Header Ads

एक्सरसाइज कुछ ही दिनों में कमर ट्रिम करने वाली


7 एक्सरसाइज कुछ ही दिनों में कमर ट्रिम करने वाली
हमारी कमर को ट्रिम करना आसान काम नहीं है। फैट कम करना हमारे खान-पान और एक्सरसाइज पर निर्भर करता है।


हालांकि, हमारे पेट पर और उसके आसपास की चर्बी कम करना हमारे शरीर के दूसरे हिस्सों की चर्बी कम करने के मुकाबले कहीं ज्यादा कठिन होता है। आज की पोस्ट में हम 7 ऐसी एक्सरसाइज बताएंगे, जिससे आपकी आपके लिए अपनी कमर को ट्रिम करना काफ़ी आसान हो जाएगा।
ये लव हैंडल क्यों बनते हैं?

दो मुख्य कारक जो शरीर में अतिरिक्त चर्बी जमा होने के लिए जिम्मेदार होते हैं वो हैं आहार और एक्सरसाइज। फिर भी कुछ ऐसी अन्य वजहें भी हैं जो उन बदनाम और अनचाहे लव हैंडल (कमर के दोनों ओर की चर्बी)के लिए ज़िम्मेदार होती हैं।

ये अंदरूनी अंगो के कार्यों, तनाव या हार्मोनल समस्याओं की वजह से हो सकते हैं। नीचे कमर को ट्रिम करने के लिए 7 कारगर एक्सरसाइज बताई गयी हैं।
7 कमर पतली करने वाले व्यायाम (7 waist trimming exercises)
1. प्लैंक्स


प्लैंक्स अधिक से अधिक लोकप्रिय होता जा रहा है। हालांकि यह पूरी तरह पेट पर केंद्रित होता है, फिर भी इस एक्सरसाइज के दौरान पूरे शरीर की मांसपेशीयों को महसूस किया जा सकता है।
जैसा कि इस पोस्ट में कहा गया है, प्लैंक जमीन से नीचे की और मूंह करते हुए पैर की उंगलियों से शरीर के वजन को सपोर्ट करते हुए शुरू करना है।
इस एक्सरसाइज को ठीक से करने के लिए पूरे शरीर को एक सीध में होना चाहिए।

यह एक्सरसाइज वास्तव में प्रतिरोध का एक परीक्षण है । इसलिए समय के साथ एक सत्र में आपको अपने सेट और अवधि में बढ़ोत्तरी करनी चाहिए।
2. माउंटेन क्लाइम्बिंग

प्लैंक से आप अपने चयापचय या मेटाबोलिज्म को बढ़ा सकते हैं और केवल एक ही आसान एक्सरसाइज से अपने कमर पर जमा हुई चर्बी को घटा सकते हैं।
उसी स्थिति में रहते हुए ऐसी कोशिश करें जैसे आप दौड़ रहे हैं या ऊँचाई पर चढ़ रहे हैं।
ऐसा करने के लिए, अपने घुटनों को अपनी कोहनी तक एक निरंतर गति में लाएं।
यह एक्सरसाइज बहुत अच्छी है क्योंकि यह टोनिंग और कार्डियोवैस्कुलर एक्सरसाइज दोनों को जोड़ती है।


3. ट्रंक ट्विस्ट


यदि आप एक पतली कमर चाहते हैं, तो आपको अपने धड़ को दोनों साइड से जितना मुमकिन हो उतना लचीला रखना चाहिए और उन्हें लगातार हिलाते डुलाते रहना चाहिए।
ऐसा करने के लिए, आपको अपने पूरे धड़ को खींचना होगा जैसे कि आप ऊपर से कुछ उठा रहे हैं।
आप इस एक्सरसाइज को कुर्सी पर बैठकर और अपनी बाहों को फर्श की ओर खींचकर भी कर सकते हैं जैसे कि आप कुछ पकड़ने की कोशिश कर रहे हैं।
जब भी संभव हो, दिन में कई बार दोनों तरफ से आप इस एक्सरसाइज को दोहराएं।
4. हॉरिजॉन्टल ट्विस्ट

कमर को गति में रखने के लिए आप हॉरिजॉन्टल ट्विस्ट कर सकते हैं। खुद को ट्विस्ट करें जैसे अपने कूल्हों को बिना घुमाए पीछे की तरफ मुड़ रहे हों।

हम इस एक्सरसाइज को अपने कमर पर अपने हाथ रखकर या इलास्टिक बैंड के इस्तेमाल से कर सकते हैं। साथ ही कुछ जिमों में, इस एक्सरसाइज को करने के लिए ख़ास मशीनें होती हैं।
5. नीज़ टू एल्बोज़ (Knees to elbows)


अपने सिर के पीछे अपने हाथों को रख खड़े हो जाएं और अपने पैरों को थोड़ा अलग कर दें, अपने घुटनों को विपरीत कोहनी की ओर उठाएं। इस एक्सरसाइज को दोहराएं, दोनों तरफ बारी-बारी से करें।

