Header Ads

शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर नजर आते है यह लक्षण

कैल्शियम की कमी के 10 बड़े संकेत, जिसे आप करते हैं नजरअंदाज

https://www.healthsiswealth.com/

https://www.healthsiswealth.com/

कैल्शियम की कमी के 10 बड़े संकेत, जिसे आप करते हैं नजरअंदाज


शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सभी पोषक तत्वों के साथ कैल्शियम की भी जररूत होती है। शरीर के अलग- अलग हिस्सों में कैल्शियम की अलग मात्रा होती है जैसे दांतों और हड्डियों में लगभग 99%। इसकी मात्रा कम होने पर दांत और हड्डियां कमजोर होने लगते हैं। इसके अलावा कैल्शियम की कमी होने से शरीर में कई बीमारियां हो सकती हैं। चलिए जानें 6 लक्षण जो बताते हैं कि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी है।

1. हड्डियां कमजोर होना
https://www.healthsiswealth.com/
शरीर मे कैल्शियम की कमी होने पर हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। इसके अलावा पूरे बदन में दर्द होने लगता है।अगर आपको भी रोजना हाथों पैरों में दर्द होने की समस्या रहती है तो इसको नजरअंदाज न करें। 
https://www.healthsiswealth.com/
2. मासिक धर्म में दर्द

जिन महिलाओं में कैल्शियम की कमी होती है। उनको मासिक धर्म के दौरन दर्द होता है। इसके साथ ही मासिक धर्म देर से आना, इनरैगुलर होना भी कैल्शियम की कमी का संकेत है। 
https://www.healthsiswealth.com/
3. दांत कमजोर 

कैल्शियम की कमी सबसे पहले दांत में दिखाई देती है। दांतों की सड़न पहला लक्षण है। जब एक बार दांत सड़ने शुरू हो जाएं तो इनको टूटने में ज्यादा समय नहीं लगता। अगर बच्चों को बचपन में ही कैल्शियम की कमी हो जाए तो दांत बहुत देरी से निकालते हैं।
4. नाखून कमजोर होना

अगर आपके नाखून बार-बार टूट रहें हो तो यह संकेत है कि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो रही है। नाखूनों को बढ़ने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। जब शरीर में इसकी मात्रा सही नहीं होती तो नाखून कमजोर हो कर टूटने शुरू हो जाते हैं। 

https://www.healthsiswealth.com/

5. थकान रहना
थोड़ा से चलाना या काम करने के बाद ही थकान महसूस हो तो समझ लें कि शरीर में कैल्शियम की है। शरीर में कम कैल्‍श्यिम के कारण अनिद्रा, डर लगना और चिंता रहना जैसे भी कुछ लक्षण दिखाई देते हैं। 




6. दिल की धड़कन बढ़ना 
दिल को ठीक तरीके से काम करने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। इसकी कमी होने पर दिल की धड़कन बढ़ने लगती है जिससे बेचैनी से महसूस होने लगती है। कैल्शियम दिल को सही तरह से पम्प करने में मदद करता है। 




7. बालों का झड़ना


बालों के विकास में कैल्शियम की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसकी कमी से बाल झड़ने लगते हैं और रुखे हो जाते हैं। अगर आपको ऐसी समस्या है तो ये शरीर में कैल्शियम की कमी का संकेत हो सकती है।

https://www.healthsiswealth.com/


कैल्शियम की कमी के लक्षण और कैल्शियम की कमी को कैसे दूर करें


जैसे जैसे व्यक्ति की उम्र बढती है वैसे वैसे उसकी कम करने की क्षमता कम हो जाती है और कमजोर भी होने लगता है उसका डाइजेशन भी कमजोर होने लग जाता है| और जब व्यक्ति की उम्र 30 वर्ष होती है तो व्यक्ति के शारीर में कैल्शियम को पूरी तरह से अब्जॉर्ब करने की क्षमता नहीं रहती है|
https://www.healthsiswealth.com/
Calcium ki Kami Ko Dur Karne ke Upay

ऐसे में शरीर में कैल्शियम की कमी होने का खतरा एक आम बात है इसके अलावा भी कई कारण ऐसे होते है जिन से शारीर में कैल्शियम की कमी होने लगती है जैसे कुछ लोगो को ज्यादा मीठा खाना पंसन होता है या कुछ लोग अनहेल्दी खाना पसंद करते है जिनसे ये परेशानी होती है|

