Header Ads

जानिए सेक्स कितने प्रकार से किया जा सकता है


जानिए सेक्स कितने प्रकार से किया जा सकता है 
https://www.healthsiswealth.com/
https://www.healthsiswealth.com/
Types of Sex In Hindi सेक्स के प्रकार। आमतौर पर हर व्यक्ति एक मजेदार सेक्स करना चाहता है और यौन जीवन को खुशहाल एवं संतुष्ट बनाना चाहता है। योनि में लिंग डालकर सेक्‍स करने के पुराने तरीकों के अलावा भी संभोग करने के कई प्रकार होते हैं जो सेक्‍स लाइफ में तड़के की तरह होते हैं, इनको करने से प्‍यार बढ़ता है और आपका रोमांस हमेशा जवां रहता है। जानें यौन संबंध बनाने के प्रकार और औरतें कितने प्रकार से सेक्स करवाती है, पुरुष कितने प्रकार से सेक्स कर सकते हैं के बारे में।
https://www.healthsiswealth.com/
हम अक्सर देखते हैं कि ज्यादातर लोग रोजाना एक ही तरह से सेक्स करते हैं और बहुत जल्दी ही वे उब भी जाते हैं। इसका कारण यह है कि उन्हें सेक्स करने के नए नए तरीके और सेक्स के प्रकार के बारे में मालूम नहीं होता है। लेकिन अगर आप यौन जीवन में नए प्रयोग (praxis) करें तो आप एक मजेदार एवं स्वस्थ सेक्स का आनंद उठा सकते हैं। अगर आप भी अभी तक एक ही तरह से सेक्स करते आए हैं तो आपकी जानकारी के लिए इस आर्टिकल में हम आपको सेक्स के प्रकार के बारे में बताने जा रहे हैं।
सेक्स का सबसे कॉमन प्रकार योनि सेक्स – Vaginal sex in Hindi
सेक्स के प्रकार ओरल सेक्स या मुख मैथुन – Oral Sex in Hindi
संभोक करने का प्रकार एनल सेक्स या गुदा संभोग – Anal Sex in Hindi
सेक्स का प्रकार हस्तमैथुन या मास्टरबेशन – Masturbation in Hindi
सेक्स के प्रकार आपस में हस्तमैथुन – Mutual Masturbation in Hindi
सेक्स के प्रकार पेनिट्रेटिव सेक्स – Penetrative sex in Hindi
सेक्स के प्रकार कामुक सेक्स – Sensual Sex in Hindi
सेक्स का प्रकार नैसर्गिक सेक्स – Spontaneous Sex in Hindi
शॉवर सेक्स या बाथरूम में संभोग – Shower sex in Hindi
सेक्स का प्रकार मॉर्निंग सेक्स – Morning sex in Hindi
सेक्स का सबसे कॉमन प्रकार योनि सेक्स – Vaginal sex in Hindi
https://www.healthsiswealth.com/
https://www.healthsiswealth.com/
वेजाइना या योनि संभोग, सेक्स का वह प्रकार है जिसे ज्यादातर लोग करना चाहते हैं। औरतें अक्सर योनि सेक्स करवाती है क्योंकि इससे उन्हें उत्तेजना और चरम सुख की प्राप्ति होती है। वास्तव में जब पुरुष लड़की की योनि(vagina) के अंदर लिंग को प्रवेश कराता है तो इसे योनि सेक्स कहा जाता है। यह सेक्स का एकमात्र ऐसा रूप (form) है जिसके कारण कोई भी महिला गर्भवती हो सकती है। इसके अलावा असुरक्षित योनि सेक्स करने से यौन संचारित रोग (STDs) या यौन संचारित संक्रमण (STIs) फैलने का खतरा सबसे ज्यादा रहता है। हालांकि योनि सेक्स में सबसे ज्यादा आनंद प्राप्त होता है और चरम सुख भी योनि सेक्स के दौरान ही मिलता है।

