Header Ads

एक ब्रेस्ट छोटा और एक ब्रेस्ट बड़ा ऐसा क्यों होता है


एक ब्रेस्ट छोटा और एक ब्रेस्ट बड़ा ऐसा क्यों होता है ? 20 कारण जानिए

दोस्तों आप सभी का कैसे करें पर स्वागत है, आज के इस टॉपिक में हम महिलाओं का एक ब्रेस्ट छोटा और एक ब्रेस्ट बड़ा ऐसा क्यों होता है ? इस विषय के बारे में हम बात करने वाले हैं |

वैसे देखा जाए तो ज्यादातर महिलाएं इस विषय को किसी के साथ बताने में शर्म आती है , और इसी वजह से वह अपने स्तनों के आकार के बारे में अक्सर परेशान रहती है | लेकिन हम आपको बता दें कि यह समस्या सिर्फ आपके साथ ही नहीं है , दुनिया भर में 80% महिलाओं में एक स्तन का आकार बड़ा और एक स्तन का आकार छोटा पाया गया है , इसलिए आपको ज्यादा डरने की जरूरत नहीं है |
लेकिन एक ब्रेस्ट बहुत छोटा होना और एक बेस्ट बहुत बड़ा होना बहुत ही समस्या वाला होता है और इसी की वजह से अक्सर महिलाओं में कॉन्फिडेंस की कमी आने लगती है और वह अपना काम ठीक से नहीं कर पाती है |

तो अब हम देखते हैं कि स्तनों के आकार में ऐसे बदलाव क्यों होते हैं ?एक ब्रेस्ट छोटा एक बड़ा
जिन महिलाओं के दोनों स्तन विभिन्न होते हैं वह हमेशा तनाव में रहती है, क्योंकि स्तनों की साइज विभिन्न होने के कारण महिलाओं का आत्मविश्वास भी कम हो जाता है | अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि २१ वी सदी में ऐसी बहुत सारी ट्रीटमेंट्स है जिनको अपनाने से आपके स्तन बिल्कुल शेप में दिखने लगेंगे |

ज़्यादातर महिलाएं अपना ठीक से ख्याल रखने के बाद भी कुछ चीजों की तरह नजरअंदाज कर देती है और इसी वजह से एक स्तन छोटा और एक स्तन बड़ा होने की समस्या होती है | स्तन छोटे या बड़े होने के कई सारे कारण है और हम आपको नीचे कुछ कारण बताएंगे जिससे कि आपको पता चल जाएगा कि आपका स्थन एक छोटा और एक बड़ा क्यों है ?

