Header Ads

रोजाना इलायची खाने से नहीं होती हैं ये समस्याएं


दूध में इलायची डालकर पीने के फायदे


इलायची पाचन के स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद करता है और कैंसर जैसी कुछ गंभीर बीमारियों को रोकता है। यह न केवल डायबिटीज के उपचार में भी सहायता करता है बल्कि अवसाद से निपटने में भी सहायता करता है। आप अपने आहार में इलायची को शामिल कर सकते हैं। आप इसका अद्भुत लाभ उठाने के लिए दूध में इलायची डालकर पी सकते हैं।
दूध में इलायची डालकर पीने के फायदे

इलाइची और दूध एक स्वस्थ और स्वादयुक्त विकल्प है। पोटेशियम, कैल्शियम, रिबोफाल्विन, नियासिन, विटामिन-सी और मैग्नीशियम में अत्यधिक समृद्ध, इलायची हमारे स्वास्थ्य और पाचन तंत्र के लिए बेहद फायदेमंद है। इलाइची दूध का प्रयोग एंटीसेप्टिक, पाचन, और मूत्रवर्धक तथा टॉनिक के रूप में भी प्रयोग किया जाता है।


यह पेट की स्टमक लाइनिंग की सूजन को कम करता है, दिल की धड़कन तथा मतली से लड़ता है। इलायची और दूध की जीवाणुरोधी गुण बुरी सांस की समस्या से राहत प्रदान करती है, जो अनुचित पाचन का संकेत है।

इसके अलावा सादे दूध में इलायची मिलाकर पीने से एनिमिया से आपकी रक्षा होती है। साथ ही त्वचा को भी झुर्रियों से बचाता है। यह आयरन और कैल्शियम के साथ मैंगनीज व अन्य पोषक तत्वों से भी भरा हुआ है।
इलायची के लाभ
1. पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नेशियम जैसे खनिज पदार्थों से भरपूर इलायची दिल की धड़कन को सही रखने में सहायता करता है।

2. आयुर्वेद में इलायची की तासीर गर्म मानी गई है, जो कि बॉडी को गर्मी देने का काम करती है, इसलिए इसके सेवन से आपके शरीर पर ठंड का प्रभाव कम होता है।

3. इलायची के सेवन से सांस लेने की समस्या जैसे अस्थमा, तेज जुकाम और खांसी से राहत मिलती है। साथ ही यह फेफड़ों की परेशानी दूर करने में भी बहुत ही सहायता करता है।

4. मानव शरीर में कई सारी बीमारियां उच्च रक्तचाप के कारण जन्म लेती है, यदि आप नियमित रूप से दो से तीन इलायची का सेवन करें तो रक्तचाप नियंत्रित करने में सहायता मिलेगी।


5. इलायची का उपयोग न केवल स्वाद के लिए व्यंजनों के रूप में उपयोग किया जाता है, बल्कि पाचन को बढ़ाने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने का काम करता है।

6. यदि आप तनाव की समस्या से घिरे रहते हैं तो इलायची का सेवन आपके लिए लाभकारी हो सकता है। ऐसा देखा गया है कि इलायची चबाने से हार्मोन में तुरंत बदलाव देखने को मिलता है और आप तनाव से मुक्त हो जाते हैं। – इलायची के औषधीय गुण और फायदे
दूध के लाभ

1. अगर काम करने के दौरान आपकी उर्जा घटने लगती है, तो आपको गर्म दूध पीना शुरू कर देना चाहिए। बच्चों को खासतौर पर हर रोज दूध दिया जाना चाहिए। इससे उनकी हड्डियां बहुत ही मजबूत रहेगी।

2. दूध का सेवन न केवल आपके गले को बेहतर रखता है बल्कि यह गले की तकलीफ को भी दूर करने में सहायता करता है।

3. कैल्शियम, फास्फोरस, पोटेशियम और प्रोटीन से भरपूर दूध कई तरह से आपके शरीर को फायदा पहुंचाता है। रात में दूध पीने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे नींद बहुत ही अच्छी आती है। कई ऐसे अध्ययन सामने आए हैं जिनके अनुसार, रात को सोने से पहले हल्का गर्म दूध पीने से नींद अच्छी और भरपूर आती है।

