Header Ads

महिलाओं को जरूर पता होने चाहिए मास्टरबेशन के ये टिप्स –

महिलाओं को जरूर पता होने चाहिए मास्टरबेशन के ये टिप्स –


महिला हस्‍तमैथुन : पुरुषों की तरह महिलायें भी यौन सुख के लिए मास्टरबेशन यानी हस्‍तमैथुन का सहारा लेती हैं। यदि आप अभी भी इस धारणा से पीछे नहीं हट पा रहीं हिं कि हस्तमैथुन गंदा और अश्लील है – लेकिन सेक्स एक्सपर्ट्स और डॉक्टरों ने इसके ढेरों फायदे गिनाए हैं। मास्टरबेशन करने के पहले ये जान लें की “आपका शरीर केवल आपका है। खास बात तो यह है कि मास्टरबेशन महिलाओं के लिए भी बेहद फायदेमंद माना गया है। किसी और को आपकी कामुकता को नियंत्रित नहीं करना चाहिए। अपने आप को बताएं कि यह आपके लिए स्वस्थ है, और आपके शरीर की सुंदरता की चीज है, शर्म की बात नहीं है।
अगर आपको मास्टरबेशन करना है तो धीरे-धीरे शुरू करें

आपको एक बार में सब कुछ करने की ज़रूरत नहीं है। यदि आप शर्मीले हैं, तो अपने आप को एक कंबल के साथ ढक सकतीं हैं। आराम से बस अपने आप को हल्के से स्पर्श करें और एक सेक्सी फैंटसी का पालन करें। या ऑर्गेज्म के दौरान अपनी टांगों को एक-दूसरे सटाकर रखें। अपने आप को यह पता लगाने का मौका दें कि आपके लिए क्या काम करता है। आपकी मास्टरबेशन की शुरुआत के लिए कुछ सुझाव दिए गए हैं तो चलिए मास्टरबेशन से संबंधित कुछ टिप्स के बारे में जानते हैं जो महिलाओं के काम आएंगे:
बेहतर ऑर्गेज्म देंगे मास्टरबेशन से जुड़े ये टिप्स

अपने भगशेफ क्लाइटोरिस और जी-स्पॉट को उंगली या सेक्स टॉय का उपयोग करके धीरे से उत्तेजित करें।
अपनी उंगलियों या सेक्स टॉय को अपनी योनि में डालें।

अपनी मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन करने की कल्पनाओं को स्वीकार करें। वे आपके हैं; आपको किसी को नहीं बताना है।
मास्टरबेशन के दौरान टांगों को करीब रखें

मास्टरबेशन के दौरान ऑर्गेज्म के लिए अपनी टांगों को एक-दूसरे सटाकर रखें। ऐसा करने से मास्टरबेशन के दौरान अधिक आनंद मिलता है। इस अवस्था में क्लाइटोरिस के पास उत्तेजना बढ़ जाती है जिससे मास्टरबेशन के दौरान अधिक उत्तेजना पैदा होती है।
हस्तमैथुन के लिए इन बॉडी पार्ट्स पर फोकस करें

मास्टरबेशन के दौरान यौन आनद के लिए भले ही क्लाइटोरिस और जी-स्पॉट को मुख्य माना जाता हो, लेकिन इनके अलावा पूरी बॉडी पर फोकस करें। महिला के शरीर में कई ऐसे क्षेत्र हैं जहाँ अधिक उत्तेजना महसूस होती बूब्स, कुल्हे, गर्दन जैसे शरीर के उन हिस्सों पर ध्यान केन्द्रित करें जहां अधिक उत्तेजना महसूस होती हो।
मास्टरबेशन के दौरान सेक्शुअल फैंटसी पर फोकस

मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन के लिए वक्त न हो तो सेक्शुअल फैंटसी पर फोकस करें। जो भी एरोटिक तरीका आपके लिए काम करता है, उसके लिए जाएं। क्योंकि आपका सबसे बड़ा यौन अंग आपका मस्तिष्क है, इसलिए इसे मास्टरबेशन में शामिल करें। सेक्शुअल ऐक्ट के दौरान उस खास पल पर फोकस करना चाहिए। इससे हस्तमैथुन में ज्यादा प्लेजर मिलता है।

सेक्स के छोटे सहायकों में से कुछ प्राप्त करें: एक वाइब्रेटर, स्नेहक, डीडो, जो भी आपके पास है और वह आपको मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन करने में अधिक यौन आनंद देता है।
बेहतर ऑर्गेज्म के लिए वॉटर मास्टरबेशन का फंडा

शॉवर लें। प्लेजर के साथ-साथ अगर रिलैक्सेशन भी चाहिए तो वॉटर मास्टरबेशन ट्राई करें। यानी पानी में मास्टरबेटकरें। “यह वह जगह है जहाँ ज्यादातर लोगों को यह पता चलता है कि उन्हें क्या पसंद है। वे अकेले हैं, नग्न हैं, और उनके शरीर को छू रहे हैं। सेक्स एक्सपर्ट के अनुसार, इस तकनीक से बॉडी के साथ-साथ माइंड भी रिलैक्स हो जाता है। महिलाओं के लिए, यह एकमात्र ऐसी जगह होती है जहां वे बिना रुकावट के अकेले मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन कर सकतीं हैं।
मास्टरबेशन के दौरान मूत्र पथ के संक्रमण होने से बचें
मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन करते समय मूत्र पथ के संक्रमण होने से बचें। कभी भी जब आप अपने जननांगों के लिए कुछ भी कर रहे हैं, तो पहले और बाद में अपने हाथ धो लें। मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन करने के लिए उनका उपयोग करने के बाद सेक्स खिलौने को साफ करें, और यह एक समय है जब आपको अपने खिलौने को कभी भी साझा नहीं करना चाहिए। जब भी आप किसी छेज को गुदा में डालतीं हैं तो इसे बिना साफ किये योनि में नहीं डालना चाहिए इससे आपको मूत्र पथ के संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है।


महिलाओं के लिए पुरुषों का स्पर्म (वीर्य, सुक्राणु) पीने के फायदे – 
Woman Drinking Sperm in Hindi क्या आप जानतीं हैं अपने पार्टनर का वीर्य पीने के फायदे क्या होते हैं, पुरुषों का वीर्य पीने से महिलाओं के लिए बहुत सारे लाभ हैं। पुरुषों का वीर्य, जो प्रजनन का माध्यम है उसे पीने के बारे में कई ऐसी बातें हैं जो आप नहीं जानते होंगे। कई महिलाओं के मन में यह भ्रम रहता है की पुरुषों का वीर्य पीने से वह प्रेग्नेंट तो नहीं हो जायेंगी लेकिन ऐसा नहीं हैं सेक्स के समय योनी में वीर्य छोड़ने से ही प्रेगनेंसी कि संभावना होती है। आपको जानकार हैरानी होगी कि ये महिलाएं कई बीमारी से बचने के लिए पुरूषों का स्पर्म पीती है। आइये जानतें हैं वीर्य के सेवन से जुडी जरुरी बातें और जानें क्या महिला द्वारा शुक्राणु को निगलना फायदेमंद होता है या यह केवल एक मिथक है।
महिलाओं के लिए स्पर्म पीने के फायदे – Benefits of male sperm to females Elevates your mood in Hindi


जानकारों का कहना है कि जब महिलाओं को कामोत्तेजना (orgasm) होती है तो लव हार्मोन ऑक्‍सीटॉसिन का स्राव करते है जिससे महिलाओं के मूड को ऊपर उठाने में मदद मिलती है। कुछ सेक्‍सोलॉजिस्‍ट कहते हैं कि पुरुषों के लिए तृप्ति अवसाद को कम कर सकती है क्‍योंकि जिस समय व्‍यक्ति स्‍खलित होता है उसे जबरदस्‍त खुशी मिलती है जो सभी चिंताओं और समस्‍याओं से छुटाकारा दिलाने में मदद करती है। ओरल सेक्स के दौरान महिला द्वारा वीर्य पीना दोनों के लिए फायदेमंद होता है।