एक ब्रेस्ट छोटा एक बड़ा ऐसा क्यों -:
स्तनों का आकार विभिन्न होने पर आपने स्तनों की निगाह रखना बहुत ज्यादा जरूरी है, स्तनों का विकास महिलाओं के शरीर में होने वाले प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन हार्मोन के वजह से होता है | महिला के शरीर में अगर प्रोजेस्टेरोन हार्मोन संतुलित नहीं रहता है तो महिला का एक स्तन बड़ा और एक छोटा हो जाता है |
महिलाओं ने अपने शरीर को हमेशा संतुलित रखने का प्रयास करना चाहिए, अगर आप आपके शरीर को संतुलित नहीं रखोगे तो आपको यह समस्या बढ़ने की संभावना होती है | महिलाओं ने अपने शरीर के हार्मोन संतुलित रखने पर ज्यादा ध्यान देते समय स्तनों की तरफ भी ध्यान देना चाहिए |
जब आपका एक स्तन बड़ा और एक स्तन छोटा हो जाता है तब आपने किसी डॉक्टर से अच्छी ट्रीटमेंट लेनी चाहिए | बहुत सारी महिलाएं ऐसा होने पर सर्जरी करने का डिसीजन लेती है, सर्जरी करने से पहले आपने स्तनों को शेप में लाने के तरीके अपनाना चाहिए | स्तनों को शेप में लाने के बहुत सारे तरीके हैं, इन तरीकों का इस्तेमाल करके आपको फर्क नजर आएगा |
अगर आपको लगता है कि यह समस्या आपको नहीं आनी चाहिए तो बचपन से ही आपने स्तनों की निगाह रखना जरूरी है | आपने हर रोज स्तनों की जैतून के तेल से मालिश करनी चाहिए, जैतून के तेल से स्तनों की मालिश करने से आपके दोनों स्तनों की मांसपेशियां मजबूत होकर आपके दोनों स्तन बिल्कुल सुडोल रहेंगे |
एक स्तन बड़ा और एक स्तन छोटा होने पर आपने विभिन्न दवाइयों का सेवन करना चाहिए, दवाइयों का सेवन करते समय हमेशा किसी अच्छे डॉक्टर की या एक्सपर्ट की राय लें | आपको जल्द से जल्द फर्क नजर आएगा |
बॉडी के बनावट के कारण एक छोटा और एक बड़ा हो सकता है |
आपकी बैठने की और उठने की स्थिति भी आपके स्तन को छोटा बड़ा कर सकती है |
आपको रात को सोने का तरीका आपके स्तन के आकार को बदल सकता है |
किसी बीमारी की वजह से भी यह हो सकता है |
हमेशा तनाव में रहने की वजह से भी होता है |
ब्रेस्ट के ऊपर चोट लगने की वजह से भी यहां होता है | यदि बचपन में निप्पल पर चोट लग जाती है तो वह स्थन छोटा रह जाता है |
पबर्टी की वजह से यानी कि योन अवस्था में ठीक ध्यान न देने की वजह से एक स्तन छोटा और एक स्तन बड़ा हो जाता है |
अगर आप दाई दिशा की ओर मुंह करके सोते हैं तब आप का दाहिना स्तन बड़ा हो सकता है और बाहीना स्तन छोटा रह सकता है |
अगर आप बाई दिशा की ओर मुंह करके सोते हैं तो आपका बाई दिशा का स्तन स्तन बढ़ और दाई दिशा का स्तनछोटा रह सकता है |
अगर आप लेफ्ट हैंडेड है तो आपका लेफ्ट साइड का स्थान का विकास अच्छे से होता है और राइट का स्थान छोटा रह जाता है , क्योंकि आपके लेफ्ट हैंड के मसल्स ज्यादा स्ट्रेस होते हैं और इसी वजह से वहां पर ज्यादा फैट जमा होता है |
अगर आप राइट हैंडेड तो आपका राइट साइड का स्तन बढ़ जाता है और लेफ्ट बाजू का स्तन छोटा रह जाता है , तो इस कारण आप के राइट हैंड के मसल्स ज्यादा स्ट्रेस होते हैं और इसी वजह से आपका राइट स्तनों में ज्यादा फैट जमा होने लगता और वह बड़ा दिखाई देने लगता है |
बच्चे को दूध पिलाते समय यदि आप एक ही साइड से बच्चे को दूध पिला रही है तो आपके वह साइड का स्तन बड़ा होने लगेगा क्योंकि बच्चा जब दूध पीता है तब वह उस स्तन के मसल्स को खींचता है और इसी वजह से आपके स्तनों का आकार बड़ा होने लगता है | और इसी वजह से औरत का एक स्तन बड़ा और एक स्तन छोटा होता है |
हार्मोनल अनबैलेंस की वजह से और पीरियड का असंतुलित होने की वजह से भी भी महिला के स्तनों पर इसका प्रभाव पड़ने लगता है |
स्तन में होने वाली गांठ की वजह से भी महिला स्तन बढ़ा और एक स्तन छोटा दिखने लगता है |
स्तन में होने वाले कैंसर की वजह से भी एक बूब्स छोटा और एक बूब्स बड़ा होने लगता है |
तो दोस्तो यह थी स्तनों का आकार बड़ा और छोटा होने का प्रमुख कारण | अब हम आपको एक असरदार तरीका बताएंगे जैसे कि आप अपने एक ब्रेस्ट छोटा और एक ब्रेस्ट बड़ा का आसानी से उपाय कर सकते हैं |
एक ब्रेस्ट छोटा और एक ब्रेस्ट बड़ा होने पर क्या करें ?स्ट छोटा और एक ब्रेस्ट बड़ा उपाय
अगर आपको दोनों ब्रेस्ट को एक सामान बनाना है तो आपको बस इस नीचे दिए हुए उपाय को अच्छे से नियमित तरीके से करना है |
आपका जिस साइड का ब्रेस्ट छोटा है आपको उस साइड के हाथ से पाच पाच किलो के डंबेल मारने है |
5 किलो के वजन को अपने हाथ में लेकर आपको नियमित तरीके से 15 15 के सेट से दो से तीन बार नियमित करना है |
ऐसा करने की वजह से आपके उस साइड का स्तन बड़ा होने लगेगा और आपके दोनों स्तन एक समान दिखाई देने लगेंगे |
हो सके तो आप ब्रैस्ट को बड़ा करने का तेल का इस्तेमाल या क्रीम का इस्तेमाल करके उस छोटे ब्रेस्ट का अच्छे से मसाज करना है |
1 महीने तक नियमित तरीके से यह तरीका आजमाने से आपका स्तनों का आकार एक समान होते हुए दिखाई देने लगेगा |


