Header Ads

महिलाएं अपनी पैंटी को लेकर


महिलाएं अपनी पैंटी को लेकर क्यों शेयर करती हैं, ये बाते …?
सोना हर इंसान की जिंदगी का सबसे अहम हिस्सा होता है। आपका दिन पूरा नहीं हो सकता जब तक आप चैन की नींद नहीं सो जाते और आपका दिन ढंग से शुरू नहीं हो सकता जब तक आप टेंशन फ्री उठ नहीं जाते। लेकिन चैन की नींद सोने और टेंशन फ्री उठने के बीच आपकी एक गलती आपका दिन खराब कर सकती है। वो गलती है आपके इनरगार्मेंट्स। ब्रा तो फिर भी आप उतार कर सो सकती हैं लेकिन कुछ लड़कियों को बिना अंडरवियर मतलब पैंटी के बिना नींद नहीं आती। पैंटी आपको एक इनर कंफर्ट देती है लेकिन अगर यह कंफर्टेबल न हो तो पूरा दिन भी खराब जा सकता है। इसलिए आज हम आपको लड़कियों की ऐसी पैंटी से जुड़ी गलतियां बताने जा रहे हैं जो अक्सर वो करती रही हैं।

गलत साइज पहनना
गलत साइज की पैंटी पहनना एक बुरे सपने की तरह होता है। छोटे साइज की पैंटी से आपकी स्किन में रैशेज हो सकते हैं और अगर आप बड़े साइज की पैंटी पहनती हैं तो यह किसी भी ड्रेस के साथ बहुत भद्दा दिख सकता है।

गलत साइज पहनना
कई तरह की पैंटी मार्केट में मौजूद है। लेकिन महिलाएं अक्सर एक ही तरह की पैंटी हर ड्रेस के साथ इस्तेमाल कर लेती हैं जो कि गलत है। यहां तक कि महिलाएं बॉडकून ड्रेस के साथ नॉर्मल पैंटी पहनती हैं रिजल्ट यह होता है कि ड्रेस से पैंटी लाइन्स दिखने लग जाती है जो पूरे लुक का सत्यानाश कर देती है।
निर्देश न मानना
हर कपड़े को धोने के लिए निर्देश दिए होते हैं। इन्हीं निर्देशों को न मानने की गलती लगभग हर इंसान करता है। इसी वजह जिस पैंटी को छह महीने चलना हो बस दो महीने में ही अपनी जान दे देती है।

खराब पैंटी को न फेंकना
हर पैंटी की एक शेल्फ लाइफ होती है। कोई भी पैंटी छह से आठ महीने तक ही चल पाती है। अपनी शेल्फ लाइफ क्रॉस करने के बाद ये डल हो जाती हैं। ऐसे में इन्हें फेंकने में ही आपकी भलाई है लेकिन महिलाएं इन्हें तब तक रखती हैं जब तक ये फट न जाएं।

गलत फैब्रिक का चुनाव
सिल्क या सैटिन भले ही देखने में सेक्सी लगती हो लेकिन उसे पूरे दिन पहनना आपके लिए दर्द भरा हो सकता है। इसलिए रोजाना के इस्तेमाल के लिए कॉटन फ्रेब्रिक ही चुनें। यह कंफर्टेबल भी होगा साथ ही आप अंदर से फ्री महसूस कर पाएंगी।
गंदी पैंटी पहनना
हमें पूरे दिन पसीने-धूल मिट्टी से दो चार होते रहते हैं। ऐसे में दिन खत्म होने पर आपका पैंटी बदलना बेहद जरूरी हो जाता है। अगर आप ऐसा नहीं करेंगी तो इससे आपको इंफेक्शन हो सकता है। इसलिए रोजाना अपनी पैंटी को जरूर बदलें।
https://healthtoday7.blogspot.in/

लड़कियां पैंटी क्यों पहनती हैं? क्या पैंटी पहनना जरूरी होता है?

क्या पैंटी पहनने का कारण महिला के गुप्तांगों को ढ़कना मात्र है? क्या इसकी रचना सामजिक लाज-शर्म के कारण हुई? या फिर लडकियां पैंटी और भी किसी कारण से पहनती हैं? क्या पैंटी पहनने के कुछ ठोस फायदे हैं? या फिर कोई शारीरिक नुक्सान?


