Header Ads

नियमित मॉर्निंग वॉक


नियमित मॉर्निंग वॉक (सुबह की सैर) करने के 21 फायदे
https://www.healthsiswealth.com/

क्या आप सुबह-सवेरे पैदल सैर पर निकलते हैं? अगर नहीं, तो जाना शुरू कर दीजिए। आप सच में हैरान रह जाएंगे कि सिर्फ आधे घंटे की मॉर्निंग वॉक आपके अंदर ताजगी भर देगी। साथ ही मधुमेह और हृदय रोग जैसी गंभीर बीमारियों से भी बचा जा सकता है। स्टाइलक्रेज के इस खास लेख में हम आपको सुबह की नियमित सैर के कई फायदे बता रहे हैं।

आइए, सबसे पहले यह जानते हैं कि सुबह की सैर क्यों जरूरी है?

सुबह की सैर जरूरी क्यों है?
मॉर्निंग वॉक के लिए क्या-क्या चाहिए?
मॉर्निंग वॉक के फायदे – Benefits of Morning Walk in Hindi
मॉर्निंग वॉक के लिए कुछ और टिप्स – Other Useful Tips for Walking in Hindi
सुबह की सैर जरूरी क्यों है?

सुबह की गई सैर मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण मानी गई है। दिन का पहला पहर सुहावना और कम प्रदूषित होता है, जो आपके मन को शांत करता है व स्फूर्ति प्रदान करता है। पैदल चलने से आपकी शारीरिक कसरत होती है, जिससे आपको दिनभर स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। सबसे खास बात, मॉर्निंग वॉक की आदत से आपकी सुबह जल्दी उठने की इच्छाशक्ति मजबूत होती है।

सुबह की नियमित सैर क्यों जरूरी है, इस बारे में हम विस्तार से नीचे बताएंगे।
मॉर्निंग वॉक के लिए क्या-क्या चाहिए?
सुबह की सैर को निम्नलिखित चीजें आरामदायक बना सकती हैं। इन जरूरी चीजों को आप बाजार से खरीद सकते हैं।

● एक जोड़ी स्पोर्ट्स शूज
● शॉर्ट्स या लेगिंग्स
● शॉर्ट्स टी शर्ट
● स्पोर्ट्स ब्रा (महिलाओं के लिए)
● हेयर बैंड
● स्पोर्ट्स वॉटर बॉटल
● फिटबैंड, अगर आप अपनी हार्ट बीट और कदमों को ट्रैक करना चाहते हैं।

आगे जानिए शरीर के लिए मॉर्निंग वॉक के फायदे।
मॉर्निंग वॉक के फायदे – Benefits of Morning Walk in Hindi



लेख के इस भाग में हम बताएंगे कि सुबह की नियमित सैर से आपकी कौन-कौन सी शारीरिक समस्याओं का इलाज हो सकता है। सबसे पहले जानते हैं कि गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस के लिए मॉर्निंग वॉक किस प्रकार लाभकारी है।
1. गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस का इलाज



अनियंत्रित जीवनशैली और बढ़ती उम्र का एक नकारात्मक प्रभाव गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस है। आपको बता दें कि ऑस्टियोपोरोसिस वह बीमारी है, जिसमें हड्डियों की गुणवत्ता और घनत्व कम होने लगता है, जिससे चलने-फिरने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। वहीं, गठिया से पीड़ित इंसान को जोड़ों में असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है।


अध्ययन से पता चलता है कि सुबह की गई नियमित सैर जोड़ों के दर्द और अकड़न से निजात दिला सकती है (1)। सुबह की सैर हड्डियों के साथ-साथ मांसपेशियों की क्षमता को भी बढ़ाती हैं। ऑस्टियोपोरोसिस के मरीजों के लिए सुबह की सैर फायदा पहुंचा सकती है। इसके अलावा, कुछ अध्ययन बताते हैं कि रजोनिवृत्ति के बाद जो महिलाएं रोजाना एक मील चलती हैं, उनमें हड्डियों का घनत्व रोजाना कम चलने वाली महिलाओं की तुलना में अधिक रहता है (2)।
2. डिप्रेशन से मुक्ति
इस समय की सबसे बड़ी बीमारियों में डिप्रेशन को गिना जाता है। यह कई मानसिक व शारीरिक रोगों का कारण बन सकता है और सबसे घातक परिणाम मृत्य भी हो सकता है। यह एक धातक विकार है, लेकिन अच्छी खबर यह है कि अगर आप सुबह भ्रमण पर निकलते हैं, तो आप तनाव मुक्त हो सकते हैं। सुबह की ताजगी भरी सैर मन-मस्तिष्क को शांत करने में मदद करेगी।