यही कारण है कि सेक्स के सभी प्रकारों (Types of Sex In Hindi) में लोग योनि सेक्स करना अधिक पसंद करते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि योनि सेक्स के दौरान प्रेगनेंसी से बचने के लिए कंडोम का इस्तेमाल किया जाता है।

https://www.healthsiswealth.com/
सेक्स के प्रकार ओरल सेक्स या मुख मैथुन – Oral Sex in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
सेक्स के प्रकार में ओरल सेक्स बहुत ही लोकपीर्य माना जाता है। आमतौर पर ज्यादातर लोग यह मानते हैं कि यदि वे सिर्फ ओरल सेक्स करते हैं तो वर्जिन कहलाएंगे। हालांकि यह धारणा गलत है क्योंकि ओरस सेक्स भी सेक्स का ही एक प्रकार है। ओरल सेक्स संभोग का एक ऐसा रुप है जिसमें मुंह और जननांगों (genitals) के बीच संपर्क होता है। ओरल सेक्स करने वालों को भी बहुत अधिक मजा आता है। लेकिन ओरल सेक्स करके कोई महिला गर्भवती नहीं हो सकती। हालांकि योनि सेक्स की तरह ही ओरल सेक्स करने से भी एसटीडी और एसटीआई जैसे संक्रमण का खतरा हमेशा बना रहता है। इसलिए सुरक्षित ओरल सेक्स करने के लिए लोग कंडोम या डेंटल डैम (dental dam) का इस्तेमाल करते हैं।

https://www.healthsiswealth.com/
संभोक करने का प्रकार एनल सेक्स या गुदा संभोग – Anal Sex in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
वास्तव में एनल सेक्स एक ऐसा सेक्स है जिसमें गुदा (anus) में लिंग को प्रवेश कराया जाता है। इस प्रकार का सेक्स करने पर दर्द अधिक होने की संभावना होती है। ओरल सेक्स और योनि सेक्स की ही तरह एनल सेक्स करने के दौरान भी यौन संचारित रोगों (STI) का खतरा बना रहता है। कुछ लोग मानते हैं कि एनल सेक्स सिर्फ समलैंगिकपुरुष (gay men) ही करते हैं लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महिलाएं भी एनल सेक्स करवाना चाहती हैं। इस तरह के सेक्स में जब गुदा की त्वचा पर दबाव पड़ता है तो दर्द के साथ खून भी निकल सकता हैं। हालांकि भारत के साथ ही दूसरे देशों में इस तरह का सेक्स काफी लोकप्रिय है।

https://www.healthsiswealth.com/
सेक्स का प्रकार हस्तमैथुन या मास्टरबेशन – Masturbation in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
जब को व्यक्ति यौन आनंद (sexual pleasure) प्राप्त करने के लिए अपने जननांगों को अपने ही हाथों से उत्तेजित करता है तो इसे हस्तमैथुन कहा जाता है। हालांकि इसमें किसी अन्य व्यक्ति या सेक्स पार्टनर की कोई भूमिका नहीं होती है। मास्टरबेशन या हस्तमैथुन आपको स्वयं करना पड़ता है। हस्तमैथुन सेक्स का ऐसा प्रकार है जिसमें प्रेगनेंसी नहीं होती है और एसटीडी या एसटीआई जैसी बीमारियों का खतरा नहीं रहता है। हस्तमैथुन सेक्स के सभी रूपों (Types of Sex In Hindi) में बहुत सुरक्षित (safest) माना जाता है और इसे किसी भी समय यौन आनंद प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है।

https://www.healthsiswealth.com/
सेक्स के प्रकार आपस में हस्तमैथुन – Mutual Masturbation in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
म्यूचुअल मास्टरबेशन का मतलब होता है अपने पार्टनर के सामने या अपने हाथों से एक दूसरे का हस्तमैथुन करना। हालांकि इस दौरान एक दूसरे के जननांग संपर्क में नहीं आते हैं और इसे करने के लिए सिर्फ हाथों या उंगलियों (fingering) का ही इस्तेमाल किया जाता है। यह सेक्स का एक सुरक्षित प्रकार है (Types of Sex In Hindi) और इसे करने से एसटीडी और एसटीआई का खतरा बिल्कुल भी नहीं होता है। इसके अलावा प्रेगनेंसी की संभावना शून्य (null) होती है।

