Header Ads

ये है स्वाद और सेहत से भरा पानी


ये है स्वाद और सेहत से भरा पानी TASTY & HEALTHY INFUSED WATER

पानी हमारे लिए कितना जरूरी है सभी जानते हैं पर क्या आप जानते हैं पानी के सहारे आप अपनी हैल्थ (Health) और ब्यूटी (Beauty) को भी मेंटेन (Maintain) कर सकते हैं। बिलकुल हम सभी यह जानते हैं पर फिर भी किसी न किसी कारण से शरीर के लिए जरूरी पानी पीने में हम सभी कोताही बरतते हैं।

आज मैं आप सबको पानी पीने का एक स्वादिष्ट (Tasty), सस्ता (Economical) और हैल्थी (Healthy) तरीका बताने जा रहा हूँ ….

पानी को अपने शरीर की अवश्यकता के अनुसार न पी पाने का मुख्य कारण साफ पानी की एक महत्वपूर्ण क्वालिटी (Quality) है जो इसका स्वादरहित (Tastelessness) होना है। यदि हम पानी को किसी तरह से स्वादिष्ट बना दें तो हम जी भर कर पानी पी सकते हैं और पानी को स्वादिष्ट (Tasty) और हैल्थी (Healthy) बनाने का एक तरीका है फ्रूट या फिर वेजीटेबल इन्फ़यूज्ड वॉटर (Fruit or Vegetable Infused Water)।

इन्फ़यूज्ड वॉटर (Infused Water) क्या है ?
इन्फ़यूज्ड वॉटर बनाने के लिए हम पानी में अपने स्वाद के अनुसार वैजीटेबल (Vegetable), फ्रूट (Fruit), या फिर हर्ब्स (Herbs) को काट कर डाल सकते हैं और 4-5 घंटे में हमारा इन्फ़यूज्ड वॉटर (Infused Water) तैयार हो जाता है। इस इन्फ़यूज्ड वॉटर को पीना लाजवाब तो लगता ही है साथ ही इसके द्वारा हम पानी की सही मात्रा को पी सकते हैं और पूरे दिन तरोताजा बने रह सकते हैं।