शोध में पता चलता है कि अगर तनाव से ग्रसित इंसान रोज 20 से 40 मिनट की सैर करे, तो वो अपने तनाव का स्तर कम कर सकता है। इसलिए, डिप्रेशन से मुक्त होने के लिए आप रोजाना नियमित सुबह की सैर कर सकते हैं (3)।
3. हृदय स्वास्थ्य

मॉर्निंग वॉक का सबसे बड़ा फायदा हृदय का ध्यान रखना भी है। सुबह की नियमित सैर आपको मजबूत बनाती है, जिससे आपको हृदय से जुड़े रोगों से लड़ने में मदद मिलती है। हृदय की बीमारी से जूझ रहे मरीजों के लिए सुबह की सैर अच्छा विकल्प हो सकता है।

शोध से पता चलता है कि मात्र चलने से हृदय संबंधी जोखिम 31 प्रतिशत और इससे मरने का जोखिम 32 प्रतिशत तक कम हो सकता है। यह लाभ पुरुष और महिलाओं दोनों पर लागू होता है। हृदय स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए आप रोज सुबह की सैर का आनंद ले सकते हैं (4)।
4. मधुमेह नियंत्रण

मधुमेह अनियंत्रित जीवनशैली के कारण होनी वाली आम बीमारियों में से एक है। वहीं, अगर आप सुबह घूमने जाते हैं, तो आप इस समस्या को कुछ हद तक कम कर सकते हैं। शोध के अनुसार, सुबह 30 मिनट की सैर ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के साथ-साथ टाइप-2 डायबिटीज से निजात दिलाने में मदद कर सकती है (5)।
5. कैंसर से बचाव

विशेषज्ञों का मानना है कि कैंसर का खतरा सुस्त और व्यस्त जीवनशैली की वजह से भी हो सकता है। ऐसे में सुबह की सैर कई तरह के कैंसर को दूर रखने में मदद करती है। सुबह की ताजगी भरी सैर आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने का काम करती, जिससे कैंसर से लड़ने में मदद मिलती है।

यहां हम यह नहीं कर रहे हैं कि मॉर्निंग वॉक कैंसर का सटीक इलाज है, लेकिन यह कैंसर की आशंका को कम कर सकती है। शोध बताते हैं कि सुबह की सैर स्तन, किडनी, ओवेरियन और सर्वाइकल से जुड़े कैंसर से लड़ने में मदद कर सकती है (6), (7), (8)।
6. बढ़ती है मस्तिष्क की कार्यक्षमता

मस्तिष्क की कार्यप्रणाली के लिए भी सुबह की सैर जरूरी है। नियमित व्यायाम जैसे मॉर्निंग वॉक आपकी याददाश्त को बढ़ा सकता है और मस्तिष्क की कार्यक्षमता को बेहतर कर सकता है (9)। जब आप चलते हैं, तो मस्तिष्क को पर्याप्त ऑक्सीजन मिलती है और रक्त की आपूर्ति (Supply) में तेजी आती है, जिससे याददाश्त मजबूत होती है (10)।
7. वजन घटाने में मदद

अनियंत्रित खान-पान और खराब जीवनशैली मोटापे का सबसे बड़ा कारण है। जब हम बिना शारीरिक परिश्रम के किसी भी वक्त भोजन का सेवन करने लग जाते हैं, तो इससे शरीर का वजन बढ़ने लगता है। बाद में यही मोटापा कई बीमारियों का कारण बन सकता है। अगर आप इसे कम करना चाहते हैं, तो रोजाना नियमित रूप से मॉर्निंग वॉक करें। प्रतिदिन 30-40 मिनट की सैर आपकी अतिरिक्त कैलोरी को कम करने में मदद करेगी।

विशेषज्ञों का कहना है कि आहार में कोई बड़ा बदलाव किए बिना सुबह की सैर वजन घटाने में मदद कर सकती है (11)। मोटापे से परेशान लोगों पर किए गए शोध में शोधकर्ताओं ने पाया कि मात्र चलने से ही शरीर का फैट कम हो सकता है, शरीर में लचक बढ़ सकती है और मांसपेशियों को मजबूती मिल सकती है (12), (13)।
8. इम्यून सिस्टम होता है मजबूत

रोजाना सैर से शरीर में रक्त संचार बेहतर बना रहता है, जिसका सकारात्मक प्रभाव प्रतिरक्षा प्रणाली पर पड़ता है। शरीर में रक्त का प्रवाह सही होने से ऑक्सीजन की आपूर्ति में सुधार आता है। प्रतिदिन 30 मिनट की सैर आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत कर बीमारियों से लड़ने में मदद करेगी (14)।
9. थकान से मुक्ति