ऐसा नहीं है की कैल्शियम की कमी सिर्फ 30 के बाद ही हो ये किसी को भी हो सकती है चाहे वे कोई बुढा हो, जवान हो या बच्चा हो महान हड्डी के सर्जन का कहना है कि आज कल लोगों को कम ही उम्र में ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी विकार) होने का खतरा पहले की तुलना में ज्यादा बढ गया है|

क्योकि आज के समय के खाना में कोई भी हेल्थी खाना नहीं लेता है जो मन में आया खा लेते है जिस कारण से ये परेशानी अधिक हो गई है यदि आप भोजन में कैल्शियम युक्त भोजन नहीं लेते तो आपको भी डर है कही आप समय से पूर्व इसके शिकार न हो जाये|

कैल्शियम की कमी होने के कारण
कैल्शियम की कमी सबसे ज्यादा भोजन में कैल्शियम युक्त भोजन न लेने से होती है|
कैल्शियम की कमी सबसे ज्यादा महिलाओ में होती है क्योकि महिलाओ को कोई दोर से गुजरना होता है जैसे- मासिक धर्म, गर्भधारण, ब्रेस्टफीडिंग और बाद में मेनोपॉज|
अधिक दिनों तक सूरज की रौशनी को न लेने से|
विटामिन C की कमी से|
ड्रिकिंग सोडा का सेवन करने से|
अधिक कैफीन का सेवन करने से|
सोडियम युक्त पदार्थो का अधिक सेवन करने से|

कैल्शियम की कमी होने के लक्षण | कैल्शियम की कमी से रोग
आपकी हड्डियों का कमजोर होना उठते बैठते समय दर्द का होना|
मांसपेशियों में अकड़न और दर्द होना|
बहुत जल्द ही थकान होना|
कमजोर दांत, कमजोर नाखून, झुकी हुई कमर, बालों का टूटना या झड़ना कैल्शियम की कमी के लक्षण है|
नींद ना आना, डर लगना और दिमागी टेंशन रहना कैल्शिीयम की कमी से ही होता है|
शरीर का सुन्न हो जाना हाथ पैरो में झुनझुनी आना|
याददाश्त कमजोर होना और अधिक डिप्रेशन में रहना|

कैल्शियम की कमी को दूर करने के उपाय

कैल्शियम की कमी को दूर करना कोई बड़ा कम नहीं है आप बस अपने रोज के कम में थोडा सा बदलाव करके ही इस कमी को दूर कर सकते है थोडा सा समय अपने लिए निकालिए और यहाँ बताये जा रहे उपाय को कीजिये जिससे आपको ज्यादा परेशानी होने से पहले ही कैल्शियम की पूर्ती हो जाये|
https://www.healthsiswealth.com/



अदरक की चाय:- एक बर्तन में डेढ़ कप पानी ले और उसमे एक इंच अदरक का टुकड़ा पीस कर डालें और उसे उबालें जब पानी एक कप रह जाए तो उसे चाय की तरह पियें इससे आपके शारीर में कैल्शियम की कमी दूर हो जाएगी|
https://www.healthsiswealth.com/
जीरे का पानी:- एक बर्तन में दो गिलास पानी ले फिर उसमे जीरा डाले और भिगो कर रखें सुबह उस पानी को उबालें जब पानी आधा रह जाये तो पानी को छान कर पियें ये आपके शारीर के लिए बिलकुल लाभदायक है|

तिल का सेवन:- रोजाना 2 चम्मच भुने हुए तिल का सेवन करें यदि आप चाहे तो स्वाद बदलने के लिए तिल की चिक्की और लडडू भी खा सकते हैं|

रागी का सेवन:- हफ्ते में कम से कम दो बार रागी से बनी इडली, दलिया या चीला खाएं इससे पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मिलेगा और आप जल्द ही कैल्शियम की कमी से निजत पा लेंगे|

विटामिन डी युक्त पदार्थो को भोजन में शामिल करें:- आपको विटामिन डी वैसे तो सूरज की रोशनी से भी प्राप्त हो जाता है लेकिन ये केवल सुबह 8-10 बजे ही मिलती है इसलिए आपको अपने भोजन में कुछ ऐसे पदार्थो को भी शामिल करना चाहिए जिससे आपको विटामिन डी मिले जैसे:- वसायुक्त मछली, दूध, अनाज, पनीर, अंडा, मक्खन आदि|




