Header Ads

प्रेग्नेंट कैसे होते है


प्रेग्नेंट कैसे होते है ? सही समय की पूरी जानकारी हिंदी में


दोस्तों आज हम आपको लड़की प्रेग्नेंट कैसे होती है यानी कि प्रेग्नेंट कैसे होते हैं ? (Pregnant kaise hote hai ?) इस विषय की जानकारी देने वाले हैं | आजकल के इस आधुनिक जीवन में सब जल्दबाजी में होने लगा है , और इसी वजह से आजकल लड़के और लड़कियों की शादी बहुत कम उम्र में होने लगी है | वैसे देखा जाए तो यह पहले से चलता आ रहा है |

भारतवर्ष में सेक्स एजुकेशन ज्यादातर पुरुष और महिलाओं को नहीं है , और सेक्स एजुकेशन होना सबसे महत्वपूर्ण बात होती है | सेक्स एजुकेशन की वजह से हमें कई सारे रोगों से मुक्ति मिल सकती है जैसे कि एचआईवी एड्स , एसटीडी या अन्य संक्रामक बीमारियों से हमें बचने में मदद मिलती है |

जब लड़का और लड़की की उम्र छोटी होती है उस दौरान उनके मन में प्रेगनेंसी के बारे में कई सारी गलतफहमियां मां-बाप डाल देते हैं | जैसे कि बचपन में मम्मी अपने बच्चे को ऐसा बोलती है कि तुम्हें भगवान ने लाया है , कई बार ऐसा बोलती है कि कोई परी आई और तुम्हें हमें दे गई | ऐसी ऐसी गलतफहमी की वजह से बच्चों के मन में अलग-अलग विचार आते रहते हैं | और उनको अगर कोई कुछ भी बोल दे तो वह उसे मान लेते हैं |

ठीक प्रेगनेंसी के बारे में बच्चों के मन में कई सारे विचार बैठ जाते हैं जैसे कि लड़की को किस किया तो लड़की प्रेग्नेंट हो जाती है , अगर लड़की को गले लगाया तो लड़की प्रेग्नेंट हो जाती है | लेकिन ऐसा कुछ नहीं है दोस्तों |

प्रेगनेंसी के बारे में आपको सही से जानकारी होना बहुत जरूरी होता है , क्योंकि महिला को प्रेग्नेंट करने के लिए क्या जरूरी होता है यदि आपको यह पता नहीं होगा तो आपकी शादी होने के बाद आपके वैवाहिक जीवन पर इसका बहुत बुरा प्रभाव पड़ने वाला है |

इसलिए अब हम जानते हैं,


औरत प्रेग्नेंट कैसे होते है ?प्रेग्नेंट कैसे होते है

महिला को गर्भवती बनाने के लिए पुरुष का लिंग महिला की योनि के अंदर जाना जरूरी होता है , जैसे जैसे पुरुष सेक्स करते समय अपने लिंग को अंदर बाहर करता है वैसे वैसे कुछ समय बाद उसके लिंग से जो वीर्य नहीं निकलता वह महिला की योनि के अंदर जाना बहुत जरूरी होता है | जब यह वीर्य महिला के गर्भाशय तक पहुंचता है तब महिला के शरीर में बनने वाले अंडे से जब इसका मिलन होता है तब महिला प्रेग्नेंट होने लगती है |

महिला के शरीर में अंडे बनते हैं यह तो आपको पता ही होगा , और महिला को पीरियड होना इसका ही एक हिस्सा है |

गर्भवती होने का एक योग्य समय होता है उसे ओवुलेशन समय कहा जाता है, ओवुलेशन के समय महिला गर्भवती हो जाती है | ओवुलेशन के समय महिला के गर्भाशय से अंडे निकलते हैं | यह अंडे निकलने का समय पीरियड शुरू होने बाद 12 से 14 दिन का होता है | यदि पुरुष इस समय महिला के साथ संभोग करता है तो महिला जल्दी प्रेग्नेंट हो जाती है |
प्रेग्नेंट होने में देरी क्यों लगती है ?प्रेग्नेंट होने में देरी

अक्सर कई बार शादी होने दो साल बाद भी महिला प्रेग्नेंट नहीं होती है , और पति पत्नी इस विषय के बारे में बहुत चिंता करते हैं | उन्हें अक्सर लगता है कि उन दोनों के बीच में ही कुछ प्रॉब्लम है | लेकिन वह क्या गलती कर रहे हैं इस विषय के बारे में सोचते ही नहीं है |

