Header Ads

पहली बार योग करने से पहले और बाद में क्या करना चाहिए ?

पहली बार योग करने से पहले और बाद में क्या करना चाहिए ?
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 के अवसर पर जब पूरे विश्व में योग दिवस मनाया जा रहा
अगर आप योग के बारे में जानकारी नहीं रखते हैं तो उसे गलत तरीके से करते हैं. गलत तरीके से किये गये योग का कोई फायदा नहीं होता है. 

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 के अवसर पर जब पूरे विश्व में योग दिवस मनाया जा रहा है. तब आपको योग करने से पहले और बाद में कौन सी बातों का ध्यान रखना होता है. यह जानकारी होना बेहद जरूरी है. खासकर उन लोगों के लिए जो जीवन में पहली बार योग करने जा रहे हैं. अगर आप कभी भी योग नहीं किये हैं तो आपको कुछ योग टिप्स को ध्यान रखना जरूरी होता है. हम यहां ऐसे ही कुछ विशेष योग दिवस टिप्स के बारे में बता रहे हैं. जब आप पहली बार योग करने जाएं तो योग करने से पहले और बाद में इन जानकारियों को ध्यान में रखें.

योग करने से पहले और बाद में क्या करना चाहिए यह जानना जरूरी है. क्योंकि अगर योग रने से पहले और बाद में कुछ गलत हुआ तो योग नुकसान भी पहुंचाता है.
पहली बार योग करने से पहले क्या करें ?

अगर आप पहली बार योग करने जा रहे हैं तो आपको अपने हेल्थ के बारे में जानकारी होनी चाहिए. इसका सबसे अच्छा तरीका है कि आप डॉक्टर से बात करके अपने शरीर के जरूरी जांच करवा लें. क्योंकि योग में बहुत से योग ऐसे हैं जिनको किसी विशेष रोग या शरीर की परेशानी में नहीं करना चाहिए.
महिलाएं इन बातों का रखें ध्यान 

अगर आप महिला हैं तो पहली बार योग करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें. महिलाओं को पीरियड के समय योग करना चाहिए या नहीं इसकी जानकारी भी अपने डॉक्टर से जरूर ले लें. क्योंकि ज्यादातर योगाचार्य बताते हैं कि पीरियड के समय योग करने से बचना चाहिए.

महिलाओं को प्रेगनेंसी के समय भी योग करने मे जरूरी सावधानी रखनी चाहिए. अगर आपको प्रेगनेंसी की किसी प्रकार की परेशानी है तो योग करने से बचना चाहिए. अगर आप प्रेगनेंट हैं तो अपने डॉक्टर के परामर्श के बिना कोई योग न करें.
सही योगा क्लास और योग प्रशिक्षक चुनें 
अगर आप पहली बार योग करने जा रहे हैं तो आपको सही योगा क्लास का चयन करना चाहिए. क्योंकि योग करने की जगह और मौसम का असर भी शरीर पर पड़ता है. अगर आप कभी भी योग नहीं किये हैं तो एक बेहतर योग प्रशिक्षक का चयन बेहद जरूरी है.

क्योंकि अगर आप योग के बारे में जानकारी नहीं रखते हैं तो उसे गलत तरीके से करते हैं. गलत तरीके से किये गये योग का कोई फायदा नहीं होता है.

योग प्रशिक्षक या गुरु का होना बेहद जरूरी है. क्योंकि आप टीवी या वीडियो देखकर सही मुद्रा नहीं बना पाते हैं. सांस कब लेना है और कितनी देर तक रोकना है यह जानकारी भी जरूरी होती है.
योग की टेस्ट क्लास लें 

अगर आप योग करने के लिए तैयार हैं तो सबसे पहले आपको टेस्ट क्लास लेनी चाहिए. योग की टेस्ट क्लास लेने से आपको पता चल जाता है कि आप योग करने के लिए कितने तैयार है. योग की टेस्ट क्लास में आपके शरीर को चेक किया जाता है कि आप योग के लिए कितने तैयार हैं.

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019: ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करने के लिए करें ये 4 योग आसन.
योग के समय जरूरी बातें 

आप योग करने के लिए ढीले व सूती कपड़े पहनें. आपके कपड़े हल्के और आरामदायक होने चाहिए.

योग करने से पहले कुछ न कुछ हल्का खाद्य पदार्थ जरूर लें. खाली पेट योग नहीं करना चाहिए.