महिला के लिए वीर्य पीने के फायदे अनिद्रा को दूर करे – 
अध्‍ययनों से पता चलता है कि जब कोई महिला वीर्यपान करती है तो इससे बेहतर नींद प्राप्‍त करने में मदद मिलती है क्‍योंकि इसमें रासायनिक मेलाटोनिन (chemical melatonin) होता है। शरीर में मेलाटोनिन की उपस्थिति के कारण यह व्‍यक्ति को आराम दिलाने और अच्‍छी नींद लाने में मदद करता हैं। कुछ जानकारों का कहना है कि महिलाओं द्वारा ओरल सेक्स के दौरान वीर्य निगलने से अच्‍छी नींद प्राप्‍त नहीं होती है बल्कि संभोग के दौरान सिर्फ संतुष्टि ही प्राप्‍त होती है और कुछ नहीं। लेकिन जब संभोग संतुष्टि प्राप्‍त होती है तो इस दौरान शरीर में ऑक्‍सीटॉसिन हार्मोन उत्‍पन्‍न होता है जिससे शरीर में दर्द उत्‍तेजना कम होती है और शरीर को आराम मिलता है। इस कारण आपको अच्‍छी नींद प्राप्‍त होती है।
स्त्री के लिए वीर्यपान के फायदे अवसाद को दूर करे –
 Mahila ke liye Viryapan Ke Fayde Avsad Ko Door Kare in Hindi

न्‍यूयॉर्क विश्‍वविद्यालय के शोधकर्ता और मनोवैज्ञानिकों के द्वारा किये गए अध्‍ययन से पता चलता है कि जो महिलाएं वीर्यपान करती हैं उनमें अन्‍य महिलाओं की अपेक्षा तनाव और अवसाद की कमी देखी गई है। क्‍योंकि वीर्य में शक्तिशाली एंटीड्रिप्रेसेंट और संज्ञानात्‍मक क्षमता को बढ़ाने वाले प्रभाव होते हैं। इसके अलावा वीर्य में ऑक्‍सीटोसिन (oxytocin), प्रोजेस्‍टेरोन, एंडोर्फिन (endorphins), प्रोलैक्टिन, टीआरएच और सेरोटोनिन (serotonin) जैसे मूड बढ़ाने वाले घटक मौजूद रहते हैं। जो महिलाएं वीर्यपान करती हैं उनका मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा होता है। जो यह दर्शाता है कि वीर्य के फायदे महिलाओं के मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा है।
महिला के लिए स्पर्म को चेहरे पर लगाने के फायदे –
Mahila dwara Sperm Ko Chehre Par Lagane Ke Fayde in Hindi
जानकारों के अनुसार चेहरे पर वीर्य लगाने से यह किसी एंटी-एजिंग (Anti-aging) उत्‍पाद की तरह काम करता है। परिक्षण के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि वीर्य में एंटीऑक्‍सीडेंट गुण मौजूद रहते हैं जो त्‍वचा की झुर्री और त्‍वचा के लचीनेपन जैसे विकारों को दूर करने में मदद करता है। चेहरे के लिए स्‍पर्म फायदेमंद होता है इसलिए इसे आजकल प्रयोगशालाओं में संश्‍लेषित (Synthesized) किया जाता है और अंतरराष्‍ट्रीय कंपनियों द्वारा बेचा जा रहा है।
महिलाओं के लिए स्पर्म पीने के फायदे मल्टीविटामिन के लिए – Benefits of male sperm to females for multivitamin in Hindi


