Header Ads

ताड़ासन करने के फायदे और करने का तरीक


पेट की चर्बी कम करने के लिए 




योग के माध्यम से पाएं सपाट पेट: क्या आप कुछ किलो वजन करना चाहते हैं लेकिन जिम ज्वाइन नहीं करना चाहते हैं? तो आप बिल्कुल सही जगह आये हैं। पेट की अधिक चर्बी आपके पूरे लुक को खराब कर सकती है। इसे हटाने के लिए योग का सहारा लिया जा सकता है। हमने आपके लिए 20 आसान योग आसन की लिस्ट तैयार की है। रोज ये 20 आसान योग आसन करने से आपको पेट की चर्बी कम करने, मोटापा घटाने, मांसपेशियों को मजबूत करने, एब्स बनाने और शरीर के लचीलेपन में सुधार करने में मदद मिलेगी।
1. ताड़ासन


इसे करने से पूरे शरीर में खिंचाव महसूस होता है और ऊर्जा आती है। रक्त का प्रवाह बेहतर हो जाता है।

ताड़ासन करने के फायदे और करने का तरीक

ताड़ासन करने के फायदे, सावधानियां और करने का तरीका 


ताड़ासन संस्कृत के दो शब्दों तड़ा और आसन से मिलकर बना हुआ है। यहां तड़ा का मतलब माउंटेन यानि पर्वत(Mountain) और आसन का मतलब पोज (Pose) से है। ताड़ासन योग मुद्रा पैर से लेकर दोनों भुजाओं और शरीर में खिंचाव लाने के लिए और लंबाई बढ़ाने के लिए बहुत ही प्रभावी होता है। इसके अलावा भी यह आसन करने से शरीर को कई फायदे होते हैं। यह विभिन्न विकारों से हमें दूर रखता है और शरीर के तकलीफों को भी दूर कर देता है। आज इस आर्टिकल में हम आपको ताड़ासन करने के तरीके Tadasana Yoga Steps in Hindi, ताड़ासन करने के फायदे Benefits of Tadasansa in Hindi, ताड़ासन करते समय सावधानियां Tadasana Precautions in Hindi, ताड़ासन की तरह अन्य योग मुद्रा Similar Poses To Tadasansa in Hindi के बारे में बताएंगे।

1. ताड़ासन करने के तरीके – Tadasana Yoga Steps in Hindi
2. ताड़ासन के फायदे – Benefits of Tadasansa in Hindi
3. ताड़ासन करते समय सावधानियां – Tadasana Precautions in Hindi
4. ताड़ासन की तरह अन्य योग मुद्रा – Similar Poses To Tadasansa in Hindi

ताड़ासन करने के तरीके – Tadasana Yoga Steps (Mountain Pose) in Hindi

ताड़ासन (Mountain Pose)को दिन में किसी भी समय किया जा सकता है लेकिन आपको सिर्फ इस बात का ध्यान रखना पड़ेगा कि ताड़ासन (Tadasana) को खाली पेट करें या फिर भोजन करने के बाद ही करना चाहते हैं तो इस आसन को करने से करीब चार से छह घंटे पहले भोजन कर लें। इसके अलावा यदि आपने ताड़ासन को पहले कभी नहीं किया है और अभी शुरूआत करने जा रहे हैं तो शुरू में आपको थोड़ी समस्या हो सकती है। एड़ियों को उठाकर पैर की उंगलियों पर खड़े रहने में आपको दर्द हो सकता है। इसके लिए आपको धैर्य के साथ धीरे-धीरे इसका अभ्यास करना चाहिए।
फर्श पर एकदम सीधे खड़े हो जाएं और दोनों पैरों के बीच थोड़ी दूरी बनाए रखें।
इसके बाद अपने हाथों को शरीर से छूते हुए (body touch) बिल्कुल खुला लटकाये रखें। हाथों में किसी तरह का तनाव न हो और ना ही आपकी मुट्ठी बंद हो
अब सांस लेते हुए अपने दोनों भुजाओं को ऊपर उठाएं और हाथों की उंगलियों को एक दूसरे से इंटरलॉक कर लें।
इसके बाद अपनी एड़ियों (heels) को उठाएं और पैर की उंगलियों के सहारे खड़े हो जाएं। अब पैरों से लेकर उंगलियों (toes) और शरीर में खिंचाव को महसूस करें।
सांस लेते हुए इस मुद्रा में कुछ देर तक बने रहें।
अब सांस को छोड़ते हुए विश्राम की मुद्रा में आ जाएं।
इस योग मुद्रा को कम से कम 10 बार दोहराएं। जरूर फर्क दिखेगा।
ताड़ासन करने के फायदे – Benefits of Tadasansa (Mountain Pose) in Hindi

