Header Ads

कैसे करें सेक्स दूरिंग प्रेगनेंसी


कैसे करें सेक्स दूरिंग प्रेगनेंसी (Pregnancy me sex kaise kare)


सेक्स दूरिंग प्रेगनेंसी यानी गर्भावस्था में सेक्स एक बहुत ही संवेदनशील और ज़रूरी विषय है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में हार्मोनल बदलाव होते हैं, जिसकी वजह से कभी उनमें सेक्स करने की (रिलेशन बनाने की) इच्छा होती है, तो कभी नहीं। गर्भावस्था में सेक्स करना सही है या नहीं, या फिर इससे शिशु को नुकसान होता है, ये सारे सवाल हर गर्भवती महिला के मन में होते हैं।

गर्भवती महिलाओं के इन्ही तमाम सवालों का समाधान हम इस ब्लॉग के जरिये बताने जा रहे हैं, ताकि गर्भावस्था में सेक्स को लेकर महिलाएं तनाव मुक्त रहें।

1.क्या गर्भावस्था में सेक्स करना सुरक्षित है? (Kya pregnancy me sex karna surakshit hai)


गर्भावस्था में सेक्स (pregnancy me sambhog) करने को लेकर गर्भवती महिलाओं के मन में कई तरह के सवाल होते हैं, जिनमें पहला सवाल तो यही होता है कि क्या गर्भावस्था में सेक्स करना सुरक्षित है?
विशेषज्ञों के अनुसार, अगर गर्भवती को गर्भावस्था से संबंधित कोई जटिलता या स्वास्थ्य संबंधी कोई अन्य समस्या नहीं है, तो इस दौरान सेक्स करना बिल्कुल सुरक्षित है। कई लोग गर्भ में पल रहे शिशु के बारे में चिंतित रहते हैं कि कहीं सेक्स से उसे कोई नुकसान ना हो जाए। मगर, शिशु गर्भाशय के अंदर सुरक्षित होता है, इसलिए थोड़ी सावधानियों के साथ आप आराम से सेक्स कर सकते हैं।

यूँ तो गर्भावस्था में रिलेशन बनाना (pregnancy me sambhog) सुरक्षित होता है, और आप जितना चाहें उतना सेक्स कर सकते हैं, लेकिन कुछ मामलों में सावधानी बरतने में ही आपकी भलाई होती है।

2.किन स्थितियों में गर्भावस्था में सेक्स नहीं करना चाहिए? (Pregnancy me sex kab nahi karna chahiye)

विशेषज्ञों के अनुसार, कुछ विशेष स्थितियों में आपको प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) करने से बचना चाहिए। इनमें से कुछ प्रमुख स्थितियों के बारे में नीचे बताया गया है -
अगर आपका पहले कभी गर्भपात हुआ हो, तो आपको डॉक्टर की सलाह के बिना प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) नहीं चाहिए। इसके साथ ही अगर वर्तमान गर्भावस्था में आपको गर्भपात होने का ख़तरा है, तो आपको इस दौरान सावधानी के तौर पर सेक्स से दूरी बना कर रखनी चाहिए।
अगर आपकी पिछली गर्भावस्था में आपका समयपूर्व प्रसव (premature delivery in hindi) हो गया था, तो आपको डॉक्टर की सलाह से ही प्रेगनेंसी में सेक्स नहीं करना चाहिए।
अगर आपको प्लेसेंटा से जुड़ी कोई समस्या (जैसे प्लेसेंटा प्रिविआ) है, तो आपको प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) नहीं करना चाहिए।
अगर आपकी गर्भाशय ग्रीवा यानी सर्विक्स सामान्य नहीं है या समय से पहले खुलने लगी है, तो आपको डॉक्टर की सलाह के बिना गर्भावस्था में सेक्स (pregnancy me sex) से बचना चाहिए।
अगर आपके गर्भाशय की झिल्ली में छेद है और आपका एमनियोटिक द्रव लीक होता है, तो आपको प्रेगनेंसी में सेक्स नहीं करना चाहिए।
अगर आपकी योनि से बिना किसी वजह से रक्तस्राव हो रहा है, तो आपको प्रेगनेंसी में सेक्स नहीं (pregnancy me sex) करना चाहिए।
अगर आपके पति को यौन संक्रामक रोग जैसे जेनिटल हर्पीज (जननांग में दाद-खुजली), एच.आई.वी./एड्स, गोनोरिया आदि है, तो आपको हर हालत में प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) से बचना चाहिए। अगर आपका सेक्स करने का बहुत ज्यादा मन है, तो आपको डॉक्टर की सलाह से, अच्छी गुणवत्ता का कंडोम लगाकर ही सेक्स करना चाहिए।
अगर आपको सेक्स के बाद गर्भाशय संकुचन महसूस होते हैं, तो आपको डॉक्टर की सलाह के बिना प्रेगनेंसी में सेक्स नहीं करना चाहिए।