महिलाओं का एक स्तन बड़ा और एक छोटा क्यों होता है? जानें
Breast Shape:- जैसे जैसे उम्र बढ़ती है वैसे वैसे लड़कियों के बॉडी पार्ट्स में बदलाव आने शुरू हो जाते है। ऐसे ही बदलाव ब्रेस्ट में ही आते है, जैसे की ब्रेस्ट साइज का बढ़ना, ब्रेस्ट का ज्यादा भारी होना, या ब्रेस्ट का अच्छे से विकसित न होना, लेकिन क्या अपने सुना है की हो सकता है की आपके दोनों ब्रेस्ट की शेप आपस में न मिलती हो? तो आइये जानते ब्रेस्ट से जुडी कुछ रोचक बातें।
महिलाओं का एक स्तन बड़ा और एक छोटा क्यों होता है
महिलाओं का ब्रेस्ट भी उनकी ख़ूबसूरती को बढ़ाने में मदद करता है। लेकिन क्या आप स्तन से जुड़े कुछ रोचक बातों के बारे में जानते है? जैसे की कई महिलाओं के तीन ब्रेस्ट होते है, स्तन के कितने प्रकार होते है, महिलाओं के ब्रेस्ट का आकार ज्यादा बड़ा क्यों होता है, महिलाओ के ब्रेस्ट का आकार ज्यादा छोटा क्यों होता है, महिलाओं का एक ब्रेस्ट छोटा और एक बड़ा क्यों होता है, ब्रेस्ट की निप्पल के आस पास बालों का होना, आदि। जिस तरह शरीर के अन्य भागो में वसा का जमाव होता है, उसी तरह स्तन में भी वसा का जमाव होता है, जिसके कारण आपको ब्रेस्ट में बदलाव देखने को मिलता है।

ब्रेस्ट में कोलेजन, दुग्ध ग्रंथिया, वसा आदि होने के कारण ही शुरुआत में आपके ब्रेस्ट कढ़े होते है। और जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती हैं वैसे वैसे यह उत्तक सिकुड़ने लगते है, और वहां पर वसा इक्कट्ठा होने लगता है। जिसके कारण समय के साथ आपका ब्रेस्ट साइज भी बढ़ने लगता है, लेकिन ऐसा जरुरी नहीं होता है की हर महिला का ब्रेस्ट एक ही साइज का हो, या एक ही तरह से उसमें विकास हो। कई महिलाएं तो ब्रेस्ट शेप को सही रखने के लिए सर्जरी तक का सहारा भी लेती है। क्या अपने कभी अपने ब्रेस्ट शेप के बारे में उसे देखकर नोट किया है? की आपके दोनों दोनों ब्रेस्ट एक जैसे है या उसमें कुछ असमानता है? यदि हाँ, तो आइये जानते है की ब्रेस्ट शेप एक जैसी न होने के कारण।
क्यों होता है एक ब्रेस्ट बड़ा और एक छोटा:-
यदि कभी आपने अपने ब्रेस्ट को देखकर नोट किया है की आपका एक ब्रेस्ट दूसरे से बड़ा या छोटा है। तो इसे देखकर घबराने की जरुरत नहीं होती है, क्योंकि यह महिलाओं के लिए एक सामान्य स्थिति होती है। मेडिकल में भी यह बात प्रूव की जा चुकी है की ज्यादातर महिलाओं का बायां ब्रैस्ट दाएं ब्रेस्ट की तुलना में थोड़ा बड़ा होता है। और ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि महिलाओं के ब्रेस्ट में निरंतर कोई न कोई परिवर्तन चलता रहता है।

और यह परिवर्तन हर घंटे या हर मिनट हो सकता है। लेकिन यह परिवर्तन कोई इतना बड़ा नहीं होता है की जो आपको महसूस हो, यह ब्रेस्ट में अपने आप होता रहता है। और यदि आपको भी ऐसा महसूस होता है की आपके ब्रेस्ट में फ़र्क़ है यह बिलकुल भी चिंता की बात नहीं होती है। यह सब ब्रेस्ट में होने वाले वसा के जमाव पर निर्भर करता है। तो यह है कारण जिसकी वजह से आपका एक ब्रेस्ट दूसरे से बड़ा या छोटा हो सकता है।
यदि आप भी ब्रेस्ट से जुडी इन बातों को नहीं जानते है तो इसे पढ़ने के बाद आपको भी समझ आ जाएगा। जिस तरह आपकी बॉडी का शेप भी शरीर में हो रहे परिवर्तन पर निर्भर करता है उसी तरह ब्रेस्ट का शेप भी आपके ब्रेस्ट में हो रहे बदलाव पर निर्भर करता है। और यह बदलाव ज्यादातर महिलाओं में देखने को मिलता है, यदि आपको भी ऐसा लगे तो इसे देखकर अपने मन में ख्याल बुनना शुरू नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह एक सामान्य बात होती है।