इन्फ़यूज्ड (Infused Water) वॉटर पीने के फायदे
इन्फ़यूज्ड वॉटर पीने से आपको पानी में स्वाद के साथ साथ बहुत सारे पोषक तत्व भी मिल जाते हैं क्यूंकि पानी में डाले हुए फ्रूट्स, वैजीटेबल, और हर्ब्स से पोषक तत्व निकल कर पानी में आ जाते हैं।
इन्फ़यूज्ड वॉटर बनाने के लिए इस्तेमाल किए गए फ्रूट्स के अनुसार आप कई प्रकार की बीमारियों से बचने के साथ साथ पहले से हुई बीमारियों से लड़ भी सकते हैं। डायबिटीज (Diabetes), कोल्ड (Cold), फ्लू (Flu), मोटापा (Obesity), आदि से बचा जा सकता है और ये कैंसर (Cancer) होने से भी रोकता है क्यूंकि इसमें कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट्स (Antioxidants) होते हैं।
पानी सही मात्रा में पीने से त्वचा पर पड़ने वाली झुर्रियों (wrinkles) से बचा जा सकता है और ये हमारे बालों को हैल्थी बनाने में भी मदद करता है।
इन्फ़यूज्ड वॉटर में पड़े हुए फ्रूट और वेजीटेबल की वजह से हमारा मैटाबोलिक रेट (Metabolic Rate) बढ़ता है जिससे मोटापे (Obesity) से लड़ने में मदद मिलती है और साथ ही मोटापा आने से रोका भी जा सकता है।
पानी और विटामिन (Vitamins) तथा मिनरल्स (Minerals) से भरे इस ड्रिंक से शरीर के टॉक्सिन (Toxins) को निकालने में मदद मिलती है।
पाचन क्रिया सही होती है।
फ्रूट इन्फ़यूज्ड वॉटर पीने से मीठा खाने की तलब शांत होती है इसलिए ये डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों के लिए भी बहुत अच्छा रहता है।
यह बनाने के लिए कोई निश्चित तरीका नहीं है आपके पास एक्सट्रा रखे हुए फ्रूट, वेजीटेबल या फिर हर्ब्स (हर्ब्स) का इस्तेमाल किया जा सकता है जोकि इसे सस्ता तरीका बनाता है।
यदि आप वजन कम करना चाहते हैं तो यह पानी पीने से आपको भूख कम लगती है और कमजोरी भी महसूस नहीं होती, इस प्रकार ये एक अच्छा डाइटिंग (Dieting) विकल्प है।
इन्फ़यूज्ड वॉटर (Infused Water) बनाने का तरीका
इन्फ़यूज्ड वॉटर बनाने के लिए एक काँच की बड़े मुँह की बॉटल (Glass Bottle) या फिर जग (Jug) ले लें, प्लास्टिक की बॉटल से बचें और अगर इस्तेमाल करनी भी है तो BPA फ्री बॉटल या जग इस्तेमाल करें।
घर में रखे हुए एक्सट्रा फ्रूट या वेजीटेबल और हर्ब्स अपने स्वाद के अनुसार ले लें और उनके लगभग एक इंच बड़े टुकड़े काट लें।
इन टुकड़ों को बॉटल या जग में डाल कर पानी भर दें। इस पानी को 4-5 घंटे रूम टेंपरेचर पर रखा रहने दें
4-5 घंटे बाद आपका इन्फ़यूज्ड वॉटर तैयार है जिसको आप रैफ्रीजरेटर (Refridgerator) में रख कर 1-2 दिन पी सकते हैं।
इन्फ़यूज्ड वॉटर (Infused Water) बनाते समय कुछ बातें ध्यान रखें
इन्फ़यूज्ड वॉटर में सीट्रस फ्रूट्स (Citrus Fruits) का स्वाद अच्छा लगता है, इसमें धनिया (Corriander), पुदीना (Mint), तुलसी (Basil) और अन्य हर्ब्स (Herbs) भी डाल सकते हैं।
कोशिश करें कि पानी में रंग बिरंगे फ्रूट और वेजीटेबल डालें जिससे आपको इनको पीने का मन करेगा और आपको कई तरह के विटामिन (Vitamin) और मिनरल (Minerals) मिल जाएँगे।
फ्रूट्स को पानी में निचोड़ें नहीं वरना इन्फ़यूज्ड वॉटर की जगह यह फ्रूट जूस बन जाएगा।
आप ऐसे फ्रूट इस्तेमाल करें जो आप को पसंद हों या फिर आप पहली बार ट्राइ कर रहे हों इससे आपको यह पानी पीने का मन करेगा।
2-3 दिन के बाद या फिर फ्रूट्स के खराब होने पर इस पानी का इस्तेमाल न करें।
केले और इसी प्रकार के बहुत जल्दी गल जाने वाले फ्रूट इस्तेमाल ना करें।
कुछ इन्फ़यूज्ड वॉटर (Infused Water) आइडिया (Idea)
खीरा, गाजर और नींबू।
सेब और दालचीनी।
खीरा, धनिया, पुदीना और नींबू।
संतरा और स्ट्रॉबेरी।
मौसम्बी, माल्टा, या कीनू के साथ दो हिस्से में कटे हुए अंगूर।
पाइनऐपल, तुलसी और अंगूर।
आम और अदरक।

