Header Ads

घास पर नंगे पैर मॉर्निंग वॉक करने से होते हैं कई फायदे

घास पर नंगे पैर मॉर्निंग वॉक करने से होते हैं कई फायदे

हमारा शरीर लाखों-करोड़ों सेलों के मिलने से बना हैं और सांस में ऑक्सीजन लेने से ये सेल्स रिचार्ज होने लगते हैं। इस तरह सांस लेते रहना जीवन के लिए जरूरी हैं। उसी तरह हमारे पैरों को भी खुला रखना जरूरी हैं। हार्ट के द्वारा पंप किए गए ऑक्सीजन युक्त शुद्ध ब्लड की अधिक मात्रा ब्रेन की तरफ जाती हैं और पैरों की तरफ कुछ कम। जिंदगी के इस भाग-दौड़ में हम कई बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं, क्योंकि हम अपने स्वास्थ्य पर ध्यान ही नहीं दें पाते हैं। ऐसे में नंगे पैर घास पर मॉर्निन वॉक करके हम अपने कई रोगों को दूर कर सकते हैं। इस तरह हम प्रकृति के भी निकट आते हैं और साथ ही साथ इससे हमारी कसरत भी हो जाती हैं। आइए जानते हैं घास पर नंगे पैर चलने के फायदों के बारे में।
1. दर्द दूर करें (Remove the pain)-
घास पर नंगे पैर चलने से मांसपेशियों की कसरत हो जाती हैं। इससे स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्या दूर हो जाती हैं, जैसे- पैरों का दर्द, घुटनों का दर्द आदि। इसके अलावा कमर में दर्द, घुटनों में खिचाव जैसी समस्या से भी बहुत राहत मिलती हैं।
2. तनाव दूर करें (release stress)-
घास पर नंगे पैर चलने से तनाव दूर होता हैं। इसके अलावा यह शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को भी बढ़ाता हैं और पैरों का निचला हिस्सा मजबूत बनता हैं, इसलिए हमें शरीर को रोग मुक्त रखने के लिए घास पर नंगे पैर चलना चाहिए।

3. प्रकृति से जुड़ाव (Nature engagement)-

जिंदगी की भागदौड़ में हम कई बीमारियों से जूझते हैं, क्योंकि इस दौरान हम अपने स्वास्थ्य पर ध्यान ही नहीं देते पाते हैं, इसलिए जब भी बाहर जाएं तो नंगे पैर जाएं, क्योंकि इससे आप सूरज की किरणों और धरती को पूरी तरह महसूस कर सकेंगे। ऐसा करने से आप प्रकृति से भी जुड़े रहते हैं।
4. आंखों की रोशनी के लिए फायदा (Advantage of eyelash)-
सुबह घास पर नंगे पैर चलने से आंखों की रोशनी भी बढ़ती हैं। जिससे हमारी आंखों की कई समस्याएं खुद-ब-खुद दूर हो जाती हैं।


वजन कम करने के लिए उपयोग में लाएं ये प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ

https://www.healthsiswealth.com/

अक्सर देखा जाता है कि वजन के बढ़ते ही लोगों काफी परेशान हो जाते हैं और इस वजन को कम करने के लिए नए-नए रास्ते खोजने लगते है। लोग दिन रात एक्ससाईज व कड़ी मेहनत के बावजूद भी अपने वजन को स्थिर नहीं रख पाते हैं। पर आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके के बारे में बता रहें हैं जिसका प्रयोग करके आप अपने वजन को ही नियंत्रित नहीं करेंगे, बल्कि अपका स्वास्थ्य भी ठीक हो जाएगा। हमारे द्वारा बताए जाने वाले आहार आपके वजन को कम करने में एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं। इसके अलावा इसमें पाए जानें वाला प्रोटीन मांसपेशियों को मजबूत बनाता है और अतिरिक्त वसा के निर्माण को कम करने में मदद भी करता है। आज हम नीचे कुछ प्रोटीनयुक्त 7 प्राकृतिक स्रोतों वाले आहारों के बारे में बता रहें हैं जो आपके वजन को तेजी के साथ कम करने में मदद करेंगे।
1. बादाम –
यदि आप अपने वजन को कम करना चाहती हैं तो अपने आहार में बादाम के सेवन को शामिल कर लें। बादाम शरीर को स्वस्थ रखने के साथ आपके वजन को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। एक बादाम में कम से कम 1. 3 ग्राम प्रोटीन की मात्रा पाई जाती है। इसमें फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। जो आपके शरीर की पाचन क्रिया को मजबूत बनाता है। इसके सेवन करने से आप दिन भर ताजगी और स्फूर्ति को महसूस करेंगी।