https://www.healthsiswealth.com/
सेक्स के प्रकार पेनिट्रेटिव सेक्स – Penetrative sex in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
इस प्रकार का सेक्स अकेले या फिर पार्टनर के साथ दोनों तरह से किया जा सकता है। जब योनि के अंदर काफी गहरायी तक लिंग प्रवेश कराया जाता है या फिर सेक्स टॉय को योनि एवं गुदा के अंदर डालकर सेक्स करते हैं तो यह पेनिट्रेटिव सेक्स होता है। अगर सेक्स टॉय को छोड़ दिया जाए तो पेनिट्रेटिव सेक्स में प्रेगनेंसी की संभावना बढ़ जाती है लेकिन इस तरह के सेक्स के दौरान आनंद भी खूब आता है। ज्यादातर वैवाहिक जोड़े पेनिट्रेटिव सेक्स करना पसंद करते हैं।

https://www.healthsiswealth.com/
सेक्स के प्रकार कामुक सेक्स – Sensual Sex in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
ज्यादातर पुरुषों का मानना है कि महिलाएं इस प्रकार का सेक्स करना अधिक पसंद करती हैं। यह सेक्स काफी अलग किस्म का होता है जिसमें कामोत्तेजक चीजों से पहले उत्तेजित किया जाता है और उसके बाद सेक्स किया जाता है। सेंसुअल सेक्स करने के लिए आप बबल बाथ, फुल बॉडी मसाज, कामुक जैज (jazz) संगीत आदि का सहारा लिया जा सकता है। कहने का अर्थ यह है कि आपको एक सेक्सी वातावरण तैयार करना पड़ता है। आप पोर्न वीडियो, एमएमएस, अंतरंग और सेक्सी मैसेज भेजकर भी माहौल बना सकते हैं। इसके अलावा अगर आपकी पार्टनर पास में हो तो आप फोरप्ले और ओरल सेक्स करके भी उसे उत्तेजित कर सकते हैं। प्रेमी और प्रेमिका के बीच सेंसुअल या कामुक सेक्स होना बहुत आम बात है।
https://www.healthsiswealth.com/
सेक्स का प्रकार नैसर्गिक सेक्स – Spontaneous Sex in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
इस तरह का सेक्स अचानक होता है। इसके लिए पहले से कोई प्लानिंग नहीं की जाती है और ना ही समय, तारीख और जगह तय की जाती है। स्पॉन्टेनियस सेक्स की भावनाएं पार्टनर को देखने के तुरंत बाद आती हैं। इस तरह के सेक्स में उत्तेजना भी महज छूने से ही हो जाती है। जब आप अपने पार्टनर के अंगों को छूते हैं या फिर उसे गले लगाते हैं या चूमते हैं तो इतनी उत्तेजना होती है कि आप खुद को कंट्रोल नहीं कर पाते हैं और सेक्स के लिए तैयार हो जाते हैं। आमतौर पर ऑफिस की महिला सहकर्मी, कॉलेज की दोस्त या गर्लफ्रेंड के साथ लोग इसी तरह का सेक्स करते हैं।

https://www.healthsiswealth.com/
शॉवर सेक्स या बाथरूम में संभोग – Shower sex in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
आमतौर पर बहुत से पुरुषों एवं महिलाओं को नहाते समय या शरीर पर पानी पड़ने पर सबसे ज्यादा उत्तेजना होती है। अगर आप पोर्न देखने के आदी हैं तो आपने शॉवर सेक्स देखकर जरूर कुछ सीखा होगा। आप एक अलग तरह का आनंद प्राप्त करने के लिए शॉवर सेक्स कर सकते हैं। इसके लिए आप एक बड़े और चौड़े टब में पानी भरकर, गुलाब की कुछ पंखुड़ियां डालकर अपने पार्टनर के साथ शॉवर सेक्स का आनंद उठा सकते हैं। आपको बता दे की पानी में सेक्स करने का अपना लालग ही मजा है।
https://www.healthsiswealth.com/
सेक्स का प्रकार मॉर्निंग सेक्स – Morning sex in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
सेक्सोलॉजिस्ट का मानना है कि मॉर्निंग सेक्स का अलग ही आनंद होता है। जब आप रात को अपने पार्टनर के साथ सेक्स करके सोते हैं और सुबह बिना ब्रश किये, बिना मुंह धोए आपके अंतिम रात के सेक्स की महक वैसे ही बनी रहती है तो सुबह मूड भी बहुत आसानी से बन जाता है। ज्यादातर घरों में पति पत्नी मॉर्निंग सेक्स करते हैं। लेकिन यह तभी हो पाता है जब तक आपके बच्चे सुबह स्कूल न जाते हों। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मॉर्निंग सेक्स का एक अलग ही आनंद होता है।


