शहद में एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं साथ ही साथ शरीर में जमा हानिकारक टॉक्सिक पदार्थों को भी बाहर निकालेगा। इससे आपकी इम्यूनिटी बढ़ेगी और स्किन भी साफ रहेगी जिससे चेहरे पर नई ताजगी आएगी और आप फ्रेश फील करेंगे।



Tea (8:00 AM)
पानी पीने के लगभग 2 घंटे बाद आप चाय तथा साथ में दो बिस्किट ले सकते हैं। कोशिश करें कि चाय में कम से कम चीनी का इस्तेमाल हो या आप चीनी की जगह शुगर फ्री का इस्तेमाल भी कर सकते हैं और दूध भी फैट फ्री हो या आप दूध से मलाई उतार कर भी तुझको चाय में प्रयोग कर सकते हैं।



Breakfast (10:00 AM)
Calories-270
नाश्ता हमारे दिन का अति महत्वपूर्ण आहार होता है। दिन भर के क्रियाकलापों के लिए आपके शरीर को ऊर्जा की जरूरत होती है जो कि बिना नाश्ते के संभव नहीं है नाश्ते में हमेशा एक ही चीज नहीं खानी चाहिए बल्कि इसे बदलते रहना चाहिए कभी आप नाश्ते में सैंडविच ले सकते हैं तो कभी उपमा या पोहा ले सकते हैं। इसके अलावा आप ओट्स भी ले सकते हैं और 1 फल ले। ओट्स खाने में बहुत स्वादिष्ट और ऊर्जा से भरपूर होते हैं। 



fruits (12:00 NOON)-
नाश्ता करने के बाद आप कोई भी मौसमी फल व सब्जियों का सेवन कर सकते हैं। मौसमी फल और सब्जियां प्रत्येक मौसम में अलग-अलग आती हैं जो कि आपके अच्छे स्वास्थ्य के लिए अति महत्वपूर्ण हैं। फलों में कार्बोहाइड्रेट नहीं पाया जाता जिससे यह आपका वजन नहीं बढ़ाते हैं। फ्रूट और सब्जियों को जूस की जगह साबुत फल खाना ज्यादा फायदेमंद होता है। 
अलग-अलग सब्जी और फ्रूट में अलग-अलग पोषक तत्व पाए जाते हैं जो आपके शरीर में खनिज पदार्थो की पूर्ति करते है। केले को छोड़कर आप किसी भी फ्रूट फल का प्रयोग कर सकते हैं। 



Lunch
लंच में आप अपना रेगुलर भोजन ले सकते हैं बस ध्यान रखना है कि वह ज्यादा तेल युक्त ना हो। इसमें आप सामान्य दो रोटियां दाल या सब्जी जो भी उपलब्ध हो, साथ में हरी सब्जियों का सलाद शामिल करें और इसके साथ रायता भी ले सकते हैं। 
रायता बनाने के लिए आप लो फैट दही का इस्तेमाल करें। दही में खीरे को कसकर डालें और इसमें फ्लैक्सीड का एक चम्मच डालें। स्वाद बढ़ाने के लिए थोड़ा नमक और काली मिर्च को पीसकर मिला ले ऊपर से थोड़ा भुना हुआ जीरे का पाउडर डालें। 
स्वादिष्ट और हेल्दी रायका तैयार हैं। लंच में आप सब्जियां और दाले बदल बदल कर प्रयोग करें। 



Green Tea
लंच करने के कुछ समय पश्चात ग्रीन टी का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। ग्रीन टी पीने के कई स्वास्थ्य लाभ है जैसे ग्रीन टी शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मदद करती है और साथ ही साथ फैट भी बर्न करती है इसके अलावा यह हमारी त्वचा लिए भी बहुत उपयोगी है। 
इसके अलावा मेटाबॉलिज्म बूस्ट करने और लंबे समय तक एक्ट‍िव बने रहने के लिए भी ग्रीन टी पीना फायदेमंद है। ग्रीन टी फायदेमंद है लेकिन इसका मतलब ये बिल्कुल भी नहीं है कि आप एक के बाद एक कई कप ग्रीन टी पी जाएं। कुछ लोग ग्रीन टी में दूध और चीनी दूध और चीनी मिलाकर नहीं पीनी चाहिए। ग्रीन टी में शहद मिलाकर पीने से और अधिक फायदेमंद होती है। 



Dinner:-
रात में हमें हल्का और आसानी से पच जाने वाला भोजन हीं करना चाहिए जिससे कि कब्ज की समस्या ना हो। कब्ज और भी नहीं बीमारियों को जन्म देता है। इसके अलावा खाना सही से नहीं पचने की वजह से वजन में भी वृद्धि होती है और शरीर में फैट बढ़ता है। रात में आप घर में रखी हुई सब्जियों से ही एक स्वादिष्ट और आसानी से पचने वाला सूप बना सकते हैं। 
इसके लिए आप फ्री से सब्जियां लेकर उसको पैन में डालकर उसमें 200-300 ml पानी डालें और उसको उबलने के लिए रख दें। जब सब्जियां 5 मिनट तक उबल जाए तो उसमें टमाटर और मटर डाले , यह आसानी से पक जाते हैं इसलिए इसको बाद में डालना चाहिए। स्वादके लिए इसमें थोड़ा नमक और काली मिर्च डाल कर उसको 5 मिनट तक पकने दें और यदि आपके पास दिन की सब्जी बची हुई है वह भी डाल सकते है। पकने के बाद सेवन का सेवन करें। आप रोजाना बदल बदल कर भी शब्जियों का प्रयोग कर सकते हैं। 


उम्मीद करते हैं आपको यह आर्टिकल "Diet Chart For Weight Loss | वजन घटाने के लिए आहार चार्ट" पसंद आया होगा और इससे वजन कम करने में आपकी मदद होगी। 

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.