महिला प्रेग्नेंट करने के लिए संबंध बनाने से ज्यादा सही समय पर संबंध बनाना बहुत जरूरी होता है | गर्भधारणा का उचित समय जानकर आप महिला के साथ यौन संबंध बनाते हो तो वह तुरंत प्रेग्नेंट होने लगती है |

प्रेग्नेंट होने के लिए महिला के साथ कब सेक्स करना चाहिए यह सबसे जरूरी होता है क्योंकि जब महिला के पीरियड आने लगते हैं तब उस महिला का पीरियड साइकिल पता होना बहुत जरूरी होता |

अगर महिला का पीरियड साइकिल 28 दिनों का है तो औरत को जल्द ही गर्भवती बनाने के लिए पुरुष को पीरियड होने के 12 से 14 दिन के बाद सेक्स करना बहुत जरुरी होता है | यदि पीरियड होने के बाद 12 से 14 के दिन के अंदर यदि आप सेक्स करते हो तो महिला जल्द ही मां बन सकती है |
सही समय पर यौन संबंध बनाने के बाद भी प्रेग्नेंट नहीं हो रही है ?यौन संबंध बनाने के बाद भी प्रेग्नेंट

यदि आपने पहला के पीरियड आने के बाद में 12 से 14 दिन के अंदर यौन संबंध बनाया है लेकिन फिर भी वह महिला प्रेग्नेंट नहीं हो रही है ऐसा क्यों होता है ? क्या आपको पता है ?
वैसे देखा जाए तो महिला प्रेग्नेंट होने के लिए पुरुष के वीर्य में शुक्राणु का स्तर ज्यादा होना चाहिए और इस लिए पुरुष को सेक्स करने से पहले दो-तीन दिन मैं कभी हस्तमैथुन नहीं कर या हफ्ते में दो बार सेक्स करना उचित रहेगा , ऐसा करने से पुरुष के वीर्य में शुक्राणु की संख्या बढ़ जाती है | और इसी वजह से लड़की जल्दी प्रेग्नेंट होती है |
तो अब हम जानते हैं लड़की को जल्द ही प्रेग्नेंट करने के लिए हमें किन बातों का ख्याल रखना चाहिए ?
क्या करने से प्रेग्नेंट होती है महिलाएं ? जानिए :क्या करने से प्रेग्नेंट होती है महिलाएं
सही समय पर सेक्स करना बहुत जरुरी होता है |
गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन बिल्कुल ना करें |
पीरियड नियमित तरीके से होना बहुत जरूरी होता है|
शारीरिक संतुलन के साथ साथ मानसिक संतुलन होना बहुत जरूरी है |
अपने आहार पर ध्यान देना आपके लिए फायदेमंद रहे |
अपना वजन संतुलित रखना चाहिए |
सेक्स होने के बाद महिला को अपने पीठ के बल 15 से 20 मिनट लेटे रहना जरूरी है |
नियमित एक्सरसाइज करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा |
सेक्स करने के तुरंत बाद आपको अपनी योनि को नहीं धोना है |
सेक्स करते समय किसी भी प्रकार का ऑइंटमेंट या तेल का इस्तेमाल नहीं करना है |
सेक्स करते समय हर दो से तीन दिन के अंतराल में सेक्स करें |
हरी सब्जियों का सेवन करने से आपको फॉलिक एसिड अच्छी मात्रा में मिल जाएगा और यह प्रेग्नेंट होने के लिए फायदेमंद होता है |
प्रेग्नेंट ना होने के कारण आपको डॉक्टर से कब मिलना है ?प्रेग्नेंट ना होने के कारण डॉक्टर
यदि आप 1 साल से ज्यादा प्रयास करने के बाद भी प्रेग्नेंट नहीं हो पा रही है |
अगर सेक्स करते समय योनी से ब्लीडिंग हो रही है तो आपको डॉक्टर की सलाह लेनी जरूरी है |
अगर आपके पीरियड खत्म होने के बाद फिर भी ब्लीडिंग हो रही है तब आपको मिलना चाहिए |
अगर आपकी उम्र 36 साल से ज्यादा हो चुकी है |
आपको फर्टिलिटी के समस्या है तो |

अगर आपको ऊपर दिए हुए किसी भी प्रकार की समस्या आपको आ रही है तो आपको डॉक्टर की सलाह लेनी बहुत ही आवश्यक होती है |

तो दोस्तो यह थी प्रेग्नेंट कैसे करें ? इस विषय की जानकारी | यदि आपको फिर भी गर्भवती होने में परेशानियां हो रही है तो आप हमें नीचे कमेंट में लिख कर पूछ सकती है | 





पीरियड्स नहीं आए हैं तो क्या प्रेग्नेंट है ?