4. क्या आप यह जानते हैं कि दूध पीने से हमारा बॉडी हाइड्रेटेड रहता है? वर्कआउट खत्म करने के बाद दूध पीने से शरीर को पोषण भी मिलता है। – दूध पीने का सही समय और नियम


रात को 2 इलायची खाकर पी लें 1 गिलास गर्म पानी, फिर देखें कमाल



इलायची दिखने में जितनी छोटी होती है उससे कही गुना ज्यादा बड़ी वो अपने गुणों में होती है l इलायची न केवल खाने को स्वाद बनाने के काम आती बल्कि ये एक औषधि के रूप में भी इस्तेमाल की जाती है l इलायची हर भारतीय के घर पर मिल जाती है l इलायची के स्वास्थ्य के लिए बहुत सारे फायदे होते हैं l छोटी इलायची को खुशबू व स्वाद के लिए इस्तेमाल किया जाता है l आज हम आपको छोटी इलायची खाकर गर्म पानी पीने का फायदा बता रहे हैं l

अगर हम रात को सोने से पहले दो इलायची को गर्म पानी के साथ खाते हैं तो जानिए हमे क्या-क्या लाभ होते हैं और इसके इस्तेमाल के दौरान हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए l सबसे पहले बात करते हैं छोटी इलायची के फायदों कीl

गुण (Property) – छोटी इलायची कफ, खांसी, श्वास, बवासीर और मूत्रकृच्छ नाशक है। यह मन को प्रसन्न करती है। घाव को शुद्ध करती है। हृदय और गले की मलीनता को दूर करती है। हृदय को बलवान बनाती है। मानसिक उन्माद, उल्टी और जीमिचलाना को दूर करती है। मुंह की दुर्गन्ध को दूर करके सुगन्धित करती है और पथरी को तोड़ती है। बड़ी इलायची के गुण भी छोटी इलायची के गुण के समान होते हैं। पीलिया, बदहजमी, मूत्रविकार, सीने में जलन, पेट दर्द, उबकाई, हिचकी, दमा, पथरी और जोड़ों के दर्द में इलायची का सेवन लाभकारी होता है।

अगर हम दो इलायची खाकर गर्म पानी पीते हैं तो हमें कब्ज़ नहीं रहती l ऐसा करने से हमारी पाचन शक्ति ठीक होती है और पाचन क्रिया ठीक होने के कारण पुरानी से पुरानी कब्ज़ की समस्या भी ठीक हो जाती है l अगर आप भी कब्ज़ से परेशान हैं तो रोज रात को दो इलायची गर्म पानी के साथ जरुर खाएं l

छोटी इलायची खाने से वीर्य गढ़ा होता है l रात को सोने से पहले दो इलायची गर्म पानी के साथ खाने से जिस व्यक्ति का वीर्य पतला होता है उसका वीर्य पुष्ट होकर गढ़ा हो जाता है और सभी तरह के वीर्य विकार नष्ट हो जाते हैं l किल मुहासोंको ठीक करने के लिए भी ये नुस्खा बहुत ही लाभदायक है l बालों के झड़ने की समस्या को भी कम करता है ये नुस्खा l जिन लोगों के बाल झाड़ते हैं वो लोग इस नुस्खे को अपना सकते हैं l

विभिन्न रोगों में उपचार (Treatment of various diseases)

स्वप्नदोष: आंवले के रस में इलायची के दाने और ईसबगोल को बराबर मात्रा में मिलाकर 1-1 चम्मच की मात्रा में सुबह-शाम सेवन करने से स्वप्नदोष में लाभ होता है।

आंखों में जलन होने अथवा धुंधला दिखने पर : इलायची के दाने और शक्कर बराबर मात्रा में लेकर पीस लें। फिर इसके 4 ग्राम चूर्ण में एरंड का चूर्ण डालकर सेवन करें। इससे मस्तिष्क और आंखों को ठण्डक मिलती है तथा आंखों की रोशनी तेज होती है।

रक्त-प्रदर, रक्त-मूल-व्याधि :

