Header Ads

स्पा क्या है ?

स्पा क्या है ?
बॉडी स्पा के फायदे |
बॉडी स्पा यानि की मसाज कराने से स्त्रियों को बहुत फायदे है इससे शरीर में पॉजिटिव उर्जा आती है और टेंशन भी कम होती है | स्पा कराने से बॉडी के टॉक्सिन्स निकल जाते है इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और रक्त के ब्लड सेल्स बढ़ते है | अगर आपके शरीर में किसी भी प्रकार का संक्रमण है तो वह भी स्पा कराने से सही होने लगता है |

अगर आपकी त्वचा धूप में निकलने की वजह से झुलस गयी हो तो स्पा ट्रीटमेंट कराने से आपको फायदा मिलेगा और दिमाग भी शांत रहेगा | स्पा कराने से स्किन की डीप क्लींजिंग भी हो जाती है और रक्त का संचार भी सही तरीके से हो जाता है |

हम सभी ये सोचते है कि स्पा लग्जरी लाइफ वाले लोग ही करते होंगे | मगर यह गलत है | यह भी एक एक तरह का बॉडी ट्रीटमेंट ही है | जिसे की आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का प्रयोग करके आपके शरीर की बीमारियों को सही किया जाता है और बॉडी के तापमान को कण्ट्रोल किया जाता है |

स्पा क्या है ?

स्पा लैटिन लैंग्वेज से आया है इसका मतलब है की मिनरल्स से भरपूर पानी में स्नान | स्पा में शरीर को रिलैक्स देने के लिए मसाज किये जाते है | स्पा में कई तरह के बॉडी मसाज, बॉडी रैप, सोना बाथ और स्टीम बाथ किये जाते है |

कैसे करते है स्पा ?
१- स्पा में सबसे पहले सिर पर तेल डालकर करते है | फिर इसे पूरे बॉडी को क्लीन किया जाता है |

स्किन ब्लीचिंग करने से पहले इन बातो को जरुर ध्यान में रखे |

आज कल चेहरे में ब्लीचिंग करने का फैशन बहुत ज्यादा हो गया है | लोग फेसिअल कराते समय ब्लीच जरुर करते है | लेकिन क्या आपको ब्लीचिंग के बारे में पता है कि इसके क्या फायेदे और नुक्सान है इसे कैसे करना चाहिए ? तो चलिए जानते है इसके बारे में-



स्किन ब्लीचिंग क्या है ?
स्किन ब्लीचिंग का पता सबसे पहले मोनोबेन्जाइल ईथर ऑफ़ हाइड्रोक्वनिन नाम के रसायन के इस्तेमाल के कारण हुआ था | इसी रसायन को ब्लीचिंग के रूप में प्रयोग किया जाता था, मगर आज कल हर्ब और केमिकल के मिश्रण से भी बने हुए ब्लीचिंग क्रीम आने लगे है|


ब्लीच क्रीम में एक क्रीम होता है तो दूसरा तत्व एक्टिवेटर होता है | जब इन दोनों को मिलाकर चेहरे पर लगाते है तो हाइड्रोजन पराक्साइड टूटती है और इस तरीके से ऑक्सीजन अलग होती है | ऑक्सीजन मेलानिन पिगमेंट को ऑक्सीडाइज करती है। मेलानिन के कारण ही त्वचा का रंग डार्क होता है। इसलिए मेलानिन जितना कम होगा, त्वचा उतनी सफेद नजर आएगी ।

महिलाये ये मानती है की ब्लीचिंग करने से चेहरा तुरंत गोरा हो जाता है | यह बात काफी हद तक सही भी है क्युकी ब्लीचिंग करने से त्वचा की मृत कोशिकाए मर जाती है और स्किन में नयी कोशिकाओ का जन्म भी होता है | जिससे की चेहरे का रंग साफ़ नजर आने लगता है |