फिर आप कब तक इंतज़ार करेंगे, इन्फ़यूज्ड वॉटर बनाइये और हैल्थी (Healthy) और ब्यूटीफुल (Beautiful) बनिए, और ये आइडिया (Idea) कैसा लगा कमेंट कर जरूर शेयर करें।
नारियल पानी के फायदे
आजकल भारत में मानसून का मौसम चल रहा है। मानसून के मौसम का वैसे तो पूरे भारत में बड़ी बेसब्री से इंतज़ार किया जाता है पर यह अपने साथ कई परेशानियाँ भी लेकर आता है। उमस(Humidity) इन सभी परेशानियों में से एक है और यह घर में या फिर बाहर दोनों ही जगह पसीना बहाने(Sweating) को मजबूर कर देती है। अधिक पसीना बहने से शरीर में पानी की कमी हो सकती है जिसकी वजह से कमजोरी, चक्कर आना, यहाँ तक कि बेहोशी भी हो सकती है।
शरीर में पानी की कमी न हो इसके लिए लगातार पानी पीते रहना चाहिए पर जब हम बाहर होते हैं तब शुद्ध पानी मिलना मुश्किल हो सकता है। मिनरल वॉटर ढूँढना और फिर इस बात का डर बने रहना की कहीं इस पानी में मिलावट तो नहीं! ऐसे में एक कमाल का पानी का स्रोत नारियल पानी हो सकता है। नारियल पानी शरीर में पानी की कमी दूर करने के साथ साथ और भी कई तरह से फायदेमंद हो सकता है, तो आइये जानते हैं नारियल पानी के फ़ायदों के बारे में

हृदय के लिए टॉनिक(Tonic for Heart)

नारियल पानी हृदय के लिए टॉनिक(Tonic) से कम नहीं है क्यूंकि इसमें कॉलेस्ट्रोल(Cholesterol) नहीं होता है और फैट(Fat) कम मात्रा में होता है साथ ही यह बुरे कॉलेस्ट्रोल(LDL) को कम करता है और अच्छे कॉलेस्ट्रोल(HDL) को बढ़ाने का काम करता है। इस तरह यह हृदय की बीमारियों को होने से रोकता है। नारियल पानी रक्त के संचरण(Blood Circulation) को ठीक करने में मदद करता है और उच्च रक्तचाप(High Blood-Pressure) को नियंत्रित करता है क्यूंकि इसमें पॉटेशियम(Potassium) की अच्छी मात्रा होती है।
त्वचा के लिए लाभकारी(Beneficial for Skin)
नारियल पानी त्वचा के लिए वरदान से कम नहीं है। नारियल पानी को पीने के साथ साथ अगर इसको त्वचा पर लगाया जाये तो यह त्वचा को नमी(Moisture) देता है और कई प्रकार की त्वचा की समस्याओं को कम करता है। त्वचा के दाग-धब्बे, झुर्रियां(Wrinkles), उम्र के असर, आदि को कम करने में यह किसी ब्यूटी क्रीम से कम नहीं है।
पेट के लिए वरदान(Good for Stomach)

नारियल पानी हमारे पेट को स्वस्थ रखने में मदद करता है। नारियल पानी में अच्छी मात्रा में फ़ाइबर(Fibre) होता है जोकि पाचन(Digestion) में मदद करता है। नारियल में उपस्थित पॉटेशियम(Potassium), सोडियम(Sodium) से होने वाले नुकसान को भी कम करता है जैसे पेट फूलना, गैस बनना, आदि।
डायबिटीज में उपयोगी(Useful in Diabetes)

डायबिटीज(Diabetes) में भी नारियल पानी के फायदे देखे गए हैं। कुछ शोध बताते हैं कि नियमित रूप से नारियल पानी पीने और साथ ही थोड़ी कसरत(Exercise) करने से रक्त में शुगर(Blood Sugar) की मात्रा को कम करने में मदद मिलती है। नारियल पानी डायबिटीज के कुछ असर जैसे ब्लड क्लॉटिंग(Blood-Clotting) और हाथ-पैरों के सुन्न होने को भी रोकता है।

नोट: डायबिटीज(Diabetes) के दौरान नारियल पानी पीने के बाद रक्त में शुगर की मात्रा पर नज़र रखना बहुत जरूरी है।
वजन कम करना(Aiding Weight Loss)

नारियल पानी में उपस्थित फ़ाइबर(Fibre) की वजह से पेट लंबे समय तक भरा रहता है और हम अधिक खाना खाने से बचते हैं। इस तरह यह मोटापे(Obesity) को कम करने में मदद करता है और शरीर में पोषक तत्वों(Nutrients) की कमी भी नहीं होने देता।
अस्थियों को मजबूत बनाना(Strengthening Bones)