ओरल सेक्स के दौरान योनि का पानी पीना सुरक्षित होता है या नहीं –
https://www.healthsiswealth.com/

सेक्स के दौरान योनि से नेचुरल तरल पदार्थ निकलता है जिसे योनि रस, योनि का पानी और वेजाइनल वाटर (Vaginal water) कहते हैं लेकिन जब लोगों के मन में इसको लेकर कई प्रकार के सवाल होते है जैसे की ओरल सेक्स के दौरान योनि का पानी पीना सुरक्षित होता है, लड़की की योनि को जीभ से चाटने समय निकलने वाले पानी को पीने के फायदे तथा नुकसान क्या है, क्या योनि का पानी पीना सही है, और योनि का पानी क्या होता है यह क्यों निकलता है इन सब सवालों के जावाब आपको इस लेख में मिल जायेंगे।

यौन संबंध बनाना हर रिलेशनशिप में प्यार बनाए रखने के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। अगर पार्टनर्स के बीच आपसी सहमति और प्यार से यौन संबंध बनाए जाते हैं तो यह परम आनंद की अनुभूति करवाता है। ओरल सेक्स (oral sex) भी सेक्स का एक प्रकार होता है जिससे महिला और पुरुष दोनों को समान रुप से आनंद की अनुभूति होती है। ओरल सेक्स पर्याप्त संतुष्टि प्रदान करता है और सेक्स करने की 69 पॉजिशन में दोनों पार्टनर्स एक साथ ओरल सेक्स कर सकते हैं।
https://www.healthsiswealth.com/
पुरुष जब महिलाओें के साथ ओरल सेक्स करते हैं तो उन्हें चरम सीमा तक सुख की अनुभूति होती है जिसे देखना पुरुषों के लिए भी आनंददायक होता है। ओरल सेक्स करते समय महिला के जननांगों से पानी निकलाता है, महिलाओं की वेजाइना से निकलने वाला पानी वेजाइनल वाटर होता है जिसे वेजाइनल डिस्चार्ज (Vaginal water) कहते हैं। इस डिस्चार्ज की एक अलग ही गंध होती है लेकिन यह अक्सर बुरी नहीं होती है।

बहुत बार अगर इस डिस्चार्ज के कारण पुरुष योनि चूसना बंद कर देते हैं तो सेक्सुअल आनंद (sexual pleasure) खत्म हो जाता है। अक्सर पुरुषों के मन में यह संशय होता है कि कहीं योनि का पानी उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक तो नहीं हैं ? कहीं योनि का पानी पीने से कोई नुकसान तो नहीं होता है? ऐसा सोचकर पुरुष अक्सर योनि का पानी नहीं पीते और इससे ओरल सेक्स (oral sex) का मजा खराब हो जाता है।

इस आर्टिकल में हम आपके इस संशय को दूर करने जा रहे हैं और बताने जा रहे हैं कि योनि का पानी पीने से क्या होता है। आइए जानते हैं कि योनि का पानी पीने से जुड़ी कुछ बातें।
https://www.healthsiswealth.com/
1. क्या होता है योनि का पानी – What is vaginal fluid in Hindi
2. कब-कब निकलता है महिलाओं की योनि से पानी – When does vaginal fluid discharges in Hindi
3. क्यों निकलता है महिलाओं की योनि से पानी – Why vaginal fluid discharges from vagina in Hindi
4. कैसा होता है योनि से निकला पानी – How dose vaginal fluid seems like in Hindi
5. क्या वेजाइना का पानी पीना सुरक्षित होता है- Is it safe to drink vaginal water in Hindi
क्या होता है योनि का पानी – What is vaginal fluid in Hindi