मैग्नीशियम युक्त पदार्थो का सेवन:- जैसे हमारे शारीर को कैल्शियम की जरूरत होती है उसी प्रकार मैग्नीशियम की भी जरुरत होती है इसलिए हमें भोजन में ऐसे पदार्थो को भी लेना चाहिए जिनसे हमें मैग्नीशियम की कमी की पूर्ती हो जैसे: पलक, शलगम, सरसों, ब्रोकोली, ऐवोकैड़ो, खीरा, हरी सेम, साबुत अनाज, कददू के बीज, तिल के बीज, बादाम और काजू आदि|

भोजन में कोनसी सब्जियां शामिल करनी चाहिए:- टमाटर, ककड़ी, मूली, मेथी, करेला, चुकन्दर, हरी पत्तेदार सब्जियां, अरबी के पत्ते, पालक आदि।
https://www.healthsiswealth.com/
पपीता का सेवन:- पपीते में ढेर सारा विटामिन सी होता है रिसर्च में पाया गया है कि जिन लोगों के अदंर विटामिन सी की कमी होती है उनमें जोड़ो का दर्द आम बात है इसलिए उन्हें नियमित रूप से पपीता का सेवन करना चाहिए इससे कैल्शियम की कमी दूर की जा सके|

सेब का सेवन:- सेब खाने से आप जोड़ों के दर्द तथा उसकी क्षतिग्रस्त से बच सकते हैं सेब जोडों में कोलाजन बनाने में मदद करता है जो कि घुटने को झटके लगने से बचाता है जिससे घुटने खराब नहीं होते और सेब में आयरन भी पाया जाता है जो की आपने खून में आयरन की कमी को पूरा करता है यानि हम कह सकते है कि सेब के सेवन से एक साथ दो कमी को दूर किया जा सकता है|

ग्रीन-टी का सेवन:- यह जोड़ों के कार्टिलेज को क्षतिग्रस्त होने से रोकता है ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट होता है जिससे फ्री रैडिकल्स हड्डियों को नुकसान नहीं पहुंचा पाते रोजाना एक कप ग्रीन टी आपको जोड़ों के दर्द से बचा सकते हैं|

अदरक का सेवन:- अदरक को हम एक औषधी के रूप में भी उपयोग कर सकते है अदरक में एक ऐसा गुण पाया जाता है जो दर्द से व सूजन से तुरत राहत देता है आप चाहे तो अदरक को चाय में डाल कर चाय पी सकते है यदि आप चाय में लेना नहीं चाहते तो आप ऐसे भोजन में भी डाल कर पका के खा सकते है|

काली बींस का सेवन:- यह मैग्नीज और अन्य तत्व से भरा हुआ होता है, जो जोडों के स्वास्थ्य के लिये बहुत जरुरी है इसमे एंथोकायनिन्स होता है जो कि एक एंटीऑक्सीडेंट होता है यह शरीर से फ्री रैडिकल्स को बाहर निकालता है और जोडों को खराब होने से रोकता है|

आप बताये गए सभी उपाय को आसानी से कर सकते है और अपने शारीर में हो रही कैल्शियम की कमी को दूर करके स्वास्थ्य हो सकते है कैल्शियम की कमी के कारण कभी कभी बड़ी परेशानियाँ भी सामने आ जाती है आप इन उपायों को करके उन परेशानियों से बच सकते है|
https://www.healthsiswealth.com/
कैल्शियम की कमी होने पर आपके शरीर में दिखाई देते हैं ये लक्षण, जल्द करे बचाव


शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सभी पोषक तत्वों के साथ कैल्शियम की भी जररूत होती है। शरीर के अलग- अलग हिस्सों में कैल्शियम की अलग मात्रा होती है जैसे दांतों और हड्डियों में लगभग 99%। इसकी मात्रा कम होने पर दांत और हड्डियां कमजोर होने लगते हैं। इसके अलावा कैल्शियम की कमी होने से शरीर में कई बीमारियां हो सकती हैं।

1. हड्डियां कमजोर होना- शरीर मे कैल्शियम की कमी होने पर हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। इसके अलावा पूरे बदन में दर्द होने लगता है।अगर आपको भी रोजना हाथों पैरों में दर्द होने की समस्या रहती है तो इसको नजरअंदाज न करें।

2. मासिक धर्म में दर्द- जिन महिलाओं में कैल्शियम की कमी होती है। उनको मासिक धर्म के दौरन दर्द होता है। इसके साथ ही मासिक धर्म देर से आना, इनरैगुलर होना भी कैल्शियम की कमी का संकेत है।

