Header Ads

बच्चा करता है दूध पीने में नखरे तो ये टिप्स आएंगे काम

इन तरीकों से बच्चे की करवाएं Milk से दोस्ती
बच्चा करता है दूध पीने में नखरे तो ये टिप्स आएंगे काम

कॉमेंट लिखें
अक्सर देखा जाता है कि माता-पिता इस बात की शिकायत करते दिखते हैं कि उनका बच्चा दूध नहीं पीता है। इस बात को लेकर पैरंट्स का टेंशन लेना भी जायज है क्योंकि दूध बच्चों के शारीरिक विकास में काफी मदद करता है। तो अगर आपका बच्चा भी दूध पीने में नखरे करता है तो ये ट्रिक्स आपके काफी काम आ सकती हैं।

दूध में डाले एसेंस


ज्यादातर बच्चों को दूध में से आने वाली गंध पसंद नहीं आती है। इस समस्या को बड़ी आसानी से दूर किया जा सकता है। ग्लास में डले दूध में थोड़ा सा वनिला या अन्य एसेंस डालें इससे स्वाद बदलने के साथ ही दूध की महक भी दूर हो जाएगी और आपके बच्चा झट से ग्लास खाली कर देगा।
फ्लेवर बदलें

च्चे को प्लेन मिल्क पसंद नहीं है तो कोई बात नहीं। उसके ग्लास में दूध के साथ बाजार में मिलने वाले उसके पसंद के मिल्क मिक्स डालें। आप चाहें तो घर पर बादाम जैसे ड्राई फ्रूट्स को भी दूध में मिक्स कर सकती हैं। इससे बच्चा दूध पीने में बिल्कुल भी नखरे नहीं करेगा।
कॉर्न फ्लैक्स या सीरियल्स की लें मदद

बच्चा ग्लास से दूध पीने में आनाकानी कर रहा है तो उसे मिल्क कॉर्न फ्लैक्स या सीरियल्स के साथ सर्व करें। चाहे तो आप अलग-अलग फ्लेवर या शेप के सीरियल्स भी दे सकते हैं। इससे फायदा यह होगा कि इनके सेवन के साथ ही बच्चे के पेट में दूध भी चला जाएगा।

गाय या भैंस का दूध
गाय या भैंस के दूध का फ्लेवर अलग-अलग होता है। संभव है कि आपके बच्चे को इनमें से सिर्फ किसी एक का स्वाद पसंद न हो। भैंस और गाय का दूध अलग-अलग दिन बच्चे को देकर देखें, हो सकता है कि उसे किसी एक फ्लेवर से सिर्फ दिक्कत हो और दूसरा फ्लेवर उसे पसंद आ जाए।

मिल्कशेक या स्मूदी

बच्चे को मिल्कशेक या स्मूदी बनाकर दें। इसमें दूध के स्वाद का उसे पता भी नहीं चलेगा और मिल्क में डली दूसरी चीजों का आहार भी उसे मिल जाएगा। 
बिस्किट या कुकीज के साथ

मिल्क के साथ बच्चे को उसकी फेवरिट कुकीज या फिर बिस्किट दें। इन्हें खाते हुए बच्चा दूध भी खत्म कर देगा। 
फेवरिट जार या ग्लास
आजकल मार्केट में कई तरह के जार्स और ग्लास आते हैं। आपके बच्चे को जो कार्टून कैरेक्टर पसंद है या उसे जो मिनी जार या ग्लास पसंद आए वह लें, इसमें उसे दूध सर्व करें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.