नमस्ते दोस्तों, आज हम आपको पीरियड्स नहीं आए हैं तो क्या प्रेग्नेंट है के बारे में जानकारी देने वाले हैं | हम देखते हैं कि लड़कियां अपने पीरियड्स को लेकर बहुत ही सीरियस रहती है, क्योंकि लड़कियों को पीरियड्स के दिनों में बहुत दर्द तो होता ही है लेकिन पीरियड्स के दिनों में लड़कियों के पूरे शरीर में विभिन्न प्रकार के बदलाव होते रहते हैं | लड़की जब १३-१४ साल की हो जाती है तब लड़की को पीरियड्स आना शुरू हो जाता है |पीरियड्स नहीं आए हैं तो क्या प्रेग्नेंट है

लड़की को जब पीरियड्स आते हैं तब लड़कियां डर जाती है, कई बार पहली बार पीरियड्स आने के कारण लड़कियां रोने लगती है जिन लड़कियों को पहली बार पीरियड्स आई हुई है उन लड़कियों ने इस बात को लेकर बिल्कुल भी डरना नहीं चाहिए | क्योंकि पीरियड्स यह प्रकृति का नियम होता है, जो लड़की इस दुनिया में जन्म लेती है उस लड़की को पीरियड्स आते ही है |

कई बार कुछ महीने ऐसे होते हैं जिन महीनों में लड़कियों को पीरियड्स नहीं आते हैं, लड़कियों को हर महीने ४ से ५ दिनों तक पीरियड्स आते हैं | पीरियड्स के दिनों में लड़कियों की पूरी डेली रूटीन बदल जाती है, क्योंकि इन दिनों में बहुत सारी जवान लड़कियों का पेट दर्द होते रहता है जिसके कारण लड़कियां काम नहीं कर पाती है |https://www.healthsiswealth.com/