नारियल पानी पीने से अस्थियों को मजबूत करने में भी मदद मिलती है। नारियल पानी में पाया जाने वाला कैल्सियम(Calcium) अस्थियों को बनाने का काम करता है, वहीं मैग्नीशियम(Magnesium) अस्थियों की मजबूती के लिए जाना जाता है। इस तरह नारियल पानी पीते हुए आप अंजाने ही सही पर अपनी अस्थियों का भी ध्यान रख रहे होते हैं।
माँसपेशियों में खिंचाव(Muscles Cramps) का इलाज

माँसपेशियों में खिंचाव का कारण पॉटेशियम(Potassium) की कमी भी होता है जोकि नारियल पानी में भरपूर होता है। साथ ही कई बार अधिक कसरत करने और पसीने के कारण शरीर में पानी की कमी से भी माँसपेशियों में खिंचाव आ सकता है, इसको नारियल पानी किसी भी एनर्जी ड्रिंक(Energy Drink) से ज्यादा अच्छी तरह और जल्दी ठीक करने में कारगर है।
किडनी रोगों(Kidney Diseases) में लाभकारी

नारियल पानी प्राकृतिक रूप से शरीर में उपस्थित विषाक्त पदार्थों(Toxins) को मूत्र(Urine) के द्वारा निकालने में बहुत ही असरकारक है। अपने क्षारीय गुणोंAlkaline) के कारण यह किडनी में होने वाली पथरियों(Kidney Stones) को भी निकालने का काम करता है।

इस तरह नारियल पानी किडनी को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है।
शरीर में PH स्तर ठीक करना(Balancing PH Level)

शरीर का PH स्तर बढ़ जाने से कई तरह के रोग शरीर को लग सकते हैं। PH स्तर बढ़ने से पेट संबंधी रोग(Stomach Diseases), डायबिटीज(Diabetes) और जोड़ों का दर्द(Joint Pain), आदि समस्याओं को सिर उठाने का मौका मिल जाता है। ऐसे में नारियल पानी का क्षारीय गुण(Alkaline) इस PH स्तर को ठीक करने में मदद करता है।
सिरदर्द(Headache) ठीक करना

अधिकतर सिरदर्द शरीर में पानी की कमी होने से होते हैं। नारियल पानी तुरंत ही पानी की कमी को दूर करता है, जिससे सिरदर्द ठीक करने में मदद मिलती है। एक शोध के अनुसार माइग्रेन(Migrane) से पीड़ित लोगों में मैग्नीशियम(Magnesium) की कमी सामान्य तौर पर देखी गयी है, ऐसे में नारियल पानी से माइग्रेन से होने वाले सिरदर्द को कम करने में मदद मिल सकती है।
ब्रेन टॉनिक(Brain Tonic)

नारियल पानी में उपस्थित साइटॉकाइनिन(Cytokinin) ब्रेन सेल को होने वाले नुकसान को रोकने में कारगर साबित हुआ है। यह याददाश्त(Memory) संबन्धित समस्याओं को भी कम करने में मदद करता है। अल्जाइमर(Alzheimer) रोग में भी नारियल पानी को संभावित इलाज के रूप में देखा जा रहा है।
बालों के लिए बेमिसाल(Good for Hair)

नारियल पानी के द्वारा रूसी(Dandruff), बाल झड़ना(Hairfall), दोमुहें बालों, आदि समस्याओं को रोकने में मदद मिलती है। नारियल पानी को कंडीशनर(Conditioner) की तरह इस्तेमाल करने से बालों की खोई हुई चमक(Shine) और बालों को स्वस्थ रखा जा सकता है।
हाइपोथाइरॉइड(Hypothyroid) के लिए लाभकारी

प्राकृतिक Diuretic होने की वजह से यह थाइरॉइड ग्रंथि(Thyroid Gland) को ठीक तरह से काम करने में मदद करती है। नारियल पानी में उपस्थित स्वास्थ्यकारी फैट शरीर के मेटाबॉलिक रेट(Metabolic Rate) को ठीक करने में मदद करते हैं, इस तरह नारियल पानी हाइपोथाइरॉइड(Hypothyroid) के कुछ बुरे असर को ठीक करने में हमारी मदद कर सकता है।
ग्लायकोमा में प्राकृतिक औषधि(Natural Medicine for Glycoma)


