Header Ads

हस्तमैथुन कितनी बार करना चाहिए? –


हस्तमैथुन कितनी बार करना चाहिए? – 

क्या आपको पता है 1 दिन में औसतन कितनी बार हस्तमैथुन करना चाहिए? हस्तमैथुन करना (यौन सुख के लिए खुद के यौन अंगों को छूकर उत्तेजित करना) पूरी तरह से सामान्य है। यदि आप अन्य लोगों के साथ यौन रूप से सक्रिय हैं या नहीं। हस्तमैथुन से स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं, जैसे तनाव कम करना। क्या आपको पता है पुरुष और महिला को 1 दिन में औसतन कितनी बार हस्तमैथुन करना चाहिए? जानें हस्तमैथुन को कितनी बार और कब करना चाहिए।
क्या ज्यादातर लोग हस्तमैथुन करते हैं?
क्या हस्तमैथुन स्वस्थ है?
हस्तमैथुन कितनी बार करें?
यदि आप किसी रिलेशनशिप में हैं तो क्या हस्तमैथुन करना ठीक है?
हस्तमैथुन करने को लेकर लोगों के सवाल:
क्या ज्यादातर लोग हस्तमैथुन करते हैं?
बहुत से लोग हस्तमैथुन करते हैं! लेकिन वे इसके बारे में बात नहीं करते हैं, हस्तमैथुन करना किसी भी लिंग या आयु के लोगों के लिए आम है। यौवन से पहले भी, बच्चों को कभी-कभी पता चलता है कि उनके जननांगों को छूना अच्छा लगता है। यदि आपके बच्चे हैं और आपने उन्हें अपने जननांगों को छूते हुए नोटिस करते हैं, तो आप उन्हें बता दें कि हस्तमैथुन करना पूरी तरह से सामान्य है, लेकिन उन्हें निजी तौर पर इसे करना चाहिए।

लोग विभिन्न कारणों से हस्तमैथुन करते हैं – यह उन्हें रिलेक्स करने में मदद करता है, वे अपने शरीर को बेहतर ढंग से समझना चाहते हैं, वे यौन तनाव को छोड़ना चाहते हैं, या उनका साथी उनके आस-पास नहीं है। लेकिन ज्यादातर लोग हस्तमैथुन करते हैं क्योंकि यह अच्छा लगता है। बहुत से लोग सोचते हैं कि हस्तमैथुन केवल तब किया जाता है जब आप सेक्स पार्टनर नहीं होते हैं। लेकिन दोनों जो लग अकेले है और जो लोग रिलेशनशिप में हैं हस्तमैथुन करते हैं।

कुछ लोग रोज हस्तमैथुन करते हैं, अन्य शायद ही कभी-कभी हस्तमैथुन करते हैं, और कुछ लोग हस्तमैथुन बिल्कुल भी नहीं करते हैं। अलग-अलग लोग अलग-अलग तरीकों से, अलग-अलग कारणों से हस्तमैथुन करते हैं। हस्तमैथुन एक पूरी तरह से व्यक्तिगत निर्णय है, और इसको करने के आलावा इसे जानने का कोई “सामान्य” तरीका नहीं है।
क्या हस्तमैथुन स्वस्थ है?


आपने हस्तमैथुन के बारे में कुछ फालतू बातें सुनी होंगी जो आपके लिए बुरी होती हैं, जैसे हस्तमैथुन करना आपके अजीब जगहों पर बाल बढ़ाता है; यह बांझपन का कारण बनता है; यह आपके जननांगों को सिकोड़ता है; या एक बार जब आप हस्तमैथुन करना शुरू करते हैं तो आप इसके आदी हो जाएंगे। कोई भी सच नहीं है। हस्तमैथुन आपके लिए बिल्कुल भी अस्वास्थ्यकर या बुरा नहीं है। हस्तमैथुन वास्तव में मानसिक और शारीरिक रूप से आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा हो सकता है। और यह बहुत सुरक्षित सेक्स है क्योंकि वहाँ – गर्भवती होने या एसटीडी होने का कोई जोखिम नहीं है।

जब आप एक संभोग सुख या ऑर्गेज्म (orgasm) प्राप्त करते है, तो आपका शरीर एंडोर्फिन जारी करता है, जो एक हार्मोन होता हैं जो दर्द को रोकता हैं और आपको अच्छा महसूस कराता हैं। एक ऑर्गेज्म प्राप्त ओने से अच्छी भावनाएं उत्पन्न होती हैं चाहे आप खुद हस्तमैथुन करके ऑर्गेज्म प्राप्त करें या साथी के साथ सेक्स कर रहे हों।
शोध से हस्तमैथुन के स्वास्थ्य लाभ का पता चला है। जानें हस्तमैथुन क्या कर सकता हैं:

यौन तनाव कम करें
तनाव कम करना
बेहतर नींद में मदद करें
अपने आत्मसम्मान और शरीर की छवि में सुधार करें
यौन समस्याओं के इलाज में मदद करें
मासिक धर्म में ऐंठन और मांसपेशियों में तनाव से राहत
अपने श्रोणि और गुदा क्षेत्रों में मांसपेशियों की टोन को मजबूत करें
हस्तमैथुन आपको यह पता लगाने में भी मदद करता है कि आपको क्या पसंद है। आप कहां छूना चाहते हैं? कितना दबाव अच्छा लगता है? कितनी तेज या धीमी गति आपके लयी सही है? यह सीखना कि अपने दम पर ओर्गास्म कैसे प्राप्त करें, साथी के साथ एक होना आसान हो सकता है, क्योंकि आप उन्हें बता सकते हैं या उन्हें दिखा सकते हैं कि आपको क्या अच्छा लगता है। और जब आप सेक्स, अपने शरीर, और अपने साथी से बात करने में सहज हों, तो आप एसटीडी और गर्भावस्था के खिलाफ खुद को सुरक्षित महसूस करने की अधिक संभावना रखते हैं।

हस्तमैथुन कितनी बार करें?


कुछ लोग अक्सर हस्तमैथुन करते हैं – हर दिन, या दिन में एक से अधिक बार। कुछ लोग सप्ताह में एक बार, कुछ हफ्तों में एक बार, या हर हफ्ते में एक बार हस्तमैथुन करते हैं। कुछ लोग कभी भी हस्तमैथुन नहीं करते हैं, और यह ठीक भी है। ये सभी बिल्कुल सामान्य हैं।

हस्तमैथुन केवल “बहुत अधिक” हो जाता है अगर यह आपकी नौकरी, आपकी जिम्मेदारियों या आपके सामाजिक जीवन के रास्ते में समस्या बन जाता हो। यदि आप रोज ज्यादातर वक्त हस्तमैथुन ही करते रहते हैं इसका मतलब है कि आप अपनी लाइफ में पूरी तरह से बेखबर और अनभिज्ञ हैं। आपको अपनी इस हस्तमैथुन करने की आदत को तुरंत बदलना होगा और हफ्ते में 1- 2 बार से ज्यादा हस्तमैथुन न करें। अगर आपके लिए यह समस्या है, तो आप किसी काउंसलर या थेरेपिस्ट से बात कर सकते हैं।

कुछ लोग सीखते हैं कि जब वे युवा होते हैं तो हस्तमैथुन करना गलत या बुरा होता है, इसलिए वे ऐसा करने के लिए दोषी महसूस करते हैं। यदि आप ऐसा महसूस करते हैं, तो यह याद रखेंकि ज्यादातर लोग हस्तमैथुन करते हैं। यह पूरी तरह से सामान्य है, और इसमें कुछ भी गलत नहीं है। काउंसलर या थेरेपिस्ट से बात करने में मदद मिल सकती है अगर आपको दोषी भावनाओं से अधिक परेशानी हो। हस्तमैथुन तभी करें जब आप सेक्शुअली एक्साइटेड महसूस करें। मुझे पता है आपके लिए ऐसा करना मुश्किल हो सकता है लेकिन ऐसा करना जरूरी है।

यदि आप किसी रिलेशनशिप में हैं तो क्या हस्तमैथुन करना ठीक है?

निश्चित रूप से। रिलेशनशिप में बहुत सारे लोग हस्तमैथुन करते हैं। जब आप किसी रिलेशनशिप में होते हैं तो हस्तमैथुन करने का मतलब यह नहीं है कि आपका साथी आपको संतुष्ट नहीं कर रहा है। यह पता लगाने का एक शानदार तरीका है कि आपको क्या पसंद है और क्या आपको एक संभोग सुख देता है। फिर आप अपने साथी को दिखा सकते हैं या बता सकते हैं कि आपको क्या अच्छा लगता है। अपने साथी के साथ सेक्स के बारे में बात करना इसे और मज़ेदार बना सकता है और आपके रिश्ते को मज़बूत भी बना सकता है। कुछ लोग अपने पार्टनर के साथ ही हस्तमैथुन करते हैं। यह एसटीडी या गर्भावस्था के जोखिम के बिना एक साथ यौन संबंध बनाने का एक तरीका है।

हस्तमैथुन करने को लेकर लोगों के सवाल:
कुछ हस्तमैथुन टिप्स क्या हैं?
यहाँ कुछ हस्तमैथुन करने सुझाव दिए गए हैं:
क्या पुरुष और महिला हस्तमैथुन में अंतर है?
कितनी बार औसत महिला और पुरुष हस्तमैथुन करते हैं?
कुछ हस्तमैथुन टिप्स क्या हैं?