3. दांत कमजोर- कैल्शियम की कमी सबसे पहले दांत में दिखाई देती है। दांतों की सड़न पहला लक्षण है। जब एक बार दांत सड़ने शुरू हो जाएं तो इनको टूटने में ज्यादा समय नहीं लगता। अगर बच्चों को बचपन में ही कैल्शियम की कमी हो जाए तो दांत बहुत देरी से निकालते हैं।

4. नाखून कमजोर होना- अगर आपके नाखून बार-बार टूट रहें हो तो यह संकेत है कि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो रही है। नाखूनों को बढ़ने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। जब शरीर में इसकी मात्रा सही नहीं होती तो नाखून कमजोर हो कर टूटने शुरू हो जाते हैं।

5. थकान रहना-थोड़ा से चलाना या काम करने के बाद ही थकान महसूस हो तो समझ लें कि शरीर में कैल्शियम की है। शरीर में कम कैल्‍श्यिम के कारण अनिद्रा, डर लगना और चिंता रहना जैसे भी कुछ लक्षण दिखाई देते हैं।

6. दिल की धड़कन बढ़ना -दिल को ठीक तरीके से काम करने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। इसकी कमी होने पर दिल की धड़कन बढ़ने लगती है जिससे बेचैनी से महसूस होने लगती है। कैल्शियम दिल को सही तरह से पम्प करने में मदद करता है।

7. बालों का झड़ना- बालों के विकास में कैल्शियम की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसकी कमी से बाल झड़ने लगते हैं और रुखे हो जाते हैं। अगर आपको ऐसी समस्या है तो ये शरीर में कैल्शियम की कमी का संकेत हो सकती है।
https://www.healthsiswealth.com/


कैल्शियम की कमी होने पर शरीर में दिखाई देते हैं ये संकेत


शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सभी पोषक तत्वों के साथ कैल्शियम की भी जररूत होती है। शरीर के अलग- अलग हिस्सों में कैल्शियम की अलग मात्रा होती है जैसे दांतों और हड्डियों में लगभग 99%। इसकी मात्रा कम होने पर दांत और हड्डियां कमजोर होने लगते हैं। इसके अलावा कैल्शियम की कमी होने से शरीर में कई बीमारियां हो सकती हैं। चलिए जानें 6 लक्षण जो बताते हैं कि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी है।

1. हड्डियां कमजोर होना


शरीर मे कैल्शियम की कमी होने पर हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। इसके अलावा पूरे बदन में दर्द होने लगता है।अगर आपको भी रोजना हाथों पैरों में दर्द होने की समस्या रहती है तो इसको नजरअंदाज न करें।

2. मासिक धर्म में दर्द

जिन महिलाओं में कैल्शियम की कमी होती है। उनको मासिक धर्म के दौरन दर्द होता है। इसके साथ ही मासिक धर्म देर से आना, इनरैगुलर होना भी कैल्शियम की कमी का संकेत है।



3. दांत कमजोर

कैल्शियम की कमी सबसे पहले दांत में दिखाई देती है। दांतों की सड़न पहला लक्षण है। जब एक बार दांत सड़ने शुरू हो जाएं तो इनको टूटने में ज्यादा समय नहीं लगता। अगर बच्चों को बचपन में ही कैल्शियम की कमी हो जाए तो दांत बहुत देरी से निकालते हैं।



4. नाखून कमजोर होना

अगर आपके नाखून बार-बार टूट रहें हो तो यह संकेत है कि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो रही है। नाखूनों को बढ़ने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। जब शरीर में इसकी मात्रा सही नहीं होती तो नाखून कमजोर हो कर टूटने शुरू हो जाते हैं।
https://www.healthsiswealth.com/


5. थकान रहना
थोड़ा से चलाना या काम करने के बाद ही थकान महसूस हो तो समझ लें कि शरीर में कैल्शियम की है। शरीर में कम कैल्‍श्यिम के कारण अनिद्रा, डर लगना और चिंता रहना जैसे भी कुछ लक्षण दिखाई देते हैं।

6. दिल की धड़कन बढ़ना
दिल को ठीक तरीके से काम करने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। इसकी कमी होने पर दिल की धड़कन बढ़ने लगती है जिससे बेचैनी से महसूस होने लगती है। कैल्शियम दिल को सही तरह से पम्प करने में मदद करता है।