ग्लायकोमा(Glycoma) में आँखों की रक्त नलिकाओं में दाब अधिक बढ़ जाने से आँखों की रोशनी जाने का खतरा होता है। नारियल पानी से आँखों में रक्त दाब को कुछ समय के लिए कम करने में मदद मिल सकती है।
कीमोथेरेपी(Chemotherapy) के बाद लाभकारी

कीमोथेरेपी के बाद शरीर में कई तरह के बुरे असर देखने को मिलते हैं। कीमोथेरेपी(Chemotherapy) के बाद नारियल पानी के उपयोग से शरीर में पानी की कमी दूर करने के साथ साथ WBC, RBC, प्लेटलेट्स, आदि का स्तर ठीक करने में मदद मिलती है।
एंटी ट्यूमर प्रोपर्टी(Anti-Tumour Property)

नारियल पानी में एंटी ट्यूमर प्रोपर्टी भी पायी जाती हैं। ऐसा नारियल पानी में उपस्थित साइटॉकाइनिन(Cytokinin) की वजह से होता है। पेट में होने वाले अल्सर(Ulcers) को रोकने के साथ साथ यह इसको ठीक करने में भी मदद कर सकता है।
एंटी बैक्टीरियल प्रोपर्टी(Anti-Bacterial Property)

नारियल पानी में उपस्थित antimicrobial peptides की वजह से यह E Coli जैसे बैक्टीरिया(Bacteria) से भी लड़ने में सक्षम है जोकि बहुत सी एंटी बैक्टीरिया दवाइयों से भी अपने आप को बचा लेने के लिए जाना जाता है।
शरीर में पानी की कमी को दूर करना(Helpful in Dehydration)


कई बार पानी कम पीने या फिर अधिक पसीना(Excessive Sweating) आने या उल्टी-दस्त(Diarrhoea) की वजह से शरीर में पानी की कमी हो जाती है। ऐसे में नारियल पानी पीने से पानी की कमी को दूर किया जा सकता है। जब शरीर में पानी की कमी होती है तब शरीर में कई खनिजों(Minerals) की भी कमी हो जाती है, जिसे नारियल पानी अपने इलेक्ट्रोलाइट(Electrolytes) जैसे गुणों के कारण इन खनिजों की भी पूर्ति कर सकता है।

नारियल पानी के अंदर बहुत से विटामिन और खनिज होते हैं, आइये अंत में नारियल पानी की न्यूट्रीशनल वैल्यू(Nutritional Value) के बारे में जानते हैं


नारियल पानी में उपस्थित न्यूट्रीशन 
न्यूट्रीशनल वैल्यू 
दैनिक आवश्यकता का %
एनर्जी 19 Kcal 1%
कार्बोहाइड्रेट 3.71 gm 3%
प्रोटीन 0.72 gm 1.5%
फैट 0.20 gm 1%
कॉलेस्ट्रॉल 0 mg 0
फाइबर 1.1 gm 3%
विटामिन्स(Vitamins) 
फोलेट्स 3µg 0.75%
नियासिन 0.080 mg 0.5%
पेंटोथेनिक एसिड 0.043 mg <1%
पायरिडोक्सिन 0.032 mg 2.5%
राइबोफ्लेविन 0.057 mg 4%
थियामीन 0.030 mg 2.5%
विटामिन सी 2.4 mg 4%
मिनरल्स(Minerals) 
कैल्सियम 24 mg 2.4%
कॉपर 40 mcg 4.5%
आयरन 0.29 mg 3.5%
मैग्नीशियम 25 mg 6%
मैंगनीज़ 0.142 mg –
ज़िंक 0.10 mg 1%
इलेक्ट्रोलाईट्स 
सोडियम 105 mg 7%
पॉटेशियम 250 mg 5%
फाइटो न्यूट्रीऐंट्स(Phyto-Nutrients) 
ऑक्सिन Present 
साइटॉकाइनिन Present 
ल्यूकॉऐंथॉकाइनिन
Present


कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.