हस्तमैथुन आपके शरीर को जानने का एक शानदार तरीका है। यह पूरी तरह से स्वस्थ और सामान्य है – अधिकांश लोग अपने जीवन में कुछ बिंदु पर हस्तमैथुन करते हैं।

वहाँ मिथकों के ढेर लगे हैं आप सोच रहें होंगे कि हस्तमैथुन गलत या बुरा है। सच यह है, कि यह पूरी तरह से सुरक्षित है। हस्तमैथुन आपको अंधा, पागल या बेवकूफ नहीं बना सकता। यह आपके जननांगों को नुकसान नहीं पहुँचाएगा, लिंग में फुंसी पैदा नहीं करेगा, या आपकी हाइट कम नहीं कर सकता है। यह आपके सभी orgasms का उपयोग नहीं करता है या अन्य प्रकार के सेक्स करने की क्षमता को बर्बाद नहीं करता है।

यहाँ कुछ हस्तमैथुन करने सुझाव दिए गए हैं:

अपने लिंग, योनि या गुदा को छूने से पहले अपने हाथ धो लें।
एक अच्छे लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करें। यह घर्षण को कम करता है, जो आपकी त्वचा में छोटे दाने को रोकने में मदद करता है और चीजों को अधिक आरामदायक बनाता है।
अपने सेक्स टॉयज को साफ करें। अन्यथा बैक्टीरिया संक्रमण का कारण बन सकते हैं। सेक्स टॉयज की सुरक्षा का सबसे अच्छा तरीका एक कंडोम है जिसे आप तब बदलते हैं जब खिलौना पार्टनर से पार्टनर के लिए या एक बॉडी ओपनिंग से दूसरे मुंह, गुदा या योनि में जाता है। यदि आप कंडोम का उपयोग नहीं करते हैं, तो हर उपयोग से पहले और बाद में सेक्स खिलौने को साफ करें। अपने खिलौने को कैसे साफ करें, इसके लिए पैकेज पर दिए गए निर्देशों को पढ़ें।
हर बार नए कंडोम की सफाई / उपयोग किए बिना कई सहयोगियों के साथ यौन खिलौने साझा न करें। वे एसटीडी के साथ संक्रमित हो सकते हैं।
क्या पुरुष और महिला हस्तमैथुन में अंतर है?


पुरुष और महिला हस्तमैथुन के बीच अंतर की तुलना में अधिक समानताएं हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि हर कोई अलग तरीके से हस्तमैथुन करता है और ऐसा करने का कोई “सही” तरीका नहीं है।

आप सोच रहें होंगें कि लड़के या पुरुष ही हस्तमैथुन करते हैं। लेकिन यह सच नहीं है!

लड़कियां या महिलाएं भी हस्तमैथुन करती हैं, जो पूरी तरह से स्वस्थ और सामान्य है। यह आपके शरीर को जानने का एक अच्छा तरीका है और यह सभी को अच्छा लगता है। यह 100% सुरक्षित है – गर्भावस्था या एसटीडी का कोई जोखिम नहीं।

पैसों से ज्‍यादा खुशी मिलती है सेक्‍स और बेहतर नींद से

पैसों से ज्‍यादा खुशी देता है सेक्‍स और बेहतर नींद ऑक्‍सफोर्ड इकोनॉमिक्‍स और नेशनल सेंटर फॉर सोशल रिसर्च द्वारा खुलासा किया गया है कि इंसान बेहतर नींद और अच्‍छे सेक्‍स संबंध के कारण ज्‍यादा खुश रहता है। पैसों के मुकाबले ये दो चीज़ें मनुष्‍य की खुशी से ज्‍यादा जुड़ी होती हैं। शोधकर्ताओं का कहना है कि इनकम में बढ़ोत्तरी होने पर बहुत थोड़ी खुशी होती है जबकि आनंदमय सेक्‍स संबंधों के कारण आप ज्‍यादा खुश महसूस करते हैं
पैसों से ज्‍यादा खुशी देता है सेक्‍स और बेहतर नींद

इस अध्‍ययन में 8,250 ब्रिटॉन्‍स का मत लिया गया था जिसमें सामान्‍य व्‍यक्‍ति ने 62.2 अंक प्राप्‍त किए। कम नींद और अनिद्रा से ग्रस्‍त लोगों की तुलन में सबसे अच्‍छी और बेहतर नींद लेने वाले लोगों को 15 अंक ज्‍यादा मिले। इसके अलावा जो लोग अपनी सेक्‍स लाइफ से असंतुष्‍ट थे उन्‍हें बाकी संतुष्‍ट लोगों की तुलना में सात अंक कम प्राप्‍त हुए।
इस अध्‍ययन से साफ पता चलता है कि हर इंसान के जीवन में नींद और सेक्‍स कितना जरूरी है। इसका मतलब यह नहीं है कि ज्‍यादा अंक पाने वाले लोग बहुत ज्‍यादा सेक्‍स करते हैं बल्कि इसका मतलब है कि वो अपनी सेक्‍सलाइफ से संतुष्‍ट हैं। 12,500 से 50,000 के बीच सैलरी बढ़ने पर लोगों को बहुत कम खुशी हुई। इनमें केवल 2 अंक की बढ़ोत्तरी देखी गई। 72 से 92 अंक प्राप्‍त करने वाले लोग सामान्‍य लोगों की तुलना में अपनी सेक्‍सलाइफ और नींद की आदतों से काफी संतुष्‍ट थे।

अगर आप खुश रहना चाहते हैं तो पैसा कमाने से ज्‍यादा अपनी सेक्‍स लाइफ को बेहतर बनाने और अच्‍छी नींद पाने पर काम करें। आय के अलावा जॉब सिक्‍योरिटी, मजबूत कम्‍युनिटी और करीबी रिेश्‍तेदारों की सेहत भी मूल्‍यांकन के महत्‍वपूर्ण कारक रहे है|

कितनी बार औसत महिला और पुरुष हस्तमैथुन करते हैं?


यह आपके लिए एक आश्चर्य की बात नहीं है कि पुरुष महिलाओं की तुलना में अधिक बार हस्तमैथुन करते हैं, लेकिन अब इसे साबित करने के लिए वास्तविक आँकड़े हैं – इंडियाना यूनिवर्सिटी के नेशनल सर्वे ऑफ सेक्सुअल हेल्थ एंड बिहेवियर ने एक हालिया पोस्ट में इसे लिखा था।

आपकी स्वयं की आत्म-सुखदायक आदतों के आधार पर, शीर्षक वाले तथ्य या तो आपको झकझोर देंगे या हल्के-फुल्के इंटरेस्ट देंगे। उच्चतम-आवृत्ति वाले हस्तमैथुन करने वालों के बारे में, 25-29 वर्ष की आयु की 5% महिलाएं सप्ताह में 4 बार से अधिक हस्तमैथुन सत्रों में व्यस्त रहती हैं, जबकि 20.1% पुरुष ऐसा करते हैं। यह अंतर उन लोगों के लिए बंद हो जाता है, जिन्होंने एक महीने में कई बार हस्तमैथुन करने की सूचना दी है, जिसमें 21.5% महिलाएं 25-29 वर्ष और 25.4% पुरुष उसी आयु वर्ग में हैं।

लेकिन विषमता आम तौर पर हमारे पूरे जीवन में समान रहती है, जिसमें महिलाओं को प्रत्येक श्रेणी में पुरुषों के मुकाबले कम से कम 10-15 प्रतिशत अंक मिलते हैं।

एक और बात: हम जितने ओल्ड ऐज के होते जाते हैं, उतनी ही अधिक संभावना है कि हम हस्तमैथुन नहीं करेंगे, (और यह दोनों पुरुषों और महिलाओं के लिए सही है)।

हस्तमैथुन वह उपहार है जो आपको हमेशा खुशी देता रहता है, चाहे आप सिंगल हों या शादीशुदा, 25 या 55. हस्तमैथुन की शारीरिक और मानसिक अपंगता से कोई इनकार नहीं करता है, चाहे आप इसे दिन में एक बार करें या, महीना, वर्ष, या एक बार भी न करें।



हस्तमैथुन करना सही या गलत जानें पूरा सच 

Kya Hastmaithun Karna Chahiye in Hindi क्या हस्तमैथुन ग़लत है? और क्या हस्तमैथुन करना चाहिएइसका जवाब हम आपको इस लेख में देने वाले हैं। सेक्‍स मानव जीवन का अहम हिस्‍सा है जिसमें हस्तमैथुन (मैस्टरबेशन) भी आता है। क्‍या हस्तमैथुन करना चाहिए, हस्‍त मैथुन करने के फायदे और नुकसान क्‍या हैं। ऐसे ही कुछ प्रश्‍न अक्‍सर व्‍यक्ति के दिमाग में आते हैं। लेकिन यह समस्‍या सबसे ज्‍यादा किशोर युवा और युवतियों को प्रभावित करती है। क्‍योंकि इस दौरान उनके शरीर में होने वाले परिवर्तन उन्‍हें सेक्‍स के लिए प्रेरित करते हैं। लेकिन सेक्‍स न कर पाने के कारण उन्‍हें हस्तमैथुन का सहारा लेना पड़ता है। इस आर्टिकल में आप हस्तमैथुन करना चाहिए या नहीं और हस्तमैथुन से संबंधित सभी जानकारी प्राप्‍त करेगें। आइए जाने क्‍या हस्तमैथुन करना चाहिए या नहीं।
हस्तमेथुन क्या है – Hastmaithun Kya Hai in Hindi
क्‍या हस्तमैथुन एक सामान्‍य व्‍यवहार है – kya hastmaithun ek samanya vyavhar hai in Hindi
क्‍या हस्तमैथुन हानिकारक है – Kya Hastmaithun Hanikarak Hai in Hindi
क्‍या रोज हस्तमैथुन करना सही है – Kya Hastmaithun Roj Karna Sahi Hai in Hindi
सप्‍ताह में कितनी बार हस्तमैथुन करना चाहिए – Hastmaithun kitne din me karna chahiye in Hindi
क्‍या सेक्‍स के स्‍थान पर हस्तमैथुन सही है – kya sex ke sthan par hastmaithun karna sahi hai in Hindi
क्‍या हस्तमैथुन शीघ्रपतन का कारण बन सकता है – kya hastmaithun karna shighrapatan ka karan hai in Hindi
क्‍या हस्तमैथुन शुक्राणुओं की संख्‍या को प्रभावित करता है – Can masturbation affect your sperm count in Hindi
पुरुषों के लिए हस्तमैथुन कब सुरक्षित नहीं है – Purusho ke liye hastmaithun kab surakshit nahi hai in Hindi
क्‍या हस्तमैथुन आपको दुबला कर सकता है – kya hastmaithun aapko dubla kar sakta hai in Hindi
क्‍या हस्तमैथुन टेस्टोस्टेरोन स्‍तर कम होता है – kya hastmaithun karne se testosterone star kam hota hai in Hindi
हस्तमैथुन के लाभ पुरुषों के लिए – Purusho ke liye hastmaithun ke labh in Hindi
हस्तमैथुन के नुकसान पुरुषों के लिए – Purusho Ke Liye Hastmaithun Ke Nuksan in Hindi
अत्‍यधिक हस्तमैथुन का इलाज क्‍या है – What is the treatment of excessive masturbation in Hindi
हस्तमेथुन क्या है – Hastmaithun Kya Hai in Hindi
संभोग सुख प्राप्‍त करने का एक सामान्‍य तरीका हस्तमैथुन होता है। जिसमें चरम सुख प्राप्‍त करने के लिए स्‍वयं ही अपने जननांगों को उत्‍तेजित किया जाता है। यह महिला और पुरुषों दोनों के लिए बहुत ही सामान्‍य धटना है। अधिकांश बच्‍चे 4 से 6 वर्ष की आयु के दौरान ही अपने जननांगों से खेलने लगते हैं। इस दौरान उन्‍हें जननांगों को रगड़ने से आनंद मिलता है। यह उनके लिए बुरा या गलत नहीं है लेकिन अक्‍सर लोगों द्वारा उन्‍हें भ्रमित किया जाता है कि ऐसा करना गलत है।

