Header Ads

सोडियम क्या है – स्रोत, मात्रा, फायदे और नुकसान –


सोडियम क्या है – स्रोत, मात्रा, फायदे और नुकसान – 

Sodium – Source, Benefits And Side Effects In Hindi जानिए सोडियम क्या है, सोडियम के स्रोत, सोडियम के कार्य, सोडियम के फायदे और नुकसान। सोडियम मानव शरीर में पाए जाने वाला एक महत्वपूर्ण तत्व है सोडियम रक्त के विनियमन (regulation) के लिए सबसे महत्वपूर्ण इलेक्ट्रोलाइट्स (electrolytes) में से एक है। इस महत्वपूर्ण इलेक्ट्रोलाइट की अनुपस्थिति के कारण शारीरिक कार्यों को करने में परेशानी हो सकती है। यह शरीर के तरल पदार्थ को नियंत्रित करता है और मानव शरीर के अन्दर विद्युत आवेगों (electric impulses) को भी संचारित करता है। सोडियम नसों में पाए जाने वाले सबसे महत्वपूर्ण घटकों में से सबसे आवश्यक तत्व है, जबकि यह मांसपेशियों के संकुचन की गति को नियंत्रित या संतुलित करने में भी मदद करता है।
संक्षेप में कह सकते है कि सोडियम मानव आहार के रूप में, कोशिकीय सक्रियता को नियंत्रित करने और बनाये रखने के साथ-साथ तंत्रिका तंत्र को उचित कार्य करने के लिए आवश्यक तत्वों में से एक है।नमक और ‘सोडियम’ एक ही चीज नहीं हैं। क्योंकि नमक प्रकृति में प्रचुर मात्रा में पाये जाने वाला एक क्रिस्टलीय यौगिक है। जबकि सोडियम एक खनिज है। जो नमक में पाया जाने वाला एक रासायनिक तत्व है।

1. सोडियम क्या है – What is sodium in Hindi
2. सोडियम क्यों आवश्यक है – Why Sodium Is Necessary In Hindi
3. प्रतिदिन कितना सोडियम खाएं – How Much Sodium Per Day In Hindi
4. सोडियम के स्रोत – Sources of Sodium In Hindi
5. सोडियम के फायदे – Health Benefits of Sodium in Hindi
मस्तिष्क कार्यों में सोडियम के फायदे – Benefits of sodium in brain function in Hindi
सोडियम के लाभ हड्डियों के लिए – Sodium Benefits for bones in Hindi
त्वचा के लिए सोडियम के उपयोग – Use of sodium for skin in Hindi
सोडियम का इस्तेमाल बचाता है सनस्ट्रोक से – Sodium Benefits for Sunstroke in Hindi
सोडियम से लाभ द्रव स्तर को नियंत्रित करने में – sodiumcontrol fluid level in Hindi
दांतों के लिए सोडियम का उपयोग – Sodium Use for teeth in Hindi
सोडियम का सेवन रक्तचाप और दिल के इलाज में – Sodium intake for Blood Pressure and Heart treatment in Hindi
सोडियम करता है एसिड- बेस को बैलेंस – Sodium makes acid-base balance in Hindi
कार्बन डाइऑक्साइड को हटाने में सोडियम का कार्य – Working of sodium to remove carbon dioxide in Hindi
ग्लूकोज अवशोषण में सोडियम सहायक – Sodium helpful in Controls Glucose Absorption in Hindi

6. सोडियम के नुकसान – sodium Side Effects in Hindi
इंसुलिन प्रतिरोध में वृद्धि सोडियम की कमी करें – low sodium levels increase in insulin resistance in Hindi
हृदय रोग का कारण सोडियम की कमी – Heart Disease causes low sodium levels in Hindi
सोडियम की कमी से कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स में वृद्धि – low sodium levels side effects cholesterol and triglyceride level in Hindi
सोडियम की कमी से मधुमेह रोग – Sodium deficiency causes diabetes in Hindi
लो सोडियम बने हाइपोनैट्रीमिया का कारण – low sodium causes Risk of Hyponatremia in hindi
सोडियम की अधिकता का पेट पर प्रभाव – too much sodium Effect on the Stomach in hindi
सोडियम क्या है – What is sodium in Hindi


