Header Ads

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 –


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 – 


International Yoga Day 2019 in Hindi अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 आंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत 2014 में हुई और इसे संयुक्त राष्ट्र की घोषणा के बाद वर्ष 2015 से हर साल 21 जून को विश्व योग दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। यह दिन वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है। योग मन, मस्तिष्क एवं शरीर का एक अभ्यास है जो मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है। योग की विभिन्न शैलियां होती हैं जिनमें शारीरिक मुद्राएं, सांस लेने की टेक्निक और मेडिटेशन एवं रिलैक्सेशन आदि शामिल है।

योग दिवस की पहल भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से की थी जिसमें उन्होंने कहा:


“योग भारत की प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार है यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है, मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है, विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है। यह व्यायाम के बारे में नहीं है, लेकिन अपने भीतर एकता की भावना, दुनिया और प्रकृति की खोज के विषय में है। हमारी बदलती जीवन- शैली में यह चेतना बनकर, हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है। तो आयें एक अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को गोद लेने की दिशा में काम करते हैं।”
—नरेंद्र मोदी, संयुक्त राष्ट्र महासभा

योग शब्द संस्कृत भाषा के युज (yuj) से लिया गया है जिसका अर्थ है एक साथ जुड़ना (join together) । मन-मस्तिष्क एवं शरीर पर नियंत्रण रखने एवं खुशहाल जीवन के लिए योग काफी लोकप्रिय है। देखा जाए तो योग प्राचीन काल से ही भारतीय संस्कृति का हिस्सा रहा है लेकिन पिछले कुछ सालों से यह बहुत अधिक लोकप्रिय हो गया है।

आइये जानते है आंतरराष्ट्रीय योग दिवस क्यों मनाया जाता है, योग दिवस कब मनाया जाता है, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019, योग दिवस 21 जून 2019, आंतरराष्ट्रीय योग दिवस का महत्व, योग दिन की शुरुआत के बारे में।

1. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस क्या है – What is International Yoga Day in Hindi
2. योग दिवस कब मनाया जाता है – Yog diwas kab manaya jata hai
3. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 – International Day of Yoga 2019 in Hindi
4. योग का इतिहास – History of yoga in Hindi
5. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का उद्देश्य – Purpose of international yoga day in Hindi
6. योग के फायदे – Yoga Ke Fayde in Hindi
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस क्या है – What is International Yoga Day in Hindi


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस दुनियाभर के देशों में 21 जून को मनाया जाता है। 21 जून को योग दिवस मनाने का विचार सर्वप्रथम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सितंबर 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने एक भाषण के दौरान प्रस्तावित किया था। उन्होंने इस दिन योग दिवस मनाने का प्रस्ताव रखते हुए कहा था कि उत्तरी गोलार्ध में 21 जून वर्ष का सबसे बड़ा दिन होता है। 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने इस प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए प्रत्येक वर्ष 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने की घोषणा की। संयुक्त राष्ट्र के इस घोषणा के बाद वर्ष 2015 से हर साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है।

177 से अधिक देशों ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का समर्थन किया। प्रधानमंत्री के इस प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 90 दिनों से भी कम समय में पारित कर दिया जो संयुक्त राष्ट्र महासभा के इतिहास में पहली बार हुआ। आयुष मंत्रालय एवं भारत सरकार इसकी नोडल एजेंसी है और यह दोनों मिलकर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के दिन विभिन्न कार्यक्रमों का संचालन करती हैं।


योग दिवस कब मनाया जाता है – Yog diwas kab manaya jata hai


हर साल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस या विश्व योग दिवस दुनिया भर के देशों में 21 जून को मनाया जाता है।
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2019 – International Day of Yoga 2019 in Hindi

World Yoga Day इस साल अर्थात् वर्ष 2019 में पाचवीं बार 21 जून दिन शुक्रवार को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा। अब यह बड़े पैमाने पर लोगों के बीच लोकप्रिय हो चुका है और देश भर के लोग एक मंच पर इकट्ठे होकर योग दिवस का आयोजन कर रहे हैं।


योग का इतिहास – History of yoga in Hindi


भारत में योग का इतिहास लगभग 5000 साल पुराना है और मानसिक, शारीरिक एवं आध्यात्म के रूप में लोग प्राचीन काल से ही इसका अभ्यास करते आ रहे हैं। योग की उत्पत्ति सर्वप्रथम भारत में ही हुई इसके बाद यह दुनिया के अन्य देशों में लोकप्रिय हुआ। प्राचीन काल में यहां लोग मस्तिष्क की शांति के लिए ध्यान करते थे। योग की उत्पत्ति भगवान शिव से हुई है जिन्हें आदि योगी के नाम से भी जाना जाता है। भगवान शिव को दुनियाभर के योगियों का गुरू माना जाता है। इसके बाद ऋषि-मुनियों से योग को लोकप्रिय बनाया और योग ने दुनिया भर में ख्याति अर्जित की। आज सूर्य नमस्कार (sun salutation), अनुलोम-विलोम सहित कई योगासन एवं ध्यान का अभ्यास तन को स्वस्थ रखने एवं मस्तिष्क को शांत रखने के लिए किया जाता है।