स्पा कितने प्रकार के होते है ?
स्पा भी कई तरह के होते है | इसे आप अपनी बीमारियों या स्किन के अनुसार चुन सकते है | मै आपको कुछ ही प्रकार के स्पा बता रही हु | जिन्हें आप घर पर भी कर सकती है |
मिंट स्पा- अगर आपके बाल कमजोर है तो मिंट स्पा आपके लिए फायेदेमंद है | इससे बालो को मजबूती मिलती है और यह दिमाग को शीतलता प्रदान करता है |


आयुर्वेदिक स्पा – अगर आपको साइनस, माइग्रेन, सर्दी और छाती में दर्द की शिकायत रहती है तो यह स्पा आपके लिए बहुत ही लाभप्रद है | इस स्पा में पेट के बीच से लेकर बॉडी के उपरी हिस्से का मसाज करके अनावश्यक उर्जा को बाहर निकाला जाता है | इसके साथ ही नाक के छिद्रों में हर्बल औसधी से फूँक मारी जाती है |
कमोमिल और लैवेंडर मसाज – यह स्पा मुख्यता गर्मी और बरसात के मौसम में किया जाता है और यह स्किन के लिए भी बहुत लाभदायक है | इस मसाज को सूरज की रौशनी में कमोमिल और लैवेंडर की सहायता से किया जाता है | इसमें आप खीरे का प्रयोग भी कर सकती है |
खीरा – एलोवेरा मसाज – इस मसाज को शरीर को उर्जावान बनाने के लिए करते है | इसमें खीरे और एलोवेरा को ठंडा करके शरीर को शीतलता प्रदान कराते है और फिर हथेली से दबाकर पूरे शरीर की मालिस करते है |
धारा- अगर आपकी यादाश्त कमजोर हो, सिर में दर्द रहता हो या फिर कान, नाक की बीमारी हो तो यह इलाज बहुत ही लाभप्रद है | इस मसाज को थकान और सुस्ती को दूर करने के लिए करते है | इसमें पुरे शरीर में सुगन्धित तेल से मसाज करते है और फिर सिर पर छाछ लगाकर धीरे-धीरे सहलाते है |
हाँथ और पैर का स्पा – हाथ और पैर का स्पा आप घर पर भी कर सकती है | इसे बनाने के लिए खीरे को बारीक़ काट ले | पुदीने की कुछ पत्तियों ले | और एक बर्तन में गुनगुना पानी कर ले | अब इसमें खीरा, पुदीना, पिपरमिंट एसेंसिअल आयल की कुछ डाल दे | अब इस पानी में हाथो और पैरो को 15-20 मिनट के लिए डूबो दे | जब पानी ठंडा लगने लगे तो पानी को गर्म करके तौलिये को भिगोकर निचोड़ दे | अब इस तौलिये को हाथो और पैरो में लपेट ले | इस प्रक्रिया के बाद रिवातिलैज़िंग(revitalizing) कुलिंग लोसन को गोलाई में लगाकर मालिश करे | फिर पैर को गर्म पानी में डाले |


जानिए बॉडी स्पा क्यों कराना चाहिए ?
गर्मी के मौसम में धूप में या धूल मिटटी के कारण शरीर में थकावट और बॉडी में दर्द सा होने लगता है । धूप की अल्ट्रावायलेट किरणों के कारण डिहाइड्रेशन, पिगमेंटेशन और रेसेज जैसी प्रोब्लेम्स होने लगती है और इन्ही से निजात पाने के लिए समर स्पा बहुत जरुरी है |



स्पा के फायदे 

स्पा कराने से डायबिटीज(diabetics), कमर दर्द (Back Pain), अस्थमा और आर्थराइटिस (arthritis) जैसी बीमारियों का इलाज हो सकता है | स्पा साल में तीन बार जरुर करना चाहिए |

नेचुरल तरीके से बालों को स्ट्रेट बनाए ।

इस समय बालों को स्ट्रेट करने का फैशन चला है । इसलिए जब भी हम लोग किसी भी दूसरे स्त्री का बाल स्ट्रेट देखते है तो मन में यही इच्छा होती है की कास मेरे बाल भी ऐसे होते ।