पुरुष का प्रत्येक स्खलन मल्टीविटामिन से भरपूर होता है एक चम्मच वीर्य में 200 से अधिक प्रोटीन और विटामिन सी, कैल्शियम, क्लोरीन, साइट्रिक एसिड, फ्रुक्टोज, लैक्टिक एसिड, मैग्नीशियम, नाइट्रोजन, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, विटामिन बी 12 और जस्ता सहित कई सहायक विटामिन और खनिज होते हैं। जबकि प्रत्येक विटामिन की मात्रा आयु और पुरुष के संबंधित स्वास्थ्य के साथ भिन्न होती है, आमतौर पर स्पर्म में जिंक की एक महत्वपूर्ण मात्रा मौजूद होती है, जो एक एंटीऑक्सिडेंट है जो उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में मदद करता है। इसलिए एक्सरसाइज के अलावा सेक्स के दौरान स्पर्म को पीना (drinking sperm) आपको कुछ अच्छी खुराक देता है।


लड़की के लिए वीर्य पीने के फायदे सेक्‍स ड्राइव बढ़ाता है –
 Ladki ke liye beer peene ke fayde Sex Drive Badhaye in Hindi

औरतों द्वरा वीर्य का सेवन करने से यह आपकी सेक्‍स ड्राइव को बढ़ा सकता है। क्‍योंकि वीर्य में टेस्‍टोस्‍टेरोन होता है। टेस्‍टोस्‍टेरोन पुरुषों और महिलाओं दोनों में कामेच्‍छा बढ़ाता है। यौन संबंध बनाने के दौरान महिला की योनि दीवारों के माध्‍यम से और यहां तक की वीर्य निगलने के माध्‍यम से टेस्‍टोस्‍टेरान (Testosterone) को अवशोषित किया जा सकता है। जो कि सेक्‍स ड्राइव को बढ़ाने में मदद करता है। इसके परिणाम अलग-अलग लोगों में भिन्न हो सकते हैं।
महिलाओं के लिए पुरुष शुक्राणु के लाभ एंटीइंफ्लामेटरी गुण – Woman Drinking Sperm for Anti-inflammatory in Hindi


वीर्य में एंटी-इंफैमेटोरेटरीज और इम्‍यूनोस्‍पेप्रेसेंट्स (inflammatories/immunosuppressants) गुण होते हैं जो महिला के शरीर में प्रवेश करने पर किसी प्रकार की हानि नहीं पहुंचाते हैं। वीर्य का सेवन करने से तंत्रिका विकास फैक्‍टर, ऑक्‍सीटोसिन, प्रोजेस्‍टेरोन, टेस्‍टोस्‍टेरोन, कोर्टिसोल और कुछ प्रोस्‍टाग्‍लैंडिन (prostaglandins) जैसे इंफ्लेमेटरी गुण प्राप्‍त होते हैं। वीर्य आपके शरीर में मौजूद टीजीएफ-बीटा प्रोटीन की सहनशीलता को बढ़ाने में मदद करता है।
वीर्य का उपयोग बालों को झड़ने से रोके
– Virya ke upyog for hair in Hindi

आपको यह जानकर हैरानी हो सकती है कि वीर्य का उपयोग आपके बालों को झड़ने से बचा सकता है। अगर अब तक आपको इसकी जानकारी नहीं थी तो जान लें। बालों के विकास के लिए वीर्य पर परिक्षण किये गए जिसमें पाया गया कि स्‍पर्मिडाइन बालों की लंबाई को प्रोत्‍साहित करने और बालों के विकास को बढ़ाने में मदद करता है। स्‍पर्मिडाइन स्‍टेम कोशिकाओं को भी बढ़ाता है जो आपके बालों के विकास में मदद करते हैं।