हस्तमैथुन यौन उत्तेजना या अन्य यौन सुख के लिए अपने जननांगों की यौन उत्तेजना है, आमतौर पर हस्तमैथुन की उत्तेजना में हाथ, उंगलियां, रोजमर्रा की वस्तुएं, सेक्स खिलौने जैसे वाइब्रेटर शामिल किये जा सकते हैं।

क्‍या हस्तमैथुन एक सामान्‍य व्‍यवहार है – kya hastmaithun ek samanya vyavhar hai in Hindi

यौन विशेषज्ञों के अनुसार अध्‍ययनों से पता चलता है कि हस्तमैथुन मानव के लिए सामान्‍य प्रक्रिया है। इसके साथ ही यह मानव शरीर को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में भी सहायक होता है। लेकिन अक्‍सर देखा जाता है कि लोग इस विषय में बात करना पसंद नहीं करते हैं। साथ ही इससे जुड़ी समस्‍याओं को सामान्‍य रूप से सांझा करने में भी दिक्‍कत महसूस करते हैं। जबकि हस्तमैथुन एक सामान्‍य व्‍यवहार है जो महिला और पुरुषों दोनो को बराबर रूप से प्रभावित करता है।

क्‍या हस्तमैथुन हानिकारक है – Kya Hastmaithun Hanikarak Hai in Hindi

विशेषज्ञों से पता चलता है कि हस्तमैथुन आपके लिए हानिकारक नहीं है। कुछ लोगों का मानना है कि नैतिक कारणों से हस्तमैथुन बुरा है। जबकि ऐसा नहीं है। हस्तमैथुन सामान्‍य रूप से शारीरिक और प्राकृतिक है। जो कि व्‍यक्ति को मानसिक और यौन सुख दिलाने का सबसे अच्‍छा माध्‍यम है।


क्‍या रोज हस्तमैथुन करना सही है – Kya Hastmaithun Roj Karna Sahi Hai in Hindi

इस प्रकार के सवाल का कोई भी जबाव सही नहीं है। नियमित रूप से प्रतिदिन हस्तमैथुन करना कुछ लोगों के लिए सामान्‍य हो सकता है, जबकि कुछ लोगों के लिए यह अत्‍यधिक हो सकता है। हस्तमैथुन करना तब तक सही है जब यह आपकी ऊर्जा प्रभावित नहीं करता है और आपके दैनिक जीवन और गतिविधियों को प्रभावित नहीं करता है। हालांकि कुछ सेक्‍स विशेषज्ञ रोज हस्तमैथुन करना सही नहीं मानते हैं। क्‍योंकि रोज हस्तमैथुन करने से कमजोरी, थकान, शीघ्र स्‍खलन आदि की समस्‍या हो सकती है। इस तरह यह आपके साथी के साथ यौन गतिविधियों को प्रभावित या रोक सकता है।

दूसरी तरफ पूरी तरह से यौन संतुष्टि न होने से मानसिक तनाव बढ़ सकता है। इस तरह से हस्तमैथुन आपके तनाव को कम करके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में मदद करता है।

सप्‍ताह में कितनी बार हस्तमैथुन करना चाहिए – Hastmaithun kitne din me karna chahiye in Hindi

इस प्रश्‍न का भी कोई संतोषजनक उत्‍तर नहीं है। क्‍योंकि सभी लोगों की अपनी अलग शारीरिक क्षमता होती है। सप्‍ताह में हस्तमैथुन करना शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य पर निर्भर करता है। अपनी क्षमता के अनुसार लोग दिन 2 से 3 बार, या सप्‍ताह में 4 से 5 बार या सप्‍ताह में केवल 1 बार हस्तमैथुन कर सकते हैं।

सेक्स ड्राइव स्‍वाभाविक है, हालांकि हर कुछ की अधिक मात्रा नुकसानदायक होती है। इसलिए हस्तमैथुन की आवृत्ति को बढ़ाने के बजाय आप अपने ध्‍यान को खेल और अन्‍य शौंक आदि में लगा सकते हैं।

क्‍या सेक्‍स के स्‍थान पर हस्तमैथुन सही है – kya sex ke sthan par hastmaithun karna sahi hai in Hindi


यौन संबंध और हस्तमैथुन का अपना अलग अलग स्‍थान है। इसलिए कोई व्‍यक्ति जरूरत पड़ने पर हस्तमैथुन करता है। अन्‍यथा वह अपने साथी के साथ यौन संबंध ही बनाता है। वास्‍तव में हस्तमैथुन एक यौन साथी के अनुभव को बढ़ा सकता है। क्‍योंकि यह आपको अपने शरीर को बेहतर ढंग से समझने में मदद करता है। हालांकि हस्तमैथुन आपके साथी के साथ यौन जीवन में बाधा उत्‍पन्‍न कर सकता है। हस्तमैथुन के कारण यदि आप अपने साथी के साथ यौन संबंध बनाने से चूक जाते हैं तो यह आपके यौन जीवन को प्रभावित कर सकता है।

हालांकि कुछ विशेष परिस्थितियों में हस्तमैथुन सेक्‍स का स्‍थान ले सकता है जैसे कि
यदि आपका साथी की सेक्‍स ड्राइव आपकी तुलना में कम हो तो हस्तमैथुन एक विकल्‍प हो सकता है।
अगर आपका साथी बीमार हो
यदि आपकी महिला साथी गर्भवती हो
यदि आपका यौन साथी पास में न हो

क्‍या हस्तमैथुन शीघ्रपतन का कारण बन सकता है – kya hastmaithun karna shighrapatan ka karan hai in Hindi

अधिक मात्रा में हस्तमैथुन करना उन नसों को नुकसान पहुंचा सकता है जो स्‍खलन के लिए अनुमति देती हैं। जिसके परिणाम स्‍वरूप नींद के दौरान शीघ्रपतन या स्‍खलन हो सकता है। लेकिन यह स्थिति उस दौरान होती है जब व्‍यक्ति अपनी शारीरिक क्षमता से अधिक हस्तमैथुन करता है। यदि वह नियमित और कम मात्रा में हस्तमैथुन करता है तो ऐसी समस्‍याओं की संभावना कम होती है।

क्‍या हस्तमैथुन शुक्राणुओं की संख्‍या को प्रभावित करता है – Can masturbation affect your sperm count in Hindi


हस्तमैथुन आपके द्वारा उत्‍पादित शुक्राणुओं की संख्‍या को प्रभावित नहीं करते हैं। क्‍योंकि पुरुषों के शरीर में शुक्राणुलगातार बनते हैं। हालांकि एक बार स्‍खलन होने के बाद दूसरे स्‍खलन में कुछ समय भी लगता है। यह बिल्‍कुल सामान्‍य है और किसी भी तरह से आपके शुक्राणुओं की संख्‍या को कम करने का संकेत नहीं है।
पुरुषों के लिए हस्तमैथुन कब सुरक्षित नहीं है – Purusho ke liye hastmaithun kab surakshit nahi hai in Hindi

सामान्‍य रूप से हस्तमैथुन पुरुषों के लिए सुरक्षित है। लेकिन यदि लगातार और आक्रमक रूप से हस्तमैथुन किया जाता है तो यह नुकसानदायक हो सकता है। इसके अलावा हस्तमैथुन उस समय करना सही नहीं है जब
आप किसी संक्रामित व्‍यक्ति के जननांग को छूते हैं और फिर अपने जननांग को छूते हैं तो आपको यौन संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है।
यदि आप किसी संक्रामित व्‍यक्ति के साथ यौन खिलौने साझा करते हैं तब भी आप यौन संक्रमित हो सकते हैं।
यदि आप फेस-डाउन स्थिति में हस्तमैथुन करते हैं तो आप लिंग पर अधिक दबाव डालते हैं। इससे बचने के लिए आप खड़े होकर, बैठकर या पीठ के बल लेट कर हस्तमैथुन कर सकते हैं।
वीर्य प्रवाह को रोकने के लिए आपको स्‍खलन के दौरान लिंग को दबाने से बचना चाहिए। क्‍योंकि ऐसा करने से लिंग की नसों और रक्‍तवाहिकाओं को नुकसान पहुंच सकता है।

क्‍या हस्तमैथुन आपको दुबला कर सकता है – kya hastmaithun aapko dubla kar sakta hai in Hindi

जो लोग हस्तमैथुन करते हैं उन्‍हें आशंकित नहीं होना चाहिए। क्‍योंकि हस्तमैथुन आपको दुबला नहीं कर सकता है। हालांकि अधिक मात्रा में हस्तमैथुन करना आपके वजन को थोड़ा कम कर सकता है। तकनीकी रूप से यह आपके द्वारा किये जाने वाले किसी व्‍यायाम की तरह ही है।

क्‍या हस्तमैथुन टेस्टोस्टेरोन स्‍तर कम होता है – kya hastmaithun karne se testosterone star kam hota hai in Hindi


आपके द्वारा हस्तमैथुन करने से टेस्‍टोस्‍टेरोन के स्‍तर में किसी प्रकार का परिवर्तन होता है। हालांकि हस्तमैथुन करने से टेस्‍टोस्‍टेरान परिसंचारी पर मामूली प्रभाव पड़ता है। लेकिन यदि अधिक मात्रा में हस्तमैथुन किया जात है तो यह निश्चित रूप से टेस्‍टोस्‍टेरोन के स्‍तर को प्रभावित कर सकता है।