सुबह की सैर से आपकी थकान दूर होती है और आप दिनभर खुद को तरोताजा महसूस कर सकते हैं। सुबह की ताजी हवा शरीर में स्फूर्ति प्रदान करने का काम करती है और आपको ऊर्जावान बनाती है। यहां तक कि मॉर्निंग वॉक कैंसर के मरीजों में भी थकान को दूर करने का काम करती है (15)।
10. बढ़ती है फेफड़ों की कार्यक्षमता

रोजाना 20 मिनट मॉर्निंग वॉक करने से आपके फेफड़ों की कार्यक्षमता बढ़ सकती है (16)। सुबह की सैर आपके फेफड़ों को मजबूत करने का काम करती है, जिससे फेफड़े स्वस्थ रहते हैं और सांस लेने में आसानी होती है। फेफड़ों के स्वास्थ्य के लिए सुबह की सैर एक प्रभावी विकल्प है।
11. तनाव से मुक्ति


सुबह की सैर तनाव को दूर करने का प्रभावी तरीका है। तनाव आपके शरीर पर विपरीत प्रभाव डाल सकता है, जो विभिन्न शारीरिक-मानसिक समस्याओं की वजह बन सकता है। मॉर्निंग वॉक से मस्तिष्क में रक्त का संचालन बेहतर होता है और मूड भी सही बना रहता है। साथ ही सुबह की सैर आपको अधिक तरोताजा बनाने का काम करती है (17)।
12. ऊर्जावान शरीर

मॉर्निंग वॉक के फायदे कई हैं। शरीर को ऊर्जावान बनाने के लिए भी आप सुबह सैर की आदत डाल सकते हैं। थकान और तनाव को दूर करने के साथ-साथ रोजाना मॉर्निंग वॉक करने से शरीर में ऊर्जा का प्रवाह बढ़ाता है। साथ ही शरीर में ऑक्सीजन आपूर्ति पर्याप्त रूप से होती है। शरीर में ऊर्जा का स्तर बनाए रखने के लिए सुबर की सैर बेहतरीन विकल्प है।
13. कोलेस्ट्रॉल रहता है नियंत्रित

स्वास्थ्य रहने और सेल्स मेमब्रेन के निर्माण के लिए शरीर को निश्चित मात्रा में कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है। वहीं, रक्त लिपिड (फैट) की मात्रा अधिक होने पर दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इस अवस्था में एलडीएल यानी खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है और एचडीएल यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम हो जाती है। ऐसे में अगर आप नियमित रूप से मॉर्निंग वॉक करते हैं, तो बढ़ते कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित किया जा सकता है (18), (19)।
14. टोन शरीर

अगर आप कठीन व्यायाम किए बिना शरीर को टोंड करना चाहते हैं, तो रोजाना सुबह की सैर एक कारगर तरीका है। पैदल चलना एक बढ़िया विकल्प है, जिससे आप पैरों, पेट और शरीर के अन्य हिस्सों को टोन कर सकते हैं। अगर आप रोजाना सुबह सैर पर जाते हैं, तो जिम जाए बिना आप फिट रह सकते हैं।
15. बनी रहती है त्वचा की चमक

त्वचा विशेषज्ञों का सुझाव है कि जो व्यायाम रक्त संचार को बढ़ावा देते हैं, वो चेहरे की चमक भी बढ़ाते हैं। यहां मॉर्निंग वॉक सबसे सटीक विकल्प हो सकता हैं, क्योंकि सुबह की सैर शरीर में रक्त संचार को सुचारू रूप से चलाने में मदद करती है। फलस्वरूप, चेहरा चमकदार बना रहता है और कील-मुंहासे नहीं होते हैं। सुबह की सैर प्राकृतिक रूप से आपके चेहरे की चमक बनाए रखती है।
16. स्वस्थ बाल

सुबह की सैर का एक बड़ा फायदा स्वस्थ बाल भी हैं। स्वस्थ बालों के लिए रक्त का सही संचार काफी मायने रखता है। सुबह की सैर रक्त प्रवाह को बनाए रखने में मदद करती है। इसलिए, अगर आप अपने बालों को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो नियमित रूप से मॉर्निंग वॉक करें।
17. रोगमुक्त
मॉर्निंग वॉक आपको आंतरिक और बाहरी रूप से स्वस्थ रखने का काम करती है। सुबह लगभग 20 से 30 मिनट की भागदौड़ आपके रक्त संचार को सुचारू रूप से चलाने में मदद करती है। शरीर के रोगों से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना बहुत जरूरी है। मॉर्निंग वॉक इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने का काम करती है (14)। सुबह की सैर आपके पाचन तंत्र, हृदय व फेफड़ों को स्वस्थ रखने का काम करती है और इनसे जुड़े रोगों से लड़ने के लिए शरीर को मजबूत बनाती (4), (16), है।
18. अच्छी नींद को बढ़ावा

