Header Ads

जानें, यौन संबंध के दौरान महिलाएं क्यों बोलती हैं ये झूठ



जानें, यौन संबंध के दौरान महिलाएं क्यों बोलती हैं ये झूठ
पुरुषों को होती है यह शिकायत
कॉमेंट लिखें
रिलेशनशिप में जब बात सेक्स तक पहुंचती है तो उसका सबसे बड़ा मतलब होता है कि पार्टनर्स को एक-दूसरे पर पूरा विश्वास है। हालांकि, अक्सर पुरुष इसकी शिकायत करते दिखते हैं कि उनकी पार्टनर उनसे एक बात को लेकर झूठ बोल रही है, यह बात है ऑर्गैज्म।

महिलाएं बोलती हैं झूठ

कॉमेंट लिखें
कई स्टडीज में यह सामने आ चुका है कि ज्यादातर महिलाएं संतुष्ट महसूस नहीं करती हैं और वह अपने पार्टनर के सामने फेक ऑर्गैज्म करती हैं। लेकिन वह ऐसा क्यों करती हैं?
मेल ईगो

महिलाओं के फेक ऑर्गैज्म के पीछे की कई वजह हो सकती हैं, जिनमें से एक है मेल ईगो। महिलाएं इस बात से वाकिफ होती हैं कि पार्टनर को बेड में सैटिस्फाई करने की बात को मेल अपने ईगो पर लेते हैं, इसलिए वह उनके सामने फेक ऑर्गैज्म करती हैं।

कंफर्टेबल न होना

कॉमेंट लिखें
कई महिलाएं ऑर्गैज्म को लेकर कंफर्टेबल नहीं होतीं। ऑर्गैज्म के बाद के रिऐक्शन को मेल पार्टनर कैसे देखेगा इसे लेकर वह सोचने लग जाती हैं, जिससे वह असल में ऑर्गैज्म नहीं कर पातीं और उन्हें फेक एक्सप्रेशन्स के साथ फेक ऑर्गैज्म का सहारा लेना पड़ता है।
मूड न होना
कॉमेंट लिखें
कई बार महिलाओं का सेक्स का मूड नहीं होता लेकिन मेल पार्टनर का होता है। मूड न होने से यौन संबंध के दौरान महिलाओं को ऑर्गैज्म में परेशानी होती है, लेकिन वह इसे दिखाकर पार्टनर का मूड अपसेट नहीं करना चाहतीं, इसलिए उन्हें झूठ का सहारा लेना पड़ता है।


नर्वस

कॉमेंट लिखें
हो सकता है कि सेक्स के दौरान आप कंफर्टेबल हैं लेकिन महिला पार्टनर नर्वस है। इस स्थिति में वह न तो सेक्स को इंजॉय कर सकती है और न ही ऑर्गैज्म के करीब ही पहुंच सकती हैं पर सेक्स के अनुभव को मेल पार्टनर के लिए बेहतर बनाने के लिए वह फेक हैपीनेस और ऑर्गैज्म दिखाती हैं।
प्रेशर

कई बार सेक्स के दौरान मेल पार्टनर जब अपन चरम पर पहुंचने वाले होते हैं तब वह फीमेल पार्टनर को भी क्लाइमैक्स के लिए कहते हैं, लेकिन ऑर्गैज्म ऐसी चीज है जो किसी के कहने से नहीं हो सकता। ऐसे में महिलाओं के पास पार्टनर के प्रेशर के कारण फेक ऑर्गैज्म दिखाने के अलावा कोई चारा नहीं रह जाता।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.