एक या दो घंटे पहले हल्का नाश्ता लेना चाहिए. बहुत ज्यादा खाने से बचना चाहिये.

पानी की बोतल साथ रखें. बीच-बीच में पानी पीते रहें.
अपने साथ तौलिया और हल्के स्नैक भी रख सकते हैं.
योग करने के बाद क्या नहीं करना चाहिए 

योग करने के बाद कठीन एक्सरसाइज या कार्य करने से बचें.

अगर आपको किसी प्रकार की परेशानी है तो योग करने से बचें.

किसी प्रकार के नशे का सेवन योग करने के बाद नहीं करना चाहिए.

दौड़ने या खेलने का काम योग करने के बाद नहीं करना चाहिए.

जब आप योग करके खाली हों तो तुरंत ज्यादा खाने से भी बचें.

Diabetes से लेकर मोटापा कम करता है ज्वार, जानें अन्य फायदे


सेहत के लिए किसी औषधि से कम नहीं ज्वार


ज्वार का नाम तो लगभग सभी ने सुना होगा। इसे न सिर्फ अनाज बल्कि चारे के तौर पर भी बोया जाता है। देश के कई इलाकों में गेहूं और बाजरे की रोटी के अलावा ज्वार की रोटी और उसके दाने भी बड़े चाव से खाए जाते हैं। आपको बता दें कि ज्वार की करीब 30 प्रजातियां हैं, लेकिन उनमें से सिर्फ एक ही ऐसी प्रजाति है जिसे लोग खा सकते हैं। ज्वार सेहत के लिए किसी औषधि से कम नहीं है। इसे खाने के ढेरों फायदे हैं।

ग्लटूेन फ्री होता है ज्वार


ज्वार की सबसे खास बात यह है कि यह ग्लूटेन फ्री होता है और जो लोग ग्लूटन फ्री खाने के चक्कर में गेंहू नहीं खाते हैं, वे ज्वार की रोटियां या फिर उसका स्प्राउट खा सकते हैं।

​हड्डियां बनाता है मजबूत


ज्वार में मैग्निशियम की पर्याप्त मात्रा होती है जो शरीर में कैल्शियम को अब्ज़ॉर्ब करने में मदद करता है। मजबूत हड्डियों के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी होता है। 

मोटापा कम करने में मदद

इसके अलावा यह वजन घटाने और ब्लड के स्मूद फ्लो में भी मदद करता है। ज्वार में फाइबर काफी मात्रा में होता है, जिससे मोटापा नहीं बढ़ता।

​डायबीटीज में फायदेमंद


ज्वार को डायबीटीज में भी फायदेमंद माना गया है। ज्वार में टेनिन नाम का एक तत्व मौजूद होता है जो ऐसे एंजाइम्स के प्रॉडक्शन पर लगाम लगाता है जो बॉडी में मौजूद स्टार्च को सोख लेते हैं। इसके अलावा यह शरीर में इंसुलिन और ग्लूकोज के स्तर को मेनटेन करके रखता है।

​गुणों की खान ज्वार


ज्वार में फाइबर, प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्निशियम, पोटेशियम, आयरन और फैट प्रचुर मात्रा में होता है, जो हेल्दी बॉडी के लिए बेहद जरूरी हैं। इसमें ऐंटी-ऑक्सिडेंट प्रॉपर्टीज भी होती हैं जो शरीर से फ्री रैडिकल्स को बाहर करने में मदद करती हैं।

​गठिया के रोग में फायदेमंद


ज्वार हार्ट संबंधी बीमारियों और गठिया के रोग में भी फायदेमंद माना गया है। इसलिए ज्वार को डायट में जरूर शामिल करें। 
​स्किन कैंसर से बचाव


खूबसूरत और ग्लोइंग स्किन के लिए भी ज्वार किसी 'वरदान' से कम नहीं। यह स्किन में मेलनॉमा सेल्स (melanoma cells) के अत्यधिक प्रॉडक्शन पर लगाम लगाता है। इन सेल्स को स्किन कैंसर के लिए जिम्मेदार माना जाता है। (ध्यान दें: ज्वार भले ही ग्लूटेन फ्री होता है लेकिन इससे कुछ लोगों को एलर्जी भी हो सकती है। इसलिए इसके अत्यधिक सेवन से बचें और डायटिशन से पूछकर ही ज्वार को डायट में शामिल करें।)


कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.