Header Ads

प्राइवेट पार्ट की बदबू से छुटकारा



ऐसे पाएं प्राइवेट पार्ट की बदबू से छुटकारा

पांच प्राकृतिक तत्वों से बनने वाला हमारा शरीर जिसको वक्त के साथ-साथ कई बीमारियां घेर लेती हैं। आपने देखा होगा कि महिला हो या पुरूष शरीर पर कोई चोट लगने पर या कोई बाहरी परेशानी होने पर डॉक्टर से उसका आसानी से इलाज करवा लेते हैं। लेकिन कई परेशानियां ऐसी होती हैं जिन्हें या तो वह इग्नोर कर देते हैं। या फिर किसी को भी बताने से हिचकिचाते हैं। लेकिन वक्त के साथ-साथ यह हिचकिचाहट उनकी इन छोटी सी बीमारी को बड़ा बना देती है। उन्हीं बीमारियों में से एक हैं वजाइनल ओडर। वजाइनल ओडर तो आप समझते होंगे, अगर नहीं समझते तो आपको बता दें इसका मतलब है प्राइवेट पार्ट से आने वाली बदबू। जो बैक्टीरिया, यीस्ट इन्फेक्शन, अनहाइजीनिक रहना, हार्मोनल चेजेंज और सेक्शुअल डिसीज जैसी कई वजहों के कारण हो सकती हैं। आज हम आपको इसी वजाइनल ओडर की परेशानी से निकालने के लिए कई उपाय लेकर आए हैं। हालांकि आजकल मार्केट में इन चीजों को दूर करने के लिए कई प्रोड्क्ट्स आ गए हैं। लेकिन फिर भी उनके सही होने का अभी तक कोई ठोस प्रमाण नहीं निकल पाया है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि आप कैसे इन घरेलू उपायों से इस बीमारी से बच सकते हैं।

सेब का सिरका
सेब का सिरके के बारे में तो आप सभी अच्छे से जानते होंगे। यह एक एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण, वजाइनल बदबू को दूर करने का कारगर उपाय है। आपको बता दें कि रोजाना नहाते वक्त इसका इस्तेमाल करने से इस बदबू को दूर किया जा सकता है। सेब के सिरके को पानी में मिलाकर नहाने से और रोज 1-2 चम्मच पीने से भी यह समस्या काफी हद तक दूर हो सकती है।

वाइट विनेगर
वाइट विनेगर के बारे में अक्सर बताया जाता है कि यह वजाइनल पीएच लेवल को सही रखने में काफी मदद करता है जिसका सीधा संबंध प्राइवेट पार्ट में होने वाली दुर्गंध से है। अगर आपको पीएच लेवल के ऊपर-नीचे होने की समस्या शुरू होती दिख रही है। तो इसे आप 1-2 कप पानी में मिलाकर नहाने से 1-2 हफ्ते में इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

दही
हमारे आसपास कई ऐसी चीजें होती हैं जिनके फायदों के बारे में हमें पता ही नहीं होता। इन्ही में से एक है दही। जो आजकल हर किसी में आसानी से मिल जाती है। दही के बारे में बताया जाता है की यह वजाइनल बदबू को दूर करने में बहुत ही फायदेमंद होती है। दही में मौजूद लैक्टोबेसिलस बैक्टीरिया, कैंडिडा इन्फेक्शन से लड़ते हैं और उसके पीएच लेवल को नॉर्मल रखते हैं। जिससे यह समस्या नहीं हो पाती। इसके लिए आपको सबसे पहले लंच हो या डिनर, दही को अपने खाने में शामिल करना चाहिए। इसके अलावा आप प्रोबॉयोटिक सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं।

बेकिंग सोडा
बेकिंग सोडा भी एक कारगर घरेलू नुस्खा है जो आपके बॉडी के पीएच लेवल को बैलेंस करता है जिससे वजाइनल ओडर जैसी परेशानियां दूर रहती हैं। आपको चाहिए की सबसे पहले नहाने के पानी में 1 कप बेकिंग सोडा मिलाएं और नहाने के बाद शरीर को अच्छे से पोंछे। इस प्रकार यह बदबू से दूर रखने में काफी सहायक है।

आंवला
बताया जाता है की वजाइनल ओडर की बदबू काफी भयंकर होती है। इससे तुरंत राहत पाने का सबसे असरदार इलाज है आंवला। ये एक नेचुरल बॉडी प्यूरीफायर के साथ ही ऑरगेनिक क्लींनजर के तौर पर भी जाना जाता है जो किसी भी तरह के इन्फेक्शन को पनपने से रोकता है साथ ही बदबू से भी निजात दिलाता है। वैसे आपको बता दें कि श्वेद प्रदर(ल्यूकोरिया) में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

