Header Ads

लिवर को स्वस्थ रखने के उपाय


लिवर को स्वस्थ रखने के उपाय


डॉक्टरों के मुताबिक उम्र के तीसरे दशक के बाद हर किसी को अपने स्वास्थ्य पर पूरा ध्यान देना चाहिए। लिवर हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। यह शरीर से गंदगी को बाहर निकालता है तथा पाचन तंत्र को ठीक करता है और खुन को फिल्टर भी करता है। डॉक्टर कहते हैं कि 35 साल की उम्र के बाद एक बार लिवर फंक्शन टेस्ट करा लेना चाहिए, क्योंकि इस दौरान लिवर में एला-नाइन और एस-पारटेट एंजाइम्स का बढ़ा सीरम स्तर, लिवर गड़बड़ी का संकेत देता है।
वैसे आम धारणा है कि केवल एल्कोहल की वजह से ही लिवर खराब होता है, जबकि ऐसा नहीं है। केवल एल्कोहल ही लिवर का दुश्मन नहीं है, बल्कि खराब जीवनशैली और जंक फूड का ज्यादा सेवन भी आपके लिवर को खराब कर सकता है। ऐसा देखा गया है कि लिवर से जुड़ी परेशानी को समझने में देर हो जाती है। इसलिए आइए जानते हैं उन लक्षणों के बारे में, जिससे यह पता चल सके कि आपका लिवर खराब है।


पहला – त्वचा, नाखून और आंखों का पीलापन। ऐसा पित्त की अधिकता के कारण होता है, जिस कारण पेशाब में भी पीलापन नजर आता है।
https://healthtoday7.blogspot.in/
दूसरा – लिवर में खराबी होने पर बाइल (पित्त ) एंजाइम मुंह तक आ जाता है, जिससे मुंह कड़वा रहने लगता है।


तीसरा – पेट में सूजन व हर समय भारीपन का एहसास हो रहा है तो यह लिवर खराब होने का संकेत हो सकता है।
चौथा – हर समय घबराहट व उल्टी की शिकायत रहती है। ऐसा शरीर में बनने वाले पित्त के कारण होता है।

पांचवा – हर समय आलस महसूस होना, किसी काम में मन न लगना और हर समय नींद आना आदि भी लिवर खराब होने का संकेत है।
आपके मन में यह सवाल उठता होगा कि लिवर खराब हो तो उसके लिए क्या किया जाए।

तो सबसे पहले यदि आप शराब पी रहे हैं, तो उसे आप सीमित कीजिए या फिर बिलकुल ही बंद कर दीजिए। क्योंकि यह आपके सेहत को तो खराब करता है, साथ ही आपके घर को भी तभा करता है।

दूसरा – नमक केवल हाई ब्लड प्रेशर का कारण नहीं होता बल्कि यह लिवर को भी हानि पहुंचाता है। इसलिए इसका भी सीमित मात्रा में सेवन कीजिए।


तीसरा – एक शोध में पाया गया है कि जिनके शरीर का निचला हिस्सा भारी होता है, वे आमतौर पर नॉन-एल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज से पीड़ित होते हैं। देर तक एक ही जगह बैठे रहने की वजह से नॉन एल्कोहलिक फैटी लिवर का खतरा बढ़ जाता है। हमारे शरीर की बनावट ऐसी है कि उसे स्वस्थ रखने के लिए सक्रिय रहना जरूरी है। अगर शरीर का मूवमेंट्स कम हैं, तो लिवर की सेहत बिगड़ सकती है।

इसके अलावा अपने लिवर को हेल्दी रखने के लिए आप कुछ आहार भी खा सकते हैं – जैसे आप ग्रेपफ्रूट का सेवन कीजिए। इसमें एंटीऑक्सिडेंट होता है जो लिवर के सूजन को कम करता है और उसकी रक्षा भी करता है। इसके अलावा आप ब्लूबेरी और कैनबेरी का भी सेवन कर सकते हैं।
इसमें भी एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है, जो लिवर को नुकसान से बचाने में मदद करता है। अगर आप ब्रोकोली और फूलगोभी का सेवन करते हैं, तो यह अच्छी बात है, क्योंकि यह लिवर को डैमेज से बचाता है और लिवर एंजाइमों के रक्त स्तर में सुधार करता है।

लीवर की देखभाल – ये 9 आहार करते हैं लीवर साफ


लीवर हमारे शरीर में कई महत्वपूर्ण काम करता है जैसे की भोजन पचाना और कार्य पित्त का उत्पादन करना होता है। जो भी हम खाते हैं, दवाओं समेत, वह हर चीज हमारे लीवर से होकर जाती है इसलिए इसका स्वस्थ्य होना बहुत ही जरूरी है। यदि आप लीवर की देखभाल करना चाहते हैं, लीवर की बीमारियों से खुद को दूर करना चाहते हैं या फिर लीवर की गंदगी को साफ करना चाहते हैं, तो नीचे दिए आहार पर एक बार नजर दौड़ाएं।
ये 9 आहार करते हैं लीवर साफ
#1 लहसुन