Na : सोडियम एक धातु है जो बहुत प्रतिक्रियाशील है। सोडियम अति क्रियाशील होने के कारण प्रकृति में मुक्त अवस्था में नहीं पाया जाता है। सोडियम हमेशा लवण (salt) के रूप में पाया जाता है। सोडियम का सबसे सामान्य आहार के रूप सोडियम क्लोराइड उपस्थित है। सोडियम क्लोराइड को सामान्यतः टेबल साल्ट (table salt) नमक के रूप में जाना जाता है।

मनुष्य शरीर में सोडियम की पूर्ति के लिए सोडियम क्लोराइड का अधिकतर उपयोग करते हैं। खाद्य पदार्थों में, सोडियम क्लोराइड का उपयोग स्वाद उत्पन्न करने के लिए और भोजन को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है।
सोडियम क्यों आवश्यक है – Why Sodium Is Necessary In Hindi

सोडियम एक आवश्यक पोषक तत्व है। सोडियम शरीर के विभिन्न कार्यों में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। यह तंत्रिका (nerve) और मांसपेशी के कार्यों को नियंत्रित करने में मदद करता है तथा रक्तचाप (blood pressure) को भी नियंत्रित करने में मदद करता है। सोडियम रक्त में घुलकर, पानी को आकर्षित करता है जिससे रक्त को तरल रूप में बनाए रखने में मदद करता है। शरीर में संरक्षण और तरल पदार्थ के परासरण दाब के नियंत्रण में यह महत्वपूर्ण है।
मानव शरीर में नसों और मांसपेशियों को ठीक तरह से काम करने के लिए एक विद्युत प्रवाह की आवश्यकता होती है। तथा विद्युत् चार्ज आयनों या अणुओं जिनमें सोडियम शामिल है, के नियंत्रित प्रवाह द्वारा तंत्रिका कोशिकाएँ और मांसपेशियाँ विद्युत् चार्ज उत्पन्न करती हैं। नसों को तंत्रिका तंत्र तक सूचनाओं को प्रेषित करने के लिए विद्युत गतिविधि की आवश्यकता होती है। इस कार्य में सोडियम पंप महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अतः मानव शरीर में विभिन्न क्रियाओं के संचालन के लिए सोडियम की उचित मात्रा का होना बहुत जरूरी है। मानव शरीर में सोडियम स्तर बहुत कम या बहुत अधिक होने पर किडनी (kidneys) सोडियम की सांद्रता को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। किडनी सोडियम स्तर कम होने पर इससे स्टोर करके रखता है एवं स्तर अधिक होने पर सोडियम को मूत्र में उत्सर्जित कर देती है।

प्रतिदिन कितना सोडियम खाएं – How Much Sodium Per Day In Hindi

खाद्य एवं औषधि संस्थान प्रति दिन 2300 मिलीग्राम (2.3 Grams) से कम सोडियम का सेवन करने की सिफारिश करते है। कुछ संस्थाओं द्वारा 1500 मिलीग्राम (1.5 Gram) सोडियम सेवन की अनुशंसा की जाती है।

14 वर्ष की आयु के बच्चों और वयस्कों को प्रति दिन 2300 मिलीग्राम (2.3 Grams) से कम सोडियम का उपभोग करना चाहिए। तथा 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों को सोडियम की कम मात्रा उपभोग की जानी चाहिए। 2300 मिलीग्राम (2.3 Grams) सुरक्षित ऊपरी सीमा है, इससे अधिक मात्रा नुकसान दायक हो सकती है। पसीने के माध्यम से सोडियम को कम बहार करने वाले व्यक्तियों को प्रति दिन कम से कम 1500 (1.5 Gram) मिलीग्राम की आवश्यकता होती है।

सोडियम के स्रोत – Sources of Sodium In Hindi
शरीर को सोडियम की पूर्ति आहार के रूप में की जाती है नमक सोडियम का सबसे अच्छा और प्राकृतिक स्रोत है।


इसके अलावा फलों में सोडियम के सबसे अच्छे स्रोतों के रूप में – अंगूर (Grapes), केला, बेर, खरबूजा (melons) तथा तरबूज (watermelons) प्रमुख है।

