Header Ads

पोटैशियम की कमी के 8 बड़े संकेत,

पोटैशियम की कमी के 8 बड़े संकेत, जिसे आप भी करते हैं नजरअंदाज
https://www.healthsiswealth.com/


पोटेशियम की कमी को दूर करने के उपाय : स्वस्थ रहने के लिए आयरन, मिनरल्स, विटामिन और कैल्शियम आदि सभी बहुत जरुरी होते हैं, जिसमें से एक पोटैशियम भी है। शरीर में पोटैशियम की कमीको हाइपोक्लेमिया कहा जाता है। स्वस्थ रहने और बीमारियों से बचने के लिए हर किसी के शरीर को रोजाना रोजाना 47000 मिलीग्राम पोटैशियम की जरूरत होती है। क्योंकि पोटैशियम दिल, दिमाग और मांसपेशियों की कार्यप्रणाली को सुचारू ढ़ग से चलाने में मदद करता है। शरीर में पोटैशियम की कमी से हाइपोकैलीमिया और मानसिक रोग होने का खतरा सबसे ज्यादा बढ़ जाता है। ऐसे में आज हम आपको इसकी कमी के कुछ ऐसे संकेत बताएंगे, जिस पहचानकर आप पोटैशियम की कमी को पूरा कर सकते हैं।

पोटैशियम की कमी के लक्षण
1. कमजोरी 
पोटैशियम की कमी के कारण शरीर में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे शरीर में सुस्ती, थकान और कमजोरी महसूस होने लगती है।


https://www.healthsiswealth.com/
2. तनाव
अधिक तनाव या डिप्रैशन का होना भी पोटैशियम की कमी का संकेत होता है। इतना ही नहीं, पोटैशियम की कमी से होने वाला तनाव मानसिक समस्याओं का कारण भी बन सकता है।


3. अनिद्रा की समस्‍या
अगर आपके शरीर में भी पोटैशियम की कमी है तो आपको नींद न आने की समस्या हो सकती है। ऐसे में अनिद्रा की समस्या होने पर डॉक्टर से चेकअप करवाएं।


4. उल्‍टी और दस्‍त
शरीर में पोटैशियम की कमी होने पर उल्टी और दस्त की समस्या भी हो सकती है। क्योंकि इसकी कमी होने पर पाचन तंत्र में गड़बड़ी हो जाती है, जिससे उल्टी और दस्त होने लगते हैं।


5. त्‍वचा में बदलाव
इसकी कमी का असर त्वचा पर दिखाई देती है। इसलिए पोटैशियम की कमी होने पर त्‍वचा रूखी और खुश्‍क हो जाती है और आपको पसीना भी अधिक आने लगता है।


6. लगातार थकान बनी रहना
शरीर में पोटैशियम की कमी का एक बड़ा लक्षण थकान भी होता है। इसकी कमी के कारण आप थोड़ा करने के बाद या चलने के बाद थक जाते हैं। दरअसल, शरीर में मौजूद कोशिका को काम करने के लिए पोटैशियम और खनिज लवणों की जरूरत होती है लेकिन इसकी पूर्ति न हो पाने पर शरीर में थकान होने लगती है।

https://www.healthsiswealth.com/

7. मूड स्विंग होना
जब शरीर में इसकी मात्रा कम होने लगती है तो ये दिमाग के काम करने की क्षमता को भी प्रभावित करता है। इससे आपको मूड स्विंग यानि विचारों में अजीब बदलाव होने लगते हैं।


8. ब्लड प्रैशर का बढ़ना या कम होना
पोटैशियम दिल को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करता है। इसके साथ ही ये शरीर में सोडियम की मात्रा को कम बनाए रखने के साथ-साथ ब्‍लड प्रैशर को भी कंट्रोल करता है। ऐसे में इसकी कमी होने पर ब्लड प्रैशर का बढ़ना या कम होने जैसी प्रॉब्लम हो सकती है।


https://www.healthsiswealth.com/
पोटैशियम युक्त आहार
शरीर में इसकी कमी पूरा करने के लिए पोटैशियम युक्‍त चीजों का सेवन करें। इसके लिए आप हरी सब्जियों जैसे पालक, ब्रोकली, आलू, गाजर आदि का सेवन करें। इसके अलावा बींस, कद्दू के बीज, साबुत अनाज, डेयरी उत्‍पाद, मांस, मछली में भी पोटैशियम की भरपूर मात्रा होती है। केला, संतरा, एप्रिकॉट, अवोकेडो और स्ट्राबेरी जैसे फूट्स भी शरीर में पौटेशियम की कमी को पूरा करते हैं।


पोटैशियम की कमी दूर करने के लिए खाएं ये आहार

https://www.healthsiswealth.com/
अगर आपकी भोजन शैली भी भारत के ज्यादातर लोगों की तरह है तो आपको आहार से भरपूर पोटैशियम नहीं मिल पाटा होगा। कैल्शियम और सोडियम की तरह ही पोटैशियम भी एक बेहद महत्वपूर्ण खनिज है जिसकी ज़रूरी मात्रा लेना आपको सेहतमंद रखने के लिए ज़रूरी है।

आइये जानें पोटैशियम को पर्याप्त मात्रा में लेने के लिए आप किन आहारों को ले सकते हैं-

केले, संतरे, खरबूजा, खुबानी, चकोतरा आदि में भरपूर पोटैशियम होता है। साथ ही किशमिश, खजूर आदि सूखे मेवों में भी भरपूर पोटैशियम पाया जाता है।

