Header Ads

कमर का साइज़ बढ़ने से हो सकती हैं ये 5 गंभीर बीमारियां


कमर का साइज़ बढ़ने से हो सकती हैं ये 5 गंभीर बीमारियां



पेट और कमर के आस पास वाले हिस्से में बढ़ता मोटापा न सिर्फ आपके लुक को ख़राब करता है बल्कि यह कई तरह की बीमारियों को भी बढ़ावा देता है। अगर आप इसे ऐसे ही अनदेखा करते रहे तो यकीन मानिये कुछ ही दिनों में आप किसी न किसी गंभीर बीमारी की चपेट में होंगे। आइये जानते हैं कमर के बढ़ते मोटापे से आपको कौन कौन सी बीमारियां हो सकती हैं।



डायबिटीज: जिन लोगों के शरीर का वजन कम या नार्मल होता है अगर उनके कमर का साइज़ ज्यादा होने लगता है तो ऐसे लोगों में टाइप-2 डायबिटीज होने का खतरा ज्यादा रहता है। ये खतरा पुरुषों की तुलना में महिलाओं को ज्यादा होता है। पुरुषों में जो लोग सिगरेट और अल्कोहल का ज्यादा सेवन करते हैं उनमें टाइप-2 डायबिटीज का खतरा ज्यादा रहता है।


कैंसर: जर्नल कैंसर रिसर्च में साल 2016 में प्रकाशित एक शोध के अनुसार ऐसे लोग जिनका बीएमआई इंडेक्स ज्यादा हो और वे टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित हों उनमें लीवर कैंसर होने का खतरा बहुत ज्यादा रहता है। इस शोध के अनुसार वेस्ट साइज़ में 5 सेमी की बढ़ोतरी लीवर कैंसर के खतरे को 8% ज्यादा कर देती है।



सेक्स पॉवर कमजोर होना : वास्तव में तोंद निकले हुए लोगों की सेक्स लाइफ बहुत ही बुरी होती है। अमेरिकन जर्नल ऑफ़ मेडिसिन में साल 2016 में प्रकाशित एक शोध के अनुसार मेनोपॉज के बाद अधिक वेस्ट साइज़ वाली महिलाओं में सेक्सुअल एक्टिविटी बिल्कुल ही कम हो जाती है।
5/6

कोरोनरी आर्टरी डिज़ीज: आपके कमर का बढ़ता साइज़ आपके हार्ट के लिए भी बहुत नुकसानदायक है। उम्रदराज़ महिलाओं में जिनके कमर का मोटापा तेजी से बढ़ रहा है उनमें कोरोनरी हार्ट डिज़ीज का खतरा काफी ज्यादा रहता है। खासतौर पर मेनोपॉज के दौर से गुज़र चुकी महिलाओं में इन बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।


लीवर से जुड़ी बीमारी: अगर हम नॉन-अल्कोहलिक फैटी लीवर डिज़ीज की बात करें तो इस मामलें में वजन बढ़ने से ज्यादा कमर के साइज़ का बढ़ना आपके लिए ज्यादा नुकसानदायक होता है। इसके अलावा कमर का साइज़ बढ़ने से आपको कई अन्य तरह की कार्डियोवैस्कुलर डिज़ीज भी हो सकती है।


कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.