दूध डेयरी उत्पाद जैसे – दूध , दही (curd), पनीर और मावा से भी सोडियम की कुछ मात्रा प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा चुकन्दर, गाजर, पालक, अण्डे तथा अनाजों में भी सोडियम की अल्प मात्रा में पाया जाता है।

सोडियम के फायदे – Health Benefits of Sodium in Hindi
सोडियम के फायदे - Health Benefits of Sodium in Hindi

सोडियम तरल पदार्थ संरक्षण, मांसपेशी संकुचन, तंत्रिका कार्यों में समर्थन, osmoregulation और एंजाइम प्रबंधन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एड्रेनल (adrenal) अपर्याप्तता, सनस्ट्रोक (sunstroke), और अत्यधिक पसीने के दौरान पर्याप्त सोडियम महत्वपूर्ण है।
मस्तिष्क कार्यों में सोडियम के फायदे – Benefits of sodium in brain function in Hindi
सोडियम के लाभ हड्डियों के लिए – Sodium Benefits for bones in Hindi
त्वचा के लिए सोडियम के उपयोग – Use of sodium for skin in Hindi
सोडियम का इस्तेमाल बचाता है सनस्ट्रोक से – Sodium Benefits for Sunstroke in Hindi
सोडियम से लाभ द्रव स्तर को नियंत्रित करने में – sodiumcontrol fluid level in Hindi
दांतों के लिए सोडियम का उपयोग – Sodium Use for teeth in Hindi
सोडियम का सेवन रक्तचाप और दिल के इलाज में – Sodium intake for Blood Pressure and Heart treatment in Hindi
सोडियम करता है एसिड- बेस को बैलेंस – Sodium makes acid-base balance in Hindi
कार्बन डाइऑक्साइड को हटाने में सोडियम का कार्य – Working of sodium to remove carbon dioxide in Hindi
ग्लूकोज अवशोषण में सोडियम सहायक – Sodium helpful in Controls Glucose Absorption in Hindi
मस्तिष्क कार्यों में सोडियम के फायदे – Benefits of sodium in brain function in Hindi

मस्तिष्क, शरीर के सोडियम (sodium) स्तर में बदलाव के प्रति बहुत संवेदनशील होता है; शरीर में सोडियम की कमी अकसर भ्रम और आलस्य के रूप में प्रकट होती है। सोडियम की उचित मात्रा दिमाग को तेज रखने में सहायता करती है। यह मस्तिष्क के विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण तत्व है क्योंकि यह मस्तिष्क कार्य को बेहतर बनाने के लिए काम करता है।

सोडियम के लाभ हड्डियों के लिए – Sodium Benefits for bones in Hindi

सोडियम पेशाब सम्बन्धी कैल्शियम (Ca) में सुधार करता है जिससे हड्डी को कम नुकसान और उनके पुनर्निर्माण में में सहायता मिलती है।


त्वचा के लिए सोडियम के उपयोग – Use of sodium for skin in Hindi

बहुत सी उम्र बढ़ने वाले क्रीम (anti-aging creams) में सोडियम एक महत्वपूर्ण हाइड्रेटिंग (hydrating) उत्पाद है। यह उम्र को तेजी से बढ़ाने वाले मुक्त कणों (free radicals) से रक्षा करता है। इसके अलावा यह स्वस्थ और युवा त्वचा को पुनःस्थापित करने में मदद करता है।

(और पढ़े – शरीर को खूबसूरत बनाने के लिए सी-साल्ट से बने स्क्रब का करें इस्तेमाल…)
सोडियम का इस्तेमाल बचाता है सनस्ट्रोक से – Sodium Benefits for Sunstroke in Hindi
सनस्ट्रोक (Sunstroke) मानव शरीर में गर्मी की नियंत्रण प्रणाली में विफलता के कारण होता है। यह बहुत उच्च तापमान के लगातार संपर्क में रहने के कारण होता है। शरीर में नमक (सोडियम) और पानी की कमी के कारण यह स्थिति अधिक प्रभावित करती है। पानी के अलावा, नमक और चीनी युक्त तरल पदार्थ पीने से सनस्ट्रोक के खतरे को कम किया जा सकता है। नमक को भी अधिक राहत प्रदान करने के लिए कच्चे मैंगो के रस के साथ मिश्रित किया जा सकता है। सनस्ट्रोक (Sunstroke) के मामले में सोडियम का उचित स्तर और द्रव संतुलन बहुत महत्वपूर्ण हैं।


