Header Ads

फ़िटनेस = 80% डायट + 20% एक्सरसाइज़’ इसलिए खाएं सोच समझकर


फ़िटनेस = 80% डायट + 20% एक्सरसाइज़’ इसलिए खाएं सोच समझकर
आपने फ़िटनेस का यह मंत्र ‘‌फ़िटनेस = 80% डायट + 20% एक्सरसाइज़’ कई बार सुना होगा. यानी आपको फ़िट रहना है तो एक्सरसाइज़ से अधिक महत्वपूर्ण आपका खानपान है. अब जबकि ज़्यादातर लोग सही शेप में रहने के लिए जिम का रुख़ कर रहे हैं, यह जानना बहुत ज़रूरी हो जाता कि एक्सरसाइज़ के साथ वे क्या, कब और कितना खाएं. ग्लोबल को-एड फ़िटनेस चेन एनीटाइम फ़िटनेस के एमडी विकास जैन बता रहे हैं एक्सरसाइज़ के साथ आपको क्या खाना चाहिए और क्यों? 
विकास कहते हैं,‘‘लोग जब जिम जॉइन करते हैं या एक्सरसाइज़ शुरू करते हैं तब आम दिनों की तुलना में ज़्यादा खाने लगते हैं. चूंकि वे जिम में ऊर्जा लगाते हैं इसलिए उनका ज़्यादा खाना जायज़ भी है. हमें ज़्यादा खाने को दिक़्क़त की तरह देखने के बजाय यह देखना चाहिए कि हम कब और क्या खाते हैं, क्योंकि सही खानपान के बिना एक्सरसाइज़ का हम ठीक तरह से फ़ायदा नहीं पा सकते.’’ 
आइए जानते हैं, एक्सरसाइज़ शुरू करने के बाद कैसा होना चाहिए आपका खानपान. किन ‌चीज़ों को कब खाना आपको सही नतीजा दे सकता है. 

खाएं: अंडे 
कब: एक्सरसाइज़ के पहले और बाद 
क्यों: अंडा प्रोटीन का बेहतरीन स्रोत है. इसके फ़ायदे लाजवाब हैं, क्योंकि इसमें दूसरे पोषक तत्वों की भी अच्छी मात्रा होती है. 
खाएं: एक सेब (नट बटर के साथ) 
कब: एक्सरसाइज़ के पहले 
क्यों: कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का मेल एनर्जी बूस्टर का काम करता है और एक्सरसाइज़ के लिए आपको एनर्जी तो चाहिए ही ना! एक्सरसाइज़ से एक या आधा घंटा पहले पीनट बटर या आमंड बटर के साथ एक सेब खाएं, वर्कआउट के समय ख़ुद को एनर्जी से भरा हुआ महसूस करेंगे. 

खाएं: कीन्वा, शकरकंद और सलाद 
कब: एक्सरसाइज़ के बाद 
क्यों: इस भोजन से आपको भरपूर मात्रा में प्रोटीन मिलता है. मटर और बीन्स से बना हम्मस कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का बढ़िया सोर्स है. हम यहां कीन्वा खाने की सलाह इसलिए भी दे रहे हैं, क्योंकि इसमें न केवल प्रोटीन की अच्छी मात्रा होती है, बल्कि दूसरे पोषक तत्व भी काफ़ी होते हैं. 

खाएं: ट्यूना सलाद 
कब: एक्सरसाइज़ के पहले 
क्यों: ट्यूना में कार्बोहाइड्रेट को ग्लूकोज़ में परिवर्तित करनेवाले विटामिन्स की प्रचुर मात्रा होती है. इसे एक्सरसाइज़ के पहले इसलिए खाना चाहिए, क्योंकि ग्लूकोज़ आपको एनर्जेटिक रखेगा. 
खाएं: लेंटिल्स (दालें) 
कब: एक्सरसाइज़ के पहले 
क्यों: लेंटिल्स से न केवल धीरे-धीरे कार्ब्स मिलता है, बल्कि ये प्रोटीन्स का बेहतरीन स्रोत हैं. टोन्ड बॉडी पाने की इच्छा रखनेवाले शाकाहारी लोगों को अपने खानपान में लेंटिल्स शामिल करना ही चाहिए. 
खाएं: पीनट बटर, होलग्रेन टोस्ट के साथ 
कब: एक्सरसाइज़ के पहले 
क्यों: पीनट बटर के साथ होलग्रेन टोस्ट खाने का सबसे बड़ा फ़ायदा यह है कि इसे पचाना आसान है. यानी आपको एक्सरसाइज़ के लिए एनर्जी तो मिलेगी ही, साथ ही आपका पेट भरा-भरा या फूला हुआ नहीं महसूस होगा. 

खाएं: नट्स और ड्रायफ्रूट्स
कब: एक्सरसाइज़ के बाद 
क्यों: बादाम और अखरोट जैसे नट्स की थोड़ी-सी मात्रा भी आपको ढेर सारी एनर्जी देती है. इसके अलावा ये सेहतमंद फ़ैट और प्रोटीन भी देते हैं. इनके साथ कुछ दूसरे ड्राय फ्रूट्स खाने से शरीर का ग्लाइकोजन लेवल तुरंत बढ़ता है और आप झटपट एनर्जी से भर जाते हैं. 

खाएं: नट्स या सीड्स की स्मूदी कब: एक्सरसाइज़ के पहले 
क्यों: सीड्स और नट्स में प्रोटीन और अच्छे फ़ैट्स की अच्छी-ख़ासी मात्रा होती है, जिसका सीधा अर्थ है कि उनके डाइजेशन में समय लगता है. यदि आप एक्सरसाइज़ के पहले बहुत ज़्यादा नट्स या सीड्स खा लेंगे तो भारीपन का एहसास होगा. वर्कआउट करते समय आलस महसूस होगा. स्मूदीज़ या शेक्स के साथ ब्लेंड करके लेने पर उन्हें पचाना आसान हो जाता है. 

खाएं: हरी सब्ज़ियां 
कब: एक्सरसाइज़ के बाद 
क्यों: हरी सब्ज़ियों में कैलोरी की प्रचुर मात्रा होती है. चूंकि आपने एक्सरसाइज़ करते हुए कैलोरीज़ लूज़ की है तो उनके बदले में कैलोरी मिल जाएगी. वैसे देखा जाए तो हरी सब्ज़ियों से पोषक शायद ही कोई खाद्य पदार्थ है. उनमें एन्ज़ाइम्स की अच्छी मात्रा होती है, जिसके चलते वज़न घटाने में आसानी होती है. इतना ही नहीं, हरी सब्ज़ियां मिनरल्स से भरपूर होती हैं. 

खाएं: चिकन 
कब: एक्सरसाइज़ के बाद 
क्यों: चिकन प्रोटीन का बेहतरीन स्रोत है. वर्कआउट के बाद हमें अमीनो एसिड वाले प्रोटीन की ज़रूरत सबसे अधिक होती है.

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.