लहसुन की एक कली हमारे अंदर पैदा होने वाले अनेको रोगों का नाश कर सकता है। यह लिवर की गंदगी को साफ करने में मदद करता है। यह लिवर में उपस्थित उन एन्ज़ाइम्स को सक्रिय कर देता है जो लिवर को साफ करने में सहायक हैं। इसमें मौजूद ऐलिसिन और सेलेनियम लीवर की सफाई करने में सहायक हैं।
#2 ग्रेपफ्रूट

ये रसीले खट्टे फल होते हैं और प्राकृतिक रूप से लीवर की सफाई करता है। एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन सी से भरपूर ये फल कई तरह के रोगों में एक दवा के रूप में काम करता है। यह फल न केवल वजन को कम करते हैं बल्कि जिगर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करते हैं। इसका जूस पीने से किडनी स्टोन की भी समस्या नहीं रहती।
#3 चुकंदर और गाजर

जो व्यक्ति नियमित रूप से चुकंदर का जूस पीता है उससे न केवल कमजोरी से मुक्ति मलती है बल्कि लीवर के सभी कार्यों में सुधार होता है। फ्लेवोनॉइड और बीटा कैरोटीन से समृद्ध चुकंदर लीवर की कोशिकाओं की मरम्म्त करने का काम करता है। लीवर के लिए चुकंदर के अलावा आप गाजर का भी सेवन कर सकते हैं।
#4 साबुत अनाज

फाइबर से भरपूर साबुत अनाज पेट में गैस बनने वाली प्रक्रिया को कम करने में सहायक होते हैं। इससे हमारा पेट दुरुस्त रहता है साथ ही यह हमारे शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाते हैं। साबुत अनाज में विटामिन बी कॉमप्लेतक्सर की मात्रा अच्छी खासी होती है। इसका नियमित सेवन लीवर की कार्यप्रणाली को सही रखता है।
#5 जैतून का तेल

जैतून का तेल त्वचा संबंधी समस्याओं और सौंदर्य बढ़ाने के लिए भी खूब प्रयोग किया जाता है। इसे लीवर के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है। विटामिन के साथ-साथ इस तेल में आयरन और पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स भी होते हैं, जो बालों की कोमलता और मजबूती बढ़ाने के साथ-साथ शरीर हानिकारक विषाक्त पदार्थों को सोख सकता है और लीवर के कार्य को आसान करता है।
#6 एवोकैडो

मखनफल के नाम से मशहूर और विटामिन ई से भरपूर एवोकैडो अमेरिकी महाद्वीप का फल है। यह विषाक्त पदार्थों से शरीर की रक्षा करता है। इसमें मौजूद लूटाथोनिन तत्वर और मोनोसैचुरेटेड फैट लीवर की सफाई का काम करते हैं। यह गर्मियों में आपके बालों के लिए भी फायदेमंद रहता है।
#7 सेब

लीवर के लिए सेब बहुत ही फायदेमंद है। एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर सेब से न केवल पाचनशक्ति मजबूत होती है बल्कि यह शरीर से विषाक्त पदार्थ को भी बाहर निकालता है। इसके अलावा सेब का रस आंतों के सूजन में लाभदायक है।
#8 ब्रोकोली

प्रोटीन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, क्रोमियम, विटामिन ए और विटामिन सी ये है ब्रोकली के स्रोत। इसमें मौजूद ग्लूककोसिनोलेट्स तत्वक लीवर में एंजाइम को पैदा करते हैं, जिसकी मदद से लीवर के अंदर की सफाई होती है। इसके अलावा हरी पत्तेदार सब्जिोयों का भी सेवन कर सकते हैं।
#9 ग्रीन टी

ग्रीन टी हृदय रोग होने की संभावनाओं को कम करने कोलेस्ट्राल को कम करने के साथ ही शरीर के वजन को भी नियंत्रित करने में सहायक सिद्ध होता है। ग्रीन टी में ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो लीवर से फ्री रेडिकल्सा को बाहर निकालने में मदद करता है।
#10 ब्लूबेरी और क्रैनबेरी

ब्लूबेरी और क्रैनबेरी दोनों में एंथोकायनिन और एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो जामुन को अपने विशिष्ट रंग देते हैं। ये कई स्वास्थ्य लाभों से भी जुड़े हुए हैं। कई अध्ययनों से पता चला है कि क्रैनबेरी और ब्लूबेरी का सेवन करने से लिवर को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं। इन फलों को 3-4 सप्ताह तक लेने से लिवर को क्षतिग्रस्त होने से सुरक्षित किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त, ब्लूबेरी में इम्यून सेल और एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम को बढ़ाने में मदद मिलती है। ब्लूबेरी और क्रैनबेरी को अपने आहार का हिस्सा बनाइए, जिसका आपका लिवर स्वस्थ्य रहे।
#11 अंगूर
अध्ययनों से पता चलता है कि अंगूर बहुत जिगर-अनुकूल भोजन हैं। अंगूर, विशेष रूप से लाल और बैंगनी अंगूर, में कई फायदेमंद यौगिक होते हैं। सबसे प्रसिद्ध एक रेस्वेराट्रोल है, जो कई स्वास्थ्य लाभ है। अध्ययनों से पता चला है कि अंगूर और अंगूर का रस लिवर को लाभ पहुंचा सकता है। अध्ययनों से पता चला है कि इससे सूजन कम करने, क्षति को रोकने और एंटीऑक्सिडेंट स्तर बढ़ने सहित विभिन्न लाभ मिल सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.