आप बालों को स्ट्रेट मशीन से या फिर पार्लर जाकर करवा सकते है लेकिन इससे बालों को बहुत नुक्सान भी होता है । बालों को स्ट्रेट कुछ नेचुरल चीज़ो का यूज़ करके भी कर सकते है और यह आपके बालों को नुक्सान भी नहीं पहुचाएगा ।


आंवला और शिकाकाई – आंवला और शिकाकाई तो वैसे भी बालों के लिए बहुत अच्छा होता है । १/२ कप आंवला का पाउडर, १/२ कप शिकाकाई और १/२ कप चावल के आटा लेकर अच्छी तरह से मिला ले । अब उसमे २ अंडे मिलाकर फेट ले और इसे बालों में लगाए । २ घंटे तक लगाए रखे इसके बाद बालों को धो डाले । ऐसा हफ्ते में २ बार कर सकते है ।




एलोवेरा और तेल – एलोवेरा जेल भी बालों और स्किन के लिए लाभदायक होता है । १/२ कप तेल ले । अब उसमे एलोवेरा जेल का पेस्ट बनाकर मिला दे । इसे बालों में ३०-४० मिनट तक लगा रहने दे । यह एक हेयर मास्क की तरह है लेकिन यह आपके बालों की डीप कंडीशनिंग भी करता है इससे बाल चमकदार और स्ट्रेट हो जाते है ।

ब्लीचिंग करने से पहले इन बातो का रखे ध्यान –
1- स्किन ब्लीच करने से पहले आपकी स्किन किस प्रकार की है यह जानना बहुत जरुरी है | अगर इसे लगाने से तेज जलन या खुजली सी होने लग रही है तो यह आपको रियेक्ट कर रही है | ये भी हो सकता है की आपको स्किन में दर्द और लाल रंग के धब्बे भी पड़ सकते है |

2- अगर आपकी स्किन सेंसिटिव हो तो ब्लीचिंग बहुत ही सावधानी से करना चाहिए | इसके लिए ब्लीच क्रीम का सेंसिटिव टेस्ट कर लेना चाहिए | ब्लीचिंग का स्किन पर बहुत जल्दी ही साइड इफ़ेक्ट और प्रतिक्रिया होती है |

3- अगर चेहरे में मुहासे हो तो ब्लीच नही करना चाहिए |

4- कभी भी गर्म पानी के स्नान के बाद ब्लीच नही करना चाहिए |

5- ब्लीच क्रीम में मरकरी होती है | इसका प्रयोग न ही करे तो अच्छा होता है | क्युकी मरकरी से स्किन में जहर फैल सकता है और यह शरीर की कोशिकाओ पर जमने भी लगती है | इस कारण से लीवर या किडनी भी फेल हो सकती है |

6- ब्लीचिंग एजेंट में कसैली सी महक होती है जिसको दूर करने के लिए कंपनिया खुशबू वाली चीज़े मिलाती है | ब्लीचिंग करते समय इसमें से तेज धुआ सा भी निकलता है, जब आप आँखों के पास इसे लगाती है तो आँखों में जलन सी होने लगती है | इसलिए इसे आँखों के आस पास या फिर भौं के उपर नही लगाना चाहिए |

7- ब्लीच क्रीम और एक्टिवेटर को मिक्स करते समय कभी भी मेटल के चम्मच का प्रयोग नही करना चाहिए |

8- ब्लीच करने से पहले स्किन को क्लींजर से साफ़ कर लेना चाहिए |

9- यह हमेशा याद रखे कि चेहरे वाली ब्लीच क्रीम को शरीर पर कभी न लगाये, और शरीर वाली क्रीम को चेहरे पर कभी नहीं लगाना चाहिए |