10 ब्रेस्ट का आकार बढ़ानेऔर सुडौल बनाने के घरेलू उपाय





Quick Facts [Lock]
1 ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के आयुर्वेदिक तरीके – Ways To Increase Your Breast Size Naturally in Hindi
2 नियमित रूप से ब्रेस्ट मसाज करें : How to massage your breasts for better Size in Hindi
3 ब्रेस्ट का साइज बढ़ने के लिए क्या खायें – Breast size badhane ke foods in Hindi
3.1 आहार : Food
3.2 ब्रेस्ट का साइज बढ़ने के लिए योग – Yoga to increase breast size in Hindi
3.3 छोटे ब्रैस्ट को बड़ा दिखाने के लिए सही ब्रा खरीदें –

सही आकृति और फिट आकार वाले शरीर को ही आकर्षक और सुंदर काया माना जाता है और आज की हर महिला फेस ब्यूटी के साथ-साथ एक अच्छी फिट बॉडी चाहती है इसीलिए आधुनिक समाज में अच्छे और सुंदर फेस के साथ-साथ सुडौल और बड़े स्तनो को आकर्षक शारीरिक विशेषताओं में से एक माना जाता है।
ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के आयुर्वेदिक तरीके – 

आयुर्वेद में छाती बढ़ाने के उपाय – लसोडे की पत्तियों का सत्व, छोटी इलायची, कमल गट्टे की मिंगी का पावडर, अनार का पांचांग (जड़, डंढल, पत्ता फूल, फल या अनार के छिलके) माजूफल, शतावरी सबको मिला कर उसका लेप तैयार कर लें। अब छाती पर लेप करें। ये लेप त्वचा के भीतर तक जाकर स्तनों की मांसपेशियों को पुष्ट बनाते हैं।
अश्वगंधा चूर्ण (बाजार में उपलब्ध) रोजाना छह से दस ग्राम तक दूध के साथ सेवन करें।
अनार पांचांग तेल ये भी स्तनों के विकास के लिये जरूरी है। इस तेल से नियमित दिन में दो बार मालिश करते रहें। स्तन फिर से सुडौल होने लगेंगे।
अनार तेल के मसाज से कोशिकाओ में रक्त संचार तेजी से शुरू होता है। छाती की मांस पेशिययों में तंतुओं की मात्रा बढ़ने लगती है। स्तन में मजबूती व कठोरता आने लगती है। ये उपयोग लगातार एक माह तक अवश्य करें।नोट - यदि अनार तेल न मिले, तो ऊपर बताया गया पांचांग का मतलब उसे लेकर सरसों के तेल में पकायें सत आ जाने पर छानकर रख लें।


छाती बढ़ाने के उपाय – स्तन बढ़ाने के घरेलु उपाय

छाती पर सरसों के तेल से करीब आधा घंटा हल्के हाथ से मालिश करें। नीचे से ऊपर की ओर करें। फिर दस पंद्रह ठंडे पानी की पट्टियां एक के बाद एक रखते रहें। स्तन का आकार बढ़ेगा।नोट - स्तनों की मालिश हमेंशा नीचे से ऊपर की ओर ही करनी चाहिये।


आकर्षक शारीरिक विशेषताओं में सुडौल और बड़े स्तनो के महत्व को समझ कर ही आज महिलाएं स्वाभाविक रूप से ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के उपाय/छाती बढ़ाने के उपाय जानने के लिए उत्सुक रहती है पर ज्यादातर महिलायें स्तन का आकार बढ़ाने लिए महंगी प्रक्रिया सर्जरी को ही चुनती है

लेकिन स्तन वृद्धि की प्रक्रिया हमेशा परिणाम प्रदान करने वाली सर्जरी कई बार दुष्प्रभाव भी छोड़ जाती है इसलिए ब्रेस्ट का साइज बढाने के लिए हम कुछ सफल और आसान उपाय लेकर आये है जो ब्रेस्ट का साइज बढाने में आपकी मदद जरुर करेंगे। (साफ- सुथरी और निखरी हुई त्वचा पाने के घरेलु उपाय)
नियमित रूप से ब्रेस्ट मसाज करें :


