Header Ads

ब्यूटी टिप्स:


ब्यूटी टिप्स: आपकी बॉडी को इस तरह बना सकती हैं और भी आकर्षक

ब्यूटी टिप्स: आपकी बॉडी को इस तरह बना सकती हैं और भी आकर्षक

हर महिला चाहती है कि वह सुंदर दिखे। अपने शरीर को हमेशा ही आकर्षक बनाना चाहती है जैसा कि आप जानते हैं अौरत की ख़ूबसूरती में उसके फिगर अहम भूमिका निभाते है लेकिन हर महिला का आकर्षक फिगर नही होता है जिसके कारण वह खूबसूरत नही दिख पाती है। लेकिन आप अपने फिगर को कुछ आसान तरीके से बेहतर बना सकते हैं।

ब्यूटी टिप्स: आपकी बॉडी को इस तरह बना सकती हैं और भी आकर्षक



आकर्षक फिगर के लिए करें ये उपाय:
आकार बदले: आप अपने आकर को संतुलित करके फिगर को सुडोल आकर दे सकते है। ब्रेस्ट का आकर बढ़ाने का यह सबसे आसान तरीका है। फल, हरी सब्जी और साबुत आनाज का सेवन अत्यधिक मात्र में करे क्योकि शरीर में एस्ट्रोजेन हार्मोन्स की कमी के कारण आपके ब्रेस्ट छोटे है।


व्यायाम करे : व्यायाम आपके शरीर को सुन्दर बनाने में अहम भूमिका निभाता है इसके लिए आपको रोजाना व्यायाम करने की ज़रूरत है। व्यायाम करने से आपके शरीर की सुंदरता में निखार आएगा। इसके लिए अपने हाथ में 5 किलो वजन ले और एक कुर्सी पर बैठ जाये और इसे लिफ्ट करे।ब्यूटी टिप्स: आपकी बॉडी को इस तरह बना सकती हैं और भी आकर्षक

विटामिन की खुराक : विटामिन की खुराक लेने से भी ब्रेस्ट का आकार बढ़ता है इसलिए नियमित रूप से अपने भोजन में विटामिन को शामिल करे।


अल्‍कोहल की मात्रा को कम करता है ये फल, ऐसे उतारें हैंगओवर

अल्‍कोहल की मात्रा को कम करता है ये फल, ऐसे उतारें हैंगओवर
रात का हैंगओवर उतारने के लिए लोग बहुत से उपाय करते है। नशा करने वाले अच्छे से जानते हैं कि उनका नशा किस चीज़ से उतरेगा। इसके लिए बहुत से लोग नींबू पानी लेते है तो कुछ पेनकिलर का सेवन करते है। अब हम आपको एक उपाय बताते है जिस से आपको पेनकिलर का सहारा नहीं लेना पड़ेगा। सिर्फ नाशपाती का सेवन कर के आप हैंगओवर को दूर कर सकते है।

होते है ये फायदे:

एकाग्रता में वृद्धि में मदद करता है। स्‍मृति हानि को कम करता है। ब्‍लड में अल्‍कोहल की मात्रा को कम करता है।

शोध में हुआ खुलासा:

शोध कहता है अगर आप हैंगओवर के प्रभाव को कम करना चाहते है तो शराब पीने से पहले नाशपाती का जूस (220 मिली) पीना चाहिए या एक पूरी नाशपाती खाए। इससे हैंगओवर कम हो जाता है।


एल्कोहल पिने के बाद रात में सोने से पहले एक नाशपाती खाएं। एक गिलास नाशपाती का जूस भी पी सकते है। इससे सुबह आप फ्रेश फिल करेंगे। जूस बनाने के लिए नाशपाती के टुकड़ों, शहद और अदरक को पानी के साथ पीस लें। ये सभी हैंगओवर दूर करता है।