योनि से रक्तस्त्राव होने के कारण लड़कियां कॉलेज नहीं जाती है, स्कूल नहीं जाती है, हर लड़की ने पीरियड्स को लेकर हर बात जान लेना चाहिए जिससे आपको पीरियड्स के बारे में सारी जानकारी मिल जाएगी | इसलिए आज हम हमारे सहेलियों को पीरियड्स नहीं आए हैं तो क्या प्रेग्नेंट हैं के बारे में जानकारी देने वाले हैं |
पीरियड्स ना आने के कारण क्या है ?पीरियड्स ना आने के कारण क्या है
पीरियड ना आने पर महिलाएं बहुत ही तनाव में आ जाती है, पीरियड्स मिस होने पर महिलाओं को ऐसा लगता है कि हम प्रेग्नेंट हो चुके हैं | लेकिन महिलाओं को और लड़कियों को हम बताते हैं कि अगर आपको किसी महीने पीरियड्स नहीं आती है तो आप प्रेग्नेंट हो सकती हो |
लेकिन अगर आपने किसी मर्द के साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाए हैं तो आप प्रेग्नेंट नहीं हो | प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड्स लेट होने के कारण बहुत सारे हैं, जिन महिलाओं को कुछ महीने पहले से ही मासिक धर्म आना शुरू हुआ है उन महिलाओं को और लड़कियों को बीच वाले महीनो में मासिक धर्म नहीं आता है |
क्योंकि कई बार शरीर में गड़बड़ी होने के कारण भी मासिक धर्म रुक जाता है, ऐसी स्थिति में आपने डरने की कोई जरूरत नहीं है लेकिन लगातार तीन चार महीनों तक अगर आपको मासिक धर्म नहीं आता है तो जल्द से जल्द आपने डॉक्टर से यह बात करनी चाहिए |
जिन लड़कियों का वजन बहुत ज्यादा बढ़ जाता है उन लड़कियों को भी पीरियड्स आने में तकलीफ हो सकती है | मोटापा बढ़ने के कारण लड़कियों के शरीर में हार्मोन सही तरीके से काम नहीं कर पाते हैं, जिसके कारण भी पीरियड्स लेट हो सकती है | इसलिए लड़कियों ने अच्छी जीवनशैली बनाने के साथ-साथ अच्छा डाइट फॉलो करना चाहिए |
अगर आप रोजाना अच्छा डाइट फॉलो करती हो, रोजाना एक्सरसाइज करती हो, योग करती हो तो आसानी से आपका वजन कंट्रोल में रहेगा और आपका मासिक धर्म हमेशा सही समय पर आएगा |
पीरियड्स मिस होने के लक्षण क्या है ?पीरियड्स मिस होने के लक्षण क्या है
पीरियड्स मिस होने के कारण लड़कियां बहुत ही तनाव में आ जाती है, जिस तरह से हमने ऊपर देखा कि कुछ शारीरिक कमजोरी होने के कारण भी पीरियड्स मिस हो सकती है | जिन लड़कियों के शरीर में पोषक तत्वों की कमी होती है उन लड़कियों को अक्सर पीरियड्स आते समय दर्द हो सकता है |
कई बार शरीर में पोषक तत्व ना होने के कारण भी महिलाओं की पीरियड अनियमित हो जाती है | बहुत सारी लड़कियां हम देखते हैं कि जिनका वजन बिल्कुल भी कम होता है, शरीर का वजन कम होने के कारण शरीर का ठीक तरह से विकास नहीं हो पाता है जिसके कारण लड़कियों के शरीर में मेंस्ट्रूअल सिस्टम पूरी तरह से बिगड़ जाता है |
इसलिए लड़कियों ने इस बात को ध्यान में रखकर शरीर का विकास होने पर ध्यान देना चाहिए, मासिक धर्म मिस होने पर आपको कुछ अलग ही महसूस होने लगता है | आपको ऐसा महसूस होने लगता है कि आपकी जिंदगी का एक हिस्सा बिल्कुल कम हो गया है, कई बार मासिक धर्म ना आने पर लड़कियां बिल्कुल तनाव में आ जाती है | क्योंकि लड़कियों को ऐसा लगता है कि कहीं हम प्रेग्नेंट तो नहीं है ना क्योंकि प्रेग्नेंट होने पर लड़कियों को पीरियड्स आना बंद हो जाता है |
बहुत सारी लड़कियों को थायराइड जैसी जानलेवा बीमारी होती है, जिन लड़कियों को और महिलाओं को थायराइड होता है उन महिलाओं को पीरियड्स आने में अनियमितता महसूस होती है इसलिए थायराइड से जल्द से जल्द छुटकारा मिलाएं |
जिन लड़कियों को संभोग करने के बाद हमेशा गर्भनिरोधक गोली का सेवन करने की आदत होती है उन लड़कियों को पीरियड्स आते समय दर्द का सामना करना पड़ता है |
इसलिए ज्यादा गर्भनिरोधक गोली का सेवन बिल्कुल ना करें, अगर आप किसी पुरुष के साथ हमेशा संभोग करना चाहती हो तो प्रोटेक्शन का इस्तेमाल करें जिससे आपका शरीर भी अच्छा रहेगा और आपकी मेंस्ट्रुअल सिस्टम भी अच्छी तरह से काम करेगी |
पीरियड्स नहीं आए एक महीना और फिर से आ गए तो क्या प्रेगनेंसी हो सकती है ?पीरियड्स नहीं आए एक महीना और फिर से आ गए तो क्या प्रेगनेंसी हो सकती है
किसी महीने अगर आपको पीरियड्स नहीं आते हैं तो डरने की बिल्कुल जरूरत नहीं है, क्योंकि हर लड़की को जिंदगी में किसी ना किसी महीने पीरियड नहीं आते हैं, यह बिल्कुल भी नॉर्मल बात है |
लेकिन कई बार लंबे समय तक पीरियड ना आने के कारण लड़कियों को ऐसा लगता है कि हम प्रेग्नेंट हो चुके हैं, अगर आपको १ महीने के लिए पीरियड्स नहीं आए लेकिन १ महीने के बाद फिर से पीरियड आना शुरू हो गया तो आपने समझ जाना है कि आपका शरीर बिल्कुल भी नॉर्मल है | कई बार महिला प्रेग्नेंट होती ही नहीं है लेकिन महिलाओं को लगता है कि हम प्रेग्नेंट हो चुकी है जिसके कारण पीरियड ना आने के बाद भी महिलाएं पीरियड्स की तरफ ध्यान नहीं देती है |
