Header Ads

लौकी का जूस पीने के फायदे और नुकसान


लौकी का जूस पीने के फायदे और नुकसान –

Lauki ka juice in hindi लौकी महज एक सब्जी नहीं बल्कि कई बीमारियों को दूर भगाने वाली औषधी है। इसके बाद भी लोग लौकी खाना कम पसंद करते है क्योंकि उनका मानना है कि ये स्वादिष्ट नहीं होती है। लेकिन आप इसके फायदे जानकार हैरान रह जाएंगे। आज हम आपको लौकी के जूस के फायदे और लौकी के जूस के नुकसान के बारें में बताएगें। लौकी का जूस बुखार, खाँसी, पेट के रोगों ,हृदय के विकार, गर्भाशय आदि से सम्बंधित रोगों के लिए लाभदायक साबित होता है।
आईए जानते है लौकी में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients found in bottle gourd in hindi
लौकी के पौष्टिक गुण प्रति 100 ग्राम
लौकी में पानी 96.1%;
कार्बोहाइड्रेट 2.5%;
प्रोटीन 0.2%;
वसा 0.1%,
रेशा 0.6%;

सोडियम 1.8; मैग्नीशियम 5.0, पोटेशियम 87.0; कैल्शियम 20.2; ताँबा 0.3, लोहा 0.7; फॉस्फोरस 10, गंधक 10, विटामिन बी 1 0.03; विटामिन बी-5 0.2, विटामिन सी 6.0- प्रति 100 ग्राम में, मि.ग्रा. की मात्रा में पाये जाते हैं।

लौकी का जूस बनाने की विधि – lauki ka juice banane ki vidhi

लोगो के मन में अक्सर ये सवाल रहता है की lauki ka juice kaise banaye लौकी का जूस बनाना काफी आसान है साथ ही ये कुछ ही मिनटों में बन कर तैयार भी हो जाता है। इसे बनाने के लिए सबसे पहले लौकी को अच्छे से धोकर छील ले। इसके बाद कद्दूकस से इस कस ले। इसके साथ ही कुछ पत्ते तुलसी और पुदीना (Basil and Mint) के डालकर इसे ग्राइंडर या सिलबट्टे पर पीस लें। पिसी हुी लौकी को सूती कपड़े में डालकर रस निकाल ले। इस जूस में कालीमिर्च और सेंधा नमक मिला सकते है। जितना रस निकले उतना ही इसमें पानी मिला ले ।
ऐसे करे लौकी के जूस का इस्तेमाल – Use bottle gourd juice in hindi
lauki लौकी के जूस का सेवन हमेशा ताजा करना चाहिए। लौकी का जूस बनाते समय थोड़ा सा चख लेना चाहिए क्योंकि जूस कड़वा लगे तो उसे नहीं पिए और फिर से बना ले। लौकी का जूस खाना खाने से पहले या फिर खाना खाने के एक घंटा बाद पिए। इस दिन में तीन बार ले सकते है। यहां एक बात जानना बहुत जरूरी है कि जिन लोगों को जुकाम या नजले की समस्या हो वे लौकी का रस सर्दियों में ना पियें, पीना ही चाहें तो सोंठ और कालीमिर्च डालकर पियें।
लौकी के जूस के फायदे – lauki ka juice ke fayde hindi me
लौकी के जूस के फायदे पानी की कमी को करता है दूर – Benefits of lauki juice for dehydration in hindi

Lauki लौकी में पानी की मात्रा सबसे ज्यादा होती है। जिसके कारण ये डिडाईड्रेशन को दूर करने में मददगार साबित होता है। कई बार मौसम में बदलाव के कारण उल्टी , दस्त, बुखार के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है। ऐसे में आप नारियल पानी और लौकी का जूस मिलाकर पीते रहने पर पानी की कमी दूर हो जाती है।

लौकी के रस के फायदे ह्रदय को स्वस्थ्य रखने में – Lauki ka juice for heart in hindi
कोलेस्ट्राल का स्तर ह्रदय को प्रभावित करता है इसलिए जब आप लौकी के रस का सेवन करते है तो इससे कोलेस्ट्रोल को कम किया जाता है क्योकि इसमें जीरो कोलेस्ट्रोल होता है साथ ही साथ एंटी ओक्सिडेंट की मात्रा भी काफी अधिक होती है इसलिए दिल की बीमारी से बचने के लिए लौकी के जूस का सेवन करना लाभदायक माना जाता है आप प्रतिदिन 200 मिलीग्राम तक ताजे बने लौकी के रस का सेवन कर सकते है और अपने ह्रदय को स्वस्थ्य रख सकते है।
प्रेगनेंसी में लौकी के जूस के फायदे – Benefits of lauki juice for pregnancy in hindi

प्रेगनेंसी के दौरान लौका के जूस या सब्जी का इस्तेमाल करना काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। लौकी का जूस गर्भाशय संबंधी विकारों को दूर करने में मदद करता है। इसिलए जिन महिलाओं को बार-बार गर्भपात हो जाता है उन्हें कुछ दिनों से लौकी का जूस या फिर सब्जी खाना चाहिए। इससे गर्भाशय मजबूत होगा साथ ही गर्भस्थ शिशु का पोषण होता है, शिशु स्वस्थ और सही वजन का जन्म लेता है।
लौकी के जूस के फायदे वजन घटाने में – Lauki ka juice for weight loss in Hindi