7. बालों का झड़ना

बालों के विकास में कैल्शियम की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसकी कमी से बाल झड़ने लगते हैं और रुखे हो जाते हैं। अगर आपको ऐसी समस्या है तो ये शरीर में कैल्शियम की कमी का संकेत हो सकती है।

शरीर में दिखें ये लक्षण तो समझिए कैल्शियम की कमी है, समय रहते जान जाइये वरना बुढापा एक खाट पर सिमट कर रह जाएगा
https://www.healthsiswealth.com/

शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्वों में एक कैल्शियम भी है जो शरीर के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हड्डियों को और दांतो की मजबूती के लिए कैल्शियम जरूरी पोषक तत्व है। हर किसी को एक दिनभर में कैल्शियम की एक निश्चित मात्रा की जरूरत होती है। एक स्वस्थ्य मनुष्य को दिन भर में 1000 से 1200 मिली ग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है। वहीं गर्भवती महिलाओं को पूरे दिन में 1200 से 1300 मिली ग्राम कैल्शियम की आवश्कता होती है। आजकल न सिर्फ बूढ़ों में बल्कि जवान और बच्चों में भी कैल्शियम की काफी कमी देखी जा रही है। हम बता रहे हैं कुछ लक्षण जिनसे आप जान पायेंगे कि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी है।




1. हड्डियों में कमजोरी कैल्शियम हड्डियों के बनने में मदद करता है और इसकी कमी होने पर इसका पहला लक्षण हड्डियों पर दिखाई देता है। कैल्शियम की कमी से हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और फ्रैक्चर होने की संभावना बढ़ जाती है। कैल्शियम कमी से उम्र के साथ आस्टियोपेरोसिस का होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

2. मांसपेशियों में खिंचाव मसल्स के निर्माण में कैल्शियम की अहम भूमिका होती है। शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर इसका सीधा असर मांसपेशियों पर पड़ता है और उनमें खिंचाव होने लगता है। इसकी कमी से खासतौर पर जांघों और पिंडलियों में असहनीय दर्द होता है।

3. नाखूनों का कमजोर होना आपके नाखून भी एक तरह की हड्डियां ही होती हैं इन्हें भी बढ़ने और मजबूत होने के लिए कैल्शियम की जरूरत होती है। कैल्शियम की कमी से नाखून कमजोर होने लगते हैं और आसानी से टूट जाते हैं। शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर नाखूनों पर सफेद निशान दिखने लगते हैं।

4. दांतों का कमजोर होना शरीर में मौजूद 99 प्रतिशत कैल्शियम हड्डियों और कैल्शियम की कमी से दांतों में दर्द और झनझनाहट होने लगती है और दांत कमजोर होकर टूटने लगते हैं। छोटे बच्चों में कैल्शियम की कमी से दांत देर से निकलते हैं।
https://www.healthsiswealth.com/
5. थकान कैल्शियम की कमी से हड्डियों और मांसपेशियों में दर्द रहने की वजह से शरीर में थकान होने लगती है। इस वजह से नींद न आना, डर लगना और तनाव जैसी समस्याएं होने लगती हैं। महिलाओं में बच्चे के जन्म के बाद अक्सर कैल्शियम की कमी हो जाती है और वे थकान महसूस करने लगती हैं।

6. मासिक धर्म में अनियमितता महिलाओं में कैल्शियम की कमी की वजह से मासिक धर्म देर से और अनियमित तौर पर होता है। मासिक धर्म से पहले कैल्शियम की कमी के कारण ज्यादा दर्द होता है और खून भी ज्यादा आता है। कैल्शियम महिलाओं के गर्भाशय और ओवेरियन हार्मोन्स के विकास में मदद करता है।

7. जल्दी-जल्दी बीमार पड़ना कैल्शियम रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके अलावा ये श्वसन तंत्र ठीक रखता है और आंतों के संक्रमण को रोकता है। कैल्शियम की होने पर व्यक्ति जल्दी जल्दी बीमार पड़ने लगता है।

8. बालों का झड़ना बालों के विकास में कैल्शियम की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसकी कमी से बाल झड़ने लगते हैं और रुखे हो जाते हैं। अगर आपको ऐसी समस्या है तो ये शरीर में कैल्शियम की कमी का संकेत हो सकती है।
कैल्शियम की कमी होने पर शरीर में दिखाई देते हैं ये लक्षण


शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सभी पोषक तत्वों के साथ कैल्शियम की भी जररूत होती है। शरीर के अलग- अलग हिस्सों में कैल्शियम की अलग मात्रा होती है जैसे दांतों और हड्डियों में लगभग 99%। इसकी मात्रा कम होने पर दांत और हड्डियां कमजोर होने लगते हैं। इसके अलावा कैल्शियम की कमी होने से शरीर में कई बीमारियां हो सकती हैं।

1. हड्डियां कमजोर होना- शरीर मे कैल्शियम की कमी होने पर हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। इसके अलावा पूरे बदन में दर्द होने लगता है।अगर आपको भी रोजना हाथों पैरों में दर्द होने की समस्या रहती है तो इसको नजरअंदाज न करें।



2. मासिक धर्म में दर्द- जिन महिलाओं में कैल्शियम की कमी होती है। उनको मासिक धर्म के दौरन दर्द होता है। इसके साथ ही मासिक धर्म देर से आना, इनरैगुलर होना भी कैल्शियम की कमी का संकेत है।


https://www.healthsiswealth.com/
3. दांत कमजोर- कैल्शियम की कमी सबसे पहले दांत में दिखाई देती है। दांतों की सड़न पहला लक्षण है। जब एक बार दांत सड़ने शुरू हो जाएं तो इनको टूटने में ज्यादा समय नहीं लगता। अगर बच्चों को बचपन में ही कैल्शियम की कमी हो जाए तो दांत बहुत देरी से निकालते हैं।

4. नाखून कमजोर होना- अगर आपके नाखून बार-बार टूट रहें हो तो यह संकेत है कि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो रही है। नाखूनों को बढ़ने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। जब शरीर में इसकी मात्रा सही नहीं होती तो नाखून कमजोर हो कर टूटने शुरू हो जाते हैं।

https://www.healthsiswealth.com/

5. थकान रहना-थोड़ा से चलाना या काम करने के बाद ही थकान महसूस हो तो समझ लें कि शरीर में कैल्शियम की है। शरीर में कम कैल्‍श्यिम के कारण अनिद्रा, डर लगना और चिंता रहना जैसे भी कुछ लक्षण दिखाई देते हैं।

6. दिल की धड़कन बढ़ना -दिल को ठीक तरीके से काम करने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। इसकी कमी होने पर दिल की धड़कन बढ़ने लगती है जिससे बेचैनी से महसूस होने लगती है। कैल्शियम दिल को सही तरह से पम्प करने में मदद करता है।

7. बालों का झड़ना- बालों के विकास में कैल्शियम की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसकी कमी से बाल झड़ने लगते हैं और रुखे हो जाते हैं। अगर आपको ऐसी समस्या है तो ये शरीर में कैल्शियम की कमी का संकेत हो सकती है।

https://www.healthsiswealth.com/


कहीं आपके शरीर में कैल्शियम की कमी तो नहीं है- जाने लक्षण व उपाय...


नई दिल्ली : आम तौर पर व्यक्तियों की जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, कई लोगों के साथ कई तरह की समस्याएं शुरु होने लगती है। उनकी क्षमता कमजोर होने के साथ ही उसका डायजेशन भी कमजोर होने लगता है। व्यक्ति 30 की उम्र तक पहुंचते ही शरीर में कैल्शियम पूरी तरह से अब्जॉर्ब करने की क्षमता नहीं हो पाता है।

इसके कारण शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है। शरीर में कैल्शियम की कमी के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कुछ लोगों को मीठा खाना ज्यादा पसंद होता है या कुछ लोग अनहेल्दी खाना पसंद करते है। इससे भी आपको कैल्शियम नहीं मिल पाता।

इसके कारण हड्डीया कमजोर होने लगती है, और मांसपेशियों में खिचावट तथा नाखून व बालों में भी कमजोर होने लगती है। ऐसा नहीं है कि ये समस्या 30 वर्ष के उम्र वालों को ही होता है। ये समस्या बूढ़ा हो या जवान या बच्चा किसी के सथ भी हो सकती है। क्योंकि आज कोई समय पर भोजन नहीं लेता और मन में आया तो खा लिया नहीं तो थोड़ी देर बाद खा लेगें, इस तरह की लापरवाही आपके जीवन पर भारी पड़ सकता है।

कैल्शियम के कमी के कारण

कैल्शियम युक्त भोजन न लेना

कैल्शियम की कमी सबसे अधिक महिलाओं में होती है

इसलिए कि इनको कई दौर से गुजरना पड़ता है

जैसे की ब्रेस्टफीडिंग, मासिकधर्म, गर्भाधारण व मोनोपॉज

ज्यादा दिनों तक सूर्य की रोशनी न लेना

विटामिन सी की कमी
https://www.healthsiswealth.com/
सोडियम युक्त पदार्थो का सेवन करना