यह काफ़ी हद तक ऊपर दी गयी एक्सरसाइज जैसा ही है, लेकिन इसमें लेट कर छत की ओर देखना है। नीचे लेटकर इस एक्सरसाइज को करने से आपके पेट का और अधिक व्यायाम होगा।


6. कूदना या जंपिंग

सबसे जिद्दी और मोटे हिस्सों की चर्बी कम करने के लिए आपको कुछ प्रकार के कार्डियोवैस्कुलर एक्सरसाइज करना चाहिए। चर्बी को कम करने के लिए पेट या ऐब्सएक्सरसाइज काफ़ी नहीं हैं। बल्कि वे ढीली डील-डौल को ठीक करने के लिए मददगार होते हैं।
चर्बी को गलाने के लिए, आप एक आसान लेकिन थकानेवाली एक्सरसाइज कर सकते हैं जैसे कि कूदना। आप रस्सी (स्किपिंग रोप) से कूद सकते हैं, एक ट्रैमपोलिन पर कूद सकते हैं या बस ऐसे ही कूद सकते हैं।
हालांकि, आपको अपनी पीठ को सीधी रखते हुए और अपने घुटनों को मोड़ते हुए हमेशा अच्छी मुद्रा या पोस्चर के साथ कूदना चाहिए ।
हमेशा धीमी उछाल के साथ कूदें, जैसे कि आप किसी नरम सतह पर लैंडिंग कर रहे थे।
7. बैली डांसिंग


अंत में, हम कमर की हलचल पर टिके एक डांस का जिक्र करना भूल नहीं सकते। बेली डांस एक पारंपरिक मध्य पूर्वी डांस है, जो शरीर के अलग-अलग हिस्सों में लचीलेपन की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए जाना जाता है ।मुख्य भाग श्रोणि या पेल्विस है, जो कमर और कूल्हों, आदि की गतिविधियों को नियंत्रित करता है।

बेली डांस एक्सरसाइज का एक लोकप्रिय रूप है जिसमें मांसपेशीयों की टोनिंग और कार्डियोवैस्कुलर एक्सरसाइज का मेल शामिल है।
आप लचीलेपन में सुधार कर, पेट की मांसपेशियों को मजबूत कर और ख़ास तौर पर साप्ताहिक डांस कर के अपने कमर को ट्रिम करने में कामयाब होंगे ।



वज़न घटाने के लिए कितना पैदल चलें?
अगर हम चलने-फिरने या किसी स्पोर्ट्स के आदी नहीं हैं, तो धीरे-धीरे पैदल चलना शुरू करना चाहिए और जैसे-जैसे शरीर एक्सरसाइज के लिए अभ्यस्त हो जाए, हमें मशक्कत बढ़ानी चाहिए।

7 खाद्य जो जिंक से भरपूर हैं
विटामिन E से भरपूर खाद्य
क्या ग्रीन टी वजन घटाने में लोगों की मदद करती है?
एक्सरसाइज हम सभी करना चाहते हैं। लेकिन इसके लिए मन बनाना और असल में बाहर निकल कर नियमित पैदल चलना, कड़ी मशक्कत करके अपना वजन घटा लेना बिलकुल अलग चीज है।

इसका कारण शायद यह है कि एक बनी-बनायी रूटीन को तोड़ना या अचानक बदलना बहुत मुश्किल चीज है। जंक फूड की जगह पौष्टिक आहार लेना और रोज़ व्यायाम करना बड़ी इच्छाशक्ति की मांग करते हैं। पर सब से ज़्यादा महत्वपूर्ण है, धीरज रखना।

महज शुरुआती कुछ ही हफ्तों में हर छोटी से छोटी बात का पालन करना और फिर दोबारा अपनी पुरानी जीवनशैली में लौट जाना वज़न घटाने के लिए किसी काम का नहीं है।

वास्तविकता यह है कि वज़न घटाने के लिए पैदल चलना जितना कठिन लगता है उससे कहीं ज्यादा आसान है। इसके लिए आपको किसी आलीशान ज़िम या महंगे क्रीम पर पैसा खर्च करने की कोई ज़रूरत नहीं है। तो क्या आप जानते हैं, इसके लिए आपको किस चीज़ की ज़रूरत है? महज पैदल चलने की।

अगर आप अपने एक्स्ट्रा फैट से तंग आ गए हैं, और हर नुस्खा आज़मा लिया है लेकिन हर चीज बेअसर रही है, तो वक़्त आ गया है कि उन सब चीजों से छुटकारा पा लिया जाए। अगर मोटापा घटाना चाहते हैं तो शरीर के हर हिस्से से चर्बी घटानी होगी जिससे आप छोटी साइज के कपड़े भी पहन सकें।
अगर आप सोच रहे हैं, वाकिंग पर इतनी जोर क्यों, तो जान लिजिये कि पैदल चलना एक एरोबिक्स एक्सरसाइज है। जब आप पैदल चलते हैं, उस समय आपके शरीर की हर मांशपेशी सक्रिय होती है और हर जगह से मोटापा घटता है। इस तरह, चलते वक्त आप अपने जमाये हुए कैलोरी के पहाड़ को जलाकर वज़न घटाते हैं, शरीर को ऑक्सिजनेटेड रखते हैं, साथ ही यह सुनिश्चित करते हैं कि आपका दिल स्वस्थ ढंग से काम करता रहे।
वजन घटाने के लिए किसे पैदल चलना चाहिए?

