Header Ads

अच्छी सेहत के लिए विटामिन डी युक्त भोजन –


अच्छी सेहत के लिए विटामिन डी युक्त भोजन – 




Vitamin D rich food in Hindi विटामिन डी एक ऐसा खनिज लवण है जो वसा में आसानी से घुल जाता है और यह हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को सही तरीके से काम करने, कोशिकाओं के ज्यादा विकास को रोकने एवं हड्डियों के विकसित होने में सहायता करने के लिए बेहद जरूरी होता है। विटामिन डी को सनसाइन विटामिन भी कहते हैं क्योंकि जब हम धूप में होते हैं हमारे शरीर में अपने आप विटामिन डी पैदा हो जाता है। विटामिन डी कोशिकाओं के विकास को नियंत्रित करता है और शरीर की त्वचा पर लालिमा और सूजन नहीं होने देता है। तो आइये जानें कि विटामिन डी युक्त भोजन कौन-कौन से हैं।
विटामिन डी जरूरी क्यों है – why vitamin D is Essential in hindi
विटामिन डी हमारे शरीर में कैल्शियम की अवशोषण क्षमता को बढ़ाने में सहायता करता है और हड्डियों को बलवान भी बनाता है। शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाने पर तरह-तरह बीमारियां हमला करने लगती हैं। सही तरीके से विटामिन डी का सेवन न करने पर हड्डियां अधिक मुलायम और भंगुर हो जाती हैं जिससे व्यक्ति को ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या हो जाती है। विटामिन डी की कमी से बच्चों में रिकेट्स हो जाता है जिससे हड्डियां टूटने और फ्रैक्चर होने लगती है। इसके अलावा शरीर में विटामिन डी की कमी होने पर व्यक्ति को डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, आर्थराइटिस और कुछ मामलों में कैंसर भी हो जाता है।

मछली है विटामिन डी युक्त भोजन – Fish is vitamin D rich food in Hindi

हिलसा, छोटी समुद्री मछली या मैकेरल, सैल्मन और टूना जैसी मछलियों में अधिक मात्रा में ऑयल मौजूद होता है जो विटामिन डी का सबसे बढ़िया स्रोत है। आधा टुकड़ा हिलसा मछली खाने से वयस्कों में जरूरी विटामिन डी प्राप्त हो जाता है। इसके अलावा सौ ग्राम डिब्बाबंद सैल्मन मछली खाने से आवश्यक विटामिन डी का करीब 90 प्रतिशत शरीर को मिल जाता है। मैकेरल मछली भी विटामिन डी का महत्वपूर्ण स्रोत है। ठंडे पानी में रहने वाली इस मछली को डिब्बाबंद खरीदकर या फिर कच्चा भी खाया जा सकता है। इन मछलियों में विटामिन डी के साथ ही पर्याप्त खनिज लवण जैसे कैल्शियम, प्रोटीन और फॉस्फोरस प्रचुरता में पाया जाता है।
विटामिन डी युक्त भोजन मशरूम – Vitamin D rich food is Mushrooms in Hindi

मशरूम विटामिन डी का एक बढ़िया स्रोत है। मशरूम सूर्य की पराबैंगनी किरणें पाकर ही बढ़ता है, जो विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है। मशरूम की कई प्रजातियों में विटामिन डी की मात्रा अलग-अलग पायी जाती है। लेकिन बटन मशरूम में विटामिन डी बहुतायत मात्रा में पाया जाता है। चार बड़े मशरूम को नियमित खाने से यह आवश्यक विटामिन डी का करीब तीन प्रतिशत प्रदान करता है और 140 कैलोरी भी प्रदान करता है। इसके अलावा मशरूम खाने से स्वास्थ्य को और भी कई फायदे होते हैं।
अंडा भी है विटामिन डी युक्त भोजन – Vitamin D rich food is Eggs in Hindi
अंडे में काफी अधिक मात्रा में विभिन्न तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं। जो बालों नाखूनों और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बेहद जरूरी होते हैं। रोजमर्रा के लिए जरूरी विटामिन डी का सात प्रतिशत हिस्सा एक बड़ा अंडा खाने से शरीर को प्राप्त हो जाता है। अंडे की जर्दी से आवश्यक विटामिन डी का 6 प्रतिशत मिल जाता है। अंडे की जर्दी में विटामिन ए, जिंक, आयरन, विटामिन डी और विटामिन के पाया जाता है। इसके अलावा अंडे में प्रोटीन, सल्फर और आवश्यक अमीनो एसिड मौजूद होता है जो शरीर के विकास के लिए और इसे स्वस्थ रखने के लिए बेहद जरूरी होता है।
संतरे का जूस विटामिन डी युक्त भोजन – Orange juice is vitamin D rich food in Hindi