जिस महीने आपको पीरियड्स नहीं आती है उस महीने में आपने प्रेगनेंसी टेस्ट के जरिए जान लेना चाहिए कि आप प्रेग्नेंट हो या नहीं | कई बार महिलाएं प्रेग्नेंट हो जाती है, लेकिन प्रेग्नेंट होने के बाद भी महिलाएं प्रेग्नेंट होने के लिए टेबलेट का सेवन करती है |
ऐसे वक्त अगर आप बहुत ज्यादा मात्रा में टैबलेट का सेवन कर लेती हो तो यह आपके सेहत के लिए बुरा साबित हो सकता है, इसलिए किसी महीने अगर पीरियड्स नहीं आती है और अगले महीने से पीरियड आना फिर शुरू हो जाता है तो यह बात बिल्कुल नॉर्मल है चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है |
लेकिन इस वक्त अगर आपको कुछ गलत महसूस होने लगता है तो आपने किसी एक्सपर्ट कि या डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए |
महावरी आने के समय में बदलाव क्यों होता है ?महावरी आने के समय में बदलाव क्यों होता है
महावरी आने के समय में बदलाव होने के कारण महिलाओं को ऐसा लगता है कि अब हमारे शरीर की पूरी सिस्टम बिगड़ गई है | क्योंकि महिलाओं को हर महीने पीरियड्स आने की आदत होती है, किसी महीने अगर पीरियड्स नहीं आते हैं तो महिलाओं के दिमाग में विभिन्न प्रकार के विचार आने लगते हैं कई बार महिलाओं का शरीर मोटा होने के कारण भी महिलाओं को महावरी आने में समय लगता है |
इसलिए महिलाओं ने शुरूआती से ही शरीर को स्टेबल रखने की जरूरत होती है, आपका शरीर जितना संतुलित रहेगा उतना ज्यादा फायदा आपको महावरी आते समय होगा | कई बार शरीर असंतुलित होने के कारण महिलाओं को माहवारी के वक्त पेट में तेज दर्द होने लगता है, पेट में तेज दर्द होने के कारण महिलाओं को ऐसा लगता है कि इस जिंदगी मैं पीरियड्स सबसे घटिया बात है |
कुछ लड़कियों को तो ऐसा लगता है कि हमने लड़की बनकर बहुत बड़ी गलती कर दी है, ऐसी स्थिति में लड़कियों ने खुद को संभालने की जरूरत होती है क्योंकि महावरी ना आने के कारण बहुत होते हैं |
शादी के बाद अगर आपको पीरियड्स नहीं आती है तो यह बिल्कुल ही नॉर्मल बात है | क्योंकि शादी के बाद जब आप आपके पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाते हो तब आपको पीरियड्स नहीं आती है |
जिस महीने आपको पीरियड्स नहीं आती है उस महीने आपने समझ जाना है कि आप प्रेग्नेंट हो चुकी हो, कई बार प्रेग्नेंट ना होने पर भी लड़कियों को पीरियड्स नहीं आते हैं | इस वक्त लड़कियों ने और महिलाओं ने प्रेगनेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल करके प्रेगनेंसी की जांच करवा लेनी चाहिए |
जिन लड़कियों को हमेशा मानसिक तनाव लेने की आदत होती है उन लड़कियों के शरीर में हार्मोन का संतुलन बिगड़ जाता है जिसके कारण इसका सीधा असर पीरियड्स देरी से आने लगती है | ऐसे बहुत सारे छोटे-छोटे कारण हे जिनके वजह से ही महावरी देरी से आती है |
महावरी देरी से आने के कारण बहुत सारे हैं जैसे कि लंबे समय तक सफर करना, खानपान में बदलाव आना, रोजाना दिन भर काम करते रहना, कम नींद लेना, ऐसे बहुत सारे पीरियड्स न आने के कारण है |
मासिक धर्म में देरी होने से प्रेग्नेंट है यह कैसे पता चलता है ?   
मासिक धर्म में देरी होने से प्रेग्नेंट है यह कैसे पता चलता है
मासिक धर्म में अगर देरी होती है या किसी महीने पीरियड्स नहीं आते हैं तो महिलाएं ऐसा समज लेती है कि अब इस महीने हम प्रेग्नेंट हो चुकी हैं | लेकिन महिलाओं को हम बताना चाहते हैं कि पीरियड्स ना आने का कारण प्रेगनेंसी के अलावा भी हो सकता है, कई बार मासिक धर्म अनियमित होने पर महिलाएं ऐसा फिक्स कर लेती है कि अब हम प्रेग्नेंट है |
लेकिन कई बार महिलाओं के शरीर का संतुलन बिगड़ने के कारण भी महिलाओं को पीरियड्स नहीं आते हैं, जिन महिलाओं को हमेशा दारु, सिगरेट इन नशीली चीजों का सेवन करने की आदत होती है उन महिलाओं को अक्सर मासिक धर्म में देरी हो सकती है |
ऐसी स्थिति में अगर आपको लगता है कि आप प्रेग्नेंट हो तो आपने प्रेगनेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल करके प्रेगनेंसी टेस्ट कर लेना चाहिए | लेकिन अभी तक आपने शादी करी नहीं है और फिर भी आपको पीरियड्स नहीं आए हैं तो यह बात नॉर्मल है | लेकिन दो-तीन महीने लगातार अगर आपको पीरियड्स नहीं आते हैं तो यह बात बिल्कुल भी नॉर्मल नहीं है |
इस वक्त आपने किसी डॉक्टर से मिलकर इस बारे में जांच करवा लेना चाहिए जिससे पीरियड्स के सारे सवाल आपको समझ जाएंगे |
शादी के बाद पीरियड्स मिस होने से प्रेगनेंसी होती है क्या ?

