Header Ads

आम का जूस पीनें के बेहतरीन फायदे

आम का जूस पीनें के बेहतरीन फायदे



गर्मियों में हर तरफ़ आम का बोलबाला रहता है। चिलचिलाती धूप में आम का जूस किसी वरदान से कम नहीं लगता है। आम का जूस अत्यंत स्वादिष्ट होने के साथ-साथ स्वास्थ्यवर्धक भी होता है।

इस लेख में हम आम का जूस पीने के फ़ायदों के विषय में चर्चा करेंगे। इससे पहले आम का जूस बनाने की विधि के बारे में भी बताएँगे।
आम में पोषक तत्व
आम का जूस अनेक स्वास्थ्यवर्धक पोषक तत्वों से परिपूर्ण होता है। आम में:
17 ग्राम कार्बोहाइड्रेट
70 कैलोरी ऊर्जा
0.27 ग्राम वसा
0 मिलीग्राम कोलेस्ट्रोल
1.80 ग्राम फ़ाइबर
.5 ग्राम प्रोटीन
1.12 मिलीग्राम विटामिन ई
057 रायबोफ़्लेविन
.058 थायमीन
27.7 ग्राम विटामिन सी
2 मिलीग्राम सोडीयम
10 मिलीग्राम कैलशियम
0.13 मिलीग्राम आयरन
0.110 मिलीग्राम कॉपर
0.04 मिलीग्राम ज़िंक

ये सभी तत्व शरीर को स्वस्थ रखने में सहायक होते हैं।
स्वास्थ्य के लिए आम के जूस के फ़ायदे
1. रक्तचाप को नियंत्रित करना
आम के जूस में पोटैशियम नामक पोषक तत्व पाया जाता है। यह हृदय एवं मांसपेशियों को सुचारु रूप से कार्य करने में सहायता प्रदान करता है।
इसके अतिरिक्त पोटैशियम शरीर में उपस्थित तरल पदार्थों का संतुलन बनाए रखता है जिससे कि रक्तचाप नियंत्रित रहता है।

पोटैशियम हमारी कार्डीयोवास्कुलर सिस्टम पर पड़ने वाले तनाव और दबाव को कम कर देता है जिससे कि दिल का दौरा और हृदयाघात जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।
2. पाचन क्रिया को सुदृढ़ बनाना

आम का जूस पेट संबंधित समस्याओं को समाप्त करने में सहायता करता है। आम के रस में फ़ाइबर पाया जाता है जो क़ब्ज़ जैसी बीमारी से राहत देता है।

फ़ाइबर एक लक्सिटो की तरह कार्य करता है जो मल को नर्म करके स्थानांतरित कर देता है। यह आंतों की दीवारों को चिकना कर देता है जिससे की क़ब्ज़ और ऐंठन से राहत मिलती है।
3. कैंसर से सुरक्षा

आम के जूस में क्वाटरेटिन, गैलिक ऐसिड, एस्ट्रेगलिन व एंटी ऑक्सिडंट पाए जाते हैं जो तनाव और रेडियो ऐक्टिव प्रक्रिया के ख़िलाफ़ कार्य करते हैं। इस प्रकार ये तत्व में कैंसर का ख़तरा भी कम करते हैं।

आम का जूस पीने से प्रोस्टेट कैन्सर, कोलेन कैन्सर और स्तन कैन्सर से सुरक्षा मिलती है।
4. एनिमिया से राहत

जब हमारे शरीर में आयरन की कमी हो जाती है तो हमें एनीमिया नामक बीमारी हो जाती है। एनीमिया की स्थिति में हमारे शरीर में रक्त की कमी हो जाती है। कभी कभी एनीमिया जानलेवा भी हो सकता है।

आम के जूस में आयरन की प्रचुर मात्रा पायी जाती है। यदि हम निश्चित मात्रा में आम का जूस पिए तो हम शरीर में आयरन के स्तर को संतुलित कर सकते हैं।
5. प्रतिरक्षा तंत्र के लिए
आम के रस में विटामिन सी की प्रचुर मात्रा पायी जाती है। विटामिन सी प्रतिरक्षा तंत्र को सुदृढ़ बनाने में एक अहम भूमिका निभाता है।

