Header Ads

खूबसूरत दिखना है तो इन 8 गलत आदतों को छोड़ दें

खूबसूरत दिखना है तो इन 8 गलत आदतों को छोड़ दें

https://healthtoday7.blogspot.in/
नया साल आते ही हर कोई वजन कम करने, शराब छोड़ने, एक्सरसाइज करने का रेजोल्यूशन लेने लगता है लेकिन कुछ ही दिनों में सब चलन से बाहर हो जाता है। लेकिन अगर आप पूरे साल खुद को खूबसूरत देखना चाहती हैं तो मेकअप से जुड़े इन टिप्स को आपको ज़रूर फॉलो करना होगा। खुद से वादा करें कि आप रोजाना इन नियमों का पालन करेंगीं फिर देखिये कैसे कुछ ही दिनों में आपका पूरा लुक बदल जायेगा। मेडी मेकओवर की कंसलटेंट डर्मेटोलॉजिस्ट सुरुचि पुरी यहाँ ऐसे ही कुछ ख़ास नियमों के बारे में बता रही हैं।

https://healthtoday7.blogspot.in/
मेकअप करने वाली हर लड़की अपने स्किन का ध्यान तो खूब रखती है लेकिन मेकअप किट की चीजों का ध्यान नहीं रखती है। जैसे कि अभी आपको याद भी नहीं होगा कि आपने मेकअप ब्रश लास्ट टाइम कब साफ़ किया था? ऐसी ही कई और चीजें भी हैं जिनका आप रोजाना इस्तेमाल करते हैं, इसलिए इसमें गंदगी न घुसने दें। हफ्ते में एक बार इस ब्रश को ज़रूर साफ़ करें।



अगर आप मेकअप करते समय सिर्फ अपने चेहरे पर ही फोकस करती हैं और शरीर के बाकी अंगों का ध्यान भी नहीं देती हैं तो यह एक गलत आदत है। आपके पूरे शरीर को भी उतने ही केयर कि ज़रूरत है जितनी आपके फेस को। इसलिए इस साल अपने शरीर की सुंदरता और उसके पोषण पर विशेष ध्यान दें।

https://healthtoday7.blogspot.in/
अगर आपकी स्किन हमेशा रुखी-सी रहती है तो मॉश्चराइजर का प्रयोग ज़रूर करें। जिन लड़कियों कि स्किन ऑयली होती है वे सोचती हैं कि उन्हें मॉश्चराइजर नहीं लगाना चाहिए जबकि ऐसा नहीं है बल्कि मॉश्चराइजर सबको लगाना चाहिए। दिन में कम से कम दो बार मॉश्चराइजर ज़रूर लगायें।


https://healthtoday7.blogspot.in/
कई बार लड़कियां टीवी पर दिखाए जाने वाले विज्ञापनों के झांसे में आकर गलत ब्यूटी प्रोडक्ट खरीद लेती हैं। ऐसा न करें बल्कि पहले प्रोडक्ट की ठीक से जांच कर लें और अपने स्किन टाइप के हिसाब से ही प्रोडक्ट चुनें।

https://healthtoday7.blogspot.in/
स्किन से जुड़ी कोई भी समस्या हो तो खुद ही उसका इलाज न करने लगें बल्कि सही समय पर डर्मेटोलॉजिस्ट के पास जाकर अपनी जांच करवाएं। कई बार आप खुद ही इलाज करके गलत चीजों का प्रयोग कर देते हैं जिससे स्थिति और बिगड़ जाती है।

कई लड़कियों की ये आदत होती है कि वे बार बार अपने चेहरे को टच करती रहती हैं। यह बात जान लें कि ऐसा करने से हाथो में मौजूद कीटाणु आपके फेस से चिपक जाते हैं जिस कारण मुहांसे निकलने की संभावना काफी बढ़ जाती है। इसके अलावा अगर फेस पर पहले से ही पिम्पल है तो किसी भी कीमत पर उसे फोड़ने की गलती न करें इससे वो और बढ़ जाता है।

https://healthtoday7.blogspot.in/
मेकअप से जुड़ा कोई भी ट्रीटमेंट शुरू करें तो उसमें जल्दबाजी न दिखाएं क्योंकि किसी भी ट्रीटमेंट का असर दिखने में कम से कम 5-6 हफ़्तों का समय लगता है। इसलिए धैर्य बनाएं रखें और कभी भी एक साथ दो तीन ट्रीटमेंट न करवाएं।


