Header Ads

हर तरह की स्किन के लिए परफेक्ट फाउंडेशन ऐसे चुनें

हर तरह की स्किन के लिए परफेक्ट फाउंडेशन ऐसे चुनें

मेकअप और सुंदरता का आपस में एक गहरा रिश्ता है। गलत मेकअप प्रोडक्ट के इस्तेमाल से आपकी खूबसूरती कम हो सकती है। अधिकतर लड़कियां सही फाउंडेशन का चयन नहीं कर पाती हैं। इसका रिजल्ट यह होता है कि या तो वो बहुत ज्यादा फेयर दिखने लगती हैं या फिर डार्क। सीसोल कॉस्मेसेटिकल की को-फाउंडर मनीषा चोपड़ा आपको कुछ आसान टिप्स दे रही हैं, जिनके जरिए आप विभिन्न त्वचा के लिए बेहतर फाउंडेशन चुन सकती हैं।




मिनरल फाउंडेशन- यह नॉन-कमिडोजेनिक फाउंडेशन होता है जिसका मतलब है कि इससे त्वचा के छिद्र बंद नहीं होते हैं। इस तरह का फाउंडेशन पिंपल्स और सेंसिटिव स्किन के लिए बेहतर काम करता है। यह लंबे समय तक रहता है।



फाउंडेशन स्टिक- इस तरह का फाउंडेशन ब्लेमिश्ट स्किन यानि दाग-धब्बे और पिंपल्स वाली स्किन के लोगों के लिए बेहतर होता है। स्टिक को सीधे फेस पर लगाने की बजाय गाल, ठोड़ी, नाक और माथे पर एक ब्रश के साथ कुछ लाइन बनाएं। इससे आपको हेवी फिनिश मिलने के अधिक चांस होते हैं।




मूज़ फाउंडेशन- इस तरह का फाउंडेशन क्रीम बेस्ड होता है और यह नॉर्मल से लेकर ऑयली स्किन टाइप के लोगों के लिए बेहतर होता है। यह नेचर में लाइट होता है और आपको स्मूथ व फ्लोलेस फिनिश देता है। डेट, पार्टी और नाईट आउट के लिए यह बेहतर फाउंडेशन है।



लिक्विड फाउंडेशन- यह मैट और सैटन जैसे फॉर्म में आता है। लिक्विड फाउंडेशन हर तरह की स्किन के लिए सही होते हैं। फ्लॉलेस टच के लिए आप एक एचडी फाउंडेशन एयर ब्रश यूज कर सकती हैं।



क्रीम फाउंडेशन- यह हैवी फाउंडेशन होता है जिसका इस्तेमाल ब्राइडल के मेकअप के लिए किया जाता है। इसके अलावा यह दाग-धब्बे और पिंपल्स वाली स्किन के लोगों के लिए भी बेहतर है। यह एक प्रोफेशनल फाउंडेशन है जिसका सही तरह इस्तेमाल करने पर आपको एक नैचुरल फिनिश मिलता है।

क्या आप भी करती हैं ब्लो ड्राईंग के दौरान ये 5 ग़लतियां

https://www.healthsiswealth.com/



आजकल किसी के पास इतना समय नहीं होता कि वह ऑफिस जाने से पहले शैम्पू करने के बाद अपने बालों को नैचुरली सूखने दे। इसलिए ब्लो ड्राई का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या आपको विश्वास है कि आप सही तरीके से हेयर ड्रायर का इस्तेमाल कर रहे हैं? आपके बालों के बिखरे और बेजान होने के पीछे का कारण आपका ब्लो ड्राईंग का ग़लत तरीका हो सकता है। यह रहीं वो 5 ग़लतियां जो ज़्यादातर लोग ब्लो-ड्राईंग के वक्त करते हैं।



क्या आप जानते हैं कि हेयर ड्रायर के साथ मिलनेवाला नोज़ल भी एक महत्वपूर्ण चीज़ है जिसपर ध्यान देने की ज़रुरत होती है। ज़्यादातर लोग ये नोज़ल फेंक देते हैं। लेकिन यह गर्म हवा को आपके बालों तक सीधे पहुंचने नहीं देती और साथ ही यह आपके बालों को फंसने नहीं देता। इसलिए नोज़ल फेंके नहीं और अगर आपको हेयर ड्रायर के साथ नोज़ल नहीं मिला तो किसी अच्छी क्वालिटी का नोज़ल खरीदें।

याद रखें ब्लो-ड्राई को जितना हो सके उतने कम तापमान पर इस्तेमाल करें। जी हां, इससे बाल सूखने में ज़्यादा समय लगेगा पर इस तरह नुकसान कम होगा लेकिन इससे आपके बाल गर्म नहीं होगें। अच्छी कंपनी के हेयर ड्रायर्स में टेम्परेचर की आसान और अच्छी सेटिंग्स होती हैं। कम गर्म हवा से बाल सुखाने पर वह कमज़ोर और रुखे-सूखे नहीं बनेगें।


बहुत गीले बालों (जिनसे पानी टपक रहा हो) को ब्लो ड्रायर से सुखाना आपके बालों के लिए बहुत नुकसानदायक हो सकता है। पहले अपने बालों को तौलिए से सुखा लें फिर ब्लो-ड्राई करें। ऐसा करने से बाल बिखरे हुए और उलझ जाते हैं।
अगर आप अपने बालों को चिड़िया के घोंसले जैसा नहीं बनाना चाहते तो ब्लोड्राई बीच में न रोकें। ध्यान दें कि आपके बालों में नमी न रह गयी हो वर्ना दिनभर आपके बाल बिखरे हुए रहेंगे। पूरी तरह से सूखे बाल हल्के और चमकदार नज़र आते हैं।



ब्लो ड्राई करते समय बालों में प्लास्टिक या किसी धातु से बने कंघे का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। क्योंकि वे जल्दी गर्म होकर आपके बालों में चिपक सकते हैं। आप बोर ब्रिसल वाले हेयरब्रश का इस्तेमाल करें। जो नर्म होने के साथ जल्दी गर्म नहीं होते। यह ब्रश रोज़ाना इस्तेमाल के लिए ही बहुत अच्छे होते हैं।




कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.