हस्तमैथुन के लाभ पुरुषों के लिए – Purusho ke liye hastmaithun ke labh in Hindi


स्‍वस्‍थ यौन जीवन में हस्तमैथुन का अपना विशेष महत्‍व है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि हस्तमैथुन पुरुषों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी फायदेमंद होते हैं। आइए इन्‍हें जाने
पुरुषों के लिए हस्तमैथुन प्रोस्‍टेट कैंसर को रोकने में मदद करता है।
जो पुरुष स्‍वाभाविक रूप से सप्‍ताह में 5 बार तक स्‍खलन करते हैं वे शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को आसानी से बाहर निकाल सकते हैं।
जब पुरुष स्‍खलित होते हैं तो कुछ मात्रा में कोर्टिसोल (cortisol) भी निकलता है जो कि तनाव हार्मोन है। इस दौरान पुरुषों की प्रतिरक्षा शक्ति में वृद्धि होती है।
उम्र के साथ पुरुष स्‍वाभाविक रूप से लिंग में मांसपेशीय टोन खो देते हैं। लेकिन हस्तमैथुन या नियिमत सेक्‍स लिंग को मांसपेशियों को मजबूत करने में सहायक हो सकता है।
हस्तमैथुन करने से लिंग की मांसपेशियों का व्यायाम होता है और स्‍तंभन्‍न दोष और असंयम (erectile dysfunction and incontinence) आदि को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।
हस्तमैथुन करने से डोपामाइन और ऑक्‍सीटोसिन (dopamine and oxytocin) जैसे अच्‍छे हार्मोन उत्‍तेजित होते हैं जो आपकी संतुष्टि को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

(और पढ़े – इरेक्टाइल डिसफंक्शन नपुंसकता (स्तंभन दोष) कारण और उपचार…)
हस्तमैथुन के नुकसान पुरुषों के लिए – Purusho Ke Liye Hastmaithun Ke Nuksan in Hindi

जैसा कि आप जान चुके हैं कि हस्तमैथुन का शरीर में कोई दुष्‍प्रभाव नहीं पड़ता है। लेकिन अधिक मात्रा में हस्तमैथुन करने से शरीर को नुकसान पहुंच सकता है जो इस प्रकार हैं :

थकान, दर्बलता, शीघ्र स्‍खलन, साथी को यौन संतुष्टि प्रदान न करना, लिंग पर चोट, निचली कमर में दर्द, वृषण में दर्द (testicular pain), बाल झड़ना आदि।

यदि आप अधिक मात्रा में हस्तमैथुन से होने वाले दुष्‍प्रभावों से बचना चाहते हैं तो निम्‍न कदम उठा सकते हैं।

योग, ध्‍यान, संगीत सुनना, डांस क्‍लासेस ज्‍वाइन करना, नियमित व्‍यायाम जैसे एरोबिक्‍स, दौड़ना, सायकिल चलाना, तैराकी आदि। इसके बाद भी यदि आप हस्तमैथुन को कम नहीं कर पाते हैं तो आपको किसी मनोचिकित्‍सक से सलाह लेना चाहिए। क्‍योंकि यह मानसिक तनाव से भी संबंधित हो सकता है।

अत्‍यधिक हस्तमैथुन का इलाज क्‍या है – What is the treatment of excessive masturbation in Hindi


क्‍या आपको पता है कि आपके लिए हस्तमैथुन कब हानिकारक हो सकता है। कम मात्रा में हस्तमैथुन करने के कोई दुष्‍प्रभाव नहीं हैं। लेकिन अधिक मात्रा में यह आपके लिए संकट उत्पन्‍न कर सकता है।

यदि आपको हस्तमैथुन की लत लग गई हो तो ऐसी स्थिति में तुरंत ही चिकित्‍सक से परामर्श लेना चाहिए। आपका चिकित्‍सक आपकी जांच करके आपको मनोचि‍कित्‍सक के पास भेज सकता है। मनोचिकित्‍सक आपकी मानसिक स्थिति के अनुसार आपका इलाज कर सकता है। जिससे धीरे-धीरे आप हस्तमैथुन से दूर हो सकते हैं।




हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान जो आपको जानना है जरूरी 

Masturbation in hindi मैस्टरबेशन (हस्तमैथुन) अपनी कामुकता पर काबू पाने का एक कॉमन तरीका है। ज्यादातर लोग हस्तमैथुन को गलत या नुकसानदायक समझते है मैस्टरबेशन एक ऐसा टॉपिक है जिस पर खुलकर बातें नहीं होती हैं। येही कारण है की लोगो को इसके बारे में सही जानकारी नहीं है यह वर्जित टॉपिक है, जिस पर लोग बात करने में शर्म महसूस करते हैं। इसके ठीक उलट आंकड़े बताते हैं 95 पर्सेंट पुरुष और 89 पर्सेंट महिलाएं डेली बेसिस पर मैस्टरबेशन करती हैं। इसलिए आपको हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान जानना बहुत जरुरी हो जाता है

मैस्टरबेशन से सेहत पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता, अगर आप इसे हफ्ते में एक या दो बार करते है लेकिन यदि आप बहुत ज्यादा हस्तमैथुन करते हैं या आपको इसकी लत पड़ गई है, तब आपको किसी सेक्सॉलजिस्ट से मिलने की जरूरत है।

1.हस्तमैथुन क्या होता है और इसे कैसे करते हैं – What is masturbation and how do it in hindi
2.हस्तमैथुन करना कब शुरू होता है – When does it start to masturbate?
3.क्या हस्तमैथुन करना सामान्य है? – Is masturbation normal in hindi
4.हस्तमैथुन करने के फायदे – Benefits of masturbation in Hindi
5.हस्तमैथुन करने के नुकसान – Side effect of masturbation in Hindi
हस्तमैथुन क्या होता है और इसे कैसे करते हैं – What is masturbation and how do it in hindi

मैस्टरबेशन (हस्तमैथुन) जिसे बोलचाल की भाषा में हैण्ड प्रैक्टिस या मुठ मारना भी कहते हैं; खुद से अपने शरीर के अंगों को छू कर सेक्स की उत्तेजना का अनुभव करना है, जिसमे अकसर व्यक्ति ओर्गेज़म, एजकुलेसन या क्लाइमेक्स तक पहुँच जाता है, यानी उसका स्पर्म उसके लिंग से बाहर निकल आता है।
पुरुष आमतौर पर ऐसा अपने erected penis को हाथ में लेकर उसे आगे-पीछे करते हैं जब तक कि वे क्लाइमेक्स तक ना पहुँच जाएं जबकि महिलाएं अपनी उँगलियों से वैजाइना को छू कर ये काम करती हैं।
हस्तमैथुन करना कब शुरू होता है – When does it start to masturbate?

लड़के लड़कियों दोने के लिए हस्तमैथुन युवावस्था (teenage) की शुरुआत यानि 13 से 19 वर्ष के बीच शुरू हो जाता है परन्तु कुछ केस में ये इससे पहले भी शुरू हो सकता है?
क्या हस्तमैथुन करना सामान्य है? – Is masturbation normal in hindi

हाँ जब तक इसे आनंद लेने के लिए किया जाये तब तक सही है इसके अलावा, हस्तमैथुन आपको यह जानने में मदद कर सकता है। पुरुष हस्तमैथुन से ओर्गाज्म को नियंत्रित कर सकते हैं, जबकि महिलाएं पता कर सकती हैं कि उन्हें संभोग सुख प्राप्त करने में क्या मदद करता है। यदि कपल मिलकर हस्तमैथुन करते हैं तो सेक्स रिलेशन बेटर हो सकते हैं। कुछ लोगों को यह सही नहीं भी लग सकता और यह उनकी एक व्यक्तिगत पसंद है। हस्तमैथुन तभी तक सामान्य माना जाता है जब तक इसको आप आनंद लेने के लिए कभी कभी करते है यदि आपको इसकी आदत हो गई है तो यह सामान्य नहीं कहा जा सकता आईये जानते है हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान के बारे में
हस्तमैथुन के फायदे – Benefits of masturbation in Hindi

मैस्टरबेशन एक यौन गतिविधि है। जो मन को शांत और योन उत्तेजना को कम करने के लिए की जाती है इसके, मानसिक और शारीरिक स्वास्थ लाभ हैं। अध्ययन के मुताबिक हस्तमैथुन के लाभ तभी तक है जब तक इसको सिमित मात्रा में किया जाये। लेकिन अध्ययन से इस बात का पता चलता है कि हस्तमैथुन के माध्यम से यौन उत्तेजना को बढ़ाया जा सकता है। आइये जानते है हस्तमैथुन करने के फायदे के बारें में

और पढ़े – वैजाइना को इन तरीकों से करें टच लड़की को जल्दी उत्तेजित करने के लिए
हस्तमैथुन के फायदे मानसिक तनाव से राहत दिलाने में

आज की दौड़ भाग वाली ज़िंदगी में मानसिक तनाव की समस्या एक आम सी बात है| मानसिक तनाव होने पर कुछ भी अच्छा नही लगता| आपको यह जानकर हैरानी होगी की जब कोई तनाव में होता है या उसका मूड खराब होता है तब हस्तमैथुन या सेक्स एक दवाई की तरह कार्य करता है| इसका कारण है की मैस्टरबेशन आपकी बॉडी में फील-गुड neuro chemicals यानि dopamine और oxytocin स्त्रावित करने में में करती है| ये neuro chemicals आपके मूड को अच्छा करने और तनाव (स्ट्रेस) को कम करने का कार्य करते हैं| कुछ मामलों में हस्तमैथुन करना डिप्रेशन को भी कम करने में प्रभावकारी माना जाता है|
हस्तमैथुन के फायदे भरपूर नींद दिलाने में

जादातर केस में हस्तमैथुन के बाद नींद अच्छी आती है| जी हाँ डॉक्टर्स के अनुसार हैण्ड प्रैक्टिस से शरीर में endorphins स्त्रावित होते हैं जो की अनिद्रा को दूर करते हैं और आपको अच्छी नींद दिलाने में मदद करते हैं| प्रोलैक्टिन हार्मोन के कारण ही पुरुषों में हस्तमैथुन के बाद नींद अच्छी आती है। प्रोलैक्टिन डोपामाइन (एक तंत्र, जिससे दिमाग जगा हुआ महसूस करता है) के स्तर को दबा देता है। भरपूर नींद दिलाने में में मदद करता है