और पढ़े –
वजन घटाने के लिए सबसे असरदार योगासन
कमर दर्द के लिए योगासन
हाइट बढ़ाने के लिए योग
फेस की स्किन टाइट करने के योग
फिट रहने के लिए सबसे अच्छे योग
पेट कम करने के लिए योग
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का उद्देश्य – Purpose of international yoga day in Hindi


योग दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य भारत के प्राचीन योगाभ्यास को नयी पीढ़ी के युवाओं (youth) के बीच लोकप्रिय बनाना एवं योग के फायदों के बारे में जागरूक करना है। माना जाता है कि योग के दैनिक अभ्यास से शारीरिक बीमारियां एवं मानसिक तनाव दूर हो जाते हैं।


योग दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य निम्न है-
युवाओं के बीच योग एवं ध्यान(meditation) को विकसित करना है जिससे वे जागरूक होकर योग एवं ध्यान के जरिए मानसिक शांति हासिल कर सकें। ध्यान तनाव को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है एवं योग तन और मन को स्वस्थ रखता है।

योग शरीर के आंतरिक अंगों (internal organ) में ऑक्सीजन एवं रक्त प्रवाह को बढ़ाकर शरीर की क्रियाओं को बेहतर बनाता है। शरीर के सभी अंगों में सही तरीके से खून का संचार होने से हृदय, फेफड़े, किडनी एवं अन्य अंगों से जुड़ी बीमारियों की संभावना कम हो जाती है।

योग दिवस का उद्देश्य लोगों को योग के बारे में जागरूक (educate) करना है ताकि बिना किसी दवा के लोग अपने तनाव से प्राकृतिक तरीके से छुटकारा पा सकें।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने का उद्देश्य विभिन्न जाति, भाषा, धर्म एवं पृष्ठभूमि के लोगों के बीच भेदभाव को खत्म कर उन्हें एक मंच पर लाकर विश्व शांति कायम करना है।


योग की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करना, योग से होने वाले फायदों (benefits) के बारे में बताना, लोगों को प्रकृति से जोड़ना आदि योग दिवस के मुख्य उद्देश्य हैं।

(और पढ़े – योग की शुरुआत करने के लिए कुछ सरल आसन)
योग के फायदे – Yoga Ke Fayde in Hindi


शरीर की तमाम बीमारियों को दूर करने का योग एक प्राकृतिक तरीका है। यह सिर्फ मन को खुशहाल एवं मस्तिष्क को शांत ही नहीं रखता है बल्कि विकारों को दूर करने एवं शरीर को स्वस्थ (healthy) बनाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
योग का प्रतिदिन अभ्यास करने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है जिससे शरीर के अंग भी उत्तेजित होते हैं।
नियमित योग करने से व्यक्ति को मानसिक शांति मिलती है। शरीर लचीला (flexible) बनता है एवं मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं।
योग करने से शरीर को सही आकार (shape) मिलता है एवं रीढ़ की हड्डी भी लचीली बनती है जिसके कारण अर्थराइटिस की समस्या नहीं होती है।
प्रतिदिन योग करने से इम्यून सिस्टम बेहतर होता है। शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है एवं मन प्रसन्न रहता है।
योग करने से आत्मकेंद्रित होने की क्षमता बढ़ती है एवं स्ट्रेस, डिप्रेशन, माइग्रेन, चिंता एवं तनाव से मुक्ति मिलती है।
योगाभ्यास करने से ब्लड शुगर नियंत्रित रहता है, नर्वस सिस्टम बेहतर होता है एवं हाई ब्लड प्रेशर और हृदय रोगों की संभावना कम होती है।
योग करने से अनिद्रा की समस्या दूर हो जाती है, वजन एवं पेट की चर्बी भी कम होने में मदद मिलती है।
रोज योग करने से फेफड़े सही तरीके से काम करते हैं, बुखार एवं एलर्जी की समस्या नहीं होती है।
एसिडिटी, अस्थमा, बालों का टूटना, दृष्टि कमजोर होना एवं किडनी की समस्या सहित विभिन्न रोग योग करने से दूर हो जाते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.