नियमित रूप से स्तनों की मालिश स्वाभाविक रूप से स्तन का आकार बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार माना जाता है। आप रोजाना ब्रेस्ट बढ़ाने वाले इनलार्जमेंट तेल,हल्के पानी या सूखे हाथो से भी 30 मिनट की मसाज दे कर प्रभावी रूप से सिर्फ एक महीने में स्तन के साइज में वृद्धि कर सकती है।

हाथ की हथेलियों को 6 से 10 सेकंड तक आपस में रगड़ कर पहले हथेलियों में गर्मी और ऊर्जा पैदा कर ले उसके बाद स्तनों को ऊपर उठाते हुए और फिर स्तन को हर तरफ से अच्छी मसाज दे। बेहतर और जल्दी रिजल्ट प्राप्त करने के लिए सुबह और रात में कम से कम 300 की गिनती करते हुए इस नियम का एक महीने तक पालन करें।


इस तरह स्तनों की मालिश से रक्त प्रवाह में वृद्धि होगी और प्रोलैक्टिन के उत्पादन में वृद्धि होगी जिस कारण स्तन विस्तार हार्मोन को प्रोत्साहित करने में मदद मिलेगी और स्तन का आकार स्वाभाविक रूप से बढ़ जायेगा और सभी तरह के कपडे आपके ऊपर पहले से अधिक अच्छे लगेंगे।
ब्रेस्ट का साइज बढ़ने के लिए क्या खायें –
आहार : Food

ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के उपाय – स्तन का आकार शरीरक हार्मोन की अनुपस्थिति पर भी निर्भर करता है। आपके शरीर में अगर पुरुष हार्मोन या टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की उपस्थिति होगी तो यह स्तन विकास में बाधा डाल सकता है। इस हार्मोन के अतिरिक्त बात करे तो एस्ट्रोजन की कमी भी छोटे स्तन के पीछे की एक वजह हो सकती है।

इन हार्मोनस पर काबू पाने के लिए सबसे अच्छा तरीका नपा तुला खाद्य पदार्थ ही सकता है। आप अपने संतुलित भोजन में सौंफ बीज, सोयाबिन और सोया से बने अन्य खाद्य पदार्थ सब्जियां,फलियां,फल,नट्स के साथ-साथ सूरजमुखी के बीज, तिल के बीज और सन बीज भी शामिल कर सकती है।
ब्रेस्ट का साइज बढ़ने के लिए योग – Yoga to increase breast size in hindi

सुडौल और बड़े आकार के स्तन पाने में कसरत और योग हमेशा ही सबसे उपयोगी साबित हुए है। स्तन मांसपेशियों के बढ़ाने के लिए आप पुश-अप,डम्बल से ब्रेस्ट प्रेस,वाल प्रेस,स्विंगिंग आर्म्स के साथ-साथ घर पर


गोमुखासन,उष्ट्रासन,वृक्षासन,द्विकोणासन आदि योग का अभ्यास सुडौल और अधिक आकर वाले स्तन प्राप्त करने के लिए कर सकती है। ये सभी कसरत और योग आपको शारीरिक ताजगी देने के साथ-साथ शरीर से तनाव भी दूर कर देंगे।
छोटे ब्रैस्ट को बड़ा दिखाने के लिए सही ब्रा खरीदें 

अपने छोटे स्तनों को उजागर करने के लिए हमेशा छोटे या गलत फिटिंग वाले ब्रा पहनना आपकी ब्रेस्ट स्वाथ्य के लिए हानिकारक हो सकता है इसलिए स्तनों को बड़े और फुले हुए देखने के लिए आप गद्देदार ब्राकी मदद ले सकती है पर घर पर रहते हुए या अधिक समय तक ऐसी ब्रा को पहनना आपके ब्रेस्ट और स्वास्थ्य दोनों के लिए गलत हो सकता है।
ब्रा है क्या?, कहाँ से आई, क्यों आई

इन सरल और सफल उपचारों को अपनी दिनचर्या में शामिल कर और कुछ सप्ताह की प्रतीक्षा के बाद आप पाएंगी कि आपके स्तन का आकर पहले से सफलतापूर्वक बढ़ गया है। ये ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के उपाय आपके आत्मविश्वास को बढ़ावा देने,आपको अधिक लोगों की नजर में लाने,फिट और आकर्षक बॉडी शेप देने में अहम योगदान भी देगा।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.