हस्तमैथुन के फायदे दिलाये शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा

यदि आपको शीघ्रपतन की समस्या है तो आप उसे आसानी से ठीक कर सकते हैं| बस आपको ये करना है की संभोग से पहले हस्तमैथुन कर लीजिए| इससे आप लंबे समय तक संभोग का आनंद उठा पाएँगे और आपकी समसया भी ठीक हो जाएगी| और पढ़े – शीघ्रपतन कारण,उपचार और शीघ्रपतन रोकने के घरेलु उपाय
हस्तमैथुन के फायदे यौन तनाव को दूर करने में

इससे यौन तनाव में कमी आती है क्योंकि इसे करके आदमी अपनी संतुष्टि कर लेता है फलसवरूप उसके मन मे किसी प्रकार की कोई यौन इच्छा नही रहती इसलिए हम कह सकते हैं की हस्तमैथुन के फायदे यौन तनाव को दूर करने में सहायक होता है|
हस्तमैथुन के फायदे दिलाएं यौन रोग से सुरक्षा

आजकल यौन संचारित रोग बहुत तेज़ी से फैल रहे है| इसलिए ज़रूरी है की आप वो सभी उपाय अपनाएं जिससे आपको कभी किसी यौन रोग का सामना ना करना पड़े| हस्तमैथुन यौन रोग से बचने का सबसे बढ़िया तरीका है| ये ना केवल आपको अनचाहे गर्भ के डर से बचाता है बल्कि आपको HIV, AIDS, और दूसरे STD यानी sexually transmitted disease से भी बचाता है|

हस्तमैथुन के फायदे दिलाएं नाइट फॉल से मुक्ति

स्वप्नदोष यानि नाइट फॉल होने के कई कारण हो सकते हैं लेकिन हस्तमैथुन से इसका इलाज किया जा सकता है| इसलिए यदि आपको रेग्युलर नाइटफॉल की प्राब्लम है तो आप हफ्ते में 2-3 बार हस्तमैथुन करके अपनी कंडीशन में सुधार कर हैं सकते हैं जिससे आपके स्पर्म की संख्या में भी सुधर होगा और नाईट फॉल से भी बचाव होगा|

हस्तमैथुन के फायदे करें कैंसर के खतरे को कम

शोध के मुताबिक नियमित रूप से वीर्यपात (ईजैक्यूलैशन) से कैंसर के ख़तरे की संभावना कम होती है। हांलाकि डॉक्टर इस बात इस बात को लेकर निश्चित नहीं हैं।

2015 में एक अध्ययन किया गया। इस अध्ययन में ये देखा गया कि जिन परूषों में कैंसर का ख़तरा था। इस ख़तरे को लगभग 20 प्रतिशत तक कम पाया गया, जो व्यक्ति एक महीने में कम से कम 21 हस्तमैथुन करते थे।

इसका कारण है की आपके जनन तंत्र में हानि कारक पदार्थ जमा होते रहते हैं जो की कॅन्सर और दूसरी कई प्रकार के गुप्त रोगों के लिए जिम्मेदार होते हैं| हस्तमैथुन के द्वारा ऐसे हानिकारक पदार्थ शरीर से बाहर निकल जाते हैं|
हस्तमैथुन के फायदे लड़कियों (गर्ल्स) के लिए

लड़कियों को ऊपर बताये गये सभी फ़ायदे तो मिलते ही हैं साथ ही इससे आपकी पेल्विक मसल स्ट्रॉंग बनती है जो आपके जनन अंगों को मजबूती प्रदान करती है जिससे आपकी सेक्सुअल लाइफ अच्छी बनती हैं| इतना ही नही, नियमित मैस्टरबेशन से आपके पीरियड में होने वाला दर्द और मरोड़ भी कम होते हैं|


https://www.healthsiswealth.com/
हस्तमैथुन के नुकसान – Side effect of masturbation in Hindi

युवावस्‍था में हस्तमैथुन की शुरुआत की सबसे ज्‍यादा संभावना रहती है और ऐसा होने पर दिन में बार-बार हस्तमैथुन करने का मन करता है। हस्तमैथुन तब तक हानिकारक नहीं है जब तक इसको कम मात्रा में किया जाये हालांकि कुछ लोग हस्तमैथुन को ग़लत मानते हैं। इसके अलावा कुछ लोगों में ये भी धारणा है कि लंबे समय से हस्तमैथुन करने से कुछ समस्या हो सकती है। वैसे तो हस्‍तमैथुन के कोई नुकसान नहीं हैं, लेकिन कई बार गलत ढंग से या ज्‍यादा मैथुन करने के गंभीर परिणाम हो सकते है। आइये जानते है Hastmaithun Karne Se Hone Wale Nuksan के बारें में 
हस्तमैथुन के नुकसान से होता है शुक्राणु की संख्‍या पर असर

नियमित रूप से कई बार हस्‍तमैथुन करने से पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्‍या कम होने लगती है। इसका असर उनकी पिता बनने की क्षमता पर भी पड़ता है। इसके अलावा नियमित रूप से हस्‍तमैथुन करने से आपको संतुष्‍ट होने का समय कम या बढ़ सकता है। इसके साथ ही आपका वीर्य स्‍खलित होने का समय भी बढ़ या घट सकता है। इसके अलावा हस्‍तमैथुन की आदत इरेक्टाइल डिसफंक्शन रोग का मुख्‍य कारण होती है।

हमारे वीर्य में लाखो की संख्या में शुक्राणु होते है जो हमारे पिता बनने में सहायक होते है. परन्तु जो लोग रोजाना हस्तमैथुन करते है उनके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बहुत कम हो जाती है


https://www.healthsiswealth.com/
हस्तमैथुन के नुकसान से लिंग में सूजन का हो जाना

कई लोग ऐसे होते है जो जल्दीबाजी के चक्कर में बहुत तेजी से हस्तमैथुन (Masturbation) करने लगते है. जिस कारण उनका वीर्य से पहले निकलने वाला तरल पानी उनके लिंग की मासपेशियों में चला जाता है.

इसका रिजल्ट यह होता है कि व्यक्ति के लिंग में सूजन आने लगती है और तब तक रहती है जब तक वह वापस खून (blood) में न मिल जाये. ऐसा बार – बार होने पर यह गंभीर समस्या बन जाती है
हस्तमैथुन के नुकसान से लिंग की मांसपेशियों का टूटना

कई बार हस्तमैथुन (masturbation) करते समय अपने लिंग को कस कर दबाने या मोड़ने का प्रयास हानिकारक हो सकता है इससे ‘पायरोनी’ नाम की बीमारी हो सकती है। यही नही पेनाइल फ्रेक्‍चर भी हो सकता है यानी आपके लिंग की मांसपेशियां टूट सकती हैं।

लोग अक्सर हस्तमैथुन करते समय अपने लिंग को बहुत ही मजबूती से जकड़ लेते है और उसे दबाने या मोड़ने लगते है वे सोचते है की ऐसा करने से वीर्य बाहर नहीं निकलेगा. यह करना सही नहीं है. ऐसा करने से आपको गंभीर समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

पायरोनी होने पर लिंग टेढ़ा हो जाता है मांसपेशियों में तनाव होने की स्थिति में आप उसके टेढ़ेपन को आसानी से देख सकते हैं।
हस्तमैथुन के बाद खुद के प्रति ग्लानी होना

जितना उत्साह हस्तमैथुन करने के पहले और करते समय होता है उतनी ही ग्लानी उसके बाद होती है लोग जब भी हस्तमैथुन करते है हस्तमैथुन (Masturbation) करने के बाद खुद से घृणा करने लग जाते है. जो की हस्तमैथुन से होने वाला सबसे बड़ा नुकसान है और पढ़े – हस्तमैथुन की लत को छोड़ने के तरीके

हस्तमैथुन घबराहट और न्यूरोलॉजिकल समस्याएं पैदा करता है। हस्तमैथुन आपके मन और आत्मा में तनाव और दबाव का कारण बनता है। इसके अलावा हस्तमैथुन आपको मनोवैज्ञानिक तौर पर प्रभावित करता है। यह स्खलन के बाद अवसाद पैदा करता है और व्‍यक्ति खुद को बुरा महसूस लगता है
हस्तमैथुन के नुकसान से शरीर का कमजोर हो जाना

शरीर को चलाने के लिए कैलोरी की जरुरत होती है और जा आप हस्तमैथुन करते है तो आप अपनी कैलोरी को उसमे खर्च कर देते है जिससे आप थोड़ी देर की खुशी के लिए खुद की लाइफ को अच्छा बनाने के बजाये और ज्यादा ख़राब बना लेते है जादा हस्तमैथुन (masturbation) करने से कभी भी आपकी सेहत अच्छी नहीं बन सकती|
हस्तमैथुन के नुकसान से लिंग में उत्तेजना का बंद हो जाना

अधिक मात्रा में हस्तमैथुन करने से कई बार लिंग के ऊतक में चोट पहुंच जाती है और इससे ये ऊतक नष्ट होने लगते है. जिससे लिंग में उत्तेजना आना बंद हो जाती है. कई बार तो इससे व्यक्ति
को उत्तेजना आना हमेशा के लिए बंद हो जाती है.


https://www.healthsiswealth.com/

अगर आपकी उत्तेजना खत्म हो गई तो आपकी मैरिड लाइफ (Merried life) बर्बाद हो सकती है क्योंकि अगर आप अपनी पत्नी को संतुष्ट नहीं कर पाए तो आप दोनों के रिश्ते पर इसका असर पड़ेगा जो आपके रिश्ते को खत्म कर देगा. इसलिए अब यह आपको तय करना है की आपको कौन सा रास्ता चुनना है
हस्तमैथुन के नुकसान से अवैध संबध और पार्टनर से झगड़ा होना

अपराध करने वाले लोग हस्तमैथुन के आदी होते है और यौन इच्छाएं अधिक बढ़ने पर वे अपराध करने लग जाते है. व्यक्ति हस्‍तमैथुन करते समय हमेशा ही कल्पनाओ में खोया रहता है

हस्‍तमैथुन (masturbation)आपको अवैध संबंधो की ओर ले जाता है क्‍योंकि इसकी उत्तेजना दिन ब दिन बढ़ती जाती है और अंत में यौन सुख के लिए आप अन्‍य स्रोतों को ढूढ़ने लगते हैं।लंबे समय तक हस्तमैथुन संभोग के दौरान तेजी से शुक्राणु के रिलीज होने का मुख्य कारण है। इससे आपके और आपकी पत्नी के बीच असंतोष पैदा हो सकता है। और रिश्ता ख़राब हो सकता है