जिम करना बॉडी की फिटनेस के लिए जितना ज़रूरी है उतना ही ज़रूरी है जिम के बाद शरीर की सफाई करना। क्योंकि एक्सरसाइज के दौरान शरीर की गंदगी पसीने के रूप में शरीर से बाहर निकलती है ऐसे में अगर आप नहाते नहीं है तो एक्ने निकलने की संभावना काफी बढ़ जाती है। इसलिए जिम करने के बाद जितनी जल्दी हो सके घर पहुंचकर नहा लें।


ख़ूबसूरत त्वचा के लिए योगासन



हमारे चेहरे में 57 मांसपेशियां होती हैं और किसी भी प्रकार के तनाव से चेहरे पर झुर्रियां नज़र आने लगती हैं. योगा हमारे हार्मोंस को संतुलित करता है, जिससे चेहरे पर चमक आती है. यह ऑक्सीजनयुक्त रक्त को त्वचा तक पहुंचाने की प्रक्रिया को बढ़ाता है, जिससे त्वचा का रूखापन व ढीलापन दूर होता है और त्वचा में कसाव आता है. आइए जानें, ख़ूबसूरत त्वचा के लिए कुछ योगासन.
मुद्रासन
सीधे खड़े हो जाएं और पैरों को जितना संभव हो, फैलाएं.
सांस छोड़ते हुए सामने की ओर झुकें. अपनी दोनों हथेलियां ज़मीन पर रखें. फिर सिर से ज़मीन को छूने की कोशिश करें. इसी स्थिति में जितनी देर तक सांस रोक सकते हैं, रोकें. ऐसा तीन-चार बार करें.

लाभ- यह आसन चेहरे पर रक्त का संचार बढ़ाता है और रोमछिद्रों को खोलता है, ताकि त्वचा आसानी से सांस ले सके और चेहरे की चमक बरक़रार रहे.
योगमुद्रासन
पद्मासन की स्थिति में बैठ जाएं. दोनों हाथों को पीठ के पीछे ले जाकर दाएं हाथ से बाएं हाथ की कलाई को पकड़ें.
आंखें बंद करके शरीर को रिलैक्स करें. सांस छोड़ते हुए ज़मीन पर माथा टिकाएं. 10-30 सेकंड तक इसी पोज़ीशन में रहें.
धीरे-धीरे गर्दन को उठाएं और सांस लेते हुए सामान्य अवस्था में आएं.


लाभ- ये आसन डार्क सर्कल्स और झुर्रियों से छुटकारा दिलाता है.
कपालभाति
पद्मासन या सुखासन में बैठकर सांस अंदर लेने की प्रक्रिया को रोककर बलपूर्वक सांस बाहर छोड़ने की प्रक्रिया को बार-बार
दोहराना ही कपालभाति प्राणायाम है.
शुरू में 30-40 बार करें और धीरे-धीरे बढ़ाते जाएं. इसे आप 100 बार तक कर सकते हैं. बीच-बीच में लंबी सांस लेकर मांसपेशियों को आराम देते रहें.


लाभ- यह प्राणायाम आपके चेहरे की झुर्रियां व आंखों के नीचे का कालापन हटाकर चेहरे की चमक बढ़ाता है. शरीर की चर्बी भी कम होती है और शरीर सुडौल बनता है.
अनुलोम-विलोम
अपनी सुविधानुसार पद्मासन या सुखासन में बैठ जाएं.
अपने दाहिने हाथ के अंगूठे से नाक के दाहिने छिद्र को बंद करें और बाएं छिद्र से सांस अंदर लें.
अब बाएं छिद्र को अंगूठे के बगलवाली दो उंगलियों से बंद करें और आठ तक गिनती गिनकर दाहिने छिद्र से अंगूठा हटाकर सांस
बाहर छोड़ें.
अब दाएं नाक से ही सांस अंदर लें और बाएं छिद्र से बाहर छोड़ें.


लाभ- अनुलोम-विलोम रोज़ाना करने से फेफड़े शक्तिशाली बनते हैं. इससे नाड़ियां शुद्ध होती हैं, जिससे शरीर स्वस्थ, कांतिमय व शक्तिशाली बनता है.

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.