लंबाई बढ़ाने में – ताड़ासन करने से पैरों, उंगलियों और शरीर के अन्य हिस्सों में खिंचाव होता है जिससे की व्यक्ति की लंबाई बढ़ती है। कम उम्र के बच्चों की लंबाई बढ़ाने के लिए भी उन्हें यह आसन करने की सलाह दी जाती है।

मासिक धर्म में – इस आसन को एक नहीं बल्कि कई फायदे होते हैं। ताड़ासन करने से महिलाओं में मासिक धर्म (menstrual cycle )में अनियमितता की समस्या दूर हो जाती है और उनका पीरियड समय पर आता है। इसलिए महिलाओं को यह आसन जरूर करना चाहिए। (और पढ़े – पीरियड्स की जानकारी और अनियमित पीरियड्स के लिए योग और घरेलू उपचार)


शरीर को टोन (tone) करने में – अगर आप ताड़ासन करते हैं तो यह आसन कूल्हों, नितंबों और पेट को टोन करने का काम करता है। इससे शरीर को भारीपन महसूस नहीं होता है और आप हल्का अनुभव करते हैं। इसलिए आपको यह आसन जरूर करना चाहिए। (और पढ़े – नितंब/Butt को कम करने के लिए करें ये एक्सरसाइज)

मजबूती प्रदान करने में – यह आसन करने से शरीर के टखने, घुटने, जांघे, भुजाएं एवं पैरों में बहुत मजबूती आती है। इससे आपका शरीर अधिक सख्त बनता है और आप देखने में एकदम स्वस्थ लगते हैं।

बेहतर श्वसन में – ताड़ासन करने से पाचन की क्रिया और श्वसन की क्रिया दोनों बेहतर होती है और आपको इससे संबंधित किसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। अगर आपको ऐसी कोई समस्या है तो आपको जरूर यह आसन करना चाहिए।

कब्ज में – अगर आप ताड़ासन करते हैं तो इसका सबसे बड़ा फायदा आपको कब्ज की समस्या को दूर करने में मिलेगा। इसके अलावा यह आसन सियाटिका (sciatica) को भी दूर करने में बहुत सहायक होता है।
ताड़ासन करते समय सावधानियां – Tadasana (Mountain Pose) Precautions in Hindi

अगर आप इंसोमेनिया (insomnia), निम्न ब्लड प्रेशर और सिर दर्द की समस्या से परेशान हैं तो आपको ताड़ासन नहीं करना चाहिए।


महिलाओं को अपने गर्भावस्था में ताड़ासन करने से परहेज करना चाहिए।
ताड़ासन की तरह अन्य योग मुद्रा – Similar Poses To Tadasansa in Hindi

ताड़ासन की तरह और भी कई योग मुद्रा है जिसे आप अपने नियमित योगा रूटीन में शामिल कर सकते हैं। ये आसन करने से ताड़ासन की तरह ही शरीर को फायदे मिलते हैं।
वक्रासन (Tree Pose)
अधो मुख स्वानासन (Downward-Facing Dog)
भुजंगासन (Cobra Pose)
उत्कातासन (Chair Pose)
वीरभद्रासन (Warrior Pose)

ये सभी पोज ताड़ासन की तरह ही बहुत प्रभावी होते हैं और आपकी मुद्रा को संतुलित करने में मदद करते हैं। इसके अलावा ये आसन शारीरिक एवं मानसिक रूप से राहत प्रदान करते हैं। ये सभी आसन आपको परामर्शदाता से सलाह लेकर करना चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.