(और पढ़े – इन संकेतो से पहचाने की कहीं आपको हस्‍तमैथुन की लत तो नहीं)
हस्तमैथुन के नुकसान से होने लगता है हाथ और शरीर में कम्पन

कुछ लोग हस्तमैथुन (masturbation ) के कारण हाथ में कम्पन या शरीर काम्पने की शिकायत करते हैं| ऐसा कमजोरी और हॉर्मोन के असंतुलन के कारण होता है| रिसर्च कहती है अधिक हस्तमैथुन से हार्मोनल बदलाव होते हैं जिनके प्रभाव से दिमाग से कुछ रसायन निकलते हैं जिनके कारण शरीर में कम्पन होता है|

हस्तमैथुन के बारे में विशेषज्ञों के विचारों में मतभेद है। कुछ का मानना है कि यह कोई समस्या नहीं है लेकिन कुछ का मानते हैं यह हानिप्रद है।

यह समझना ज़रूरी है की हस्तमैथुन कोई समस्या नहीं है। लेकिन हस्‍तमैथुन की लत पड़ जाना एक मनोवैज्ञानिक विकार हैं जिसका व्यक्ति को उपचार कराना चाहिए। यदि व्यक्ति यह करने को अपने को विविश पाए तो यह समस्या है। यदि उसे सेक्स सम्बन्ध बनाने से ज्यादा हस्‍तमैथुन में आनंद आए तो यह एक विकार है|





इन संकेतो से पहचाने की कहीं आपको हस्‍तमैथुन की लत तो नहीं –

हस्तमैथुन(Masturbation) करने के फायदे हो सकते हैं पर अगर आप इसे एक लत ना बनाएं तो। विशेषज्ञों का मानना है कि हस्तमैथुन एक स्वस्थ सेक्स जीवन का हिस्सा है।
हस्तमैथुन क्या है – What is Masturbation in hindi 

Masturbation हस्तमैथुन एक ऐसी क्रिया है जिसमे व्यक्ति बिना किसी पार्टनर (पुरुष या महिला) के खुद के द्वारा ही अपनी यौन इच्छाओ को संतुष्ट करता है और अपने संवेदनशील अंग के साथ खेलकर वह स्खलन के माध्यम से आत्मसंतुष्टि पाता है| (और पढ़े:पैसों से ज्‍यादा खुशी मिलती है सेक्‍स और बेहतर नींद से)

पर आज हम यहां हस्तमैथुन करने के फायदे के बारे में बात नहीं करेगे बल्‍कि इसकी बुरी लत के बारे में बात होगी। जी हां, आज हमारे देश का आधे से जादा युवा हस्‍तमैथुन की लत से जूझ रहा है।
शराब और सिगरेट से भी ज्‍यादा बुरी लत आज हस्‍तमैथुन ही है क्‍योंकि इस के बारे में आज कल कोई खुल कर बात नही करना चाहता। इसलिये हमारे युवाओं को इसके बारे में सही इंफार्मेशन नहीं मिल पाती है। जिससे इस लत के कारण आज कई युवा अपना कीमती समय और अपनी अनमोल लाइफ को बर्बाद कर रहे है।

आज हम आपको कुछ ऐसे संकेत बताने जा रहे हैं जो कि इस बात का इशारा करते हैं कि आप को हस्‍तमैथुन की लत लग चुकी है। इन्‍हें पढ़े और देंखे कि क्‍या आप के लक्षण इन संकेतो कितना मेल खातेहैं? समय रहते ही अगर आपने इस आदत से छुटकारा पा लिया तो आप अपने शरीर और दिमाग दोंनों में एक अच्‍छा बदलाव पाएंगे।
1. लिंग में होती है तकलीफ – Pain in the penis in hindi

हस्तमैथुन की कोई निश्चित सीमा या फिर समय नहीं होता है। लेकिन अगर आप इसे हद से ज्‍यादा कर रहे हैं और इससे आपके शरीर को कोई तकलीफ होनी शुरु हो गई है तो समझ जाएं कि आपको अब यह करना कम कर देना चाहिये।कई बार व्यक्ति जल्दीबाजी के चक्कर में बहुत तेजी से हस्तमैथुन करने लगता है. जिस कारण वीर्य (viry) से पहले निकलने वाला तरल पानी उसके लिंग (ling) की मासपेशियों में चला जाता है|
2. बार-बार करने की इच्‍छा – Frequent desire in hindi

कई बार हस्तमैथुन करने के बाद भी अगर आपको इसे बार-बार करने की लगातार इच्‍छा हेा रही है तो समझें की आपको इसकी बीमारी लग चुकी है। क्योकि आपने वो कहावत तो सुनी ही होगी अति सर्वत वर्जते|
3. पार्टनर की जरुर महसूस ना होना – Do not feel the need for partner in hindi

इस संकेत में हस्तमैथु की इतनी आदत पड़ जाती है कि लेाग अपनी पार्टनर के साथ संबन्‍ध बनाने से बेहतर हस्तमैथु करना ज्‍यादा पसंद करने लगते हैं। आप इसी क्रिया से खुद को सैटिस्‍फाइड़ कर लेते हैं और यह आपको अच्‍छा भी लगता है। कई ऐसे लोग भी होते है जिनका अपने partner के साथ झगड़ा होता रहता है. जिस कारण वे हस्तमैथुन की ओर रूख कर लेते है. लगातार हस्तमैथुन करने से उनको हस्तमैथुन में ही सुख नजर आने लगता है.
4. शारीरिक संबन्‍ध बनाने में आती है परेशानी – Difficulty in making physical relation in hindi

यदि आप ज्‍यादा हस्तमैथु करते हैं तो सेक्‍स करते वक्‍त आपनी अपनी वाइफ को कभी सैडिस्‍फाइड नहीं कर पाएंगे। क्‍योकि आप अपनी बॉडी को पूरी तरह से हस्तमैथु कर के थका देते हैं जिससे आपके लिंग में उत्‍तेजना बंद हो जाती है। एक पुरुष के लिए इससे शर्मसार बात क्या हो सकती है की उसके लिंग में उत्तेजना होना ही बंद हो जाए। (और पढ़े: केसर वाला दूध क्‍यों पीते थे राजा-महाराजा, जानें 5 हैरान करने वाली वजह)
5. हस्तमैथुन करने से मानसिक तनाव का होना – Mental stress in hindi

अगर आप हस्तमैथुन करते है तो आपने जरुर यह ध्यान दिया होगा कि हस्तमैथुन के बाद आप बहुत ही बुरा महसूस करते होंगे. हस्तमैथुन आपको काफी मानसिक तनाव (mansik tanav) दे सकता है. यह तनाव ऐसा होता है जिसमे आप खुद को ही दोषी मानने लगते है, अगर आप तनाव में रहेंगे तो आप अवसाद का शिकार हो सकते है,हस्तमैथुन करने से कई बार घबराहट भी पैदा होती है|
6. मल्‍टीपल पार्टनर बदलने के बाद भी नहीं मिलता सुख – Do not get happiness after changing multiple partners in hindi

अगर आप बहुत ज्‍यादा हस्‍तमैथुन करते हैं तो आप चाहे जितनी पार्टनर बदल लीजिये, आपको वह यौन सुख दुबारा नही प्राप्‍त हो पाएगा। व्यक्ति हस्‍तमैथुन करते समय हमेशा ही कल्पनाओ में खोया रहता है. इससे उस व्यक्ति कि सेक्स के प्रति चाह में निरंतर बढ़ोतरी होती रहती है. अपनी सेक्स की चाह को शांत करने के लिए वह अवैध संपर्कों की ओर चले जाता ह
7. बालों का झड़ना – Hair fall in hindi

अत्यधिक हस्तमैथुन बालों के झड़ने का कारण बन सकता है। अब, बालों के झड़ने के लिए यही एकमात्र कारण नहीं है, लेकिन अगर आपने अचानक बालों के झड़ने पर ध्यान दिया है, तो आप खुद ही समझ सकते है हस्तमैथुन(Masturbation) कछ ज्‍यादा ही हावी हो गया है। (और पढ़े:लड़के भी पा सकते है गुड लुकिंग बाल बस करने होगें ये 5 काम)
8. शुक्राणुओं की संख्या कम होना – Decrease in sperm count in hindi

यह बात रिसर्च में भी कही गई है कि जो लोग रोजाना हस्तमैथुन करते है उनके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बहुत कम हो जाती है। इससे आपको ही नुकसान है क्‍योंकि शादी के बाद आपको पिता बनने में दिक्‍कत आएगी। इसलिए अपने शादी के बाद अच्छे जीवन के लिए अभी से सोचे और इस लत से दूर रहें। (और पढ़े: पुरुषों के लिए Kegel Exercise अब जल्दी स्‍खलन की समस्‍या को भूल जाओ Kegel Exercises For Men)
9. कहीं भी करने को तैयार रहना – Be prepared to do anywhere in hindi

आप हस्तमैथुन के बिना एक दिन नहीं जी सकते। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां हैं, आप किस स्थिति में रह सकते हैं, आप को हर वक्‍त हस्तमैथुन(Masturbation) करने की उत्‍तेजना होती रहती है। जो आपके काम पर बुरा असर डालती है|
10. आदत ना छूटना – Do not miss the habit in hindi

कई बार आप इस आदत से बाहर निकलते भी हैं, लेकिन मन ना मानने की वजह से दुबारा वहीं काम करना शुरु कर देते हैं। (और पढ़े: हस्तमैथुन की लत को छोड़ने के तरीके)
11. चयापचय पर बुरा असर होना – Have a bad effect on metabolism in hindi

हस्‍तमैथुन करने से एक बड़ी समस्या यह होती है कि व्यक्ति के चयापचय (chayapachay) पर इसका बुरा असर पड़ता है. हस्‍तमैथुन करते वक्त जो पहला गीला द्रव निकलता है उसमे प्रोटीन (protin) होता है. जो सेल संरचनाओं के लिए आवश्यक होता हैं, आप यह जरुर जानते होंगे की प्रोटीन हमारे शरीर (body) के लिए कितना अहम है. इसका लगातार स्खलन आपको दुबला (dubla) बना देता है.
12. लिंग में उत्तेजना का बंद हो जाना – Stimulation of sex in the penis in hindi

