Header Ads

पुरुषों की मर्दानगी के लिए वरदान हैं इलायची,


पुरुषों की मर्दानगी के लिए वरदान हैं इलायची, ऐसे करे सेवन
इलायची का इस्तेमाल हर घर में किसी न किसी रूप में अवश्य होता है। कभी आप इसे सब्जी में बतौर मसाला इस्तेमाल करते हैं तो कभी इसे चाय में डालकर उसका स्वाद बढ़ाते हैं तो कभी यूं ही मुंह में रखकर माऊथ फ्रैशनर की तरह खाते हैं। आप चाहें इसे किसी भी रूप में खाएं, इससे आपको फायदा ही होता है। वैसे तो इलायची का सेवन पूरे दिन में कई बार किया जाता है। लेकिन अगर रात को सोने से पहले इलायची खाई जाए तो कई समस्याओं से छुटकारा मिलता है। आइए जानते हैं कैसे...

1.रोजाना इसका काढ़ा पीने से मानसिक तनाव को दूर होता है। इसका काढ़ा बनाने के लिए इलायची पाउडर को पानी में उबालें। अब काढ़े में थोड़ा सा शहद मिलाकर पीएं। कुछ दिन पीने से आपको फर्क दिखाई देने लगेगा।

2. मुंह से आने वाली बदबू को इलायची खाने से दूर किया जा सकता है। इसको खाने से गले में होने वाली खराश दूर होती है और आवाज में सुधार आता है।

3. कुछ लोगों को हमेशा पेट से संबंधित प्रॉब्लम रहती है। पेट ठीक न रहने के कारण बाल झड़ने लगते है। इन दोनों समस्याओं से बचने के लिए सुबह खाली पेट 1 इलायची गुनगुने पानी के साथ खाएं। कुछ दिनों तक लगातार खाने से फर्क दिखाई देने लगेगा।

4. अगर आपका पेट निकला हुआ है और आप इसे अंदर करना चाहते हैं तो रात को 2 इलायची खाकर गर्म पानी पी लीजिए। इसमें पोटेशियम, मैग्नीशियम, बिटामिन B1, B6 और बिटामिन C बॉडी की अतिरिक्त चर्बी को पिघला देते हैं। और इसमें मौजूद फाइबर और कैल्शियम वजन को भी कंट्रोल करते हैं।

5. रोजाना रात में सोने से पहले इलायची का सेवन पुरुषों के लिए अच्छा रहता है। इससे पुरुषों की नपुंसकता धीरे धीरे खत्म हो जाती है। इसे गरम पानी या फिर दूध के साथ पिएं।



पाइल्‍स में भूलकर भी ना खाएं ये आहार, नहीं तो बढ़ जाएगी परेशानी

लत खान-पान के कारण आजकल 5 में से 3 लोग किसी ना किसी हैल्थ प्रॉब्लम से परेशान हैं। पाइल्स या बवासीर भी इन्हीं में से एक है। बवासीर भी दो तरह की होती हैं एक खूनी बवासीर और मस्से वाली बवासीर। ये बीमारी एक बार ठीक होने के बाद दोबारा फिर से हो जाती हैं। ऐसे में बवासीर से ग्रस्त लोगों को अपने खान-पान पर बहुत अधिक ध्यान देना चाहिए। आज हम आपको बताएंगे कि पाइल्स या बवासीर में कौन सी चीजों से परहेज करना चाहिए....

हरी या लाल मिर्च
बवासीर की समस्या होने पर लाला या हरी मिर्च का सेवन नहीं करना चाहिए। मिर्च खाने से बवासीर के जख्म एक बार फिर सक्रिय हो जाते हैं। मिर्च के साथ ही गर्म मसाला, चटपटा, तीखा खाना भी नहीं खाना चाहिए।

धूम्रपान और गुटखा
नशे या धूम्रपान का सेवन किसी भी बीमारी को बढ़ाने का काम करता है। वैसे ही सुपारी, गुटखा, पान मसाला, सिगरेट पीने से भी बवासीर की समस्या बढ़ जाती है। जो लोगों बवासीर की समस्या से परेशान है उनको नशे से दूर रहना चाहिए।

फास्ट फूड से बचें
पाइल्स से पीड़ित लोग फास्ट फूड से जितना हो सके, दूरी बनाएं रखें। फास्ट फूड खाने के बजाए आप, फलों या कुछ खास सब्जियों जैसे- पत्तागोभी, चुकंदर, टमाटर आदि को अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं, जो काफी फायदेमंद होते है और इस समस्या से निजात पाने में भी सहायक होते हैं।

बाहर का खाना
बवासीर होने पर बाहर का खाना खाने से परहेज करना चाहिए क्योंकि बाहर के खाने में नमक, मिर्च और साफ सफाई का ध्यान नहीं रखा जाता है जबकि घरों में खाना सफाई से बनाया जाता है और मसालों का कम इस्तेमाल किया जाता है। अस्वस्थ खाने से पाइल्स का संक्रमण बढ़ सकता है और दर्द भी बहुत ज्यादा बढ़ जाता है।



कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.