दिन भर का तनाव अक्सर आपकी नींद को छीन लेता है, जिससे शरीर को पर्याप्त आराम नहीं मिल पाता है। वहीं, अगर आप सुबह की सैर की आदत डाल लेते हैं, तो रात को अच्छी नींद का आंनद ले पाएंगे। तनाव मुक्त रहने और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए मॉर्निंग वॉक अच्छा तरीका है। अगर आप भी रात में अच्छी नींद न आने से परेशान हैं, तो कल से ही सुबह की सैर करना शुरू कर दें (20), (21)।
19. बेहतर ज्ञान क्षमता

अध्ययनों के अनुसार, उम्र बढ़ने के साथ-साथ याददाश्त कम होने लगती है। यह समस्या रोजाना पैदल चलने वाली महिलाओं (65 वर्ष से अधिक) की तुलना में कम पैदल चलने वाली महिलाओं में ज्यादा पाई जाती है। पैदल चलना उम्र-संबंधी मानसिक बीमारियों को दूर रखने का एक शानदार तरीका है। नियमित रूप से चलने और दिनभर एक्टिव रहने से वैस्कुलर डिमेंशिया (Vascular dementia) जैसी मानसिक बीमारी का जोखिम 70 प्रतिशत तक कम हो सकता है (22)।
20. एजिंग से राहत

मॉर्निंग वॉक को सबसे अच्छा एंटी एंजिंग उपचार माना जाता है। अक्सर देखा गया है कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ जोड़ों में दर्द व बदन दर्द के साथ-साथ त्वचा की चमक भी खोने लगती है। यह स्थिति उन महिलाओं में ज्यादा देखी गई है, जो व्यायाम या अन्य शारीरिक कसरत नहीं करती हैं। बढ़ती उम्र के लक्षणों को दूर करने का सबसे कारगर तरीका मॉर्निंग वॉक है (23)। सुबह की नियमित सैर आपको जोड़ों के दर्द व थकावट आदि से दूर रखकर स्वस्थ बनाने का काम करेगी। साथ ही आपकी त्वचा के निखार को भी बरकरार रखेगी।
21. संपूर्ण स्वास्थ्य


सुबह की सैर संपूर्ण स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करती है। यह शरीर को पूरे तरीके से फायदा पहुंचाती है। सुबह सिर्फ 20-30 मिनट की सैर आपके हृदय से लेकर त्वचा को स्वस्थ बनाने का काम करती है। इस शारीरिक क्रिया से हड्डियों और मांसपेशियों दोनों को फायदा पहुंचता है। इसलिए, प्राकृतिक रूप से शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आज से ही मॉर्निंग वॉक का प्लान बनाएं (24)।

मार्निंग वॉक के फायदे जानने के बाद आगे जानिए इसे करने के कुछ जरूरी टिप्स।
मॉर्निंग वॉक के लिए कुछ और टिप्स – Other Useful Tips for Walking in Hindi

अगर आप सुबह की सैर को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने के बारे में सोच रहे हैं, तो यहां कुछ टिप्स बताए जा रहे हैं, जिनका पालन आप जरूर करें –
जॉगिंग करते वक्त अपना पोश्चर सीधा रखें, खासकर जब आप बॉडी टोन के उद्देश्य से यह शारीरिक क्रिया कर रहे हैं।
सुबह की सैर आपको ऊर्जावान बनाती है और शरीर में रक्त का संचार सुचारू रूप से चलाने में मदद करती है। कोशिश करें कि सूर्य की पहली किरणों के साथ सुबह की सैर करें। इससे आपके शरीर को पर्याप्त रूप में विटामिन-डी मिलेगा।
अगर आप शरीर से अतिरिक्त फैट कम करना चाहते हैं, तो सुबह कुछ किमी तेज दौड़ने का अभ्यास करें।
भोजन के तुरंत बाद व्यायाम न करें।
मॉर्निंग वॉक के दौरान अत्यधिक पानी न पिएं।
अगर आप मॉर्निंग वॉक की शुरुआत करे रहे हैं, तो पहले कुछ दिन अपनी गति को सामान्य रखें और धीरे-धीरे गति को बढ़ाएं।

सुबह की सैर दिन की शुरुआत करने का एक शानदार तरीका है। एक बार जब आप इसे अपनी दिनचर्चा का हिस्सा बना लेंगे, तो आप अपने में कई सकारात्मक बदलाव को देख और महसूस कर पाएंगे। मॉर्निंग वॉक की गिनती एक संपूर्ण फिजिकल एक्टिविटी के रूप में की जाती है। शरीर को बीमारी का घर बनाने और दवाइयों का बोझ बढ़ाने से अच्छा है प्राकृतिक रूप से शरीर को स्वस्थ रखें। आपको यह लेख कैसा लगा हमें बताना न भूलें। अन्य जानकारी के लिए आप हमसे नीचे दिए कमेंट बॉक्स में सवाल पूछ सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.