इलायची के दाने, केसर, जायफल, वंशलोचन, नागकेसर और शंखजीरे को बराबर मात्रा में लेकर उसका चूर्ण बना लें। इस 2 ग्राम चूर्ण में 2 ग्राम शहद, 6 ग्राम गाय का घी और तीन ग्राम चीनी मिलाकर सेवन करें। इसे रोजाना सुबह और शाम लगभग चौदह दिनों तक सेवन करना चाहिए। रात के समय इसे खाकर आधा किलो गाय के दूध में चीनी डालकर गर्म कर लें और पीकर सो जाएं। इससे रक्त-प्रदर, रक्त-मूल-व्याधि (खूनी बवासीर) और रक्तमेह में आराम होगा। ध्यान रहे कि तब तक गुड़, गिरी आदि गर्म चीजें न खाएं।

कफ: इलायची के दाने, सेंधानमक, घी और शहद को मिलाकर पीने से लाभ मिलता है।

वीर्यपुष्टि: इलायची के दाने, जावित्री, बादाम, गाय का मक्खन और मिश्री को मिलाकर रोजाना सुबह सेवन करने से वीर्य मजबूत होता है।

मूत्रकृच्छ (पेशाब करने में कष्ट या जलन): इलायची के दानों का चूर्ण शहद में मिलाकर खाने से मूत्रकृच्छ (पेशाब में जलन) में लाभ मिलता है।

उदावर्त (मलबंध) रोग पर: थोड़ी सी इलायची लेकर घी के दिये पर सेंकने के बाद उसको पीसकर बने चूर्ण में शहद को मिलाकर चाटने से उदावर्त रोग में लाभ मिलता है।

मुंह के रोग पर: इलायची के दानों के चूर्ण और सिंकी हुई फिटकरी के चूर्ण को मिलाकर मुंह में रखकर लार को गिरा देते हैं। इसके बाद साफ पानी से मुंह को धो लेते हैं। रोजाना दिन में 4-5 बार करने से मुंह के रोग में आराम मिलता है।
सभी प्रकार के दर्द: इलायची के दाने, हींग, इन्द्रजव और सेंधानमक का काढ़ा बना करके एरंड के तेल में मिलाकर देना चाहिए। इससे कमर, हृदय, पेट, नाभि, पीठ, कोख (बेली), मस्तक, कान और आंखों में उठता हुआ दर्द तुरन्त ही मिट जाता है |

सभी प्रकार के बुखार: इलायची के दाने, बेल और विषखपरा को दूध और पानी में मिलाकर तक तक उबालें जब तक कि केवल दूध शेष न रह जाए। ठण्डा होने पर इसे छानकर पीने से सभी प्रकार के बुखार दूर हो जाते हैं।

कफ-मूत्रकृच्छ: गाय का पेशाब, शहद या केले के पत्ते का रस, इन तीनों में से किसी भी एक चीज में इलायची का चूर्ण मिलाकर पिलाने से लाभ होता है।

उल्टी:
इलायची के छिलकों को जलाकर, उसकी राख को शहद में मिलाकर चाटने से उल्टी में लाभ मिलता है।
चौथाई चम्मच इलायची के चूर्ण को अनार के शर्बत में मिलाकर पीने से उल्टी तुरन्त रुक जाती है।
4 चुटकी इलायची के चूर्ण को आधे कप अनार के रस में मिलाकर पीने से उल्टी होना बंद हो जाती है।

हैजा:
5-10 बूंद इलायची का रस उल्टी, हैजा, अतिसार (दस्त) की दशा में लाभकारी है।
10 ग्राम इलायची को एक किलो पानी में डालकर पकायें, जब 250 मिलीलीटर पानी रह जाए तो उसे उतारकर ठण्डा कर लेते हैं। इस पानी को घूंट-2 करके थोड़ी-2 से देर में पीने से हैजे के दुष्प्रभाव, प्यास तथा मूत्रावरोध आदि रोग दूर हो जाते हैं।

जमालघोटा का विष: इलायची के दानों को दही में पीसकर देने से लाभ मिलता है।

पेट हो जाएगा अंदर

अगर आपका पेट निकला हुआ है और आप इसे अंदर करना चाहते हैं तो रात को 2 इलायची खाकर गर्म पानी पी लीजिए। इसमें पोटेशियम, मैग्नीशियम, बिटामिन B1, B6 और बिटामिन C बॉडी की अतिरिक्त चर्बी को पिघला देते हैं। और इसमें मौजूद फाइबर और कैल्शियम वजन को भी कंट्रोल करते हैं। इसलिए इलायची खाकर गर्म पानी पीना न भूलें।
बाल झड़ना हो जाते हैं बंद