अधिक मात्रा में हस्तमैथुन (Masturbation) करने से अक्सर लिंग के ऊतक में चोट पहुंच जाती है और ये ऊतक नष्ट होने लगते है, इससे लिंग में उत्तेजना (uttejana) बंद हो जाती है. कई बार इससे व्यक्ति को उत्तेजना आना हमेशा के लिए बंद हो जाती है|
हस्तमैथुन की कोई दवा – Any drug of Masturbation in hindi
हस्तमैथुन की कोई दवा नहीं होती, इसकी दवा आपका संकल्प है। आपको अपने मन में संकल्प करना होगा कि आप अपनी इस आदत पर काबू पाएंगे। ऐसी कोई दवा नहीं जो आपके मन व हाथ को रोक ले और आप हस्तमैथुन न कर पाएं। खासकर एकांत में अपने मन पर नियंत्रण रखें, कामुक विचारों से बचें व ज्ञानार्जन से संबंधित या सृजनात्मक कार्यों में अपने को व्यस्त रखें।


हस्तमैथुन की लत को छोड़ने के तरीके –

How to Stop Masturbation in Hindi हस्‍तमैथुन की लत कैसे छोड़ें लड़के कभी कभी लड़कियां अक्सर कम उम्र में विपरित लिंग के प्रति आकर्षण या पोर्न मूवी देखकर हस्‍तमैथुन करने की गलत आदत डाल हैं। लेकिन समय के साथ यदि हस्‍तमैथुन करने की ये आदत यदि लत बन जाए तो बेहद हानिकारक हो सकती है। आइये जानतें हैं हस्तमैथुन की लत को छोड़ने के तरीके क्या हैं और कैसे मुठ से छुटकारा कैसे पाएं ।
हस्‍तमैथुन की लत को कैसे छोड़ें में पोर्न विडियो देखना बंद करे 
– hastmaithun kaise chhode me Stop watching porn videos
अधिकतर लोगो को Hastmaithun के बारे में अपने friends से पता चलता है। उन्ही लोगो से वे porn video भी देखना सीखते है। पोर्न विडियो ऐसी लत वाली चीज है जो अगर आपको लग गयी तो उससे छुटकारा पाना मुश्किल होता है। इसमें व्यक्ति को बार – बार उन दृश्यों को देखने का मन करता है।

जिस कारण वे रोजाना उन videos को देखते है. पोर्न सामग्री व्यक्ति को हस्तमैथुन के लिए उकसाती है।

जब व्यक्ति उन विडियो को बार – बार देखता है तो उनका असर यह होता है कि व्यक्ति हस्तमैथुन करने को विवश हो जाता है और हर दिन sex videos देखने से वह हस्तमैथुन का मरीज बन जाता है. जो उसके अवसाद व तनाव का कारण भी बनता है।

इसलिए खुद को इस लत से निकालने के लिए आप सीरियस हो जाए और आप इन पोर्न videos से हमेशा के लिए अलविदा कह दे. यह आपको हस्‍तमैथुन की लत छोड़ने में मदद करेगा और इससे आपके मन को काफी शांति भी मिलेगी।

मुठ से छुटकारा कैसे पाएं में सेक्स स्टोरीज पढना छोड़ दे – hastmaithun ki lat ko kaise roke Leave Reading the Sex Story

वर्तमान माहौल में एक नया trend बहुत प्रचलित हो रहा है। हमारे देश में दिन – प्रतिदिन इन्टरनेट उपभोक्ता बढ़ रहे है जिनमे सबसे अधिक युवा वर्ग (yuva varg) शामिल है। इस लगातार बढ़ रही internet users को increase करने में smartphone ने एक अहम किरदार निभाया है।

आज का युवा वर्ग सबसे अधिक अपने फ़ोन से जुड़ा हुआ है। जिस कारण वह कई अहम जानकारियां इन्टरनेट से प्राप्त कर रहा है पर कई लोग इन्टरनेट का गलत उपयोग कर रहे है।

इसका नेगेटिव (negative) पहलू यह है कि आज लोग कई सेक्स स्टोरीज साइट्स पर बैठकर अपने घंटो समय बर्बाद करते है और जिसका असर यह होता है कि वह हस्तमैथुन कि ओर अधिक बढ़ रहे है। अगर आप भी sex stories पढ़ते है तो इसे पढना(padhna) छोड़ दे तभी आप हस्तमैथुन कि लत से बाहर निकल पाएंगे।

हस्‍तमैथुन की लत छोड़ने के उपाय सही दिनचर्या बनाये – hastmaithun rokne ke upay Make perfect routine

जीवन में सफल होने के लिए हमारी दिनचर्या एक अहम कड़ी होती है। अगर आपकी दिनचर्या संतुलित होती है तो आप सफलता की ओर बढ़ते जायेंगे वही अगर आपकी दिनचर्या सही नहीं है तो आपका असफल (asafal) या निराश (nirash) होना पक्का है।

हस्तमैथुन छोड़ने के मामले में भी दिनचर्या एक Important Point है। इसलिए अपने पूरे दिन का एक अच्छा प्लान कर ले और उसी शेड्यूल से अपने सारे कार्य करे। यह याद रखे की उस शेड्यूल में हस्तमैथुन के लिए बिल्कुल भी समय न रखे और आपका जो खाली समय होता है उसका सही उपयोग करे।

मुठ मारने से छुटकारा कैसे पाएं में अश्लील चर्चा से दूर रहे – Stay away from obscenities to Stop Masturbation in Hindi

हस्तमैथुन से दूर रहने के लिए आपको अश्लील (ashlil) बातो से भी दूर रहना होगा। आपको कई जगहों पर अश्लील चर्चा सुनने को मिल जाएगी। अधिकतर यह friends circle में अधिक होती है। इसलिए जब भी आपके सामने कोई भी सेक्स से related बाते करे तो आप उस माहौल से दूर हो जाए।

आप इस माहौल से जितना दूर रहेंगे, आपके मन में उतने ही अच्छे विचार आयेंगे। मुठ मारने से छुटकारा पाने के लिए ऐसा करना आपके लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध होगा।

हस्‍तमैथुन की लत छोड़ने का तरीका लड़कियों के बारे में न सोचे – Do not think about girls for Masturbation stop in Hindi

कई ऐसे लोग होते है जो हमेशा लड़कियों के बारे में ही सोचते रहते है. ऐसा करके वे लोग अपने विचारो को दूषित तो करते ही है साथ ही साथ अपना टाइम (time) भी बर्बाद करते है। बार – बार लडकियों या महिलाओ के बारे में सोचने से व्यक्ति में हस्तमैथुन कि लालसा जग जाती है। इसलिए हस्‍तमैथुन की लत छोड़ने के लिए इन चीजो को सही से ले।

इंसान के दो रूप होते है। एक महिला तो दूसरा पुरुष। इसलिए इसे प्राकृतिक रूप से देखे, किसी भी महिला को sex toys न समझे, जब आप इसे समझ जायेंगे तो आप लड़कियों के बारे में सोचना भी बंद कर देंगे। जब आप ऐसा कुछ सोचेंगे ही नहीं तब आप हस्तमैथुन से भी दूर रहोगे।

हस्‍तमैथुन की लत को कैसे छोड़ें में नयी – नयी चीजे सीखे – learn new things to Stop Masturbation in Hindi

दोस्तों आपने यह जरुर सुना होगा कि ”खाली दिमाग शैतान का घर होता है” यह बात बिल्कुल सही है। जब हम खाली होते है उस समय हमारे मन में कई प्रकार के विचार आते है। जो व्यक्ति हस्तमैथुन करने वाला होता है उसके मन में तब गंदे विचार (Bad Thoughts) अधिक आते है जो उसे हस्तमैथुन के लिए उकसाते है।

इसलिए खुद को इन विचारो (vicharo) से दूर रखने के लिए कुछ नया कार्य सीखे या जो आपको पसंद है वह कार्य करे। ऐसा करना आपको हस्तमैथुन करने से रोकने में मदद करेगा।

मास्टरबेशन की लत छोड़ने के तरीका खुद को दृढ़ संकल्प रखे – Keep yourself determined to overcome Masturbation addiction In Hindi

हस्तमैथुन कि लत को पूरी तरह छोड़ने के लिए आप दृढ़ संकल्प (Determinate) रखे। अगर आपने दृढ निश्चय होकर कुछ ठान लिया तो फिर कुछ भी नामुमकिन नहीं। इसलिए हस्तमैथुन को दूर करने के लिए आप हमेशा अपना यह दृढ संकल्प बनाये रखे तथा खुद के इस प्रण को दोहराते रहे। अगर आप दृढ संकल्प रहेंगे तो एक न एक दिन आपको आपकी मंजिल मिल ही जायेगी।

हस्‍तमैथुन की लत छोड़ने का तरीका बुरे समय के लिए तैयार रहे – Be prepared for bad times to leave Masturbation addiction in Hindi

हस्तमैथुन पर हुए कई सर्वे में यह बात कई बार सामने आ चुकी है कि अक्सर लोग हस्तमैथुन तब अधिक करते है जब वे बहुत अधिक तनाव (Stress) में होते है या उनका मन उदास होता है. ऐसे दबाव वाले Time में व्यक्ति खुद को Happy रखने और अपने मूड को ठीक करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा लेता है।

इसलिए आप ऐसे दबाव वाले समय में खुद को हस्तमैथुन से दूर रखने के लिए पहले से कोई स्ट्रेटेजी बना ले। आप ऐसे समय में अपना ध्यान कही और जगह लगा सकते या आप अपना पसंदीदा कार्य कर सकते है। ऐसा लगातार Practice करने से आपको हस्तमैथुन को रोकने में काफी मदद मिलेगी।
हस्तमैथुन की लत छोड़ने के प्रैक्टिकल तरीके जल्दी उठे और जल्दी सोये – Get up early and sleep fast to Stop Masturbation in Hindi

प्रकृति का नियम है कि रात को जल्दी सो जाए और सुबह जल्दी उठ जाए किन्तु वर्तमान माहौल में ठीक इसका उल्टा हो रहा है। Actually रात का समय हमें कई सेक्स प्रलोभनों की ओर आकर्षित करता है। इसलिए इससे बचने के लिए जरुरी है कि आप रात को जल्दी सो जाए. जिससे आप इन विचारो से बचे रहेंगे।

