Header Ads

आंखों के फकड़ने की वजहकई बार बेवजह आंखें फड़कने लगती हैं


जानें, आंखों के फकड़ने की वजहकई बार बेवजह आंखें फड़कने लगती हैं, तो कई बार आंखों के फड़कने के पीछे कोई शारीरिक कारण जिम्मेदार होते हैं। जानें, किन वजहों से आंखें फड़कती हैं...

आपने ध्यान दिया होगा कई बार आपकी एक आंख अजीब तरह से करने लगती है। इसे आंखों का फड़कना कहते हैं। एक एक आम बात है। इसमें आंख के आसपास की मांसपेशियां अपने आप संकुचित होती हैं, जिससे यह समस्या होती है। हालांकि, आंखों के फकड़ने से कोई नुकसान नहीं होता है। कुछ देर बाद यह अपने आप ही बंद भी हो जाती है, लेकिन किसी-किसी को यह कई दिनों या महीनों तक होता रहता है, जिसे नजरअंदाज करना ठीक नहीं है। आमतौर पर एक आंख की निचली पलक में ऐसा होता है, लेकिन ऊपरी पलक में भी ऐसा हो सकता है। जानें, आंखें किन कारणों से फड़कती हैं...

तनाव- जब आप तनाव में होते हैं, तो आपका शरीर भी अलग-अलग तरह से प्रतिक्रिया देता है। आंखों का फड़कना तनाव का ही एक संकेत हो सकता है खासकर तब, जब आपको आंखों में तनाव जैसी कोई दृष्टि संबंधी समस्या होती है।


एलर्जी- जिन लोगों को आंखों की एलर्जी होती हैं, उन्हें आंखों में खुजली, पानी आना और फड़कना जैसी समस्या हो सकती है। इससे निपटने के लिए डॉक्टर किसी ड्रॉप या दवा की सलाह दे सकता है।

आंखों में तनाव- दृष्टि संबंधी परेशानी होने पर चश्मा लगाने या चश्मा बदलने की जरूरत पड़ती है। इससे आंखों में तनाव होता है। मामूली आंखों की समस्या से भी आंखें फड़क सकती हैं। कंप्यूटर का अधिक इस्तेमाल, ऐन्टीडिप्रेसेंट दवाएं लेने, कॉन्टैक्ट लेंस पहनने वालों को ड्राई आई का अधिक खतरा होता है। आंख की सतह के लिए नमी को बनाए रखने से ऐंठन को रोकने और फड़कने के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है।


पोषक तत्वों की कमी- खाने में मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्वों की कमी के कारण भी पलक की ऐंठन को गति मिल सकती है, इसलिए अपने भोजन में मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें।

कैफीन- अधिक मात्रा में कैफीन के सेवन से भी आंखें फड़कने लगती हैं, इसलिए कॉफी, चाय और चॉकलेट आदि का कम सेवन करना चाहिए। कम से कम एक या दो हफ्ते तक इन चीजों का सेवन नहीं करने से आंखें फड़कना बंद हो जाता है।

थकान- तनाव या किसी अन्य वजह से जब आपकी नींद पूरी नहीं हो पाती है, तो ऐसे में आपकी आंख फड़फड़ा सकती है। एक अच्छी नींद लेने से आपको इसे रोकने में मदद मिल सकती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.