आप इसे सचमुच उपयोग कर सकते हैं। विदेशों में सेलिब्रिटी क्‍लाइंट को चमकदार और सुंदर बालों के लिए सैलूनों में कई तरह के वीर्य का उपयोग किया जाता है।
क्या शुक्राणु को निगलना हेल्दी होता है? सच है या मिथक – Is it okay to swallow partner semen in Hindi


अक्सर लोगों के मन में यह सवाल होता है की क्या वीर्य को निगला जा सकता है? या वीर्यपान किया जा सकता है तो इसका जवाब है जी हां। क्योकि यह प्रोटीन और विटामिन से भरपूर होता है। यह आप पर निर्भर करता है की अब आप इसे पीने के लिए तैयार हैं या नहीं इसका निर्णय आपको या आपकी साथी को खुद लेना है।

लेकिन अगर आप चाहते हैं कि आपका स्पर्म स्वादिष्ट हो जाए तो यह भी संभव है। क्योकि वीर्य का मीठा या खट्टा होना इस बात पर निर्भर करता है की आपने आज क्या खाया है।
महिलाओं के लिए स्‍पर्म पीने के नुकसान – Mahilao ke liye Sperm Peene Ke Nuksan in Hindi


जब वीर्य सेवन की बात आती है तो विशेष सावधानी रखने की आवश्‍यकता होती है। क्‍योंकि वीर्य में वायरस हो सकते हैं जिसका सेवन करने पर यह वीर्य सेवन करने वाले को प्रभावित कर सकता हैं। सेक्‍सोलॉजिस्‍ट बताते हैं कि मुंह की समस्‍याओं जैसे कि मसूड़ों की सूजन और उनसे खून आने की स्थिति में मौखिक सेक्‍स करने पर एसआइटी संक्रमण जैसे हेपेटाइटिस बी और सी (Hepatitis B and C), हर्पीस और क्‍लैमिडिया (Chlamydia) हो सकता है।
वीर्य का सेवन करने पर किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता है लेकिन कुछ लोगों का मानना है की इससे किसी प्रकार का फायदा भी नहीं होता है।
वीर्य को यदि पुरुषों के द्वारा बाहर नहीं निकाला जाता है या रोका जाता है तो इसके भी किसी प्रकार के फायदे नहीं होते हैं क्‍योंकि वीर्य की अपनी निश्चित उम्र होती है और वह स्‍वयं ही निष्क्रिय हो जाता है।
यौन साथी को लाभ या जीवन शक्ति (vitality) दिलाने के लिए वीर्य की मात्रा बहुत ही कम होती है जो कि पर्याप्‍त नहीं है।
आपको वीर्य से एलर्जी हो सकती है। इससे पहले कि आप इसे अपनी त्वचा पर सूँघें या इसे पीने की कोशिस करें, उसे जान लें कि मानव शुक्राणु या सिमेन से प्लाज़्म प्रोटीन नामक एक एलर्जी हो सकती है। यह खुजली, घरघराहट, पित्ती, सीने में जकड़न और सांस लेने में कठिनाई सहित एलर्जी की प्रतिक्रिया का कारण बन सकता है।
नैदानिक पोषण विशेषज्ञों का कहना है कि इस बात के कोई सबूत नहीं है कि वीर्य में मल्‍टीविटामिन और एंटी अवसाद गुण होते हैं जो कि आपके लिए फायदेमंद होते हैं।
नोट –
वीर्यपान मे कोई खतरा नहीं है। वीर्य पीने के फायदे का हम दावा नहीं करते हैं अगर आप इसे अपनी इच्छा से करते है तो पुरुषों और महिलाओं दोनों को वीर्य पीने में कोई नुकसान नहीं है लेकिन ऐसा करते समय पुरूष और महिला पूर्णतः स्वस्थ हो उन्हें किसी तरह के यौन-रोग न हो। यदि उसे कोई यौन-रोग है, जिसका आप वीर्य पी रहें है तो वह रोग आपको भी हो सकता हैं। जिसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं। कृपया अपने विवेक से काम लें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.