नीम
जितना कड़वा उतना गुणकारी, नीम के बारे में अक्सर यह बात कही जाती है इसके कड़वे पत्तों में एंटी फंगल, एंटी बैक्टीरियल और एंटी वायरल का खजाना होता है। वैसे इसके पत्तों का इस्तेमाल कई तरह के रोगों के इलाज में किया जाता है साथ ही यह इन्फेक्शन और बदबू जैसे समस्या से भी छुटकारा दिलाता है।

लहसुन
अगर नेचुरल एंटी बॉयोटिक की बात कही जाए तो सबसे पहले लहसुन का नाम सामने आता है। जो न सिर्फ वजाइनल इन्फेक्शन को दूर करता है बल्कि इसकी बदबू को भी दूर करने में काफी मदद करता है। बताया जाता है की लहसुन में मौजूद एंटी फंगल गुण यीस्ट इन्फेक्शन से लडकर नुकसानदायक बैक्टीरिया को मारने का काम करते हैं।

टी-ट्री ऑयल
एंटीसेप्टिक और एंटी फंगल गुणों से भरपूर टी ट्री ऑयल भी इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। जो बहुत जल्द असर दिखाता है। इसके लिए आपको चाहिए की एक कप पानी में 3 बूंद टी ट्री ऑयल को मिलाएं और इसे रोजाना या हफ्ते में तीन से चार बार लोअर बॉडी पार्ट की सफाई करें। फिर देंखे कमाल…




जैसे पूरे शरीर की सफाई की जाती है वैसे ही अन्य हिस्‍सों की तरह प्राइवेट पार्ट की सफाई भी बहुत जरूरी है। पसीने और फंगल इफेक्‍शन की वजह से कई बार होता है कि प्राइवेट पार्ट कालेपन का शिकार हो जाते है। जो लोग स्विमिंग वियर पहनना पसंद करते हैं वो लोग बिकनी एरिया की सफाई और कालेपन को लेकर ज्‍यादा कॉन्शियस होते हैं। जरुरी नहीं है कि आप हर बार ब्‍यूटी पार्लर जाकर प्राइवेट पार्ट कि मसाज या ब्‍लीच करवाएं। घर बैठे भी घरेलू नुस्‍खों से प्राइवेट पार्ट का कालापन चुटकियों में दूर कर सकते हो। तो इन घरेलू नुस्‍खों से प्राइवेट पार्ट का कालापन दूर किया जा सकता है।

आप शहद चीनी और आधे नींबे का रस मिला कर प्राइवेट पार्ट पर 15 मिनट तक रब करें और उसके बाद पानी से धो लें। फिर देखिए इससे भी कालापन दूर हो जायेगा।

एक कप गर्म पानी में एक चम्‍मच ऐलोवेरा जेल मिला लें। फिर इसे कॉटन की मदद से प्राइवेट पार्ट पर लगाएं। 20 मिनट के बाद से गर्म पानी से धो डालें।

1 चम्‍मच हल्‍दी पाउडर में 2 चम्‍मच नींबू का रस और एक चम्‍मच दही मिलाएं। फिर इस पेस्‍ट को अपने योनि क्षेत्र पर लगाएं। 15 मिनट के बाद इसे साधारण पानी धो लें।
जैतून का तेल कालेपन वाले हिस्से पर लगाएं और आधा घंटा तक लगा रहने दें फिर बाद आधा नींबू काटकर उस पर नमक डालकर कालेपन वाले हिस्से पर रब करें और फिर 30 मिनट बाद गुलाब जल से साफ़ करें। यह प्रक्रिया हफ्ते मे 3 बार करने से कालापन दूर हो जाएगा।

बेसन में नींबू का रस, हल्दी, और दही मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को बनाने के बाद प्राइवेट पार्ट में लगाकर थोड़ी देर तक रब करें और 10 मिनट तक सूखने के लिए छोड़ दे। इसके बाद इस पेस्ट को ठंडे पानी से धो लें। इसके बाद बेकिंग सोड़ा लगाए बहुत ही जल्दी इसका असर दिखेगा।

पके हुए पपीते को शहद में मिलाकर प्राइवेट पार्ट पर लगाएं। शहद त्वचा में नमी प्रदान करता है और उसे मुलायम बनाता है। 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें।
आलू से भी प्राइवेट पार्ट का कालापन कम होता है। आलू में केटाकोलिस नामक एक एंजाइम होता है जो जल्द से जल्द काले धब्बो से राहत दिलाता है। हर रोज नहाने से पहले 10 मिनट तक बिकनी लाइन पर आलू का रस रगड़े। अगर आप आलू के रस के साथ नींबू के रस को मिलाते है तो कालापन जल्द ही दूर हो जाएगा।

फंगल इंफेक्‍शन होने पर नीम के पत्तों को पानी में उबालकर उसी पानी से गुप्त अंग की सफाई करे। नीम में मौजूद एंटीबैक्‍टीरियल गुण सभी तरह के इंफेकशन को दूर करता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.