एक गिलास आम का जूस हमारे शरीर में 60-80% विटामिन सी की पूर्ति करता है। विटामिन सी श्वेत रक्त कणिकाओं के उत्पादन में सहायता करता है जिससे कि प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत बनता है। इस कारण हमारा शरीर किसी भी रोग के ज़र्म्स से लड़ने में सक्षम हो जाता है।
6. एसिडिटी के निवारण में

आम के जूस का pH 7 से अधिक होता है जिसका मतलब यह क्षारीय होता है। जब पेट में अम्ल का स्तर बढ़ जाता है तो एसिडिटी की समस्या हो जाती है। ऐसे में यदि आम के जूस का सेवन किया जाए तो एसिडिटी का इलाज हो सकता है।

आम का जूस पेट में अम्ल के स्तर को चमत्कारिक रूप से घटा कर क्षारीय माध्यम का निर्माण कर देता है। इस कारण एसिडिटी से निजात मिल जाती है।
7. कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करना

आम का जूस कोलेस्ट्रोल मुक्त होता है। यह शुगर के स्तर को नियंत्रित करता है जिससे कि रक्त में वसा की मात्रा संतुलित रहती है। रक्त में वसा की संतुलित मात्रा होने से कोलेस्ट्रोल नियंत्रित रहता है।

जब शरीर में कोलेस्ट्रोल का स्तर बढ़ जाता है तो धमनियाँ अवरुद्ध हो जाती हैं। इस कारण हृदयघात या हार्ट स्ट्रोक की सम्भावना बढ़ जाती है किंतु आम के जूस के सेवन से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।
8. आँखों के लिए

आम के जूस में पोषक तत्वों की एक प्रचुर मात्रा पायी जाती है जिनमें से विटामिन ए व कैरोटीनायड प्रमुख हैं। मोबाइल फ़ोन या लैप्टॉप के अत्यधिक उपयोग के कारण हमारी आँखों पर बुरा असर पड़ता है और वे कमज़ोर हो जाती हैं। कई बार तो हमें चश्मे या लेंस का प्रयोग भी करना पड़ता है।

आम के जूस के सेवन से हमें इस समस्या से राहत मिल सकती है। आम के जूस में पाए जाने वाली विटामिन ए व कैरोटीनायड एक एंटी ऑक्सिडंट की भाँति कार्य करती है तथा रेटिना के ओक़्सीडेटिव तनाव को कम करती है। इससे हमारी आँखे मोतियाबिंद जैसे ख़तरों से बची रहती हैं। (
9. मधुमेह से छुटकारा पाने हेतु

शरीर में पायी जाने वाली शुगर का पाचन करना अत्यंत जटिल होता है। आम के जूस में पायी जाने वाली शुगर हमारे शरीर में मौजूद शुगर को पचाने में मदद कर सकती है।
इसके अतिरिक्त आम के जूस में पाए जाने वाले अनेक पोषक तत्व पाचन क्रिया को सुदृढ़ बनाते हैं जिससे शर्करा का पाचन सही रूप से हो जाता है। इस कारण रक्त में शुगर की अधिक मात्रा नहीं स्रावित होती है और हम मधुमेह से बच जाते हैं।

हालाँकि आम का जूस शरीर के लिए लाभकारी होता है किन्तु इसके अधिक सेवन से बचना चाहिए अन्यथा शरीर में शर्करा का स्तर बढ़ सकता है।
आम का जूस बनाने की विधि
सर्वप्रथम आम को अच्छे से धो लें। फिर उसको छील कर छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें।
कटे हुए आम और दूध को एक मिक्सर के जार में रखें और उसमें कुछ चीनी डालें।
इन दोनों को मिक्सर में अच्छे से पीस लें।
अब इसमें ठंडा पानी डालें और पुनः मिक्सर में चलायें ताकि दोनों आपस में अच्छे से मिल जाएँ।
फिर एक छन्नी लें और इस मिश्रण को छान लें ताकि रेशे आदि निकल जाएं।
यदि आपने इसमें ठंडा पानी नहीं मिलाया है तो इसमें बर्फ़ के टुकड़े डालें और इसका सेवन करें।

आम के जूस के विषय में यदि आपके मन में कोई भी सवाल है तो आप उसे कमेंट के जरिये हम से पूछ सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.