सुबह एक गिलास संतरे का जूस पीकर दिन की शुरूआत करने से व्यक्ति काम में अधिक सक्रिय रहता है और उसके शरीर में विटामिन डी की भरपायी हो जाती है। आजकल बाजारों में डिब्बाबंद भी संतरे का जूस आसानी से मिल जाता है। लेकिन आप ताजे और प्राकृतिक रूप से मौजूद संतरे का जूस पीने की कोशिश करें तो इससे आपको भरपूर विटामिन डी मिल जाएगा और आपके शरीर में विटामिन डी की कमी भी नहीं होगी।
विटामिन डी युक्त भोजन ओट्स – Oats is vitamin D rich food in Hindi

ओट्स एक ऐसा आहार है जिसमें प्रचुरता में विटामिन डी पाया जाता है। विटामिन डी के साथ ही ओट्स में अन्य स्वास्थ्यवर्धक विटामिन और खनिज लवण पाये जाते हैं। एक कप ओटमील खाने से लगभग 26 प्रतिशत तक विटामिन डी शरीर को प्राप्त हो जाती है। लेकिन ओटमील को खरीदने से पहले उसके पैकेट को बड़े ध्यान से जांच लें कि उस ओट्स में आवश्यक पोषक तत्व मौजूद हैं या नहीं अन्यथा ओटमीट खाना ज्यादा फायदेमंद नहीं होगा।

[और पढ़े – ओट्स खाने के फायदे एवं नुकसान]
मक्खन भी है विटामिन डी युक्त भोजन – Butter is vitamin D rich food in Hindi

बटर में कम लेकिन विटामिन डी की महत्वपूर्ण मात्रा मौजूद होती है। कुछ लोगों का मानना है कि बटर में अधिक संतृप्त वसा पायी जाती है लेकिन आपको यह जानकारी देना जरूरी है कि एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन डी के अवशोषण के लिए शरीर को संतृप्त वसा की ही जरूरत पड़ती है। इसलिए बटर को सीमित मात्रा में खाएं और संतुलित आहार में भी बटर को शामिल करें।
विटामिन डी युक्त भोजन है दूध – Milk is vitamin D rich food in Hindi
एक गिलास दूध पीने से रोजाना की जरूरत का करीब 20 प्रतिशत विटामिन डी शरीर को प्राप्त हो जाता है। विटामिन डी वसा में घुलता है इस कारण दूध की मलाई को उतारकर पीने से इसमें मौजूद विटामिन डी नष्ट हो जाता है। इसलिए दूध पीने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आप मलाई सहित दूध पी रहे हैं या नहीं और इसमें सभी पोषक तत्व मौजूद हैं या नहीं अन्यथा इसका ज्यादा लाभ नहीं मिलेगा।



सोया उत्पाद है विटामिन डी युक्त भोजन – Vitamin D rich food is Soy Products in Hindi

संतुलित आहार में टोफू को शामिल करने से पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी प्राप्त हो जाता है। इसके अलावा एक कप सादा सोया मिल्क का सेवन करने से भी शरीर को विटामिन डी के साथ ही कैल्शिय बहुतायत में प्राप्त हो जाता है। इसके अलावा आप सोया-दही का भी सेवन कर सकते हैं क्योंकि इससे भी शरीर को विटामिन डी प्राप्त होता है।



विटामिन D की कमी: प्रमुख जानकारी और निदान
मई 30, 2016 Dr. Siddhartha VH, Dr. Anup Agarwal and Tejesvi Reddy (Pharmacologist)
विटामिन D की कमी क्या है?विटामिन D, जिसे सनशाइन विटामिन भी कहा जाता है, क्योंकि यह सूर्य के प्रकाश की प्रतिक्रिया में शरीर द्वारा उत्पन्न किया जाता है। प्राकृतिक रूप से यह कुछ आहारों जिनमें कुछ मछलियाँ, मछलियों के लिवर का तेल और अंडे की जर्दी तथा बाह्य शक्ति मिश्रित डेरी उत्पादों और अनाज के उत्पादों में पाया जाता है।
विटामिन D के दो प्रकार होते हैं, जिन्हें D2 और D3 के नाम से जाना जाता है।
विटामिन D2, जिसे अर्गोकेल्सीफेरोल भी कहते हैं, शक्ति मिश्रित आहारों, वनस्पति आहारों, और पूरक आहारों से प्राप्त होता है।
विटामिन D3, जिसे कोलकेल्सीफेरोल भी कहते हैं, शक्ति मिश्रित आहारों, पशु आहारों (मछली, अंडे और जिगर), तथा शरीर के भीतर भी, जब त्वचा सूर्य की पराबैंगनी किरणों के संपर्क में आती है तब, बनता है।विटामिन D वसा में घुलनशील विटामिन है. अर्थात यह हमारी वसा कोशिकाओं में संचित रहता है और लगातार कैल्शियम के चयापचय (मेटाबोलिज्म) और हड्डियों के निर्माण में उपयोग होता रहता है।