रात को 2 इलायची खाकर पानी पीने से बालों की जड़ें मजबूत होती है। बाल झड़ना बंद हो जाते हैं और ये काले भी बने रहते हैं। इससे बालों का डेंड्रफ भी दूर होता है।

स्पर्म काउंट बढ़ता है

अगर आपका स्पर्म काउंट कम है तो ये नुस्खा उसके लिए भी कारगार है। इलायची और ऊपर से गर्म पानी पीने से स्पर्म काउंट बढ़ जाता है।

ब्लड सर्कुलेशन ठीक हो जाता है

अगर आप दो इलायची खाकर एक गिलास गर्म पानी पी लेते हैं तो ब्लड सर्कुलेशन ठीक होने के साथ ही आपका ब्लड भी प्यूरीफाई हो जाता है। जिससे आपकी स्किन भी अच्छी हो जाती है।

डाइजेशन हो जाएगा स्ट्रॉन्ग

अगर आप इलायची खाकर गर्म पानी पी लेते हैं तो आपका डाइजेशन सिस्टम स्ट्रॉन्ग हो जाता है। इससे आंतों और किडनी की सफाई होती है। इससे कब्ज की परेशानी भी दूर हो जाती है।


रोजाना इलायची खाने से नहीं होती हैं ये समस्याएं
3 रोजाना इलायची का सेवन करने से रक्त प्रवाह ठीक रहता है और इससे श्वास संबंधी समस्याओं से भी राहत पाई जा सकती हैं।

4 इलायची की तासीर गर्म होने के कारण इससे सर्दी जुकाम में भी खाया जा सकता है।




5 इलायची में जिंक और आयरन की भरपूर मात्रा होती है, जो कि शरीर में विटामिन सी और खून से संबंधित समस्याओं से राहत दिलाती है।


6 इलायची की चाय बनाकर इसका सेवन करने से तनाव और डिप्रेशन दूर होता है।


7 इलायची का सेवन करने से ब्लड प्रेशर को आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है।


8 इलायची का सेवन करके आप आसानी से अपने शरीर के सारे टॉक्सिन को दूर कर सकते हैं, इससे शरीर में कभी भी कैंसर की शिकायत नहीं होती है।

जानें छोटी से इलाइची किस तरह देती है आपको सेहत के लाभ
इलाइची आपकी कई परेशानियों को दूर कर सकती हैं. ये सेहत में कई तरह के लाभ देती है. अकसर लोग सोचते हैं कि छोटी इलायची यानी हरी इलायची ठंडी होती है. लेकिन आपको बता दें, हरी इलायची भी बड़ी इलायची की तरह ही गर्म तासीर की होती है. इसमें मिठास होने के कारण इसे चाय और मीठे व्‍यंजनों में भी इस्‍तेमाल किया जाता है. आज हम इसी के बारे में बताने जा रहे हैं कि इसके क्या लाभ हो सकते हैं. 

पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नेशियम जैसे खनिज पदार्थों से भरपूर इलायची दिल की धड़कन को सही रखने में सहायता करती है.

आयुर्वेद में इलायची की तासीर गर्म मानी गई है, जो कि बॉडी को गर्मी देने का काम करती है, इसलिए इसके सेवन से आपके शरीर पर ठंड का प्रभाव कम होता है.

इलायची के सेवन से सांस लेने की समस्या जैसे अस्थमा, तेज जुकाम और खांसी से राहत मिलती है. साथ ही यह फेफड़ों की परेशानी दूर करने में भी बहुत ही सहायता करती है.

मानव शरीर में कई सारी बीमारियां उच्च रक्तचाप के कारण जन्म लेती है, यदि आप नियमित रूप से दो से तीन इलायची का सेवन करें तो रक्तचाप नियंत्रित करने में सहायता मिलेगी.

इलायची का उपयोग न केवल व्‍यंजनों में स्‍वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है, बल्कि इससे पाचन तंत्र भी दुरुस्‍त रहता है. इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने का काम करता है.
यदि आप तनाव की समस्या से घिरे रहते हैं, तो इलायची का सेवन आपके लिए लाभकारी हो सकता है. ऐसा देखा गया है कि इलायची चबाने से हार्मोन में तुरंत बदलाव देखने को मिलता है और आप तनाव से मुक्त हो जाते हैं.


कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.