महिलाओं की वेजाइना में मौजूद तरल (fluid) योनि का पानी कहलाता है। योनि का पानी तब निकलता है जब ओरल सेक्स करते हैं। महिलाओं की वेजाइना ग्रंथि से प्राकृतिक रुप से यह वेजाइनल डिस्चार्ज होता है। यह तरल पानी की तरह होता है बस इसका रंग थोड़ा सफेद (light white) होता है और यह हल्का गाढ़ा होता है इसलिए योनि का पानी भी कहा जाता है।

https://www.healthsiswealth.com/
कब-कब निकलता है महिलाओं की योनि से पानी – When does vaginal fluid discharges in Hindi


फोरप्ले करने पर, इंटिमेट होते समय, योनि चूसने के समय और ओरल सेक्स करते समय महिलाओं की योनि से पानी निकलता है। इसके अलावा कामुकता, उत्तेजना का एहसास जब भी होता है तो भी योनि से पानी निकलता है।

https://www.healthsiswealth.com/
क्यों निकलता है महिलाओं की योनि से पानी – Why vaginal fluid discharges from vagina in Hindi

योनि का पानी मुख्य रुप से लुब्रिकेशन (lubrication) का काम करता है। इससे सेक्स करने में काफी आसानी होती है। महिलाओं के सेक्स करने के लिए तैयार होने का संकेत देने के लिए भी वेजाइनल डिस्चार्ज (Vaginal water) काफी जरुरी होता है।

https://www.healthsiswealth.com/

(और पढ़े – एक महिला को चूमकर उत्तेजित करने के 10 हॉट स्पॉट…)
कैसा होता है योनि से निकला पानी – How dose vaginal fluid seems like in Hindi

इसका स्वाद हल्का एल्केलाइन (alkaline) जैसा होता है, इस फ्लूइड का साधारण तौर पर एक गंध होती है लेकिन इसे दुर्गंध नहीं कहा जा सकता है। महिलाओं की वेजाइना में गुड बैक्टीरिया होते हैं जिन्हें प्रोबायोटिक्स कहा जाता है। ये प्रोबायोटिक्स बहुत सारे सप्लीमेंट्स और योगर्ट में भी पाए जाते हैं। वेजाइना में लैक्टोबेसिलस बैक्टिरिया होता है जो कि वेजाइना के pH को बैलेंस करता है। वेजाइना का स्वस्थ (healthy) pH लेवल 4.5 होता है। लैक्टोबेसिलस लेक्टिक एसिड पैदा करता है जो कि वेजाइना के pH लेवल को सही रखने में मदद करता है।

https://www.healthsiswealth.com/
क्या वेजाइना का पानी पीना सुरक्षित होता है- Is it safe to drink vaginal water in Hindi

https://www.healthsiswealth.com/
योनि से निकलने वाला पानी यानि वेजाइनल वाटर (vaginal water) स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नहीं होता है। इसलिए ओरल सेक्स के दौरान इसे पी भी सकते हैं ऐसा करना हानिकारक नहीं होता है। हां, इसके लिए जरूरी होता है कि आपका पार्टनर सेक्सुअल ट्रांसमिट डिज़ीज (STD) यानि की यौन संचरित रोग का शिकार ना हों। महिलाओं के लिए भी जरुरी है कि वे खुद के और पार्टनर के स्वास्थ्य का ख्याल रखने के लिए अपनी वेजाइना को पूरी तरह साफ और स्वस्थ रखें। इसके लिए वी वॉश (v-wash) जैसे किसी भी प्रोडक्ट या सादे पानी से वेजाइना जरुर साफ करें और अपनी डाइट में ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करें जो कि वेजाइना की सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.