3.गर्भावस्था की पहली, दूसरी और तीसरी तिमाही में सेक्स कैसे करें? (Pregnancy ki pehli, dusri aur tisri timahi me sex kaise kare)

एक शोध के अनुसार, गर्भावस्था की तीनों तिमाहियों में सेक्स किया जा सकता है। हालांकि यह आपकी आम सेक्सुअल लाइफ से थोड़ा अलग होता है, लेकिन कुछ सावधानियों के साथ आप प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) का भरपूर मजा ले सकते हैं। आपको गर्भावस्था की विभिन्न तिमाहियों में निम्न तरह से सेक्स करना चाहिए -
पहली तिमाही के दौरान प्रेगनेंसी में सेक्स

आमतौर पर गर्भावस्था की शुरूआत में संभोग करना सुरक्षित होता है, लेकिन सावधानी के तौर पर आपको शुरुआती दो - तीन हफ़्तों के लिए सेक्स नहीं करना चाहिए। पहली तिमाही में सेक्स करना दूसरी व तीसरी तिमाही की तुलना में आसान होता है, क्योंकि अभी आपका पेट ज्यादा बढ़ता नहीं है। प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) के दौरान ऐसी अवस्था में रहें, जिससे आपके पेट पर दबाव ना पड़े और गर्भ सुरक्षित रहे।
दूसरी तिमाही के दौरान प्रेगनेंसी में सेक्स

गर्भावस्था की दूसरी तिमाही में आपके शरीर में कई बदलाव होते हैं। इस दौरान होने वाले हार्मोनल बदलाव की वजह से आपकी सेक्स करने की इच्छा कभी बहुत ज्यादा तो कभी बिल्कुल कम हो सकती है। इस दौरान आराम से सेक्स करें और अपने पेट पर बिल्कुल दबाव ना पड़ने दें। अगर आप शारीरिक रूप से फिट हैं और आपको डॉक्टर ने सेक्स करने के लिए मना नहीं किया है, तो आप प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) कर सकते हैं।
तीसरी तिमाही के दौरान प्रेगनेंसी में सेक्स

गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में सेक्स करने से पहले ज्यादातर लोगों के मन में एक चिंता रहती है, कि इससे समयपूर्व प्रसव तो नहीं हो जाएगा। विशेषज्ञ बताते हैं, कि कुछ दुर्लभ मामलों को छोड़कर प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) की वजह से समयपूर्व प्रसव नहीं होता है। इस दौरान कुछ सुरक्षित स्थितियों में ही सेक्स करना चाहिए (जैसे - करवट वाली स्थिति, महिला का ऊपर होना आदि) ताकि आपके पेट पर दबाव ना पड़े।

नोट -अगर आपके मन में प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) को लेकर कोई सवाल या चिंता है, तो डॉक्टर से बेहिचक बात करें, क्योंकि वो आपको आपकी स्थिति के अनुसार सही सलाह दे पाएंगे।
4.क्या प्रेगनेंसी में सेक्स करने से शिशु को नुकसान पहुंचता है? (Kya pregnancy me sex karne se shishu ko nuksan pahuchta hai)


नहीं, गर्भावस्था में सेक्स (garbhavastha me sambhog) करने से आपके शिशु को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। शिशु के चारों तरफ एमनियोटिक द्रव और गर्भाशय की मांसपेशियों का मजबूत कवच होता है। इस कवच की वजह से सेक्स के दौरान शरीर में होने वाली हलचल का शिशु पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता है।

इसके साथ ही आपके पति का लिंग आमतौर पर आपकी सर्विक्स तक नहीं पहुंच सकता है, इसलिए सेक्स के दौरान केवल योनि ही प्रभावित होती है। लेकिन, अगर आपके पति का लिंग बहुत ज्यादा बड़ा है, तो उन्हें धीरे-धीरे सेक्स करने को कहें और ऐसी अवस्था में सेक्स करें जिसमें लिंग कम गहराई तक जाए।