Lauki लौकी के सेवन से वजन कम होती है इसका कोई प्रमाण तो नहीं है लेकिन जानकारों का मानना है कि इसके जूस का नियमित सेवन करने से शरीर में मौजूद फैट को कम किया जा सकताहै। लौकी का जूस निकालर सुबह खाली पेट पिए। (Benefits of lauki juice on empty stomach) इस रस में आयरन पोटाशियम ,और अन्य खनिज तत्व शरीर को फायदा पंहुचाते है तथा यह मोटापे को भी कम करता है।


लौकी के जूस के लाभ खून को करे साफ – Lauki ka juice for anemia in hindi

Lauki ब्लड फ्यूरिफाइयर का काम करता है। लौकी को उबालकर उसमें बिना नमक मिला हर दिन खाने से खून साफ हो जाता है। साथ ही फुंसियां की शिकायत भी कम हो जाएगी। क्योंकि जब खून साफ रहेगा तो फूंसी खुद ही आपसे दूर हो जाएगा। आधा कप लौकी के रस में मिश्री मिलाकर सुबह-शाम पीने से रक्त साफ हो जाता है।

लौकी के जूस के फायदे दस्त में – Benefits of lauki juice for Diarrhea in Hindi

Lauki लौकी का रायता दस्त होने पर काफी फायदेमंद होता है। लौकी को कद्दूकस से कसकर थोड़ा पानी डालकर उबाल लें। फिर दही को अच्छी तरह फेटकर उसमें उबली हुई लौकी को हल्का सा निचोड़ कर मिला दें। इसके बाद इसमें सेंधा नमक, भूना जीरा, कालीमिर्च का चूर्ण मिलाकर सेवन करे।

(और पढ़े – दस्त ठीक करने के घरेलू उपाय)
लौकी के जूस के फायदे मानसिक तनाव को दूर करे – Bottle gourd benefits Remove mental stress in Hindi

आधा कप लौकी का रस दो चम्मच शहद मिलाकर सोते समय पीने से मानसिक तनाव कम होता है। सिर में लौकी का तेल लगायें। जब तनाव बढ़े उस समय लौकी जूस का एक छोटा गिलास पीने से तनाव और क्रोध से राहत मिलती है।

गर्मी नाशक के रूप में लौकी के जूस के फायदे – Bottle gourd benefits As heat disinfectant in Hindi

गर्मी के दिनों में लौकी के और भी कई फायदे है। लौकी गर्मी दूर करती है। मस्तिष्क में, या पेट में की गर्मी की समस्या हो तो लौकी गर्मी दूर करने में मदद करता है।
लौकी के जूस के फायदे यूरिन इन्फेक्शन करें दूर – Benefits of Gourd Juice for remove Urine Infection in hindi

शरीर में सोडियम की अधिकता होने से यूरिन इन्फेक्शन की समस्या बढ़ जाती है जिससे मूत्र त्याग करते समय काफी जलन होने लगती है। यूरिन इन्फेक्शन की परेशानियों को दूर करने में लौकी का रस काफी फायदेमंद साबित होता है।
लौकी के जूस के नुकसान – Lauki ke juice ke nuksan in Hindi
जैसा की आपने जाना लौकी के जूस के फायदे अनेक है परन्तु इसे सही मात्रा में लेने की जरुरत होती है अति हर जगह नुकसान दायक होती है इसलिए जरुरत से जादा लौकी का जूस पीने या लौकी खाने से आपको नुकसान का सामना भी करना पड़ सकता है आइये जानते है लौकी के जूस के नुकसान (Lauki ke juice ke nuksan) क्या है
लौकी के जूस में अन्य किसी प्रकार की सब्जी को ना मिलाये।
कड़वा लौकी के जूस का सेवन ना करने इससे बचने के लिए आप lauki ka juice बनाने के बाद उसे एक चम्मच चक कर देख सकते है।
खली पेट लौकी का जूस का सेवन करने से गैस और जी मिचलाने जैसी समस्या हो सकती है लेकिन जरूरी नहीं की यह हर किसी को हो।
गर्भवती महिलाओ को लौकी का जूस पीते समय खास सावधानियां रखनी चाहिए, गर्भवती महिलाएं कड़वे लौकी के जूस का सेवन कभी ना करेन क्योकि इससे गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है।
जिन लोगों को जुकाम या नजले की समस्या हो वे लौकी का रस सर्दियों में ना पियें, पीना ही चाहें तो सोंठ और कालीमिर्च डालकर पियें।
शुरुआत में लौकी का जूस पीने से कब्ज और पेट खराब जैसे समस्या हो सकती है क्योकि लौकी का जूस पेट से बिकारों को बाहर निकलता है अगर आपके साथ इस प्रकार के कोई लक्षण हो तो घबराएँ नहीं कुछ समय के बाद यह लक्षण अपने आप ठीक हो जायेगें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.