२- इसके बाद कई प्रकार के फूलो और वनस्पतियो से बने हुए पैक लगाकर मालिस करते है |

३- मसाज करने के बाद नेचुरल औषधी से बनाये गए स्टीम बाथ टब में बैठाते है |

४- स्पा कराने से चेहरे की चमक बढ़ जाती है |





केला और पपीता - एक बर्तन में केला और पपीता को अच्छे से मैश कर ले । अब इसमें एक चम्म्च शहद मिला दे और इसे बालों में लगाए । जब पैक सूख जाये तो बालों में शैम्पू करके अच्छे से धो डाले ।


दूध और शहद - दूध और शहद का इस्तेमाल आप बालों को स्ट्रेट करने में कर सकती है । दूध और शहद को बराबर मात्रा में ले । फिर इसे बालों की जड़ो से लेकर नीचे की टिप तक लगाए । कुछ देर लगा रहने दे । फिर पानी से धो डाले । इसे आप सप्ताह में दो बार लगा सकती है ।





घर पर कैसे करें हेयर स्पा | Hair Spa at Home

आजकल बालों का टूटना, रूखे, बेजान होना आम हो गया है | बहुत से लोग पार्लर में अधिक से अधिक पैसे देकर स्पा करवाते है लेकिन पार्लर में खर्च देना सबके बस की बात नहीं है | इसलिए आज हम आपको घर पर ही हेयर स्पा करना बताएगें | जिससे आपके समय और धन दोनों की बचत हो |



इसमें पांच स्टेप होते है -
आयल मसाज – सबसे पहले बालों में नारियल या जैतून के तेल से हल्के हाँथ की उंगलियो से सर में चारो तरफ मसाज करेंगे | तेल से जड़ो में अच्छे से मसाज करें, ध्यान दें की मसाज करते समय उंगलियों का प्रयोग हल्के हाथो से ही करें वरना बाल टूटने लगते है |
स्टीम - आयल से मसाज करने के बाद बालों में स्टीम देना जरुरी रहता है | इससे बाल मुलायम हो जाते है | स्टीम देने के लिए गर्म पानी में तौलिये भिगोकर निचोड़ लेंगे, देख लें कि पानी बहुत ज्यादा गर्म न हो | अब तौलिए को बाल में अच्छे से लपेटकर बांध लेंगे | इसे लगभग 15 मिनट तक लगा रहने दें | इससे बालों में आयल अच्छे से पहुँच जायेगा |
हेयर वाश – अब बालों में लपेटे तौलिए से भाप देने के बाद बालों को शैम्पू से वाश करेगें | पानी बहुत हल्का गुनगुना हो |
कंडिशनर – शैम्पू के बाद अब कंडिशनर करेंगे | पहले बालों को अच्छे से पोंछ लेंगे , लेकिन बालों को बहुत अधिक रगड़ेगे नहीं, क्योंकि बाल टूटने लगते है | घर पर कंडिशनर बनाने के लिए केला और शहद का मिश्रण, अंडा और दही का मिश्रण इनमे से कोई भी कंडिशनर का प्रयोग कर सकते है | इसको लगाने के बाद बड़े दांत वाले कंघे से बाल को सीधा कर लें तथा 10–15 मिनट के लिए छोड़ दें |
हेयर मास्क – कंडीशनर करने के बाद बालों को अच्छे से सादे पानी से धो लें, बालों को सीधा कर बालों में हेयर मास्क लगा लें | हेयर मास्क हम आपको घरेलु चीजों से बनाना बता रहे है | एक बाउल में 2 चम्मच नारियल का तेल, 2 चम्मच ग्लिसरीन, 1 चम्मच नींबू का रस, 1 चम्मच एलोवेरा जेल, 1 चम्मच शहद, 2 चम्मच पिसा केला, इन सब को एक साथ मिक्स करके बालो में लगा लेंगे | इसे 15 – 20 मिनट तक बाल में लगा रहने देंगे, फिर हल्के गुनगुने पानी से धो लेंगे | इससे बाल चमकदार, मुलायम और मजबूत होंगे | इसे आप महीने में एक या दो बार कर सकते है |