कैल्शियम से निजात पाने उपचार

अदरक चाय की चाय पीने से कैल्शियम की समस्या दूर हो सकती है, इसके लिए आप एक कप पानी में थोड़ अदरक डाल कर गर्म करे और इसे छान कर सेवन करें।

जीरे की चाय से भी होता है फायदा- इसके लिए आप दो गिलास पानी में एक चमम्च जीरा डालकर भिगोकर रख दे। सुबह के समय इसे उबाल ले और फिर छान कर इसका सेवन करें।

सफेद तिल एक आयुर्वेदिक औषधि है, जिसमें कैल्शियम की भरपूर मात्रा होती है। इसे देशी घी के साथ भूनकर रख दे और प्रतिदिन सुबह शाम एक चमम्च खाये, इसके साथ एक गिलास दूध पीये।

विटामिन डी जो कि सूरज के रोशनी से मिलती है, इसके अलावा विटामिन डी युक्त भोजन करें। वसायुक्त जैसे मछली, अण्डा, दूध, पनीर व मक्खन आदि।

भोजन में मैग्नीशियमयुक्त पदार्थ का सेवन करे

शलजम, पालक, खीरा, सेम, अनाज, तिल के बीज, काजू, व सरसो इत्यादि

पपीते में भरपूर मात्रा में विटामिन सी होती है और जिनके जोड़ों में दर्द की समस्या होती है, उनके लिए काफी ही फायदेमंद होता है।

https://www.healthsiswealth.com/

कहीं आपके शरीर में कैल्शियम की कमी तो नहीं है- जाने लक्षण व उपाय...


नई दिल्ली : आम तौर पर व्यक्तियों की जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, कई लोगों के साथ कई तरह की समस्याएं शुरु होने लगती है। उनकी क्षमता कमजोर होने के साथ ही उसका डायजेशन भी कमजोर होने लगता है। व्यक्ति 30 की उम्र तक पहुंचते ही शरीर में कैल्शियम पूरी तरह से अब्जॉर्ब करने की क्षमता नहीं हो पाता है।

इसके कारण शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है। शरीर में कैल्शियम की कमी के कई कारण हो सकते हैं, जैसे कुछ लोगों को मीठा खाना ज्यादा पसंद होता है या कुछ लोग अनहेल्दी खाना पसंद करते है। इससे भी आपको कैल्शियम नहीं मिल पाता।

इसके कारण हड्डीया कमजोर होने लगती है, और मांसपेशियों में खिचावट तथा नाखून व बालों में भी कमजोर होने लगती है। ऐसा नहीं है कि ये समस्या 30 वर्ष के उम्र वालों को ही होता है। ये समस्या बूढ़ा हो या जवान या बच्चा किसी के सथ भी हो सकती है। क्योंकि आज कोई समय पर भोजन नहीं लेता और मन में आया तो खा लिया नहीं तो थोड़ी देर बाद खा लेगें, इस तरह की लापरवाही आपके जीवन पर भारी पड़ सकता है।

कैल्शियम के कमी के कारण

कैल्शियम युक्त भोजन न लेना

कैल्शियम की कमी सबसे अधिक महिलाओं में होती है

इसलिए कि इनको कई दौर से गुजरना पड़ता है

जैसे की ब्रेस्टफीडिंग, मासिकधर्म, गर्भाधारण व मोनोपॉज

ज्यादा दिनों तक सूर्य की रोशनी न लेना

विटामिन सी की कमी

सोडियम युक्त पदार्थो का सेवन करना

कैल्शियम से निजात पाने उपचार

अदरक चाय की चाय पीने से कैल्शियम की समस्या दूर हो सकती है, इसके लिए आप एक कप पानी में थोड़ अदरक डाल कर गर्म करे और इसे छान कर सेवन करें।

जीरे की चाय से भी होता है फायदा- इसके लिए आप दो गिलास पानी में एक चमम्च जीरा डालकर भिगोकर रख दे। सुबह के समय इसे उबाल ले और फिर छान कर इसका सेवन करें।

सफेद तिल एक आयुर्वेदिक औषधि है, जिसमें कैल्शियम की भरपूर मात्रा होती है। इसे देशी घी के साथ भूनकर रख दे और प्रतिदिन सुबह शाम एक चमम्च खाये, इसके साथ एक गिलास दूध पीये।

