Header Ads

भूलकर भी पीरियड्स के दौरान न करें ये 7 गलतियां, पड़ सकता है पछताना




भूलकर भी पीरियड्स के दौरान न करें ये 7 गलतियां, पड़ सकता है पछताना


ज्यादातर महिलाएं माहवारी के समय परेशान रहती हैं. सिरदर्द, बदनदर्द, ब्‍लीडिंग, नींद न आना जैसी कुछ आम परेशानियां उनकी तकलीफ का कारण होती है. इसकी वजह से उनका डेली रूटीन डिस्‍टर्ब हो जाता है. पर क्या आप जानते हैं सही जानकारी के अभाव में कई बार महिलाएं इस समय पैड,डाइट या पेनकिलर से जुड़ी कई ऐसी गलतियां कर बैठती हैं जिसका असर उनकी सेहत पर पड़ने लगता है. आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ गलतियों के बारे में जिसे पीरियड्स के दौरान भूलकर भी नहीं करना चाहिए. 


पेनकिलर 

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए महिलाएं अक्सर पेनकिलर का सहारा लेती हैं. ऐसा करना आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है. अमेरिकन नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार पीरियड्स के दौरान ली जाने वाली पेनकिलर आपकी सेहत के लिए बेहद हानिकारक होती है. इस तरह की दवा का सेवन करने से आपके शरीर से अच्छे बैक्टीरिया भी खत्म हो जाते हैं. इसकी वजह से महिला को हार्ट अटैक,अल्सर, किडनी, लीवर और आंत से संबंधी दिक्कतें हो सकती है. इस दर्द से निजात पाने के लिए घरेलू उपचार अपनाएं. 



परफ्यूम का इस्‍तेमाल

अक्‍सर लड़कियां पीरियड्स के दौरान ब्लड से आने वाली बदबू को खत्म करने के लिए परफ्यूम का इस्‍तेमाल करने लगती है. आपको बता दें, ऐसा करने से आपको यीस्‍ट इंफेक्‍शन के साथ कई अन्य इंफेक्‍शन का खतरा भी बढ़ जाता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि परफ्यूम में सिंथेटिक और दूसरे केमिकल मौजूद होते है जो आपकी स्किन को नुकसान पहुंचाते हैं


खाना छोड़ना हो सकता है खतरनाक
पीरियड्स के दौरान ये बहुत जरूरी है कि आप पर्याप्त मात्रा में भोजन करें. इस समय किसी भी कारण से खाना छोड़ना सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है. याद रखें इस समय शरीर बेहद कमजोर होता है, ऐसे में खाना छोड़ना भारी पड़ सकता है. कोशिश करें कि आप जो भी आहार लें वो पौष्ट‍िक ही हो. 



नैपकिन को लेकर लापरवाही
कई बार आलस तो कई बार विज्ञापनों में पैड को लेकर किए गए कई लुभावने दावों के चक्कर में पड़कर महिलाएं लंबे समय तक एक ही पैड का इस्‍तेमाल करती है. पीरियड्स के दौरान ये बहुत जरूरी है कि आप हर तीन घंटे पर सैनेटरी नैपकिन बदलती रहें. इससे आप संक्रमण से सुरक्षित रहेंगी. साथ ही दुर्गंध की समस्या भी नहीं होगी. 



रेयान कॉटन पैड का इस्‍तेमाल

अक्सर महावारी के दौरान यूज किए जाने वाले अधिकतर पैड रेयान, कॉटन या दोनों से मिलकर बने होते हैं. लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इसमें हानिकारक केमिकल्स और पेस्‍टीसाइड का इस्‍तेमाल किया जाता है. जिसका बुरा असर महिलाओं की फर्टिलिटी पर असर पड़ता है. एफडीए की मानें तो 'इसमें मौजूद डाइऑक्सिन वजाइना के टिश्यू पर गलत असर डालता है. हमेशा ऑर्गेनिक कॉटन से बने पैड का ही इस्‍तेमाल करना चाहिए.


एक्‍सरसाइज से परहेज

पीरियड्स के समय महिलाएं अक्सर सुस्त हो जाती हैं. ऐसे में वो हल्की-फुलकी कसरत करने से भी परहेज करने लगती हैं. लेकिन आपको बता दें, पीरियड्स के दौरान एक्‍सरसाइज जरूर करनी चाहिए. ऐसा करने से आपके शरीर से पसीने के रूप में सारे टॉक्सिन बाहर निकल जाते हैं



असुरक्षित संबंध
कई महिलाओं को लगता है कि पीरियड्स के दौरान उनके गर्भवती होने की संभावना खत्म हो जाती है. लेकिन ऐसा नहीं है. इस दौरान भी गभर्वती होने की संभावना बनी रहती है. इसके अलावा संक्रमण से बचने के लिए भी इस दौरान संबंध बनाने से परहेज करना चाहिए

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.