पैरो की दुर्गन्ध दूर करने के घरेलू उपाय |
कुछ लोगो के पैरो से बहुत ज्यादा बदबू आती है | यह बदबू पैरो में बहुत ज्यादा पसीना आने के कारण आती है | हमारे शरीर में कई हजार पसीने की ग्लैंड्स है, जिनमे से 250000 ग्लैंड्स तो केवल पैरो में ही पाई जाती है | इसी कारण से ज्यादातर लोगो के पैरो से पसीना निकलता है |
पैरो में बदबू आने का कारण जूते से हवा पास न होना, सिंथेटिक मोज़े पहनना, एक ही मोज़े को बार – बार पहनने के कारण और सही से पैरो कि सफाई न करना भी हो सकता है | पसीने आने के कारण बैक्टीरिया का ग्रोथ बढ़ जाता है और पैर से बदबू आने लगती है |



तो चलिए जानते है पैरो की दुर्गन्ध दूर करने के घरेलू उपाय-

1- पैरो की बदबू को दूर करने के लिए कॉटन के मोज़े पहने |

2- रोज मोज़े बदलकर ही पहने, और मोज़े हमेसा सही से सूखे होने चाहिए |

3- पैरो में अगर बदबू आ रही हो तो ग्लिसरीन लगाये या फिर क्रीम भी लगा सकते है |

4- पैरो में अगर ज्यादा बदबू आ रही हो तो साबुन लगाकर गुनगुने पानी से धोये | या फिर पानी में शैम्पू डालकर पैरो को पानी में डुबाकर रखे | 10 मिनट बाद पैरो को साफ़ पानी से धो डाले |

5- पैरो कि बदबू दूर करने का एक उपाय यह भी है कि चाय की पत्ती को एक कपडे या बैग में रखकर जूते में डालकर रखे | या फिर चाय पत्ती को पानी में उबाल ले और इसके पानी में पैरो को 10-15 मिनट डुबोकर रखे |


6- फिटकरी में एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते है | यह बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकता है | एक चम्मच फिटकरी पाउडर को पानी में डालकर उससे पैर धोये | पैरो में बदबू आने की समस्या दूर हो जाएगी |

7- जहा तक संभव हो, नंगे पैर न चले, इससे इन्फेक्शन बढ़ सकता है |


क्यों जरुरी है मालिश शरीर के लिए
शरीर की मांस-पेशियों की मजबूती के लिए जितना जरूरी व्यायाम है, उतनी ही जरूरी शरीर की मालिश भी है। मालिश करने से न केवल मांसपेशियों में नई ऊर्जा का संचार होने के साथ-साथ उनकी आयु भी बढ़ती है।
रात को सोते समय मालिश करने से गहरी और अच्छी नींद आती है।
चेहरे की मालिश करने से चेहरे पर आई झुर्रियां मिट जाती है।
भौंहों को माथे तक ऊपर की तरफ खींचते हुए मालिश करने से त्वचा में कसाव आता है। साथ ही साथ चेहरे पर रक्त का प्रवाह बढ़ता है।
चेहरे की मालिश करने के दौरान मुंह को बार-बार खोले और बंद करें ताकि जबड़े की भी अच्छी एक्सरसाइज हो जाये।
जितना संभव हो सके उतना हाँथ की अंगुलियों को फैलाएं फिर मुट्ठी बांधे ऐसा जल्दी-जल्दी करें(खोलें और बंद करे)। ऐसा करने से हाँथ की अंगुलियां सुन्‍दर एवं मजबूत बनती है।
बुढ़ापे में घुटनों के दर्द से बचना है तो इनका अभी से ध्यान रखना शुरू कर दे। घुटनों की मालिश से शरीर में लचक बरकरार रहती है। घुटनों की मालिश करते समय अंगूठों का ज़्यादा इस्तेमाल करे और मालिश गोलाई में करें। ऐसा करने से थकान भी मिटेगी।
पैरों की मालिश करते समय इन्हे जोर-जोर से थपथपाएं जिससे पैरों में रक्त का प्रवाह बढ़ता है और साथ ही साथ थकान भी दूर हो जाती है।
अगर व्यस्त दिनचर्या की वजह से आप पूरे शरीर की मालिश नहीं कर पा रहे है तो कम से कम पैर के तलवों, कान और सिर की मालिश अवश्‍य ही करें।