विटामिन डी जो कि सूरज के रोशनी से मिलती है, इसके अलावा विटामिन डी युक्त भोजन करें। वसायुक्त जैसे मछली, अण्डा, दूध, पनीर व मक्खन आदि।

भोजन में मैग्नीशियमयुक्त पदार्थ का सेवन करे

शलजम, पालक, खीरा, सेम, अनाज, तिल के बीज, काजू, व सरसो इत्यादि

पपीते में भरपूर मात्रा में विटामिन सी होती है और जिनके जोड़ों में दर्द की समस्या होती है, उनके लिए काफी ही फायदेमंद होता है।



शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर नजर आते है यह लक्षण

https://www.healthsiswealth.com/
शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्वों में एक कैल्शियम भी है जो शरीर के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हड्डियों को और दांतो की मजबूती के लिए कैल्शियम जरूरी पोषक तत्व है। हर किसी को एक दिनभर में कैल्शियम की एक निश्चित मात्रा की जरूरत होती है। एक स्वस्थ्य मनुष्य को दिन भर में 1000 से 1200 मिली ग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है। वहीं गर्भवती महिलाओं को पूरे दिन में 1200 से 1300 मिली ग्राम कैल्शियम की आवश्कता होती है। आजकल न सिर्फ बूढ़ों में बल्कि जवान और बच्चों में भी कैल्शियम की काफी कमी देखी जा रही है।

1. मसल्स के निर्माण में कैल्शियम की अहम भूमिका होती है। शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर इसका सीधा असर मांसपेशियों पर पड़ता है और उनमें खिंचाव होने लगता है। इसकी कमी से खासतौर पर जांघों और पिंडलियों में असहनीय दर्द होता है।

2. आपके नाखून भी एक तरह की हड्डियां ही होती हैं इन्हें भी बढ़ने और मजबूत होने के लिए कैल्शियम की जरूरत होती है। कैल्शियम की कमी से नाखून कमजोर होने लगते हैं और आसानी से टूट जाते हैं। शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर नाखूनों पर सफेद निशान दिखने लगते हैं।




3. महिलाओं में कैल्शियम की कमी की वजह से मासिक धर्म देर से और अनियमित तौर पर होता है। मासिक धर्म से पहले कैल्शियम की कमी के कारण ज्यादा दर्द होता है और खून भी ज्यादा आता है। कैल्शियम महिलाओं के गर्भाशय और ओवेरियन हार्मोन्स के विकास में मदद करता है।

https://www.healthsiswealth.com/

कैल्शि‍यम की अधि‍क मात्रा सेहत के लिए हो सकता है हानिकार‍क




डेस्क। सेहत के लिए कैल्शि‍यम जरूरी होता है। शरीर मे कैल्शि‍यम की कमी होने पर हड्ड‍ियां कमजोर पड़ जाती हैं। कैल्शि‍यम की कमी से दांतों व नाखूनों का विकास भी प्रभावित होता है। लेकिन कैल्शि‍यम की अत्यधि‍क मात्रा सेहत हानिकार‍क हो सकती है। आज जानते है कैल्शि‍यम के नुकसान के बारे मे -

- अधि‍क कैल्शि‍यम हड्ड‍ियों को ही नहीं बल्कि यह ब्रेन डेमेज के लिए भी खतरनाक हो सकता है।

- शरीर मे रक्त में कैल्शि‍यम की अधि‍क मात्रा से कैल्सेमिया नामक बीमारी हो सकती है। कैल्सेमिया से पैराथाइरॉइड नामक ग्रंथि प्रभावित होती है।

- शरीर मे कैल्शि‍यम के लिए विटामिन डी आवश्यक होता है। कैल्शि‍यम के साथ पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी भी आवश्यक होता हैं नहीं तो हड्ड‍ियों के लिए बहुत खतरनाक हो सकता है।

- शरीर मे कैल्शि‍यम की अधि‍क मात्रा फास्फेट के साथ मिलकर एक केमिकल का निर्माण होताहै। जो हमारी हड्ड‍ियों को कमजोर बनाते हैं।
https://www.healthsiswealth.com/
- अधि‍क कैल्शि‍यम की मात्रा शरीर में तेजी से मैग्नीशि‍यम की कमी पैदा करता है जो हड्ड‍ियों के लिए बहुत खतरनाक होता है।
Photo

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.