अधिकतर लोग हस्तमैथुन रात को अपने बिस्तर पर सोते समय ही करते है। इसलिए अगर आप रात को जल्दी सो जाओगे तो इससे आप हस्तमैथुन पर बहुत हद तक लगाम जरुर लगा दोगे।

मुठ से छुटकारा कैसे पाएं में अपनी गलतफहमियां दूर करे – Remove your misconceptions to Stop Masturbation in Hindi

कुछ लोगो को ऐसा लगता है कि दूध पी लेने से या चिकन (मीट) खा लेने से हस्तमैथुन करने में कुछ भी गलत नहीं होता। इस चक्कर में वो लोग एक ही दिन में कई बार हस्तमैथुन करने लग जाते है। जो उनके स्वास्थ्य (swasthy) को नुकसान पहुंचाता है। ऐसा कर लेने से आपको बिल्कुल भी फायदा नहीं होगा।

इसलिए मैं आपको यही राय दूंगा कि आप ऐसी फैली गलतफहमियों से दूर ही रहे और हस्तमैथुन करने से बचे।
हस्तमैथुन से छुटकारा कैसे पाये में किसी भी उकसावे से बचे – Hastmaithun Se Door Kaise Rahe me No excitement

हस्तमैथुन की लत छोड़ने के लक्ष्य में जब आप बहुत समय तक हस्तमैथुन करने से खुद को रोक लेते है तब आपको बहुत अच्छा महसूस होने लगता है तथा आपका कॉन्फिडेंस भी बढ़ने लगता है। परन्तु इस लत के कारण आपका मन आपको हस्तमैथुन करने के लिए उकसाता रहता है।

तब उस समय आपको चाहिए कि आप इस उकसावे से बचे। उस समय यह समझे कि यह 5 मिनट का मजा आपके पिछले कई दिनों कि मेहनत को बर्बाद कर सकता है। इसलिए ऐसे आकर्षण (Attraction) वाले समय से दूर ही रहे।

मास्टरबेशन की लत छोड़ने के तरीका सकारात्मक सोच रखे 
– Hastmaithun chodne ke upayb Keep positive thinking in Hindi

हर सफल व्यक्ति के पीछे उस व्यक्ति की सकारात्मक सोच का अहम रोल होता है. जब व्यक्ति पॉजिटिव थिंकिंग रखता है तब उसके लिए हर चीज आसान होजाती है और वह प्रत्येक चीज को अच्छे तरीके से करता है. इसलिए आपके लिए हस्तमैथुन की लत से लड़ने के लिए Positive Thinking रखना जरुरी है।

जब भी आप दुखी हो या आपको असफलता मिले तब आप अपनी सोच सकारात्मक रखे. सकारात्मक सोच आपको हस्तमैथुन को रोकने में काफी लाभ प्रदान करेगा।

हस्तमैथुन से छुटकारा कैसे पाये में खुद के लिए समय निकाले – Hastmaithun chodne ke upay Take the time for yourself in Hindi

सबसे जरुरी बात यह है कि आप अपने लिए कुछ समय निकाले। जब हम अकेले होते है तब हमें अपनी खूबियों और खामियों दोनों का अहसास होता है। यह समय ऐसा होना चाहिए जिसमे आप अकेले हो और आप खुद से उस समय बाते करे।

आप अपने जीवन के बारे में, अपने भविष्य (Future) के बारे में, अपने को बेहतर बनाने के बारे में और बुरे आदतों को अपनी लाइफ से दूर करने के बारे में इस कीमती समय में सोच – विचार कर सकते है।

आप हस्तमैथुन कि लत से निकलने के लिए नए – नए तरीके ढूंढ सकते है, नए goals बना सकते है तथा जब आप इस लत से छुटकारा पा लेंगे उस लम्हें को याद कर सकते है।

मास्टरबेशन की लत छोड़ने के तरीका खुद को पुरस्कार न दे – Hastmaithun chodne ke upay Do not give yourself an award in Hindi

कई ऐसे भी लोग होते है जो थोड़ी सी सफलता प्राप्त करने के बाद अपने लक्ष्य से भटक जाते है. ऐसे ही हस्तमैथुन के जो आदी होते है वे भी थोड़ी सफलता (Saflata) मिलने पर खुद पर कण्ट्रोल नही कर पाते है।

अगर आपको हस्तमैथुन न करे हुए 15 दिन या 20 दिन हो गये तो उसके बाद यह बिल्कुल भी न सोचे कि मैंने इतने समय तक हस्तमैथुन नहीं किया तो आज एक बार कर लेता हूँ।

मतलब अपनी थोड़ी सी सफलता की ख़ुशी में आप वह न करे, जिसके लिए आप इतने दिन से मेहनत कर रहे है। अपने आपको ऐसा पुरस्कार न दे बल्कि इसके बजाय आप खुद को कुछ खाने कि चीजे या friends के साथ time spend करे।

अगर आप हस्तमैथुन का उपहार (Uphar) खुद को देंगे तो यकीन मानिये यह लत आपकी जिंदगी में फिर से वापस लौट आएगी।

हस्‍तमैथुन की आदत छोड़ने का तरीका व्यायाम करे – Do Exercise to Stop Masturbation in Hindi

व्यायाम करना हमें कई प्रकार के फायदे देता है. व्यायाम हमें स्वस्थ रखता है तथा इससे हमें बीमारियों से लड़ने में भी काफी Help मिलती है. अपने daily routine में व्यायाम को शामिल करे। लगातार exercise करने से हमारे मांसपेशियों को लाभ मिलता है तथा इससे हमारा रक्त का संचार भी बड़ी तेजी से होता है।

इसके अलावा यह आपकी इच्छाशक्ति को बढायेगा. आप दौड़ लगाये, रस्सी से कूदे, वजन उठाये या अपने दोस्तों के साथ खेले. जब आपकी will Power बढ़ेगी तो आपको अपनी बुरी लत से भी छुटकारा मिलने लगेगा।

(और पढ़े – सेक्स के दौरान स्टेमिना बढ़ाने के लिए करें ये एक्सरसाइज)
मास्टरबेशन की लत छोड़ने के तरीका खुद को क्षमा करे – Forgive yourself to Stop Masturbation in Hindi

अगर आपने कुछ दिन हस्तमैथुन न करने के बाद फिर गलती से हस्तमैथुन कर लिया हो या अब तक जितनी बार भी हस्तमैथुन किया हो उसके लिए खुद से घृणा न करे। खुद से ग्लानी करना कभी भी आपकी इच्छाशक्ति बढ़ाने में हेल्प नहीं कर सकता।

हमारी life में हमें जब भी guilty feel होता है तो यह इस बात का प्रमाण होता है कि हमें अपनी ज़िन्दगी में कुछ परिवर्तन (Change) करना चाहिए। जब भी आपको ग्लानी महसूस हो तो खुद को माफ़ कर दे. थोड़ा धैर्य रखे और फिर से हस्तमैथुन को छोड़ने के लिए तत्पर हो जाये।

हस्‍तमैथुन की आदत छोड़ने का तरीका नशे से दूर रहे – Stay away from drunk to Stop Masturbation in Hindi

नशा हमारे समाज में एक बहुत ही बुरी चीज मानी जाती है। जो उचित भी है क्योंकि नशा (Nasha) घरो को उजाड़ देता है और जो व्यक्ति नशा करता है वह कभी भी अपनी ज़िन्दगी में खुशियाँ नहीं पा सकता। वह व्यक्ति नशे का इतना आदी हो जाता है कि उसे नशा धीरे – धीरे बर्बाद करने लगता है।

नशे के कई दुष्प्रभाव तो है ही साथ ही साथ जो व्यक्ति नशे से धुत रहता है वह कई अपराधो को भी अंजाम देता है। जब हम नशे में होते है तब यह नशा हमारी उत्तेजना को बढ़ावा देता है। जिस कारण हम इस नशे के वशीभूत होकर हस्तमैथुन कर लग जाते है। इसलिए हस्‍तमैथुन की आदत छोड़ने के लिए हमेशा नशे से दूर ही रहे।
मास्टरबेशन की लत छोड़ने के तरीका हार न माने – Don’t give up to Stop Masturbation in Hindi

हस्तमैथुन को छुड़ाने के लिए आप छोटे – छोटे लक्ष्य बना सकते है। For Example : आप यह लक्ष्य बना सकते है कि आप अगले 1 हफ्ते तक हस्तमैथुन नहीं करेंगे। ऐसा करने से आपको यह ज्यादा कठिन (hard) नहीं लगेगा।

वही अगर आपने कुछ समय तक हस्तमैथुन नहीं किया और कभी गलती से कुछ दिनों बाद फिर से हस्तमैथुन करते है तो इससे घबराये नहीं। आप अपने लक्ष्य के प्रति दृढ प्रतिज्ञ रहे और हार न माने। किसी भी बड़े लक्ष्य को पाने में हर व्यक्ति को पहले असफलता प्राप्त होती है. यह बात ध्यान रखे कि हारने के बाद ही जीत मिलती है।

(और पढ़े – महिलाओं या लड़कियों के लिए हस्तमैथुन हानिकारक है या लाभप्रद)
हस्‍तमैथुन की आदत छोड़ने का तरीका विशेषज्ञ या डॉक्टर की मदद ले – Take help of specialist or doctor to Stop Masturbation in Hindi

अगर आप ऊपर बताये गये सभी उपायों को करने के बाद भी हस्तमैथुन की लत को न छुड़ा पाए तो आप यह अवश्य जान ले कि यह लत आपको तनाव की ओर ले जा रही है और इससे आपका जीवन तनावग्रस्त (Tension) हो सकता है।

इससे निकलने के लिए आप किसी Expert या किसी मनोचिकित्सक से मिल सकते है जो आपको इस मानसिकता से बाहर निकालने में सहायता करेंगे।

आपको कुछ बाते हमेशा याद रखनी है – You have to remember some points in Hindi
ऐसा मत सोचो की आप को इसकी आदत लग गयी है। बस अपने मन को समझाओ की नहीं लगी है और इसको नहीं करना है।
ये सब दिमाग का ख्याल है, सब कुछ आपके हाथ में है किसी दुसरे के नहीं।




कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.