अगर होता है बार-बार पीठ दर्द तो हो सकते है ये कारण

अगर होता है बार-बार पीठ दर्द तो हो सकते है ये कारण
शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द हो आपको तकलीफ देता है। साथ ही ये दर्द आपको संदेश भेजता है कि सबकुछ ठीकठाक नहीं चल रहा है। दर्द के इशारों को समझकर आप अपने शरीर का बेहतर ढंग से ख़्याल रख सकते हैं। ऐसे ही पीठ दर्द के इशारों को आज हम बताने वाले हैं जिन्हें आपको समझना होगा ताकि परेशानी ना हो और तुरंत इलाज करा लें।

हो सकते है ये कारण:
तनावग्रस्त: जब हम तनाव में होते हैं तो हमारी मांसपेशियां अकड़ जाती हैं। ख़ासकर गले और पीठ के ऊपरी हिस्से की मांसपेशियों पर तनाव का सबसे अधिक प्रभाव पड़ता है।


टेक्नोलॉजी: जो लोग दिन में कई घंटे अपने फ़ोन या टैब में बिज़ी रहते हैं, उन्हें ‘टेक्स्ट नेक’ नामक हेल्थ प्रॉब्लम होती है। वे फ़ोन या टैब पर काम करते समय अपनी गर्दन को नीचे झुकाए होते हैं, उनके मेरुदंड यानी स्पाइन पर अतिरिक्त वज़न पड़ता है


बैठने का तरीका: यदि आप डेस्क वर्क करते हैं, जिसके चलते घंटों एक ही जगह बैठे रहना होता है तो इस पर तुरंत ध्यान दें। बैठते समय आपका पॉश्चर सही नहीं होगा तो आपकी पीठ के निचले हिस्से पर दबाव ज़्यादा पड़ेगा। ध्यान रखें कि आपके फ़ोरआर्म्स (कुहनी से कलाई तक का हिस्सा) ज़मीन के समानांतर हों।



आखिर क्यों होता है सर्वाइकल पैन, जानें बचने के उपाय

सेहत: ब्लड प्रेशर की समस्या को दूर भगाना है, तो रोज करें इस चीज का सेवन
सेहत: ब्लड प्रेशर की समस्या को दूर भगाना है, तो रोज करें इस चीज का सेवन

अक्सर हम लोग अपने घर में सुनते आए है कि मेवा खाया करों, क्योंकि सभी को पता है ये बहुत फायदेमंद होता है इससे हमे बहुत से फायदे होते हैं,लेकिन आपको पता है मेवा में सबसे अच्छा बादाम होता है, बादाम का सेवन ब्लड प्रेशर, वजन बढ़ना, ब्लड शुगर और दिल के रोगों का खतरा कम करता है। इसे खाने से दिमाग 
बादाम खाने के फायदे:

पाचन: जब बादाम को भिगोकर खाया जाता है तो यह आसानी से पच जाता है और पाचन की सम्पूर्ण क्रिया 

प्रेगनेंसी: गर्भवती महिलाओं को भीगे बादाम का सेवन जरुर करना चाहिए क्योंकि इससे उन्हें और उनके होने वाले बच्चे को पूरा न्यूट्रीशन मिलता है जिससे दोनों स्वस्थ रहते हैं।


दिमाग: रोजाना सुबह सुबह 4 से 6 बादाम का सेवन करने से आपकी मेमोरी तेज़ होती है और आपका सेंट्रल नर्वस सिस्टम ठीक से काम करता है जिससे दिमाग स्वस्थ रहता है।

कोलेस्ट्राल: बादाम में मौजूद मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड और विटामिन E की वजह से यह शरीर में मौजूद कोलेस्ट्राल को कम करता है और ब्लड में गुड कोलेस्ट्राल की मात्रा को को बढाता है।
आखिर क्यों होता है सर्वाइकल पैन, जानें बचने के उपाय

सर्वाइकल पैन का कारण बदलता लाइफस्टाइल है। घंटों एक ही जगह पर बैठकर काम करना और लगातार एक ही चीज पर नजर टिकाए रखने वाले लोगों में यह परेशानी हो ही जाती है। जिन लोगो की बैठने की पॉजीशन सही न हो वे इस दर्द बहुत जल्दी शिकार हो जाते हैं। गर्दन झुकाकर काम करने से गर्दन के पीछले हिस्से में ऐंठन शुरू हो जाती है।