2. ब्रोकोली-
ये बात हम सभी जानते हैं कि हरी सब्जियां हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती हैं। इन्हीं सब्जियों मे से एक ब्रोकोली है, जिसमें अनेक पोषक तत्वों की मात्रा होती है। इसमें विटामिन बी 1, ओमेगा -3 फैटी एसिड, और मैग्नीशियम जैसे तत्वों की भरपूर मात्रा पाई जाती हैं। मात्र 1 ब्रोकोली का सेवन करने से आपको 5 ग्राम प्रोटीन मिल सकता है। है। इसके सेवन करने के लिए आप इसे उबालकर इसमें नमक और हर्बस को मिलाकर इसका सेवन रोज करें, आपको जल्द ही बढ़े वजन से छुटकारा मिलने लगेगा।
3. काबुली चने-
चने कोई भी हो इनमें प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाई जाती है। एक कप काबुली चने में कम से कम 40 ग्राम प्रोटीन पाया जा सकता है। अध्ययनों के मुकाबित यह बात साबित हुई है कि चनें का सेवन हमारे वजन को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए इसका सेवन आपको रोज नाश्ते के रूप में करना चाहिए। यदि आप इसें स्वादिष्ट और सेहतमंद बनाना चाहती हैं तो इसमें प्रोटीनयुक्त सब्जियों को डालकर सलाद के रूप में भी खा सकती हैं।

4. नारियल –
नारियल प्रोटीन का सबसे बड़ा स्रोत है इसका उपयोग आपको रोज करना चाहिए। नारियल का पानी या नारियल के अंदर का गूदे में 8 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है। इसके अलावा नारियल में एमिनो एसिड, थ्रिऑनीन पाया जाता है, जो हमारे हार्ट को मजबूती प्रदान करने में सहायक होता है।

5. पनीर-
शाकाहारियों के लिए चिकन या मांस की अपेक्षा पनीर का सेवन करना सबसे अच्छा विकल्प माना गया है। पनीर हमारी सेहत को स्वस्थ रखता है। आप 100 ग्राम पनीर से 11 ग्राम प्रोटीन प्राप्त कर सकती हैं। आप से घर पर ही बनाकर इसका उपयोग कर सकती है, ये हमारे शरीर के लिए सबसे फायदेमंद तत्व माना गया है।
6. अंडे –
अंडे का सेवन हर किसी के लिए सबसे अच्छा उपचार माना गया है। ये हमारे शरीर के वजन को कम करने के साथ ही शरीर को सेहत मंद बनाता है। इसका सेवन करने से शरीर में पूरे दिन ताजगी और स्फूर्ति बनी रहती है। अंडे में विटामिन बी 2, विटामिन डी, विटामिन बी 12, आयोडीन और सेलेनियम के साथ ही प्रोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है। जो शरीर के विकास में मदद करती है। जो लोग कसरत करते है उनके लिए अंडे का सेवन करना वरदान के समान है।

7. मसूर की दाल-
हमारे शरीर के विकास के लिए दाल का सेवन करना काफी आवश्यक है, इसमें प्रोटीन्स की भरपूर मात्रा पाई जाती है, इसलिए इसका सेवन आपको रोज करना चाहिए। इसका सेवन करने से शरीर हष्टपुष्ट बनाता है। इसलिए बचपन से ही माताएं अपने बच्चों को दाल का सेवन कराने लगती है। एक कप पकी हुई दाल में 18 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है। इसमें कैलोरी बहुत कम होती है। इसके अलावा दाल में प्रोटीन के साथ-साथ पोटेशियम, मैग्नीशियम, फोलेट, लोहा, मैंगनीज और तांबे जैसे खनिज तत्व पाए जाते हैं।


शरीर में हो रही प्रोटीन की कमी को इस तरह से पहचानिये


शरीर को स्वस्थ बनाएं रखने के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी होता हैं, यदि प्रोटीन की कमी हुई तो हमें कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता हैं, जिस वजह से थकान और कमजोरी महसूस होने लगती हैं। वैसे हमारे शरीर की मांसपेशियों के लिए भी प्रोटीन की बहुत जरूरत होती हैं। अगर आप डायबिटीज, मोटापा आदि की समस्या से परेशान हैं तो एक निश्चित मात्रा में प्रोटीन लेने से इस समस्या को कंट्रोल किया जा सकता हैं। आइए जानते हैं शरीर में हो रही प्रोटीन की कमी को किस तरह से पहचान सकती हैं…

1. भूख और थकान (Hunger and fatigue)-


अगर आपके शरीर में प्रोटीन की कमी हो तो आप अनहेल्दी और नॉन नूट्रिशनल फूड्स का सेवन ना करें। इसके अलावा पास्ता, चॉकलेट, कैंडी, कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन करना बंद कर दें, क्योंकि इनमें शुगर की मात्रा ज्यादा होती हैं। जिस वजह से थकान महसूस होती हैं।
2. शारीरिक दर्द (physical pain)-

सिर दर्द का कारण प्रोटीन की कमी से होती हैं। शरीर के ब्लड में शुगर की कमी और एनीमिया सिर दर्द का कारण हो सकता हैं। इनसे बचाव के लिए अपने आहार में प्रोटीन की मात्रा को बढ़ा दें।


3. हीमोग्‍लोबिन की कमी (Hemoglobin deficiency)-

व्हाइट ब्लड़ सेल्स की संख्या कम होने का कारण प्रोटीन की कमी होता है, जिस वजह से आपके हीमोग्‍लोबिन में भी कमी आ सकती हैं।
4. डलनेस (Dullness)-

चेहरे के सैंदर्य और स्वास्थ्य दोनों को ठीक रखने के लिए प्रोटीन का सेवन करना आवश्यक हैं। यदि आप सही से अपने आहार में प्रोटीनका सेवन नहीं करेंगी तो आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ सकता हैं।


कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.