शादी के बाद पीरियड्स मिस होने से प्रेगनेंसी होती है क्या
शादी के बाद पीरियड्स ना आने के कारण महिलाएं प्रेग्नेंट हो सकती है क्योंकि जब कोई महिला अपने पति के साथ या पार्टनर के साथ संभोग करती है तब महिलाओं के शरीर में पुरुषों का वीर्य जाता है |
पुरुषों का वीर्य पुरुषों के लिंग से निकलकर महिलाओं के योनि में जाता है और यह वीर्य महिलाओं को प्रेग्नेंट बनाता है | पुरुषों के वीर्य के बिना महिला प्रेग्नेंट होना असंभव होता है, इसलिए शादी के बाद प्रेग्नेंट होने के लिए पुरुष और महिला के साथ शारीरिक संबंध होना जरूरी होता है |
शादी के बाद अगर आपको पीरियड्स नहीं आते हैं और आपने आपके पार्टनर के साथ लंबे समय से शारीरिक संबंध किए हुए हैं तो आप जरूर प्रेग्नेंट होगी | लेकिन शादी होने के बाद भी आपने आपके पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाए हैं, लेकिन आपको पीरियड्स भी नहीं आई है तो यह जरूर कुछ ना कुछ गड़बड़ हो सकती है |
कई बार शादी करने के बाद पुरुष और महिला एक दूसरे के साथ प्रोटेक्टिव सेक्स करते हैं, प्रोटेक्टिव सेक्स करने के बाद अगर महिलाओं को पीरियड्स नहीं आते हैं तो यह कोई प्रेग्नेंसी का कारण नहीं है | ऐसे वक्त महिलाओं ने खुद के शरीर की जांच करवा लेना चाहिए जिससे आपके शरीर में क्या कमी है यह आपको पता चल जाएगा शरीर जब असंतुलित हो जाता है तब भी महिलाओं को पीरियड नहीं आते हैं इस बात को महिलाओं ने ध्यान में लेना चाहिए |
शादी होने के बाद आप लंबे समय से आपके पति के साथ बिना किसी प्रोटेक्शन के शारीरिक संबंध बना रही हो और किसी महीने अगर आपको पीरियड्स नहीं आते हैं तो जरूर आप प्रेग्नेंट बन चुकी हो ऐसा होने पर भी अगर आपको आपके प्रेगनेंसी को लेकर कोई सवाल है तो प्रेगनेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल करके आपने प्रेगनेंसी जांच करवा लेनी चाहिए |

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.