हमारे पिछले एक लेख में लड़कियों के ब्रा पहनने के कारणों पर चर्चा की थी। आज का मुद्दा भी उसी से जुड़ा हुआ है।पैंटी पहनने के कारण तर्क और विचारों को परे रख कर देखा जाए तो किसी भी महिला के लिए पैंटी पहनना आवश्यक है क्योंकि ऐसे कई कारण है जिससे यह निष्कर्ष निकलता है कि महिलाओं को पैंटी पहननी चाहिए। उसमे से कुछ प्रमुख कारण है।
महिलाओं के पैंटी पहनने के कुछ ठोस कारण

● आरामदायक – महिलाये अक्सर पैंटी अपने कम्फर्ट जोन में रहने के लिए पहनती है। चाहे कितनी भी टाइट जीन्स , स्कर्ट हो या फिर कोई ढीली सी सलवार , पैंटी पहनने से उन्हें असहज नही महसूस होता ।इस तरह की टाइट जीन्स पहनी हो तो आवश्यक है कि उसके पहले एक आरामदायक, सूती कपड़े की पैंटी उसके निचे जरूर पहनें। यह पैंटी आपकी योनि और जीन्स के बीच एक आरामदायक लेयर बना देती है, जिससे आपको पुरे दिन आराम मिलेगा।
https://healthtoday7.blogspot.in/
● पूरा दिन तरोताजा रहने के लिए – आपके भागदौड़ भरे दिन में भी आपको यह तरोताजा रखती है। आपकी पैंटीअतिरिक्त पसीना सोखकर आपको पुरे दिन तरोताज़ा रखने में आपकी सहायक होती है।

● कुछ महिलाओं को व्हाइट डिस्चार्ज या अन्य वेजिनल डिस्चार्ज की समस्या होती है । ऐसे में उनके कपड़े खराब होने का सबसे ज्यादा डर बना रहता है। पैंटी इस व्हाइट डिस्चार्ज को सोखकर आपके कपड़ो को खराब होने से बचाती है।


● जिनके पीरियड्स एक तय समय पर नही आते है उन्हें तो पैंटी पहनना सख्त आवश्यक है। क्योंकि पैंटी ही उन्हें उस समय बचा सकती है।

● जिन महिलाओं को किसी बीमारी के वजह से या फिर उनके गॉल ब्लैडर पर ज्यादा प्रेशर पड़ने के वजह से यूरिन लीक होने की समस्या होती है उन्हें भी नित्य पैंटी पहनना चाहिए।
● प्रेगनेंसी के बाद पोस्टपार्टम फ्लो होता है। पोस्टपार्टम फ्लो में योनि से एक लिक्विड का स्त्राव होता है ,यह डिलीवरी के पश्चात कुछ हफ़्तों तक होता है। पैंटी पहनने के कारण इस फ्लो से आपके वस्त्र खराब नही होंगे।

● मासिक धर्म आने पर पैड्स या कपड़े को सही ढंग से लगाने के लिए पैंटी पहनना जरूरी है। इसकी बनावट ही इस प्रकार की गई है कि आप इस पर आसानी से अपने पैड्स को चिपका सकती है।


क्या रात को सोते वक्त ब्रा और पैंटी पहनने चाहिए?

वैसे तो माँ-दादी की सलाह सही ही होती है, लेकिन कुछ बातों में गड़बड़ ही। एक ऐसी ही गलत सलाह अक्सर मिलती है रात को पेहेन्ने वाले वस्त्रों को लेकर। लड़कियों को अलग-अलग गलत कारण समझकर रात को भी ब्रा और पैंटी पेहेन कर सोने की सलाह मिलती है।


पर यह सलाह गलत है। रात को आप को ब्रा और पैंटी नहीं पहनी चाहिए। जानिये क्यों:




१. ब्रा पहन के सोने से रक्त परवाह में असर पड़ता है जिससे आपके बूब्स की हेल्थ पे असर पड़ता है |

२. स्किन इर्रिटेशन भी एक कारण है खास कर जबआप अंडरवायर्ड ब्रा का इस्तेमाल करते हो तो | उसके हुक्स और वायर्स से आपकी स्किन को नुक्सान पहुंच सकता है | अगर घाव हो गया तो सिस्ट होने का खतरा ज़्यादा है |




३.हाइपर पिगमेंटेशन ज़्यादातर स्ट्रैप्स से होता है | जब ज़्यादा देर तक टाइट स्ट्रैप्स में आप रहते हो तो ब्लड सर्कुलेशन रुकने के कारण उस त्वचा का रंग बदल जाता है |