मेडिकल साइंस ने यह सिद्ध कर दिया है, पैदल चलना हर इंसान के लिए सुरक्षित और फायदेमंद है। वे लोग जो व्यायाम करने के आदी हैं और वे लोग जिन्होंने जीवन में कभी व्यायाम न किया हो, दोनों के लिए यह पूरी तरह से सुरक्षित है।

फिर भी हमारी यही सलाह है कि किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज शुरू करने से पहले डॉक्टर से अपने शारीरिक स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ज़रूर लें। अगर आपको कोई स्वास्थ समस्या होगी तो वह सामने आ जाएगी, भले ही वह दिल की बीमारी हो या श्वसन की।
कितनी बार चलें
आपको अपनी शारीरिक स्थिति के अनुसार कार्य करना चाहिए। अगर आपने बहुत समय से कोई एक्सरसाइज प्रोग्राम नहीं अपनाया है तो शुरुआती दिनों में आपको लम्बी दूरियां चलने से बचना चाहिए। मध्यम गति से छोटी-छोटी दूरियों के अंतराल (10-15 मिनट) से शुरू करें।

आप एक दिन में दो बार चलने के साथ शुरुआत कर सकते हैं और फिर धीरे-धीरे समय को बढ़ा सकते हैं। इस समय सबसे ज्यादा ज़रूरी अपनी रेगुलर रूटीन को जारी रखना है।

अगर आप रोज़ाना कम से कम 30 मिनट तक चलें और नियमित आहार लें तो 5 महीने में लगभग 20 पाउंड घटा सकते हैं।




ज़ुम्बा के चमत्कारिक फ़ायदे
पीडोमीटर का इस्तेमाल करें

पीडोमीटर विशेष रूप से चलने के दौरान लिए गए क़दमों को नापने के लिए ही डिजाइन किया गया है। कदमों की संख्या के साथ-साथ यह वेग, दूरी और ताल भी नापता है।

इस तरह यह हमें एक लक्ष्य तय करने के लिए प्रोत्साहित करता है। हम अपना लक्ष्य रोज़ बढ़ा सकते हैं। जैसे कि, वज़न कम करने के लिए ज़्यादा गति में चलना या ज़्यादा क़दम चलना।

इसे आप अपने साथ काम पर भी ले जा सकते हैं य फिर घर के काम करते वक़्त पहने रख सकते हैं। जब दिन ख़त्म हो जाता है, यह आपको बताएगा कि आपने दिन भर में कितनी कैलोरी जलाई, और कितने कदम चले। यह वह आपको यह भी बता सकता है कि अगली बार अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए कितने कदम लेने चाहिए।
पैदल चलना कितना फायदेमंद है
यह बीमारिों से बचाता है और स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।
यह मेटाबोलिज्म में तेज़ी लाने के लिए बहुत उपयोगी है। इस तरह शरीर मोटापे का शिकार नहीं होता।
हड्डियों को मज़बूत करता है और इस तरह ‘ऑस्टियोपोरोसिस’ की शिकायत नहीं होती।
रक्त संचालन अच्छा होता है और यह दिल को मज़बूत करने में मदद करता है।
तनाव से बचाता है और मानसिक संतुलन बनाए रखता है।



लो-कैलोरी सलाद की स्वादिष्ट रेसिपी जो पेट को कम कर देगी
सुझाव

डॉक्टर से मिलने के बाद, एक लक्ष्य तय करें। ध्यान रखें, अपनी सीमा पार न करें।
चलना बंद ना करे। अगर आप पूरा हफ्ते नहीं चल सकते तो छोटे-छोटे लक्ष्य तय करें और उन्हें पूरा करें।
चलते समय आरामदायक कपड़े और जूतें पहने।
वज़न घटाने के लिए चलने से पहले 5 मिनट तक शरीर को वार्मअप करना न भूलें।
आहार को नियमत रखें और फैट का सेवन कम से कम करें।
अच्छी मुद्रा बनाए रखें: सीधी पीठ, सिकुड़ा हुआ पेट और हाथ आराम से हों।
सांस लेने पर नियंत्रण रखें। चलने की अपनी ताल के अनुसार सांस लें और बाहर छोड़ें।
नोट: आपका शरीर जो संकेत दे उन्हें अनदेखा न करें। चक्कर आना, उच्च रक्तचाप या अत्यधिक थकान के किसी भी लक्षण के दिखने पर आपको अपने चलने की गति को रोकना या चलना बंद कर देना चाहिए।

वज़न घटाने के लिए पैदल चलना एक बहुत ही चमत्कारी और फायदेमंद एक्सरसाइज है। इसको पूरे हौसले और जोश के साथ करते रहें परिणाम आपको जल्द मिलेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.