मालिश करते समय कुछ बातों का खास ध्‍यान रखे। जैसे:-
कमरे में तेज रोशनी न हो।
ढीले कपड़े पहन कर मालिश करें।
मालिश के लिए सरसों का तेल सबसे उपर्युक्त है। शरीर में अगर सरसों के तेल से जलन होती है तो आप तिल के तेल का इस्तेमाल कर सकते है।
कमरे के तापमान का भी ख़ास ध्यान रखे कमर न तो अधिक गरम होना चाहिए और न ही अधिक ठंडा।

मालिश करें ,स्वस्थ रहें
सर्दी के मौसम में त्वचा की देखभाल


सर्दियों में त्वचा की मुख्या समस्या है रूखापन जो वात बढ़ने से होता है. इसके लिए तेल से मालिश सबसे उत्तम उपाय है. सर्दियों में तेल मालिश करने का बड़ा महत्त्व है .तेल घर पर बनायें और दिन में एक बार मालिश करने से अनेकानेक विकार (विशेषकर वातविकार ) निकल जातें है .

तेल बनाने की विधि हैतिल का तेल पाँच सौ ग्राम में 50 ग्राम अदरक , 50 ग्राम लहशुन, 50 ग्राम अजवायन पका लें .कपडे से छान कर बोतल में रखे.

इस तेल से मालिश करें ,स्वस्थ रहें.
साबुन की बजाय उबटन का प्रयोग करें . 
सरसों का तेल मालिश करने पर शरीर के रक्त संचार को बढ़ाता है। थकान दूर करता है। सर्दियों में इस तेल की मालिश लाभदायक है। 
सरसों के तेल को पैर के तलुओं में मालिश से थकान तुरंत मिटती है तथा नेत्रज्योति बढ़ती है। 
चर्म रोग पर सरसों का तेल, आक का तेल, हल्दी डाल कर गर्म करें। ठंडा हो जाने पर लगायें। 
सरसों का तेल नियमित रूप से बालों पर लगाते रहने से बाल समय से पहले सफेद नहीं होते। 
बच्चों या बड़ों को जुकाम हो जाये, तो तेल में लहसुन पका कर तेल वापस थोड़ा ठंडा होने पर सीने पर मालिश करें। सर्दी-जुकाम ठीक हो जाता है।
राई का तेल निमोनिया रोग से बचाव करता है। इस तेल की हल्की-हल्की मालिश कर के गुनगुनी धूप लें। इस तरह नियमित रूप से करने पर निमोनिया में फायदा होता है।
आंवले के तेल में विटामिन सी और आयरन होता है, जो बालों के लिए पोषक है। बालों के लिए आंवले का तेल बहुत अच्छा है.
एरंड का तेल लगाने से त्वचा का रंग साफ होता है।
अलसी के तेल में में विटामिन ई होता है।
सर्दी के मौसम में जैतून के तेल से शरीर की मालिश करें, तो ठंड का एहसास नहीं होता। इससे चेहरे की मालिश भी कर सकते हैं। चेहरे की सुंदरता एवं कोमलता बनाये रखेगा। यह सूखी त्वचा के लिए उपयोगी है।

सरसो के तेल में विटामिन ई भरपूर मात्रा में होता है जिस वजह से इससे मालिश त्वचा और बालों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके अलावा, यह त्वचा को अल्ट्रावॉयलेट किरणों से भी बचाता है, यह एक नैचुरल सनब्लॉक है।
ना ही बहुत अधिक गर्म पानी ना ही अधिक ठन्डे पानी से स्नान करें. 
नहाने के बाद तौलिये से त्वचा पोछ कर तुरंत थोड़ा ग्लिसरीन और थोड़ा एलो वेरा जेल मिला कर लगाए . यह नमी दिन भर त्वचा में रहेगी और ज़रा भी रूखापन नहीं आयेगा.

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.