5. क्या प्रेगनेंसी में सेक्स करने से प्रसवपीड़ा शुरू हो सकती है? (Kya pregnancy me sex karne se labor pain shuru ho sakta hai)
अगर आपकी गर्भावस्था सामान्य और जोखिम-रहित है, तो इस दौरान सेक्स करने या ऑर्गेजम यानी चरमोत्कर्ष पर पहुंचने से प्रसवपीड़ा शुरू होने का खतरा न के बराबर होता है। मगर, ऑर्गेजम के साथ ही पति के वीर्य में मौजूद प्रोस्टेगलैंडिन हॉर्मोन (prostaglandins in hindi) की वजह से आपको गर्भाशय में हल्के संकुचन महसूस हो सकते हैं।

6.गर्भावस्था में सेक्स करने की सही अवस्थाएं क्या हैं? (Pregnancy me sex karne ki sahi positions kya hai)

गर्भावस्था में सेक्स (pregnancy me sambhog) करते समय आपको वही स्थिति अपनानी चाहिए, जिससे पेट के निचले हिस्से पर दबाव कम पड़े। तो चलिए जानते हैं कि आप गर्भावस्था के दौरान किन स्थितियों में सेक्स कर सकते हैं।
करवट वाली स्थिति - इस तरह की स्थिति में महिला के पेट के निचले हिस्से में कम दबाव पड़ता है। गर्भावस्था में सेक्स करवट वाली स्थिति में करना सुरक्षित माना जाता है।
महिला का ऊपर होना - गर्भावस्था में सेक्स (garbhavastha me sambhog) के दौरान महिला को ऊपर होने वाली स्थिति अपनानी चाहिए। महिला जब ऊपर होती है, तो उसके पेट पर दबाव नहीं पड़ता है। साथ ही वो समय समय पर खुद को नियंत्रित करने में भी सक्षम रहती है।
लेटने वाली स्थिति - इस स्थिति में महिला पेट को ऊपर करके पीठ के बल लेटती है और उसके घुटने ऊपर की तरफ होते हैं, तो तलवे जमीन से जुड़े रहते हैं। गर्भावस्था में संभोग इस स्थिति में करने से महिला को कोई असुविधा नहीं होती।

7.क्या गर्भावस्था में मौखिक सेक्स कर सकते हैं? (Kya pregnancy me oral sex karna safe hai)

गर्भावस्था में योनि सेक्स से बेहतर मौखिक सेक्स होता है, लेकिन मौखिक सेक्स में कुछ चीजों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। दरअसल, मौखिक सेक्स (oral sex in hindi) करते समय आपको योनि में फूंक नहीं मारनी चाहिए, इससे वायु के बुलबुले रक्त वाहिका में रूकावट डालते हैं, जिसकी वजह से महिला या शिशु की मौत हो सकती है।
अगर आपको या आपके पति को किसी भी तरह का संक्रमण हो तो मौखिक सेक्स नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे संक्रमण बढ़ता है। अगर आपको ओरल सेक्स (oral sex in hindi) करने में कोई भी दुविधा हो तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।
8.गर्भावस्था में सेक्स करने के क्या फायदे हैं? (Pregnancy me sex karne ke fayde kya hai)


गर्भावस्था में सेक्स (garbhavastha me sambhog) करना मां और शिशु दोनों के लिए लाभकारी है। तो चलिए जानते हैं कि प्रेगनेंसी में सेक्स करने के क्या फायदे हो सकते हैं।
ब्लड प्रेशर कम करता है - गर्भावस्था में सेक्स (garbhavastha me sambhog) करने से ब्लड प्रेशर (bp) कम होता है। ज्यादा ब्लड प्रेशर मां और शिशु दोनों के लिए हानिकारक है।
वजन कम करने में सहायक होता है - गर्भावस्था में सेक्स (garbhavastha me sambhog) करने से आप ज्यादा फिट रह सकती हैं। इस दौरान आप सिर्फ 30 मिनट में 50 कैलोरी से ज्यादा खो सकती हैं, जोकि हेल्थ के लिए अच्छा है।
दर्द सहने की क्षमता को बढ़ाता है - गर्भावस्था में सेक्स करने से आपकी सहनशक्ति 78 प्रतिशत बढ़ जाती है, जिससे प्रसव के समय आपको थोड़ा आराम महसूस हो सकता है।
प्रसव के बाद जल्दी ठीक होने में मददगार होता है - गर्भावस्था में सेक्स (garbhavastha me sambhog) करने से आप प्रसव के बाद जल्दी ठीक हो सकती हैं, क्योंकि प्रेगनेंसी में सेक्स आपकी योनि से शिशु के जन्म को सरल बना देती है। जब शिशु का जन्म थोड़ा सरल होता है, तब प्रसव के बाद जल्दी ठीक होने की संभावना होती हैं।