सर्वाइकल का कारण:

ऑस्टियोआर्थराइटिस: यह जोड़ों का दर्द है, इसमें हड्डियों को स्पोर्ट करने वाले ऊतक का टूटना शुरू हो जाते हैं जो सर्वाइकल दर्द का कारण है।

रीढ़ की हड्डी में चोट: रीढ़ की हड्डी में चोट लगने से भी सर्वाइकल दर्द होने लगती है।

ख़राब लाइफस्टाइल: जो लोग शारीरिक श्रम नहीं करते उन्हें सर्वाइकल जैसी समस्याएं होना आम है।
इससे बचने के लिए :

एक लीटर पानी में आधा चम्मच नमक डालकर उबाल लें। बोतल में यह पानी डालकर इससे सिंकाई करें। ध्यान रखें कि पानी बहुत ज्यादा गर्म न हो।
खाली पेट पानी के साथ एक कली लहसुन का सेवन करें। इसके अलावा खाने में लहसुन का इस्तेमाल करें। इसके एंटीबैक्टीरियल गुण दर्द को कम करने में मदद करते हैं।







पेट की समस्याओं के लिए फायदेमंद होता है सूजी का सेवन

पेट की समस्याओं के लिए फायदेमंद होता है सूजी का सेवन
आपने कई बार सूजी का हलवा बनाकर खाया होगा। सूजी के इस्तेमाल से अन्य कई प्रकार के स्वादिष्ट पकवान बनाए जाते हैं, पर क्या आपको पता है की सूजी स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है। आज हम आपको सूजी के कुछ सेहत संबंधी फायदे के बारे में बताने जा रहे हैं।

सूजी के सेवन के फायदे:
सूजी में ग्लाइसेमिक इंडेक्स ना के बराबर होता है जो शरीर में शुगर के लेवल को कंट्रोल में रखता है।


सूजी में वसा की मात्रा ना के बराबर मौजूद होती है जो आपके वजन को कंट्रोल करने में मदद करती है।


सूजी एक हल्का आहार है जो शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। हल्का होने के कारण यह आसानी से पच जाती है और पाचन से जुड़ी समस्याएं नहीं होती है।

पेट के लिए भी सूजी का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। सूजी में भरपूर मात्रा में फाइबर, विटामिन ई, विटामिन बी कंपलेक्स के साथ-साथ अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो सेहत को बहुत सारे लाभ पहुंचाते हैं।








दूध से भी ज्यादा फायदेमंद है दही का सेवन, जानिए

दूध से भी ज्यादा फायदेमंद है दही का सेवन, जानिए

दूध एक संपूर्ण आहार होता है लेकिन दही और दूध में, दही दूध से भी ज्यादा फायदेमंद है क्योंकि दूध से ही दही बनता है। इसमें कुछ ऐसे रासायनिक पदार्थ पाए जाते हैं जो दूध की अपेक्षा जल्दी पच जाते हैं। दूध की अपेक्षा दही में प्रोटीन, लैक्टोज, कैल्शियम कई विटामिन्स होते हैं इसलिए दही को अधिक पोषक माना जाता है।

फायदेमंद है दही का सेवन:

इसमें दूध की अपेक्षा कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है, इसके चलते हड्डियां और दांत मजबूत होते हैं। यह ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारी से लड़ने में भी मददगार है।


विटामिन ए, डी, और बी-12 से युक्त दही में 100 ग्राम फैट और 98 ग्राम केलोरी है.लगभग सभी लवण दही में मौजूद होते हैं।

दूध जल्दी हजम नहीं होता है कब्ज पैदा करता है, दही व मट्ठा तुरंत हजम हो जाता है। जिन लोगों को दूध नहीं हजम होता है। उन्हें दही या मट्ठा लेना चाहिये।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.