पकी पालक, ब्रोक्कोली, आलू, मीठे आलू, मशरुम, मटर, ककड़ी, तुरई, बैगन, कद्दू, हरी पत्तेदार सब्जियों से आप पर्याप्त पोटैशियम पा सकते हैं।

पोटैशियम से भरपूर फलों के जूस लेना भी अच्छा विकल्प है-
संतरा का रस
टमाटर का रस
बेर का रस
खुबानी का रस
खरबूजे का रस

https://www.healthsiswealth.com/
दूध से बने पदार्थ, जैसे दही और पनीर, भी पोटैशियम का अच्छा स्रोत हैं। आप इनके लो फैट या फैट फ्री विकल्प चुन सकते हैं।

कुछ मछलियों में भी पोटैशियम पाया जाता है-

टूना
हलिबेट
कॉड
ट्राउट

रॉकफिश

नीचे दी गयी दालों में भरपूर पोटैशियम होता है-
लिमा
पिंटू
राजमा
सोयाबीन
सभी दालें

कुछ अन्य आहारों से भी आप पोटैशियम पा सकते हैं-
नमक के विकल्प
गुड़
मेवे
मीट
ब्राउन राइस
चोकर का आहार
मोटा अनाज

आपको कितने पोटैशियम की ज़रूरत है?

आपको रोजाना 4700 मिलीग्राम पोटैशियम की ज़रूरत है। अगर आपको किडनी का रोग है तो आपको इससे कम पोटैशियम लेना चाहिए। इस बारे में अपने चिकित्सक से चर्चा करने के बाद ही पोटैशियम युक्त आहार लें।

पोटैशियम की ज़रूरत क्यों है?

पोटैशियम संतुलित रक्तचाप के लिए बेहद ज़रूरी है। किडनी की मदद से पोटैशियम शरीर से अत्यधिक सोडियम को बहर कर देता है। साथ ही यह आपकी रक्त वाहिकाओं को आराम देता है जिससे ह्रदय रोग की सम्भावना कम हो जाती है।

पोटेशियम की कमी को दूर करने में मदद करेंगे यह फूड्स

https://www.healthsiswealth.com/


https://www.healthsiswealth.com/

पोटेशियम हमारे शरीर के लिए काफी आवश्यक है. इसकी कमी से हमारे शरीर को मसल्स पैन, ख़राब डाइजेसन, कब्ज़, हार्ट डिसीज जैसी कई स्वस्थ्य संबंधी परेशानी का सामने करना पड़ सकता है. इससे निजात दिलाने के लिए आज हम आपको कुछ ऐसे फलो के बारे में बताने जा रहे है. जो आपके शरीर से पोटेशियम की कमी को दूर कर आपको स्वस्थ्य बनाए रखने में मददगार होंगे.

शकरकंद - एक मध्यम साइज शकरकंद में करीब 695 मिग्रा पोटेशियम पाया जाता है. जो आपको इसकी कमी से होने वाले स्वस्थ्य नुकसानों से बचाने में मदद करता है.


केला - केले में 400 मिग्रा तक पोटेशियम पाय जाता है. जिससे हमारे शरीर को कई फायदे होते है.

आलू - एक आलू में 413 मिग्रा पोटेशियम पाया जाता है. जो हमारे शरीर से इसकी कमी को पूरा करने में काफी सहायक होता है.

खजूर - खजूर भी आपके शरीर से पोटेशियम की कमी को दूर करने में मदद करता है. करीब आधा कप खजूर में 580 मिग्रा पोटेशियम पाया जाता है.


https://www.healthsiswealth.com/


पोटेशियम की कमी से हो सकती हैं ये बीमारियां, समय रहते करें समाधान, वरना भुगतना पड़ेगा बुरा परिणाम

हमारे शरीर के लिए पोटेशियम बहुत ही आवश्यक है अगर हमारे शरीर में पोटेशियम की कमी हो जाए तो हमें कई बीमारियां लगने की संभावना रहती है परंतु अगर पोटेशियम की अधिक मात्रा हो जाए तो वह भी हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक साबित होता है इन्हीं सब वजह से हमारे शरीर में पोटेशियम की मात्रा सामान्य रहनी चाहिए हमारे शरीर के विभिन्न अंगों को सही प्रकार से कार्य करने के लिए शरीर में पर्याप्त मात्रा में पोटेशियम जैसे खनिज पदार्थ का होना बहुत ही जरूरी होता है दिल को सही प्रकार से कार्य करने और पाचन क्रिया को ठीक करने हमारी हड्डियों और मांसपेशियों के संकुचन को रोकने के लिए पोटेशियम का होना बहुत ही आवश्यक है पोटेशियम की संतुलित मात्रा बनाए रखने के लिए खून में सोडियम और मैग्नीशियम की मात्रा पर निर्भर होता है परंतु आहार में सोडियम की मात्रा अधिक पाई जाती है जिसे संतुलित रखने के लिए पोटेशियम की आवश्यकता होती है अगर हमारे शरीर में पोटेशियम की कमी पाई जाती है तो इसके बहुत से संकेत नजर आते हैं।


आज हम आपको इस लेख के माध्यम से पोटेशियम की कमी से आपके शरीर में क्या क्या लक्षण नजर आते हैं इसकी जानकारी देने वाले हैं।


कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.