Header Ads

विटामिन सी :


विटामिन सी : फायदे, स्रोत, नुकसान और खाद्य पदार्थ


विटामिन सी हमारे शरीर की कोशिकाओं और अंगों को एक दूसरे के साथ जोड़ने में मदद करता है। शरीर में इसकी कमी से स्कर्वी जैसी जानलेवा बीमारी हो सकती है।

हमारे शरीर को भरपूर मात्रा में विटामिन सी मिले इसलिए यह जरूरी है कि हमारे भोजन में इसकी पर्याप्त मात्रा मौजूद रहे। चूंकि हमारे शरीर में विटामिन सी नहीं बनता है, इसलिए हम बाहरी खाद्य पदार्थों के जरिये ही इसे ग्रहण कर सकते हैं।

इस लेख के जरिये हम विटामिन सी से हमारे शरीर को होने वाले फायदे, इसकी कमी से होने वाले रोग और इसे ग्रहण करने के लिए आवश्यक खाद्य पदार्थों के बारे में चर्चा करेंगे।




विटामिन सी के फायदे (vitamin c benefits in hindi)
विटामिन सी के स्रोत (source of vitamin c in hindi)
विटामिन सी की कमी से होने वाले रोग (deficiency of vitamin c in hindi)
विटामिन सी खाद्य पदार्थ (vitamin c foods in hindi)
विटामिन सी की गोली (vitamin c tablets benefits in hindi)
विटामिन सी के फायदे (vitamin c benefits in hindi)

सुन्दर और निखरी त्वचा
हमारी त्वचा की कोशिकाओं में एक बहुत जरूरी पदार्थ मौजूद होता है, जिसे कोलाजेन कहते हैं। कोलाजेन हमारी त्वचा कोशिकाओं को पोषकता प्रदान करता है, जिससे त्वचा स्वस्थ रहती है। विटामिन सी की कमी होने से कोलाजेन की भी शरीर में कमी हो जाती है। इसलिए सुन्दर त्वचा के लिए यह जरूरी है, कि हम लगातार विटामिन सी युक्त भोजन का सेवन करें।
प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत करना

हमारा शरीर हर समय बाहरी कीटाणुओं के संपर्क में रहता है और ऐसे में इनसे फैलने वाले रोगों का खतरा बना रहता है। शरीर में मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली अथवा इम्यून सिस्टम के होने से शरीर का विभिन्न रोगों से बचाव रहता है। भरपूर मात्रा में विटामिन सी का सेवन करने से हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है, और खांसी-जुकाम जैसी बिमारियों से हमारा बचाव रहता है।

खून के बहाव को रोकना

विटामिन सी की कमी से शरीर में संयोजी ऊतक अथवा कनेक्टिव टिश्यू की कमी हो जाती है। इस हालत में शरीर में मौजूद खून के बहाव को रोक पाना मुश्किल हो जाता। यदि हमें किसी तरह की चोट लग जाती है, तो बड़ी मात्रा में खून बहने का खतरा रहता है। पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी की मौजूदगी में खून के बहाव को रोका जा सकता है और किसी भी तरह के घाव को जल्द ठीक किया जाता है।

दिल के दौरे से बचाव
एक शोध के जरिये यह सिद्ध हुआ है कि जिन लोगों के शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी नहीं है उनको दिल के दौरे का खतरा 42 फीसदी तक बढ़ जाता है। इसका कारन भी शरीर में संयोजी ऊतक की कमी होना है। इससे बचाव के लिए यह जरूरी है कि आप पर्याप्त मात्रा में फल और सब्जियों का सेवन करें।