यदि आपका सूर्य के प्रकाश से कम संपर्क होता है, आपको दूध सम्बन्धी एलर्जी है, या आप शुद्ध शाकाहारी व्यक्ति हैं, तो आपको विटामिन D की कमी का खतरा हो सकता है। 

रोग अवधिइस कमी को ठीक होने में कुछ महीने लग सकते हैं। यह व्यक्ति की जीवन शैली और चिकित्सा के तरीके पर निर्भर करता है।

जाँच और परीक्षणरोग का निर्धारण मुख्यतः 25-हाइड्रोक्सी विटामिन D रक्त जाँच द्वारा होता है।
Image result for विटामिन d

डॉक्टर द्वारा आम सवालों के जवाबQ1.विटामिन D क्या है और यह शरीर के लिए आवश्यक क्यों है?
विटामिन D एक सूक्ष्म पोषक आहार है, जो जब त्वचा सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आती है तब शरीर द्वारा बनाया जाता है। यह कई आहारों में भी उपस्थित होता है। विटामिन D मुख्यतः हड्डियों में कैल्शियम और फॉस्फेट के अवशोषण और उनके वहाँ पर इकठ्ठा होने में उपयोगी होता है। शरीर में विटामिन D की पर्याप्त मात्रा मधुमेह, कोरोनरी आर्टरी डिजीज, त्वचा रोग से बचाव करती है और प्रतिरक्षक शक्ति को बढ़ाती है।
Q2.मुझे विटामिन D की कमी कैसे हो सकती है?
आपको विटामिन D की कमी हो सकती है, यदि आप लम्बे समय तक सूर्य के प्रकाश में नहीं रहते हैं, और विटामिन D से समृद्ध आहार नहीं लेते हैं।

Q3.मुझे विटामिन D की कमी का पता कैसे चलेगा?
यदि आपको बार-बार संक्रमण हो रहे हैं, आलस का अनुभव होता है, हड्डियों और माँसपेशियों में दर्द है, तो आपको अपने विटामिन D के स्तर की जाँच करवानी चाहिए। रक्त परीक्षण से हमें शरीर में विटामिन D की मात्रा का विश्लेषण मिल जाता है।

Q4.विटामिन D की कमी के हानिकारक प्रभाव क्या हैं?
विटामिन D की लम्बे समय तक बनी रहने वाली कमी आँतों से कैल्शियम और फॉस्फेट के अवशोषण और उनके हड्डियों में जमा होने की प्रक्रिया को कम कर देती है। इससे हड्डियाँ कमजोर होती हैं और इस स्थिति को बच्चों में रिकेट्स तथा वयस्कों में ओस्टियोमलेसिया और ओस्टियोपोरोसिस कहा जाता है।

Q5.मैं विटामिन D की कमी को कैसे दूर कर सकता हूँ?
विटामिन D की कमी को विटामिन D इंजेक्शन की अधिक मात्रा और उसके बाद थोड़े समय के लिए खाने वाली गोलियाँ अधिक मात्रा में लेकर ठीक किया जा सकता है। बाद में आप प्रतिदिन आरडीए द्वारा निर्धारित मात्रा में पूरक ले सकते हैं या विटामिन D की शक्ति मिश्रित आहार ले सकते हैं और प्रतिदिन पर्याप्त समय के लिए सूर्य के प्रकाश में रह सकते हैं।

Q6.मैं विटामिन D की कमी से कैसे बच सकता हूँ?
आप विटामिन D से समृद्ध आहार लेकर और पर्याप्त मात्रा में सूर्य के प्रकाश के संपर्क में रहकर विटामिन D की कमी से बच सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.