४. आसवस्ति लगने से भी आपकी नींद पूरी नहीं हो सकती है |

५. ब्रैस्ट फंगस के बारे हो सकता है ज़्यादा लोगो को ज्ञात न हो लेकिन ये काफी ज़्यादा परेशानी का शबाब बन्न सकता है अगर आप कही गर्म जगह रहते हो या आपको काफी ज़्यादा पसीने की शिकायत हो तो |

ठीक उसी तरह की समस्या हमारे पैंटी के साथ भी है | इन्फेक्शन , फंगस , रक्त प्रवाह में कमी इत्यादि समस्याए यहाँ भी हो सकती है | इसके अलावा कई तरह की और समस्याए , गुप्त अंग में जलन जैसी बीमारी भी हो सकती है | आम तौर पे अगर किसी को इस तरह की समस्या भी हो तो वो इनसब के इलाज से हिचकिचाते है | लेकिन अगर समय पे इसका इलाज किया जाए तो ये सब चीज़े भी संभाली जा सकती है | अगर आपको मासिक धर्म न आया हो तो कोसिस करे टाइट पैंटी न पहनने का | सिर्फ शॉर्ट्स या पजामे में भी सोया जा सकता है | इससे वह भी पर्याप्त मात्रा में एयर सप्लाई होगा जिससे वहाँ फंगस या बैक्टीरिया जमा नहीं होगा |
अगर आप ये चीज़े नहीं करते थे तो आज से शुरू करे , इसमें कोई बुराई नहीं है उल्टा आप अपने स्वास्थ को और बेहतर बना रहे है | संकोच न करे !


जानिए महिलाओं को कैसी पैंटी खरीदनी चाहिए, सिर्फ महिलाएं पढ़ें
आज के इस पोस्ट के अंदर हम आपको बहुत से विभिन्न प्रकार की पैंटी के बारे में बताने वाले मार्केट में विभिन्न प्रकार के कलर्स डिजाइंस और साइज में पैंटी मिल जाती है। पैंटी लेते समय उसके साइज का खास का ध्यान रखें, क्योंकि महिलाओं को 3 साइज छोटा, मध्य व सबसे बड़ा पता होता है और इन्हीं साइज में से एक साइज की पैंटी सेलेक्ट करती हैं। औरतों को अपने शरीर के जरूरत के अनुसार ही पैंटी का चुनाव करना चाहिए।

आप अगर कसरत, योगा और व्यायाम करने जा रही है, तो आपको ऐसी पैंटी का चयन करना चाहिए, जिससे आपके शरीर का पसीना बाहर निकलता रहे। आपको किसी प्रकार की कोई समस्या उत्पन्न ना हो। पैंटी का चुनाव करने से पहले आप को यह ध्यान में होना चाहिए, कि आप किस खास प्रोग्राम के लिए पेंटी पहन रही हैं, तब उसी मोके के अनुसार आप को पैंटी सेलेक्ट करने मे बेहद आसानी होगी। 

दोस्तों पैंटी खरीदते वक्त आपको यह खास ध्यान रखना चाहिए कि आप पैंटी कौन से कपड़ों पर पहन रही है? उसके अनुसार ही पैंटी का चयन करें, क्योंकि पेंटी खरीदने से पहले अपने साइज के कपड़ों पर गौर करें, कि आप ज्यादातर क्या पहनते हैं, यदि आप निचली कमर की पेंट या स्कर्ट पहनती है, तो निचली कमर तक की पैंटी ले अगर आप ज्यादातर सलवार सूट या साड़ी का प्रयोग करती है तो इसके लिए आप सामान्य सूत्र पैंटी भी खरीद सकती हैं, परंतु आप को एक विशेष खास बात का ध्यान रखना होगा।
जब कभी भी आप कोई पारदर्शी वस्त्र यह रंग बिरंगी ड्रेस पहनने वाली है, तो आपको पेंटी भी उसी रंग की ही सेलेक्ट करनी चाहिए अगर आप अपनी पैंटी किसी और कलर की पहनती हैं जो कि आपकी ड्रेस के अंदर मैचिंग नहीं खाती हो और आप ऐसा नहीं करते हैं, तो आपकी ड्रेस में से आपकी पैंटी साफ साफ दिखाई देगी इसी प्रकार आपको सभी प्रकार के रंग बिरंगी पैंटी अपने पास रखनी चाहिए। जिससे आप कभी भी जिस कलर की ड्रेस पहने उसी रंग की पैंटी आप सेलेक्ट करें, जिससे होने वाली परेशानी से आप बच सकें।



कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.