(और पढ़े – सूरज की धूप लेने के फायदे और नुकसान…)
सोडियम से लाभ द्रव स्तर को नियंत्रित करने में – Sodium control fluid level in Hindi

सोडियम मानव शरीर में तरल स्तर को नियंत्रित करने में मदद करने वाले सभी खनिजों में से एक महत्वपूर्ण खनिज है। सोडियम और पानी का संतुलन आपस में बहुत निकटता से संबंध रखता हैं। सोडियम पंप इस कार्य के लिए जिम्मेदार होता है। सोडियम शरीर की कोशिकाओं में तरल पदार्थ के नियंत्रण के कारण, मानव शरीर में परासरण दबाव (osmotic pressure) को संतुलित करके रखता है।

(और पढ़े – क्या आप जानतें है आपको रोज कितना पानी पीना चाहिए…)
दांतों के लिए सोडियम का उपयोग – Sodium Use for teeth in Hindi


दांत को सड़ने से बचाने और दांतों को साफ रखने तथा मुँह की गंध को दूर करने के लिए सोडियम का उपयोग किया जा सकता है। सोडियम दांत और मुंह को साफ करने के लिए एक बहुत अच्छा मध्यम है। सोडियम नमक सामग्री मुंह और दांतों की सफाई में मदद करती है। सागर नमक (Sea salt) या साधारण नमक (common salt) को दांतों की सफाई के लिए सामान्य टूथपेस्ट के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

सोडियम का सेवन रक्तचाप और दिल के इलाज में – Sodium intake for Blood Pressure and Heart treatment in Hindi

दिल के सामान्य संकुचन या दिल की सामान्य क्रिया को बनाए रखने में सोडियम मदद कर सकता है। यह मानव शरीर के रक्तचाप को भी नियंत्रित रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लेकिन आहार के रूप में अतिरिक्त सोडियम मात्रा का सेवन करने से उच्च रक्तचाप होता है, जिसके परिणामस्वरूप गंभीर स्वास्थ्य समस्याएँ पैदा हो सकती है। जो अत्यधिक दबाव दिल की विफलता या हार्ट अटैक का कारण बन सकता है।



सोडियम करता है एसिड- बेस को बैलेंस – Sodium makes acid-base balance in Hindi

शरीर में एसिड-बेस क्षारीय फॉस्फेट (alkali phosphates) के अनुपात को बदलकर, सोडियम किडनी की क्रिया और पेशाब की सामग्री को नियंत्रित करता है।
कार्बन डाइऑक्साइड को हटाने में सोडियम का कार्य – Working of sodium to remove carbon dioxide in Hindi

कार्बन डाइऑक्साइड को हटाने में सोडियम का कार्य - Working of sodium to remove carbon dioxide in Hindi

शरीर में जमा होने वाली कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) की अतिरिक्त मात्रा को हटाने में सोडियम एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
ग्लूकोज अवशोषण में सोडियम सहायक – Sodium helpful in Controls Glucose Absorption in Hindi

सोडियम, कोशिकाओं द्वारा ग्लूकोज का अवशोषण करने में मदद करता है, जिसके परिणामस्वरूप शरीर के कोशिका झिल्ली में पोषक तत्वों का आसान परिवहन होता है।
सोडियम के नुकसान – sodium Side Effects in Hindi
इंसुलिन प्रतिरोध में वृद्धि सोडियम की कमी करें – low sodium levels increase in insulin resistance in Hindi
हृदय रोग का कारण सोडियम की कमी – Heart Disease causes low sodium levels in Hindi
सोडियम की कमी से कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स में वृद्धि – low sodium levels side effects cholesterol and triglyceride level in Hindi
सोडियम की कमी से मधुमेह रोग – Sodium deficiency causes diabetes in Hindi
लो सोडियम बने हाइपोनैट्रीमिया का कारण – low sodium causes Risk of Hyponatremia in hindi
सोडियम की अधिकता का पेट पर प्रभाव – too much sodium Effect on the Stomach in hindi
इंसुलिन प्रतिरोध में वृद्धि सोडियम की कमी करें – low sodium levels increase in insulin resistance in Hindi