सम्पूर्ण विकास

शरीर के सम्पूर्ण विकास के लिए यह जरूरी है कि हमारा प्रत्येक अंग मजबूत रहे। अंगों को मजबूत रखने के लिए उनमे मौजूद ऊतकों को मजबूत रहना होगा। विटामिन सी की मौजूदगी में अंगों में मौजूद संयोजी ऊतक पर्याप्त मात्रा में रहता है जो आपके अंगों के सम्पूर्ण विकास में मदद करता है। आपको बता दें कि आपके बालों से लेकर हर एक अंग में संयोजी ऊतकों की जरूरत रहती है।
विटामिन सी के स्रोत (source of vitamin c in hindi)

हमारा शरीर प्राकृतिक रूप से विटामिन सी का उत्पादन नहीं करता है। इसलिए यह जरूरी है कि हम सारा विटामिन बाहरी खाद्य पदार्थ और अन्य साधनों के जरिये ग्रहण करें।

मुख्यतः फलों और सब्जियों के जरिये विटामिन सी ग्रहण किया जा सकता है। रेशा अथवा फाइबर युक्त फलों के सेवन करने से आपको भरपूर मात्रा में विटामिन सी मिल सकता है। इसके अलावा पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना भी बहुत जरूरी है।
यदि किसी कारण से भोजन के जरिये आपको विटामिन सी नहीं मिलता है, तो आप दवाइयों और कैप्सूल के जरिये भी इसे पा सकते हैं।
विटामिन सी की कमी से होने वाले रोग (deficiency of vitamin c in hindi)

विटामिन सी की कमी से मुख्य रूप से जो बीमारी होती है, वह है – स्कर्वी। स्कर्वी के दौरान शरीर में मौजूद कोलेजन की कमी हो जाती है जिससे कोशिकाएं एक-दूसरे से जुडी नहीं रह पाती हैं। इस स्थिति में शरीर से लगातार अनियंत्रित मात्रा में खून का बहाव शुरू हो जाता है।

इसके अलावा मसूड़ों में सूजन आ जाता है एवं इनसे खून भी बहने लगता है। मसूड़ों के अलावा दांतों में भ्ही कमजोरी महसूस होती है जिनसे इनकी जड़ों में दर्द होने लगता है।

शरीर के अन्य भाग जैसे बाल, त्वचा, जोड़ आदि में लगातार सूजन की शिकायत हो जाती है। यदि बड़ी मात्रा में कोलेजन की कमी हो जाती है, तो बाल अनियंत्रित रूप से झड़ने लगते हैं और त्वचा रूखी हो जाती है।
विटामिन सी खाद्य पदार्थ (vitamin c foods in hindi)
जैसा कि हमने ऊपर चर्चा की कि विटामिन सी को पूरी तरह से बाहरी खाद्य पदार्थों के जरिये ही ग्रहण किया जा सकता है। इसके लिए फाइबर युक्त फलों और सब्जियों का सेवन बहुत जरूरी है।

फलों में सेब, आम, स्ट्रॉबेरी, संतरा, कीवी, निम्बू आदि का सेवन करना बहुत जरूरी है। आप इनका सेवन हर रोज भी कर सकते हैं। सब्जियों में हरी सब्जियां जैसे, ब्रोकोली, गोभी, पालक, आलू, टमाटर इत्यादि का सेवन करना बहुत जरूरी है। इसके अलावा पौष्टिक सलाद का सेवन करना भी बहुत जरूरी है।
विटामिन सी की गोली (vitamin c tablets benefits in hindi)विटामिन सी गोली

भोजन के अलावा विटामिन सी को दवाइयों के रूप में भी ग्रहण किया जा सकता है। विटामिन सी की गोलियां बाजार में आसानी से मिल जाती हैं। विटामिन सी की गोली के फायदे अनेक हैं। इन्हे निरंतर लेने से शरीर में विटामिन की कमी नहीं होगी।
लाइमसी नामक गोली विटामिन सी से भरपूर होती है। ऑरेंज फ्लेवर में मौजूद लाइमसी गोली को रोजाना लेने से शरीर में कोलेजन की कमी नहीं होगी। डॉक्टर से परामर्श कर इसे रोजाना लें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.