9. प्रेगनेंसी में सेक्स के बाद किन स्थितियों में डॉक्टर से सम्पर्क करें? (Pregnancy me sex ke baad kin sthitiyo me doctor se salah le)

गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) के बाद निम्न स्थितियों में डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए -
गर्भावस्था में सेक्स (sex during pregnancy in hindi) के दौरान व चरमोत्कर्ष पर पहुंचने पर आपको गर्भाशय में संकुचन महसूस होना सामान्य है, लेकिन अगर ये संकुचन दो से पांच मिनट बाद भी बंद नहीं हो रहे हैं।
अगर प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) के बाद आपको पेट में दर्द या ऐंठन महसूस हो रही है।
अगर गर्भावस्था में सेक्स (sex during pregnancy in hindi) के बाद आपको योनि से रक्तस्राव हो रहा है।

10. क्या गर्भावस्था में सेक्स करने के बाद अलग महसूस होता है? (Kya Pregnancy me sex karne se alag mehsus hota hai)
गर्भावस्था में सेक्स करने से महिलाओं को कुछ अलग परिवर्तन महसूस होता है, जिसमें से कुछ परिवर्तन निम्नलिखित हैं।
गर्भावस्था में सेक्स (pregnancy me sambhog) के बाद पेट में ऐंठन महसूस हो सकती है।
गर्भावस्था में सेक्स (sex during pregnancy in hindi) के बाद निपल्स में दर्द महसूस हो सकता है।
गर्भावस्था में संभोग (pregnancy me relation banana) के बाद योनि से रक्तस्त्राव हो सकता है।
गर्भावस्था में सेक्स (pregnancy me sambhog) से महिला ज्यादा सुख अनुभव कर सकती हैं।

11. गर्भावस्था में सेक्स से जुड़े मिथक क्या है? (Pregnancy me sex se jude mithak kya hai)


गर्भावस्था में सेक्स (sex during pregnancy in hindi) करने को लेकर कई सारे मिथक हैं। हम आपको कुछ चुनिंदा मिथक नीचे बता रहे हैं -
प्रेगनेंसी में सेक्स से जुड़े मिथक : संभोग से गर्भपात हो सकता है - कई लोगों का मानना होता है कि गर्भावस्था में सेक्स करने से गर्भपात हो सकता है। गर्भावस्था में सेक्स गर्भपात का कारण नहीं बनता है, क्योंंकि सेक्स का संकुचन और प्रसव का संकुचन अलग होता है। गौरतलब है कि आपको डॉक्टर से संपर्क करके यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि आप पूरी तरह से फिट हैं।
प्रेगनेंसी में सेक्स से जुड़े मिथक : शिशु को पता चल जाता है - कुछ लोग यह मानते हैं कि गर्भावस्था में सेक्स (garbhavastha me sambhog) करने के दौरान शिशु को सब पता चल जाता है कि उसके माता पिता क्या कर रहे हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि बच्चा गर्भ थैली और गर्भाशय की मांसपेशियों से पूरी तरह से ढका रहता है।
प्रेगनेंसी में सेक्स से जुड़े मिथक : शिशु को चोट लगती है - गर्भावस्था में सेक्स (pregnancy me relation banana) को लेकर एक मिथक यह है कि अगर इस दौरान सेक्स करते हैं, तो शिशु को चोट लग जाती है, जबकि सच्चाई यह है कि शिशु पूरी तरह से गर्भ की थैली में सुरक्षित होता है, ऐसे में उसे चोट नहीं लग सकती है।
गर्भावस्था के दौरान आप अपने पति को पहले से भी ज्यादा आकर्षित लग सकती हैं। ऐसे में आपके पति आपको संबंध बनाने के लिए कहें, और आपका भी मन हो तो आपको बेहिचक प्रेगनेंसी में सेक्स (sex during pregnancy in hindi) करना चाहिए। इस दौरान पेट पर दबाव ना पड़ने दें, ताकि शिशु को किसी प्रकार की परेशानी ना हो।
गर्भावस्था में सेक्स (sex during pregnancy in hindi) करना सुरक्षित है, लेकिन अगर आपको डॉक्टर ने सेक्स करने के लिए मना किया है, तो आप सेक्स ना करें। इसके साथ ही अगर आपके मन में प्रेगनेंसी में सेक्स (pregnancy me sex) को लेकर किसी प्रकार की कोई दुविधा या चिंता है, तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.