सोडियम की कम मात्रा इंसुलिन प्रतिरोध में वृद्धि के लिए सहायक होती है। इंसुलिन प्रतिरोध तब होता है जब शरीर की कोशिकाएं, हार्मोन इंसुलिन (hormone insulin) के प्रति अच्छी तरह से प्रतिक्रिया नहीं करती हैं, इससे इंसुलिन और रक्त शर्करा का स्तर बढ़ जाता है।

इंसुलिन प्रतिरोध को मधुमेह और हृदय रोग सहित कई गंभीर बीमारियों का एक प्रमुख कारण माना जाता है। कम सोडियम के आहार का सेवन लगातार 7 दिनों तक करने से इंसुलिन प्रतिरोध में वृद्धि हो जाती है।

(और पढ़े – शुगर ,मधुमेह लक्षण, कारण, निदान और बचाव के उपाय…)
हृदय रोग का कारण सोडियम की कमी – Heart Disease causes low sodium levels in Hindi


सोडियम की मात्रा में कमी से रक्तचाप में भी कमी हो सकता है। रक्तचाप अनेक बीमारी के जोखिमों को बढ़ा सकता है।
कई अध्ययनों से पता चला है कि सोडियम की कम मात्रा दिल के दौरे, स्ट्रोक (strokes) और मृत्यु के जोखिम का कारण बन सकती है।

इसके अतिरिक्त सोडियम की उच्च मात्रा (प्रति दिन 3,000 मिलीग्राम या 3.0 ग्राम या इससे अधिक) दिल की बीमारी से होने वाली मृत्यु का कारण बनती है, जिसमें दिल के दौरे (heart attacks) और स्ट्रोक (strokes) शामिल हैं।


सोडियम की कमी से कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स में वृद्धि – low sodium levels side effects cholesterol and triglyceride level in Hindi


अध्ययनों से ज्ञात है कि कम सोडियम आहार का सेवन,एलडीएल (Low-density lipoprotein) कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स (Triglyceride) के स्तरों में वृद्धि करने के साथ-साथ हृदय रोग के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

सोडियम की कमी से मधुमेह रोग – Sodium deficiency causes diabetes in Hindi

मधुमेह रोग में दिल के दौरे (heart attacks) और स्ट्रोक (strokes) आने के खतरे बढ़ जाते है। इसलिए, मधुमेह के रोगियों के लिए नमक सेवन सीमित मात्रा में करने की सलाह दी जाती है।

हालांकि, कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि सोडियम का कम स्तर, मधुमेह के व्यक्तियों में मृत्यु के जोखिम बढ़ा देता है।

(और पढ़े – मधुमेह को कम करने वाले आहार…)
लो सोडियम बने हाइपोनैट्रीमिया का कारण – low sodium causes Risk of Hyponatremia in hindi

हाइपोनैट्रीमिया (Hyponatremia) रक्त में सोडियम के निम्न स्तर से सम्बंधित है। निर्जलीकरण इसके लक्षणों का प्रमुख कारण है। इसके गंभीर मामलों में मस्तिष्क में सूजन, सिरदर्द, दौरे, कोमा और यहां तक कि मृत्यु तक हो सकती है।

यह बीमारी ज्यादातर पुराने वयस्कों को अधिक प्रभावित करती है क्योंकि ज्यादातर मामलों में इनके रक्त में सोडियम के स्तर कम पाए जाते है।



सोडियम की अधिकता का पेट पर प्रभाव – too much sodium Effect on the Stomach in hindi
एक अध्ययन में पाया गया कि महिलाओं और पुरुषों दोनों में पेट कैंसर से होने वाली मौत और सोडियम की खपत में वृद्धि के बीच एक महत्वपूर्ण संबंध है। सोडियम के उच्च स्तर कैंसर के खतरे को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं, पेट के अल्सर भी उच्च सोडियम सेवन से सम्बंधित होते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.