Header Ads

पोटेशियम के लिए केला और आलू नहीं खाना चाहती हैं तो ये 5 फूड्स खाएं

पोटेशियम के लिए केला और आलू नहीं खाना चाहती हैं तो ये 5 फूड्स खाएं


बॉडी में पोटेशियम की कमी हो गई हैं, लेकिन बढ़ते वजन के कारण आपका केले या आलू खाने को मन नहीं हैं तो इन फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करें। क्‍योंकि इसमें केले और आलू से भी ज्‍यादा मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है। 


पोटेशियम हमारी बॉडी के लिए महत्वपूर्ण मिनरल और इलेक्ट्रोलाइट है। यह बीपी को कंट्रोल में रखता है और सेल्स में पोषक तत्वों को स्थानांतरित करता है। इसके साथ ही यह नर्वस सिस्टम और मसल्स के काम में हेल्प करता है। लेकिन ज्यादातर महिलाओं को अपनी डाइट से पर्याप्त मात्रा में पोटेशियम नहीं मिलता। हालांकि कुछ महिलाएं बॉडी में पोटेशियम की मात्रा को पूरा करने के लिए एक मध्यम आकार के केला या आलू लेती हैं। लेकिन कई महिलाओं को केला और आलू खाना बिल्कुल भी पसंद नहीं होता है, क्योंकि उन्हें लगता है कि इसे खाने से उनका वजन बढ़ने लगेगा। ऐसी महिलाओं को क्या करना चाहिए? तो हम आपको बता दें कि आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। अगर आपको केला और आलू पसंद नहीं हैं तो आप पोटेशियम की कमी को पूरा करने के लिए अपनी डाइट में कुछ फूड्स को शामिल कर सकती हैं। आइए जानें कौन से है ऐसे फूड्स जिसमें पोटेशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। लेकिन सबसे पहले जान लेते है कि बॉडी में पोटेशियम की कमी से आपको कौन-कौन सी समस्याएं हो सकती है।




ब्लड में पोटैशियम कि मात्रा कम होने से मसल्स में ऐठन होने लगती है। पोटेशियम बॉडी में एसिड को दूर करता है। जिससे हड्डियों में कैल्शियम सही तरीके से बनता है और बॉडी में सरंक्षित रहता है। कैल्शियम का लेवल सही होने से हड्डियां हेल्दी रहती हैं, इसी कारण पोटैशियम को बॉडी की हड्डी और मसल्स के लिए अच्छा माना जाता है। लेकिन बॉडी में पोटेशियम की कमी से मेटाबॉलिज्म और इम्यूनिटी स्लो हो जाती है, जिससे अपकी बॉडी कई तरह की बीमारियों और इंफेक्शन का शिकार हो जाती है। जी हां बॉडी में मेटाबॉलिज्म को बनाए रखने के लिए मिनरल और विटामिन मिलकर काम करते है, इसमें से पोटेशियम भी एक महत्वपूर्ण मिनरल है।
हेल्दी फैट वाला एवोकाडो
एवोकाडो एक फेमस फल है, जो हेल्दी फैट के लिए जाना जाता है, लेकिन क्या आप जानती हैं कि ये हेल्दी फैट के अलावा विटामिन के और फोलेट का बेहतरीन स्रोत है। और तो और 100 ग्रामएवोकाडो में लगभग 487 मिग्रा पोटेशियम भी पाया जाता है। दिनभर में एक एवोकाडो खाने से बॉडी की रोजाना की जरूरत का 20 प्रतिशत पोटेशियम मिल सकता है। इसके साथ ही जिन लोगों को हाई बीपी की समस्या है, उन्हें भी नमक का सेवन कम कर एवोकाडो का सेवन बढ़ाना चाहिए। इससे उनका हाई बीपी बैलेंस हो सकता है। कई फलों की तरह एवोकाडो में सोडियम की मात्रा कम होती है।
फायदेमंद है शकरकंद
एवाकोडो की तरह शकरकंद को भी आजकल हेल्दी फूड के रूप में काफी पसंद किया जा रहा है। पौष्टिक आहार का सेवन बढ़ाने के लिए यह बेहतरीन विकल्प है। एक छोटे आकार के शकरकंद से रोजाना की जरूरत का 12 प्रतिशत पोटेशियम आपको मिल सकता है। पोटेशियम के अलावा शकरकंद प्रोटीन, कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और विटामिन ए का बेहतरीन स्रोत है। इसके अलावा इसमें फैट की मात्रा कम होती है।
टेस्टी फल तरबूज
तरबूज एक टेस्टी फल है, जिसमें पानी की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। पानी के अलावा तरबूज में कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फैट और फाइबर भी मौजूद होता है। लेकिन क्या आप जानती है कि इसमें पोटेशियम भी भरपूर मात्रा में होता है। जी हां तरबूज के 572 ग्राम में आपको रोजाना की जरूरत का 14 प्रतिशत पोटेशियम मिल जाता है। इसके अलावा लाल तरबूज विटामिन ए, सी और मैग्नीशियम का बेहतरीन स्रोत है। 


पालक है बेहतरीन स्रोत
इसमें कोई संदेह नहीं है कि पालक सबसे पौष्टिक फूड्स में से एक है। एक कप फ्रोजन पालक में 540 मिली ग्राम पोटेशियम होता है, जो कि रोजाना की जरूरत का लगभग 12 प्रतिशत पूरा करता है। इसके अलावा इसमें कई अन्य पौष्टिक तत्व भी मौजूद हैं। इतनी ही मात्रा में आपके लिए आवश्यक पोषण के विटामिन ए, विटामिन के, फोलेट और मैग्नीशियम मौजूद होता है।


नारियल पानी हैं उपयोगी
नारियल पानी बॉडी को हाइड्रेट करने वाला सबसे अच्छा ड्रिंक है। इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स भरपूर मात्रा में होता है। इसके अलावा इसमें मौजूद नेचुरल शुगर एक्सरसाइज के दौरान एनर्जी देने या ग्लाइकोजेन की कमी की पूर्ति करने में हेल्प करता है। एक कप 240 एमएल नारियल पानी से आपको रोजाना की जरूरत का 13 प्रतिशत पोटेशियम मिल जाता है। इसके साथ ही यह मैग्नीशियम, कैल्शियम, सोडियम और मैंगनीज का बेहतरीन स्रोत है।



अपनी बॉडी में पोटेशियम की कमी को पूरा करने के लिए इन फूड्स को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। साथ ही डाइट से जुड़ी जानकारी के लिए हमारा आहार व पोषण केटेगरी जरूर पढ़ें। 

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.